कुसुम योजना : 4500 किसानों को सब्सिडी पर दिए जाएंगे सोलर पंप

कुसुम योजना : 4500 किसानों को सब्सिडी पर दिए जाएंगे सोलर पंप

Posted On - 28 Dec 2020

सोलर पंप पर सब्सिडी : 11.85 करोड़ रुपए का बजट स्वीकृत

कुसुम योजना के तहत राजस्थान राज्य सरकार ने प्रदेश के किसानों को योजना का लाभ देने के उद्देश्य से 11.85 करोड़ रुपए का बजट स्वीकृत किया है। इस बजट की राशि का उपयोग कर 4500 किसानों को सब्सिडी पर सोलर पंप उपलब्ध कराएं जाएंगे।

 

सबसे पहले सरकार की सभी योजनाओ की जानकारी के लिए डाउनलोड करे, ट्रेक्टर जंक्शन मोबाइल ऍप - http://bit.ly/TJN50K1

 

अक्षय उर्जा क्षेत्र में किसानों की भागीदारी बढ़ाने का उद्देश्य

बता दें कि कुसुम योजना के तहत सोलर पंप अनुदान देश में अक्षय उर्जा क्षेत्र में किसानों की भागीदारी बढ़ाने एवं किसानों की आय को दुगना करने के उद्देश्य से देशभर में कुसुम योजना चलाई जा रही है। इस योजना के तहत किसान सब्सिडी पर अपने खेत में सोलर पंप लगाकर अपनी सिंचाई संबंधी आवश्यकताओं की पूर्ति कर सकते हैं साथ ही अतिरिक्त बिजली का उत्पादन कर ग्रिड को बेचकर अतिरिक्त कमाई कर सकते हैं।

 


कुसुम योजना ( Kusum Yojana ) के ये हैं तीन घटक

  • कॉम्पोनेन्ट ए के तहत किसान अपनी भूमि पर सोलर प्लांट लगवाकर सरकार को बिजली बेच सकते हैं।
  • कॉम्पोनेन्ट बी में किसान सब्सिडी पर सोलर पंप लगवाकर अपने खेत में सिंचाई के लिए उसका उपयोग कर सकते हैं।
  • कॉम्पोनेन्ट सी में सोलर पम्प लगवाकर अपने खेतों की सिंचाई के आलवा बिजली बेच भी सकते हैं।

 

यह भी पढ़ें : प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना : कैसे जानें, आपके खातें में पैसा आया या नहीं?


दूर दराज के क्षेत्रों रहने वाले जनजाति किसानों को मिलेगा फायदा

राजस्थान सरकार द्वारा किसानों से कुसुम योजना कॉम्पोनेन्ट-ए के तहत पहले ही आवेदन मांगे जा चुके हैं। सरकार ने अब दूरदराज क्षेत्रों में रहने वाले 5 हजार जनजाति किसानों को बिजली के बिलों से निजात दिलाने व खेती कार्य हेतु समय पर उर्जा उपलब्ध करवाने हेतु ’’कुसुम योजना’ के तहत सोलर पंप स्थापित करने हेतु अनुदान देने का फैसला लिया है। मुख्य मंत्री अशोक गहलोत ने प्रदेश के अधिकांश जनजाति कृषकों की कमजोर आर्थिक हालत को देखते हुए वर्ष 2020-21 के बजट में ’कुसुम योजना’ के तहत जनजाति क्षेत्रीय विकास विभाग के माध्यम से चरणबद्ध रूप में 5 हजार जनजाति कृषकों को सोलर पंप स्थापित कर लाभान्वित करने की घोषणा की थी। इसके तहत कुसुम योजना के कॉम्पोनेन्ट बी एवं कॉम्पोनेन्ट सी के माध्यम से 5000 जनजाति किसानों को चरण सिंचाई हेतु सोलर पम्प का लाभ देने के उद्देश्य से 11.85 करोड़ रुपए का बजट स्वीकृत किया है।


कम्पोनेन्ट बी में 1,500 जनजाति किसानों को मिलेगा 45 हजार रुपए का अनुदान

कुसुम योजना कॉम्पोनेन्ट बी के तहत 45 हजार रुपए के अनुदान पर सोलर पंप राजस्थान के जनजाति क्षेत्रीय विकास मंत्री अर्जुन सिंह बामनिया ने बताया कि कुसुम योजना के कम्पोनेन्ट बी के तहत 1,500 जनजाति किसानों को सोलर उर्जा पंप संयत्र लगाने हेतु 45 हजार रुपए का अनुदान दिया जाएगा। इस हेतु 6.75 करोड़ की राशि स्वीकृत की गई है। योजना का क्रियान्वयन उधानिकी विभाग द्वारा किया जाएगा। इस योजना से जनजाति किसानों द्वारा खेती से अधिक उपज ली जा सकेगी जिससे उनकी आय में वृद्धि होगी एवं बिजली के बिल से निजात मिलेगी।

 

यह भी पढ़ें : कीटनाशकों पर प्रतिबंध : साल 2021 में नहीं बिकेंगे ये कीटनाशक


बिजली बेचकर किया जाएगा किसान के ऋण का भुगतान

मंत्री बामनिया ने बताया कि कुसुम योजना के तहत कम्पोनेन्ट सी के तहत जनजाति क्षेत्र में जिन कृषकों के कुओं पर बिजली के कनेक्शन उपलब्ध हैं उनके वहां कृषि कूप को सौर उर्जा द्वारा विद्युतीकरण किया जाएगा। इससे जनजाति किसानों को बिजली पर होने वाले व्यय से निजात मिलेगी तथा अतिरिक्त बिजली के उत्पादन को ग्रिड में स्थानान्तरित किया जाएगा। इससे होने वाली आय को उनके द्वारा लिये गए ऋण की किस्त के अदा करने में समायोजित किया जाएगा। सी कम्पानेन्ट में 3000 जनजाति कृषकों को लाभान्वित किया जाएगा व प्रति किसान 17 हजार का अनुदान दिया जाएगा। इस हेतु राशि 5.10 करोड़ रुपए स्वीकृत किए गए है।


योजना का लाभ लेने के लिए कहां करें संपर्क

योजना का क्रियान्वयन उद्यानिकी विभाग द्वारा किया जाएगा। अत: जो जनजाति वर्ग के किसान योजना का लाभ लेना चाहते हैं वह अपने जिले के उद्यानिकी विभाग में संपर्क कर सकते हैं।

 

 

अगर आप अपनी  कृषि भूमि, अन्य संपत्ति, पुराने ट्रैक्टर, कृषि उपकरण,  दुधारू मवेशी व पशुधन बेचने के इच्छुक हैं और चाहते हैं कि ज्यादा से ज्यादा खरीददार आपसे संपर्क करें और आपको अपनी वस्तु का अधिकतम मूल्य मिले तो अपनी बिकाऊ वस्तु की पोस्ट ट्रैक्टर जंक्शन पर नि:शुल्क करें और ट्रैक्टर जंक्शन के खास ऑफर का जमकर फायदा उठाएं।

Quick Links

scroll to top