महिंद्रा समृद्धि इंडिया एग्री अवार्ड्स : महिंद्रा ने किसानों को दिए कृषि चैंपियन अवॉर्ड

महिंद्रा समृद्धि इंडिया एग्री अवार्ड्स : महिंद्रा ने किसानों को दिए कृषि चैंपियन अवॉर्ड

Posted On - 18 Feb 2021

जानें, क्या है कृषि चैम्पियन अवॉर्ड और किन किसानों को मिलता है?

भारत की प्रमुख ट्रैक्टर निर्माता कंपनी महिंद्रा एंड महिंद्रा ने गत दिनों किसानों सहित कृषि संस्थानों को कृषि चैम्पियन अवॉर्ड प्रदान किए हैं। महिंद्रा एंड महिंद्रा के फार्म इक्विपमेंटी सेक्टर ने चार श्रेणियों में 10 विजेताओं को राष्ट्रीय कृषि चैम्पियन अवार्ड्स प्रदान किए हैं। इसमें देश के 29 कृषि केंद्रों के किसानों ने क्षेत्रीय राउंड में हिस्सा लिया। इस मौके पर प्रेसिडेंट हेमंत सिक्का ने कहा कि कृषि चैंपियन अवार्ड्स को लांच करने की खुशी है। असाधारण कार्य करने वालों को जमीनी स्तर पर सम्मानित करने की परंपरा के तहत करीब एक दशक तक किसानों को सम्मानित करने की विरासत पर निर्मित है। इन अवार्ड्स से भावी चैम्पियन किसानों को प्रेरणा मिलेगी और भारत के कृषि क्षेत्र में बदलाव की गति तीव्र होगी। वहीं सीनियर वाइस प्रेसिडेंट श्री रमेश रामचंद्रन ने कृषि ब्रांड लांच करने की जानकारी देते हुए कहा कि इससे किसानों की आय 15 प्रतिशत बढ़ी है और लागत में 8 -12 प्रतिशत की कमी आई है।

 

सबसे पहले सरकार की सभी योजनाओ की जानकारी के लिए डाउनलोड करे, ट्रेक्टर जंक्शन मोबाइल ऍप - http://bit.ly/TJN50K1


क्या है कृषि चैम्पियन अवॉर्ड / कृष-ई चैंपियन अवार्ड्स

महिंद्रा एंड महिंद्रा के फार्म इक्विपमेंट सेक्टर, जो भारत का प्रमुख ट्रैक्टर निर्माता है और 19.4 बिलियन अमेरिकी डॉलर वाले महिंद्रा समूह का घटक है, ने कृष-ई चैंपियन अवार्ड्स के विजेताओं की घोषणा 31 जनवरी 2021 को की। वर्ष 2011 में स्थापित महिंद्रा समृद्धि इंडिया एग्री अवार्ड्स (एमएसआईएए) की सोच को आगे बढ़ाते हुए, कृष-ई चैंपियन अवार्ड्स के अंतर्गत इसके प्रथम संस्करण में चार श्रेणियों में 10 विजेताओं को राष्ट्रीय अवार्ड्स प्रदान किए गए।

 


किन किसानों को दिए जाते हैं ये अवॉर्ड

खरीफ और रबी के मौसमों के अनुरूप अर्द्ध-वार्षिक रूप से आयोजित, कृषि-ई चैंपियन अवार्ड्स उन व्यक्तिगत किसानों और संस्थानों को दिए जाते हैं जिन्होंने कृषि के क्षेत्र में चुनौतियों को स्वीकार करके, अभिनव सोच एवं सकारात्मक बदलाव लाकर असाधारण योगदान दिए हैं। कृष-ई चैंपियन अवार्ड्स के जरिए, महिंद्रा का उद्देश्य लाखों किसानों और कृषि-उद्यमियों को राष्ट्र के लिए आशाजनक भविष्य के निर्माण हेतु प्रेरित करना है।

 

यह भी पढ़ें : भारत का पहला सीएनजी ट्रैक्टर लॉन्च, महंगे डीजल से मिलेगा छूटकारा


इन कैटेगिरी में दिए गए अवॉर्ड

नवभारत के 29 कृष-ई सेंटर्स के किसानों ने कृष-ई चैंपियन अवार्ड्स के क्षेत्रीय राउंड में हिस्सा लिया। क्षेत्रीय अवार्ड विजेताओं को जिन श्रेणियों में राष्ट्रीय अवार्ड्स के लिए नामित किया गया जिसमें तकनीक चैंपियन अवार्ड, महिला किसान चैंपियन अवार्ड, युवा किसान चैंपियन अवार्ड, रेंटल पार्टनर चैंपियन अवार्ड और रेंटल पार्टनर बी2बी पार्टनर चैंपियन अवार्ड श्रेणियां शामिल की गई हैं।


इन प्रगतिशील किसानों को किया गया सम्मानित

  • महिला किसान अवॉर्ड - सलोमी लकरा, रांची।
  • युवा किसान अवॉर्ड - हर्षल साहेबराव लंबत, वर्धा।
  • तकनीक चैम्पियन किसान अवॉर्ड -मो. मिनहाज आलम, बिहार शरीफ, प्रथम, बुक्का आनंद, मेहबूब नगर - द्वितीय, अजय सिंह,बेट तृतीय।
  • रेंटल पार्टनर चैम्पियन अवॉर्ड- सचिन रघुवंशी, विदिशा, प्रथम, अजय यादव, शिवरायपुर द्वितीय, तृतीय पुरस्कारों के तीन विजेता सुरेंद्र यादव,बाढ़, विपुल पटेल, गांधी नगर और कुलदीपसिंह, पंजाब।

 

 

अगर आप अपनी कृषि भूमि, अन्य संपत्ति, पुराने ट्रैक्टर, कृषि उपकरण, दुधारू मवेशी व पशुधन बेचने के इच्छुक हैं और चाहते हैं कि ज्यादा से ज्यादा खरीददार आपसे संपर्क करें और आपको अपनी वस्तु का अधिकतम मूल्य मिले तो अपनी बिकाऊ वस्तु की पोस्ट ट्रैक्टर जंक्शन पर नि:शुल्क करें और ट्रैक्टर जंक्शन के खास ऑफर का जमकर फायदा उठाएं।

Mahindra Bolero Maxitruck Plus

Quick Links

scroll to top