कोरोना महामारी : कोरोना की तीसरी लहर की प्रबल आशंका, बच्चों के लिए किए जा रहे खास इंतजाम

Published - 15 Jun 2021

कोरोना महामारी : कोरोना की तीसरी लहर की प्रबल आशंका, बच्चों के लिए किए जा रहे खास इंतजाम

जानें, तीसरी लहर से बच्चों को बचाने के लिए दिल्ली सरकार की क्या है तैयारी

कोरोना की तीसरी लहर की प्रबल आशंका को देखते हुए देश की राजधानी दिल्ली में इसके लिए पहले से तैयारियां शुरू कर दी गईं हैं। एक्सपर्ट्स डॉक्टरों व विशेषज्ञों का कहना है कि कोरोना की तीसरी लहर कभी भी आ सकती है। इसके बारे में निश्चित रूप से कुछ भी कहा नहीं जा सकता है। इसके अलावा कोरोना की तीसरी लहर को बच्चों के लिए काफी घातक माना जा रहा है। इसे देखते हुए दिल्ली की केजरीवाल सरकार ने अभी से ही तीसरी लहर पर नियंत्रण पाने को लेकर पहले से ही तैयारियां शुरू कर दी है। 

Buy Used Tractor

 

सबसे पहले सरकार की सभी योजनाओ की जानकारी के लिए डाउनलोड करे, ट्रेक्टर जंक्शन मोबाइल ऍप - http://bit.ly/TJN50K1 

 

मेलेशिया में तीसरी लहर बरपा रही है कहर, बिट्रेन से भी मिल रहे संकेत

इसी माह मलेशिया में कोरोना तीसरी लहर ने दस्तक दी है। चैनल न्यूज एशिया की खबर के मुताबिक, 2 जून को मलेशिया में कोरोना की वजह से रिकॉर्ड 126 मौतें दर्ज की गईं। यह बीते साल महामारी की शुरुआत से अब तक का सर्वाधिक आंकड़ा है। इससे पहले इसी साल 29 मई को मलेशिया में कोरोना सबसे ज्यादा 98 मौतें दर्ज की गई थीं। मलेशिया में कोरोना के कारण अब तक कुल 2 हजार 993 से ज्यादा लोगों की जान जा चुकी हैं। अब तक देश में कोरोना से कुल 5 लाख 87 हजार 165 लोग संक्रमित हो चुके हैं। देश में फिलहाल कोरोना के 82 हजार 274 ऐक्टिव केस हैं। इधर ब्रिटेन में कोरोना के डेल्टा वेरिएंट का कहर जारी है। इसे देखते हुए यहां की सरकार ने लॉकडाउन की अवधि को 19 जुलाई तक बढ़ा दिया है। पहले ये पाबंदिया 21 जून को खतम होने जा रही थी।

 

कोरोना की तीसरी लहर को लेकर दिल्ली सरकार का क्या है कहना

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आगाह किया कि कोरोना वायरस महामारी की तीसरी लहर आने की आशंका प्रबल है और उनकी सरकार इससे निपटने के लिए युद्ध स्तर पर तैयारियां कर रही है। उन्होंने कहा कि कोविड-19 की तीसरी लहर पर ब्रिटेन से संकेत मिल रहे हैं। 45 प्रतिशत तक टीकाकरण के बावजूद वहां मामले बढ़ रहे हैं इसलिए हम हाथ पर हाथ धरे नहीं बैठे रह सकते हैं।

 

Buy Kubota MU4501 4WD

तीसरी लहर को लेकर विशेषज्ञ समिति ने दिए दिल्ली सरकार को ये सुझाव

  • मीडिया में प्रकाशित खबरों के अनुसार तीसरी लहर के आने की संभावना को देखते हुए दिल्ली सरकार की ओर से गठित विशेषज्ञ समिति ने यह सुझाव दिया है कि अगर कोरोना संक्रमित बच्चा अस्पताल में भर्ती है तो उसके अभिभावक (माता-पिता) को कोविड वार्ड में प्रवेश दिया जा सकता है। उन्हें पीपीई किट पहनकर वहां रुकने की अनुमति दी जानी चाहिए। 
  • समिति ने सुझाव दिया कि आईसीयू में बच्चों की देखभाल के लिए और स्वास्थ्यकर्मियों को प्रशिक्षित करने की जरूरत है। पीडियाट्रिक आईसीयू तैयार करने की बात कही है। 
  • तीसरी लहर के लिए 10 हजार से ज्यादा आईसीयू बेड बनाने की योजना बनाई गई है। यह ऑक्सीजन बेड से अलग होंगे।

 

अभिभावकों को बच्चे के पास जाने की मिलेगी अनुमति

  • सरकार के एक वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक, अभिभावकों को तभी कोविड वार्ड में प्रवेश मिलेगा, जब बच्चा बहुत रो रहा हो। बगैर माता-पिता के उसे हैंडल करना मुश्किल हो रहा हो। यह नियम 14 साल से कम उम्र के बच्चों पर ही लागू होगा।
  • अस्पताल में अभिभावकों को रुकने के लिए अलग से केंद्र बनाया जाएगा। 
  • बच्चों को कैसे संभाला जाए, कैसे इलाज किया जाए, इसके लिए प्रशिक्षित स्वास्थ्यकर्मियों की टीम बनाने की बात कही गई है।

 

बच्चों के टीकाकरण को लेकर एम्स में ट्रायल जारी

कोरोना की संभावित तीसरी लहर की संभावना को देखते हुए बच्चों के टीकाकरण को लेकर एम्स में ट्रायल की प्रक्रिया जारी है। एम्स में मंगलवार और बुधवार को छह से लेकर 12 वर्ष के बच्चों की स्क्रीनिंग की जाएगी। जिसमें स्वस्थ्य मिलने पर उनका टीकाकरण किया जाएगा। एम्स ने स्क्रीनिंग का हिस्सा बनने के लिए व्हाट्सअप नंबर भी जारी किया है। टीकाकरण ट्रायल को तीन वर्गों में बांटा गया है। जिसमें 12 से 18 वर्ष के बच्चों के स्क्रीनिंग में स्वस्थ्य मिलने के बाद वैक्सीन की पहली डोज दे दी गई। अभी तक किसी बच्चे में दुष्प्रभाव का कोई मामला सामने नहीं आया है। इन बच्चों को 28 दिन के बाद वैक्सीन की दूसरी डोज दी जाएगी।  

 

दो से लेकर 18 वर्ष के 525 बच्चों पर होगा कोवैक्सीन का ट्रायल

एम्स में अब छह से लेकर 12 वर्ष वाले बच्चों की टीकाकरण के लिए स्क्रीनिंग की जा रही है। उसके बाद फिर दो से लेकर छह वर्ष के बच्चों की स्क्रीनिंग शुरू होगी। देशभर के कई अस्पतालों में दो से लेकर 18 वर्ष के 525 बच्चों पर कोवैक्सीन को लेकर ट्रायल किया जाना है। एम्स कम्युनिटी मेडिसिन विभाग के प्रोफेसर डॉ संजय राय ने बताया कि मंगलवार और बुधवार को छह से लेकर 12 वर्ष वाले बच्चों की स्क्रीनिंग करेंगे। स्क्रीनिंग में स्वस्थ्य मिलने पर बच्चों को वैक्सीन की पहली डोज देंगे। अगर कोई बच्चा टीकाकरण ट्रायल की प्रक्रिया का हिस्सा बनना चाहता है तो वह एम्स द्वारा जारी व्हाट्सअप नंबर पर 7428847499 संपर्क कर सकता है। इसके लिए इच्छुक व्यक्ति को मैसेज भेजना होगा। फिर स्क्रीनिंग में स्वस्थ्य मिलने पर बच्चे का टीकाकरण किया जाएगा।

Buy Used Tractor

 

भारत में कोरोना से मरने वालों का आंकड़ा चिंताजनक

भारत में पिछले 33 दिनों से कोरोना संक्र्रमण के मामलों लगातार में कमी दिखाई दे रही है, लेकिल मौतों के आंकड़े अब भी चिंता बढ़ाने वाले हैं। देश में पिछले 24 घंटे के अंदर कोरोना वायरस के 60 हजार 471 नए मामले दर्ज किए गए हैं जो कि 75 दिनों के बाद सबसे कम हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से जारी ताजा आंकड़ों के मुताबिक, देश में अब सक्रिय मामलों की संख्या भी गिरकर 9 लाख 13 हजार 378 पर आ गई है। इस दौरान कोरोना के कारण 2 हजार 726 लोगों ने दम भी तोड़ा है, जिसके बाद कोरोना से मरने वालों का आंकड़ा 3 लाख 77 हजार को पार कर गया है। 

 

अब तक कितने मरीज हो चुके हैं ठीक

पिछले 24 घंटे में कोरोना के 1 लाख 17 हजार 525 मरीज ठीक हुए हैं। अभी तक देश में कुल 2 करोड़ 82 लाख 80 हजार 472 लोग कोरोना से ठीक हो चुके हैं। देश में अब कोरोना से ठीक होने वालों की दर बढक़र 95.64 फीसदी पर पहुंच गई है। साप्ताहिक पॉजिटिविटी दर भी घटकर पांच फीसदी से नीचे आ गई है और दैनिक संक्रमण दर भी 3.45 फीसदी ही रह गई है। यह लगातार 8वां दिन है जब दैनिक संक्रमण दर 5 फीसदी से कम है।

 

अगर आप अपनी कृषि भूमि, अन्य संपत्ति, पुराने ट्रैक्टर, कृषि उपकरण, दुधारू मवेशी व पशुधन बेचने के इच्छुक हैं और चाहते हैं कि ज्यादा से ज्यादा खरीददार आपसे संपर्क करें और आपको अपनी वस्तु का अधिकतम मूल्य मिले तो अपनी बिकाऊ वस्तु की पोस्ट ट्रैक्टर जंक्शन पर नि:शुल्क करें और ट्रैक्टर जंक्शन के खास ऑफर का जमकर फायदा उठाएं।

Quick Links

scroll to top
Close
Call Now Request Call Back