अभ्युदय योजना : अब प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए मिलेगी निशुल्क कोचिंग

अभ्युदय योजना : अब प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए मिलेगी निशुल्क कोचिंग

Posted On - 16 Feb 2021

अभ्युदय योजना क्या है : 50 हजार ने कराया रजिस्ट्रेशन, जानें, कहां कराएं रजिस्ट्रेशन?

सरकार किसानों के लिए ही नहीं अपितु गांव में रहने वाले विद्यार्थियों के लिए भी कई प्रकार से सहायता देने का प्रयास कर रही है ताकि उनको बेहतर सुविधाएं मिल सके जिससे वे अपने भविष्य संवार सकें। इसी दिशा में उत्तरप्रदेश सरकार की ओर से आईएएस, आईपीएस, पीसीएस, एनडीएस, सीडीएस, नीट और जेईई जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं के तैयारी के लिए अभ्युदय योजना शुरू की गई है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए निशुल्क कोचिंग योजना अभ्युदय का शुभांरभ किया।

 

सबसे पहले सरकार की सभी योजनाओ की जानकारी के लिए डाउनलोड करे, ट्रेक्टर जंक्शन मोबाइल ऍप - http://bit.ly/TJN50K1


मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना रजिस्ट्रेशन 5 लाख उम्मीदवारों ने कराया

मीडिया से मिली जानकारी के आधार पर अभ्युदय योजना के तहत निशुल्क कोचिंग उद्घाटन कार्यक्रम में बताया गया कि अभी तक 50 लाख से ज्यादा उम्मीदवारों ने वेबसाइट को देखा और 5 लाख उम्मीदवारों ने रजिस्ट्रेशन कराया है। इस मौके पर सीएम योगी ने कहा कि यह कोचिंग नहीं बल्कि यूपी के युवाओं के जीवन का पथ प्रदर्शक बनेगा। इस दौरान उन्होंने प्रदेश पांच मंडलों के मेधावियों से संवाद भी किया। उन्होंने कहा कि यह योजना आत्मनिर्भता के पथ पर आगे बढऩे की योजना है। इससे यूपी के युवाओं को अधिक मात्रा में रोजगार मिलेगा।

 


विद्यार्थियों के लिए ऑनलाइन व ऑफलाइन लगेंगी कक्षाएं

इस योजना के तहत ऐसे सभी छात्रों को निशुल्क कोचिंग की सुविधा मिलेगी जो इन परीक्षाओं की तैयारी करना चाहते हैं, लेकिन आर्थिक स्थिति ठीक न होने के कारण वह नहीं कर पाते हैं। कोचिंग में पढ़ाई 16 फरवरी से शुरू होगी। अभ्युदय योजना के अंतर्गत छात्रों को ऑनलाइन स्टडी मटैरियल के साथ ऑफलाइन कक्षाएं भी लगाई जाएंगी। इस योजना के तहत 50,000 छात्रों को वसंत पचंमी से कक्षाएं दी जाएंगी। वसंत पंचमी में शुरू होने वाली ऑफलाइन कोचिंग के लिए पहले चरण की लिखित परीक्षा में राज्यभर से 50 हजार छात्रों को चयन हुआ है। बाकी छात्र ऑनलाइन कोचिंग ले सकेंगे। स्क्रीनिंग के दौरान किन्हीं परिस्थितिवश जिन छात्रों के लिए प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करना मुश्किल होगा, उन्हें कौशल विकास योजना के तहत प्रशिक्षित किया जाएगा।

 

यह भी पढ़ें : मौसम अनुकूल खेती : बिहार व हिमाचल प्रदेश के किसानों को मिलेगा प्रोत्साहन


प्रशासनिक अधिकारियों लेंगे क्लास, प्रश्न बैंक व स्टडी मेटेरियल भी मिलेगा

मीडिया में मिली जानकारी के अनुसार कोचिंग में कमिश्नर फिजिक्स और डीएम इतिहास पढ़ाएंगे। इसी के साथ ही अन्य कई प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा कोचिंग में पढ़ाया जाएगा। बरेली के जेआईसी में सामान्य स्कूल के बाद कोचिंग क्लास लगाई जाएंगी। कोचिंग के लिए स्मार्ट कक्षाओं का भी प्रयोग किया जाएगा। सभी स्टूडेंट्स को प्रश्न बैंक, ऑनलाइन स्टडी मैटेरियल आदि भी प्रदान किया जाएगा। आधिकारिक वेबसाइट पर प्रश्न बैंक की डिटेल भी छात्र प्राप्त कर सकेंगे। इसके अलावा मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना के अंतर्गत उच्च स्तरीय कोचिंग संस्थाओं के स्टडी मैटेरियल भी छात्रों को प्रदान किए जाएंगे।


राज्य के 18 मुख्यालय में शुरू होंगे कोचिंग सेंटर

अभ्युदय योजना के पहले चरण में 18 मंडल मुख्यालय को शामिल किया गया है। इन 18 मंडल मुख्यालयों में अभ्युदय कोचिंग सेंटर आरंभ किया जाएगा। इस योजना के अंतर्गत ई लर्निंग प्लेटफॉर्म पर विभिन्न अधिकारियों द्वारा परीक्षा की तैयारी के लिए वीडियो के माध्यम से अपना अनुभव साझा किया जाएगा। इसके साथ ही छात्रों के लिए लाइव सेशन का भी आयोजन किया जाएगा।


अभ्युदय योजना ( mukhyamantri abhyudaya yojana ) के तहत प्रदान की जाने वाली कोचिंग

अभ्युदय योजना के तहत इन 14 प्रतियोगी परीक्षाओं की कोचिंग विद्यार्थियों को प्रदान की जाएगी जिसमें 1. संघ लोक सेवा आयोग, 2. यूपी लोक सेवा आयोग, 3. अधीनस्थ सेवा चयन आयोग, 4. अन्य भर्ती बोर्ड संस्थाओं द्वारा आयोजित परीक्षाएं, 5. जेईई, 6. नीट, 7. एनडीए, 8. सीडीएस, 9. अर्धसैनिक, 10. केंद्रीय पुलिस बल, 11. बैंकिंग, 12. एसएससी, 13. बीएड, 14. टीईटी ।

 

यह भी पढ़ें : स्वामित्व योजना : यूपी में चारों ओर घरौनी की चर्चा, 1001 गांवों के 1,57,244 ग्रामीणों को मिला मालिकाना हक


निशुल्क कोचिंग के लिए विद्यार्थी कहां कराएं पंजीकरण / अभ्युदय योजना रजिस्ट्रेशन ऑनलाइन

अभ्युदय योजना के तहत पंजीकरण कराने के इच्छुक अभ्यर्थियों को http://abhyuday.up.gov.in पर जाकर पंजीकरण कराना होगा। बसंत पंचमी में शुरू होने वाली ऑफलाइन कोचिंग के लिए पहले चरण की लिखित परीक्षा में राज्यभर से 50 हजार छात्रों को चयन हुआ है। बाकी छात्र ऑनलाइन कोचिंग ले सकेंगे।

 

 

अगर आप अपनी कृषि भूमि, अन्य संपत्ति, पुराने ट्रैक्टर, कृषि उपकरण, दुधारू मवेशी व पशुधन बेचने के इच्छुक हैं और चाहते हैं कि ज्यादा से ज्यादा खरीददार आपसे संपर्क करें और आपको अपनी वस्तु का अधिकतम मूल्य मिले तो अपनी बिकाऊ वस्तु की पोस्ट ट्रैक्टर जंक्शन पर नि:शुल्क करें और ट्रैक्टर जंक्शन के खास ऑफर का जमकर फायदा उठाएं।

Quick Links

scroll to top
Close
Call Now Request Call Back