पीएम किसान योजना : 9 करोड़ किसानों के खाते में पहुंचे 18 हजार करोड़ रुपए

पीएम किसान योजना : 9 करोड़ किसानों के खाते में पहुंचे 18 हजार करोड़ रुपए

Posted On - 26 Dec 2020

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना : कैसे जानें, आपके खातें में पैसा आया या नहीं?

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने पूर्व प्रधानमंत्री स्व. अटल बिहारी वाजपेयी की जयंती पर यानि 25 दिसंबर को पीएम किसान सम्मान निधि (पीएम-किसान) की अगली किस्त जारी कर दी। पीएम मोदी ने वर्चुअल माध्यम से आयोजित कार्यक्रम में बटन दबाकर सीधे किसानों के खातें में किस्त की राशि ट्रांसर्फर की। इसमें नौ करोड़ से अधिक किसान लाभार्थियों के खातों में 18,000 करोड़ रुपए की राशि उनके खातें में हस्तांतरित की गई। बता दें कि पीएम सम्मान निधि योजना के तहत किसानों को हर साल 6 हजार रुपए की राशि तीन किस्तों में 2000 रुपए की राशि उनके खातें में दी जाती है। यह केंद्र सरकार की किसानों को सीधा लाभ पहुंचाने वाली योजना है। अब तक किसानों को इस योजना के तहत केंद्र की मोदी सरकार की ओर से छह किस्तें जारी की जा चुकी है और सातवीं किस्त शुक्रवार को किसानों के खाते में ट्रासर्फर की गई है।

 

सबसे पहले सरकार की सभी योजनाओ की जानकारी के लिए डाउनलोड करे, ट्रेक्टर जंक्शन मोबाइल ऍप - http://bit.ly/TJN50K1


PM Kisan : अब तक किसानों के खातों में ट्रांसफर किए गए 95,000 करोड़ रुपए

पीएम किसान सम्मान निधि योजना के तहत केंद्र सरकार की ओर से अब किसानों के खातों में 95,000 करोड़ रुपए की राशि ट्रांसफर की जा चुकी है। पीएम किसान सम्मान निधि योजना केंद्र सरकार की स्कीम है। इसका एलान 1 फरवरी 2019 को आम बजट में किया गया था। यह 24 फरवरी 2019 से लागू हो गई थी। इस स्कीम के तहत छोटे और सीमांत किसान परिवारों को हर साल 6000 रुपए दिए जाते हैं। अब तक 11.40 करोड़ किसान इस योजना के तहत पंजीकृत हो चुके हैं। इनमें से 10.59 करोड़ किसानों के खातों में इस स्कीम का पैसा जा रहा है।

 


पीएम किसान योजना लिस्ट : किसान ऐसे चेक करें आपके खाते में पैसा आया या नहीं

सबसे पहले आपको पीएम किसान की आधिकारिक वेबसाइट https://pmkisan.gov.in/ पर विजिट करना होगा। यहां आपको राइट साइड पर फार्मर कॉर्नर का ऑप्शन दिखेगा। इसके बाद लाभार्थी की स्थिति Beneficiary Status में क्लिक करने पर एक नया पेज खुलेगा। इस नए पेज में आधार नंबर, बैंक अकाउंट नंबर, मोबाइल नंबर में से किसी एक ऑप्शन को सेलेक्ट करना होगा। आप कोई ऑप्शन सेलेक्ट कर लीजिए और इसके बाद Get Data पर क्लिक करना है। इसके बाद आपको ट्रांजेक्शन की पूरी जानकारी मिल जाएगी। यानी कौन सी किस्त आपके अकाउंट में कब आई और किस बैंक में क्रेडिट हुई है।

 

यह भी पढ़ें : लकी ड्रा में शामिल विजेता किसानों को मिलेंगे ट्रैक्टर


ऐसे चेक करें लाभार्थियों की लिस्ट में अपना नाम

अगर आपका नाम इस लिस्ट में है तो आपको चिंता करने की बात नहीं है। सरकार द्वारा पैसे ट्रांसफर किए जाने के बाद आप 'Beneficiary Status' में जाकर आगे ट्रैक कर सकते हैं। आप इस ऑप्शन के तहत आधार नंबर, एकाउंट नंबर और मोबाइल नंबर में से किसी एक नंबर के जरिए यह ट्रैक कर सकते हैं कि सरकार द्वारा भेजी गई किस्त की स्थिति क्या है। स्टेटस में अगर Generated and Payment confirmation is pending यह लिखा आता है तो आपको निश्चित हो जाने की जरूरत है। इसका मतलब होता कि सरकार ने आपके द्वारा दिए गए विवरण की पुष्टि कर ली है और देर-सवेर आपके अकाउंट में यह रकम आ जाएगी।


पीएम ने की छह राज्यों के किसानों से बातचीत

किसान योजना की किस्त ट्रासर्फर करने के बाद पीएम मोदी ने छह राज्यों के किसानों के साथ बातचीत की। उन्होंने किसानों से खेती-बारी से जुड़े उनके अनुभवों के बारे में पूछा। प्रधानमंत्री मोदी ने पीएम किसान सम्मान निधि की किस्त ऐसे समय किसानों के खातों में भेजी है, जब दिल्ली की विभिन्न सीमाओं पर किसान तीन कृषि कानूनों को रद्द किए जाने की मांग को लेकर करीब एक महीने से प्रदर्शन कर रहे हैं। सरकार का दावा है कि ये तीनों कानून किसानों के हित में हैं। किसान सरकार के इन तीनों कानूनों को वापस लेने की मांग पर अड़े हैं।


कृषि कानूनों को लेकर बोले पीएम मोदी - सरकार किसानों की चिंता दूर करने को तैयार

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पीएम सम्मान निधि की सातवीं किस्त जारी करने के बाद वीडियो कांफ्रेस के जरिए देश के किसानों को संबोधित किया। मोदी ने कहा कि नए कृषि कानूनों को लेकर किसानों के मन में कुछ आशंकायें जरूर रही होंगी। लेकिन राजनीतिक एजेंडा लेकर चलने वाले लोग बीच में आकर नई मांगे रख देते हैं जिनका इन कानूनों से कोई लेना देना नहीं है। तीन कृषि कानूनों का विरोध कर रहे किसानों से उन्होंने कहा कि सरकार उनकी हर चिंता दूर करने के लिए तैयार है। 

 

यह भी पढ़ें : मूंग एवं मूंगफली खरीद की पंजीयन सीमा को बढ़ाया

 

गरीब किसानों की स्थिति को देखते हुये कृषि सुधार जरूरी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि सरकार उन लोगों के साथ भी बातचीत करने को तैयार है जो अलग विचारधारा के चलते सरकार के खिलाफ हैं। लेकिन यह भी कहा कि बातचीत तर्कसंगत, तथ्यों और मुद्दों पर आधारित होनी चाहिए। मोदी ने कहा कि देश में 80 प्रतिशत से अधिक गरीब किसान हैं, पिछली सरकारों के दौरान ये किसान और अधिक गरीब हुये हैं, इन्हीं गरीब किसानों की स्थिति को देखते हुये कृषि सुधार जरूरी हो गये थे। प्रधानमंत्री ने कहा कि किसान आंदोलन के नाम पर कुछ नेता अपनी राजनीतिक विचारधारा को आगे बढ़ाने में लगे हैं। उन्होंने कहा कि जिन लोगों का अपना राजनीतिक एजेंडा है, वह किसानों को सरकार के साथ बातचीत के लिये आगे नहीं आने दे रहे हैं, जिससे कि उनकी चिंताएं दूर की जा सकें।

 

 

अगर आप अपनी  कृषि भूमि, अन्य संपत्ति, पुराने ट्रैक्टर, कृषि उपकरण,  दुधारू मवेशी व पशुधन बेचने के इच्छुक हैं और चाहते हैं कि ज्यादा से ज्यादा खरीददार आपसे संपर्क करें और आपको अपनी वस्तु का अधिकतम मूल्य मिले तो अपनी बिकाऊ वस्तु की पोस्ट ट्रैक्टर जंक्शन पर नि:शुल्क करें और ट्रैक्टर जंक्शन के खास ऑफर का जमकर फायदा उठाएं।

Quick Links

scroll to top
Close
Call Now Request Call Back