मौसम अलर्ट : इन राज्यों में बारिश, कोहरा और ओलावृष्टि की संभावना

Published - 04 Jan 2022

मौसम अलर्ट : इन राज्यों में बारिश, कोहरा और ओलावृष्टि की संभावना

जानें, क्या है मौसम विभाग की चेतावनी और आगे कैसा रहेगा मौसम का मिजाज

इन दिनों कड़ाके की सर्दी पड़ रही है। हांलाकि दिन में धूप से थोड़ी राहत जरूर मिल जाती है, लेकिन सुबह और शाम को सर्दी की कपकपी फिर शुरू हो जाती है। कई जगहों पर गलन भरी सर्दी पड़ रही है जिससे जनजीवन अस्त व्यस्त रहा। इस कड़ाके की सर्दी के बीच मौसम विभाग ने अलर्ट जारी किया है। मौसम विभाग के अनुसार पाकिस्तान में बन रहे पश्चिमी विक्षोभ के प्रभाव से भारत के कई राज्यों में बारिश, कोहरा और ओलावृष्टि की संभावना है। भारतीय मौसम विज्ञान विभाग आईएमडी द्वारा जारी किए गए साप्ताहिक पूर्वानुमान के अनुसार देश के कई राज्यों में बारिश, कोहरा और ओलावृष्टि की संभावना है। इधर निजी मौसम एजेंसी स्काईमेट ने भी पश्चिमी विक्षोप के सक्रिय होने पर बारिश और गरज-चमक के साथ बौछार, बूंदाबांदी, हल्की से लेकर मध्यम बारिश की आशंका जताई है।  

Buy Kubota MU4501 4WD

दिल्ली एनसीआर में 5 से 9 जनवरी तक हो सकती है बारिश

दिल्ली-एनसीआर में 5 से 9 जनवरी तक बारिश होगी। आईएमडी के अनुसार, 5 जनवरी को हल्की बारिश की संभावना के साथ आसमान में बादल छाए रहेंगे। 6 और 7 को बादल छाए रहेंगे। जबकि दिल्ली-एनसीआर में 8 और 9 जनवरी को गरज के साथ बौछारें पड़ेंगी। आईएमडी ने कहा कि एक ताजा सक्रिय पश्चिमी विक्षोभ और इससे जुड़े चक्रवाती परिसंचरण के प्रभाव से 4 से 7 जनवरी के दौरान व्यापक वर्षा / बर्फबारी होगी। जम्मू में अलग-अलग जगहों पर भारी वर्षा हो सकती है। कश्मीर में 5 जनवरी को और हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड में 5 जनवरी को बारिश और बर्फबारी के आसार हैं।

इसमें कहा गया है कि पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़ और दिल्ली, उत्तरी राजस्थान और पश्चिमी उत्तर प्रदेश में 5 से 7 जनवरी के दौरान काफी व्यापक रूप से हल्की / मध्यम वर्षा होने की संभावना है और 5 जनवरी को पश्चिम मध्य प्रदेश में भी हल्की बारिश होने की संभावना है।
भीषण शीत लहर के दौरान न्यूनतम तापमान 2 डिग्री सेल्सियस तक गिर जाता है। आईएमडी ने कहा कि अधिकतम तापमान 19-20 डिग्री सेल्सियस के आसपास रहेगा और न्यूनतम 8 डिग्री तक गिरने की उम्मीद है।

इन राज्यों में बारिश या गरज के साथ पड़ सकती है बौछारें

निजी मौसम एजेंसी स्काईमेट के अनुसार बेमौसम बारिश एक बार फिर देश के मध्य भाग को प्रभावित कर सकती है। इसके चलते राजस्थान, गुजरात और मध्य प्रदेश में बेमौसम बारिश हो सकती है। 4 जनवरी तक मजबूत पश्चिमी विक्षोभ के पश्चिमी हिमालय तक पहुंचने की उम्मीद है। यह पाकिस्तान के मध्य भाग और उससे सटे पंजाब और हरियाणा पर चक्रवाती परिसंचरण को प्रेरित करेगा। 4 जनवरी को पंजाब, राजस्थान और गुजरात के अलग-अलग हिस्सों में बारिश और गरज के साथ बौछारें पडऩे की संभावना है। 5 और 6 जनवरी तक राजस्थान और उत्तरी मध्य प्रदेश के अधिकांश हिस्सों में बारिश होगी। इस दौरान राजस्थान में छिटपुट ओलावृष्टि की संभावना है। मध्य प्रदेश के पश्चिमी हिस्सों में 7 जनवरी से बारिश कम होने लगेगी। 7 जनवरी को पूर्वी मध्य प्रदेश के छत्तीसगढ़ और विदर्भ के कुछ हिस्सों में हल्की बारिश हो सकती है। दिन के तापमान में 2-4 डिग्री की गिरावट आएगी। हालांकि, इन राज्यों में न्यूनतम तापमान में 3-4 डिग्री की वृद्धि होगी।

राजस्थान : पश्चिमी विक्षोभ के असर से होगी बारिश

राजस्थान में आगामी दिनों में पश्चिमी विक्षोभ के सक्रिय होने से बारिश का दौर 4 जनवरी से 8 जनवरी तक रहने की संभावना है। इस बीच 5 व 7 जनवरी को सर्वाधिक असर रहने और कहीं-कहीं ओलावृष्टि होने की संभावना बनी हुई है।

दिल्ली : हल्की बरसात से बदलेगा मौसम

राजधानी दिल्ली का मौसम बुधवार को हल्की बरसात से बदलेगा। मौसम विभाग का अनुमान है कि मंगलवार के बाद एक सक्रिय पश्चिमी विक्षोभ का प्रभाव दिल्ली के मौसम पर भी देखने को मिलेगा। इसके चलते बुधवार को बादल, गरज-चमक और हल्की बूंदाबांदी देखने को मिलेगी। इससे दिल्ली के मौसम में थोड़ा बदलाव होगा। खासतौर पर सुबह के तापमान में इजाफा होगा और लोगों को कड़ाके की ठंड से राहत मिलेगी।

उत्तराखंड : पर्वतीय इलाकों में हो सकती है हल्की बारिश और बर्फबारी 

मौसम विभाग के अनुसार, चार जनवरी को उत्तराखंड राज्य के पर्वतीय इलाकों में कुछ जगह हल्की से मध्यम बारिश होने की संभावना है। मैदानी इलाकों में भी कुछ जगह हल्की बारिश हो सकती है। 2500 मीटर या उससे अधिक ऊंचाई वाले इलाकों में बर्फबारी का अनुमान है। मौसम विभाग के निदेशक बिक्रम सिंह ने बताया कि पांच जनवरी को राज्य के अधिकांश स्थानों में हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है। 2200 मीटर तक ऊंचाई वाले इलाकों में बर्फबारी की संभावना है। ऐसे में मसूरी, चकराता, धनोल्टी, सुरकंडा, ग्वालदम, औली, दुग्गलबिट्टा चोपता, कपकोट, मुक्तेश्वर, नई टिहरी आदि हिल स्टेशनों बर्फबारी हो सकती है। इससे बाकी इलाकों में भी ठंड बढ़ेगी। छह जनवरी को भी लगभग यही स्थिति रहेगी। सात जनवरी को पर्वतीय इलाकों में हल्की बारिश का अनुमान है। सात को बर्फबारी का दायरा 2500 मीटर से ऊपर रहेगा। चार से लेकर सात जनवरी तक यानी चार दिन प्रदेश में बारिश और बर्फबारी का सिलसिला चलेगा। खासकर पांच और छह जनवरी को उत्तरकाशी, रुद्रप्रयाग, चमोली, बागेश्वर, पिथौरागढ़ जिलों को लेकर मौसम विभाग ने येलो अलर्ट जारी किया है। इस दौरान निचले इलाकों में शीत दिवस रह सकता है। 

हरियाणा : यहां तीन दिन बारिश के आसार

पांच जनवरी से मौसमी सिस्टमों के सक्रिय होने से राज्य के मौसम में बदलाव आने की संभावना है। पश्चिमी विक्षोभ व अरब सागर से आने वाली नमी वाली हवाओं तथा राजस्थान के ऊपर एक साइक्लोनिक सर्कुलेशन बनने से राज्य में ज्यादातर क्षेत्रों में पांच जनवरी रात्रि से नौ जनवरी के दौरान बादलवाई तथा बीच-बीच में गरज चमक व हवायों के साथ हल्की से मध्यम बारिश होने की संभावना है। 

मध्यप्रदेश / भोपाल : बादल छाने और बारिश की संभावना

वर्तमान में एक पश्चिमी विक्षोभ पाकिस्तान और उसके आसपास सक्रिय है। मौसम विज्ञानियों के मुताबिक इस सिस्टम के प्रभाव से पश्चिमी राजस्थान पर एक प्रेरित चक्रवात बन गया है। इससे हवा का रूख दक्षिण-पूर्वी होने लगा है। इस वजह से फिलहाल प्रदेश में कड़ाके की ठंड पर ब्रेक लग गया है। वेदर सिस्टम के असर से प्रदेश के अनेक हिस्सों में बादल छाने की संभावना है। साथ ही बुधवार से प्रदेश में ग्वालियर-चंबल संभागों के जिलों में बारिश के आसार भी बन सकते है। एक अन्य पश्चिमी विक्षोभ के सात जनवरी को उत्तर भारत में प्रवेश करने की संभावना है। इसके प्रभाव से पूरे प्रदेश में अनेक स्थानों पर बारिश होने की संभावना है। इस दौरान कहीं-कहीं ओले भी गिरने की आशंका है।

बिहार : पूरे प्रदेश में कोहरे का असर 

इन दिनों पूरे प्रदेश में कोहरे का असर है। आसमान में बादलों की मौजूदगी स्थिति को और तल्ख कर रही है। इन सबके चलते धरती तक धूप की तपिश नहीं पहुंच रही। यह स्थिति अगले एक सप्ताह तक बनी रहने की उम्मीद है। बीते दिनों हुई बारिश के बाद से ही मौसम का यह हाल बना हुआ है। मंगलवार की सुबह पटना के कई इलाकों में इस मौसम का अब तक का सर्वाधिक घना कोहरा छाया रहा। डॉ. राजेंद्र प्रसाद केंद्रीय कृषि विश्वविद्यालय के मौसम विज्ञानी डॉ.ए सत्तार के अनुसार उत्तर बिहार में अगले 3 दिनों तक शीतलहर जारी रहेगा। उसके बाद ठंड से थोड़ी राहत मिलने की संभावना है। उन्होंने बताया कि अभी सुबह एवं शाम में मध्यम से घने कुहासे लगेंगे। वही सुबह में देर से सूर्य प्रकाश भी निकलने की संभावना है। तीन दिनों के बाद दिन और रात के तापमान में बढ़ोतरी होगी, जिससे ठंड से हल्की राहत मिलेगी। 

अगले 24 घंटों का पूर्वानुमान

  • निजी मौसम एजेंसी स्काईमेट के अनुसार जनवरी के पहले 10 दिनों के दौरान पश्चिमी विक्षोभ की एक श्रृंखला पश्चिमी हिमालय तक पहुंच जाएगी।
  • अगले 24 घंटों के दौरान, जम्मू कश्मीर, गिलगित बाल्टिस्तान, मुजफ्फराबाद, लद्दाख और हिमाचल प्रदेश के कुछ हिस्सों और उत्तराखंड के अलग-अलग हिस्सों में एक या दो मध्यम बारिश और हिमपात के साथ हल्की बारिश संभव है।
  • राजस्थान, पंजाब के कुछ हिस्सों, हरियाणा, दिल्ली और उत्तर प्रदेश के पश्चिमी हिस्से में भी हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है।
  • तमिलनाडु के तटीय इलाकों में हल्की बारिश संभव है।
  • उत्तर पश्चिमी भारत का न्यूनतम तापमान 2 से 3 डिग्री तक बढ़ सकता है।


अगर आप अपनी कृषि भूमि, अन्य संपत्ति, पुराने ट्रैक्टर, कृषि उपकरण, दुधारू मवेशी व पशुधन बेचने के इच्छुक हैं और चाहते हैं कि ज्यादा से ज्यादा खरीददार आपसे संपर्क करें और आपको अपनी वस्तु का अधिकतम मूल्य मिले तो अपनी बिकाऊ वस्तु की पोस्ट ट्रैक्टर जंक्शन पर नि:शुल्क करें और ट्रैक्टर जंक्शन के खास ऑफर का जमकर फायदा उठाएं।

Quick Links

scroll to top
Close
Call Now Request Call Back