अब बीज बोने से पहले पता चल जाएगा कैसी होगी फसल

अब बीज बोने से पहले पता चल जाएगा कैसी होगी फसल

Posted On - 19 Jan 2021

जानें, कैसे होगी गुणवत्तापूर्ण बीज की पहचान और इससे क्या लाभ?

कृषि के क्षेत्र में आए दिन नए नवाचार होते जा रहे हैं। इन प्रयासों का परिणाम ही है कि आज खेती की दशा और दिशा दोनों में सुधार हुआ है। इससे न केवल उन्नत व आधुनिक खेती को बढ़ावा मिला है बल्कि किसानों की आय में भी सुधार हुआ है। किसानों की आय बढ़ाने के उद्देश्य से सरकार काफी प्रयास कर रही है। इसके अलावा इस दिशा में कृषि वैज्ञानिक, विशेषज्ञों समेत कई स्टार्टअप भी काम कर रहे हैं। इसी क्रम में हाल ही में एग्रीकल्चर स्टार्टअप अगधी ने खास आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस टेक्नोलॉजी पेश की है। इसकी मदद से बीजों को देखकर ये पता लगाया जा सकेगा कि फसल की गुणवत्ता कैसी है। साथ ही ये भी पता चल जाएगा कि किस बीज के इस्तेमाल से कितनी पैदावार हो सकती है। स्टार्टअप के संस्थापक निखिल दास ने मीडिया को बताया कि इस तकनीक से फसल की पैदावार बढ़ाकर किसानों की आय बढ़ाने में मदद मिलेगी। 

 

सबसे पहले सरकार की सभी योजनाओ की जानकारी के लिए डाउनलोड करे, ट्रेक्टर जंक्शन मोबाइल ऍप - http://bit.ly/TJN50K1


बीजों की गुणवत्ता जांचने के लिए इस तकनीक का होगा प्रयोग

जानकारी के अनुसार स्टार्टअप के तहत बीज और फसलों में कमी जानने के लिए मशीन लर्निंग और कंप्यूटर विजन तकनीक का इस्तेमाल किया जाएगा। इसकी मदद से किसान को अच्छे बीज और ज्यादा पैदावार मिल सकेगी। किसान कमजोर बीज की बुआई कर नुकसान उठाने से बच जाएंगे। स्टार्टअप की नई तकनीक की मदद से सिर्फ कुछ सेकेंड में पता लगाया जा सकता है कि बीच की गुणवत्ता कैसी है। वहीं, पुरानी तकनीक से किसानों को लंबा इंतजार करना पड़ता है। एआई तकनीक की मदद से बीज की जांच करने, बीज की सैंपलिंग करने और फसल की उपज में अंतर आसानी पता लगाया जा सकेगा, जो आज की जरूरत है।

 


ऐसे होगी बीजों की गुणवत्ता की जांच

बीज में कमियों का पता लगाने के पारंपरिक तरीके फिजिकल टेस्ट पर निर्भर करते हैं। इस तकनीक से ऑटोमैटिक मशीनों से बीजों की जांच की जा सकेगी। अगधी की एआई विजन  तकनीक फोटोमेट्री, रेडियोमेट्री और कंप्यूटर विजन की मदद से बीज की गुणवत्ता की जांच करेगी। बीज की इमेज से उसका रंग, बनावट और आकार निकालकर कंप्यूटर विजन से बीज की कमियों की पहचान की जाएगी। बीजों की छंटाई के लिए किसी व्यक्ति द्वारा निरीक्षण करने की अपेक्षा यह ऑटोमेटिक तकनीक ज्यादा कारगर होगी। यह तकनीक बीजों का प्रोडक्शन करने वाली कंपनियों के लिए अधिक उपयोगी है। अगधी के संस्थापक निखिल दास के अनुसार, नई तकनीक के लॉन्च करने के साथ पैदावार बढ़ाने के लिए अब इलेक्ट्रॉनिक यंत्र बनाने की योजना है।

 

यह भी पढ़ें : कृषि यंत्र अनुदान योजना : सब्सिडी पर मिल रहे हैं ये 7 महत्वपूर्ण कृषि यंत्र


किसान अपने स्तर पर इस तरह कर सकते हैं अच्छे बीज की पहचान

अच्छे बीजों की पहचान करने से पहले आपको यह जानना जरूरी होगा कि आखिर अच्छा बीज कौनसा होता है और इसके क्या मानक हैं। तो जान लें अच्छा बीज वह होता है जिसकी अंकुरण क्षमता अधिक हो तथा बीमारी, कीट, खरपतवार के बीज व अन्य फसलों के बीजों से मुक्त हो। किसान अच्छे बीजों की बुवाई करके पैदावार व अपनी आमदनी बढ़ा सकता है। जबकि खराब गुणों वाले बीजों को बोने से खेती के अन्य कार्य जैसे- खाद, पानी, खेत की तैयारी आदि पर किसान द्वारा किया गया खर्च व मेहनत बेकार हो जाती है। इन सब बातों से बचने के लिए जरूरी है अच्छे बीज का चयन किया जाए। अब सवाल यह उठाता है कि अच्छे बीज का चयन कैसे किया जाए। बीजों का चयन करते समय बीजों की भौतिक शुद्धता, बीजों की आनुवंशिक शुद्धता, बीजों का गुण, आकार एवं रंग, बीजों में नमी की मात्रा, बीजों की परिपक्वता, बीजों की अंकुरण क्षमता तथा बीजों की जीवन क्षमता का पता लगाना बेहद जरूरी है।  


ऐसे करें अच्छे बीज की पहचान

अच्छा बीज वह होता है जिसकी अंकुरण क्षमता अधिक होती है। इसके लिए जरूरी है कि इसके अंदर किसी भी अन्य बीज की मिलावट व कंकड़, पत्थर की मिलावट न हो। इसके अलावा बीज का आकार व रंग में एक जैसे हो और बीज के अंदर नमी की मात्रा सही होना चाहिए ताकि बीज अच्छे से अंकुरित हो सके। अगर बीज में नमी की मात्रा सही नहीं होगी तो बीज के अंदर उपस्थित भू्रण की मृत्यु हो जाएगी तथा बीज अंकुरित नहीं हो पाएगा। बीजों की परिपक्वता सही होना चाहिए ताकि फसल अच्छी हो। 

 

यह भी पढ़ें : पीएम किसान सम्मान निधि योजना : बजट 2021 में किसानों को मिल सकता है तोहफा


बाजार से बीज खरीदने समय किसान इन बातों का रखें ध्यान

  • जब भी किसान बाजार से बीज खरीदें, तो इस बात का ध्यान रखे कि बीज हमेशा भरोसेमंद दुकान या किसान से ही खरीदें। 
  • बीज कटा हुआ नहीं होना चाहिए। क्योंकि कटे बीज से अंकुरण कम होता है।
  • अच्छा बीज कंकड़, पत्थर व धूल रहित होना चाहिए। इसमेें अन्य किसी दूसरे बीज की मिलावट नहीं होनी चाहिए।
  • अच्छा बीज कीटों से मुक्त होना चाहिए।
  • जो भी बीज लें वे रोग मुक्त हो, ऐसे खेत का बीज न ले जो दीमक ग्रस्त रहा हो। 
  • बीज छोटा व सूखा नहीं होना चाहिए।
  • बीजों के अंदर नमी की मात्रा पर्याप्त होना चाहिए ताकि अंकुरण अच्छे से हो सके।
  • बीज में भौतिक शुद्धता का अपेक्षित स्तर होना चाहिए।
  • बीज खरपतवार रहित होना चाहिए, जैसे- सावा, अकरी, मुर्दो, केना आदि बीज की उपस्थिति नहीं होनी चाहिए। 
  • अगर किसान बीजों को लेते समय इन सब बातों का ध्यान रखे तो वह अपने खतों के लिए उत्तम बीज का चयन कर सकता है और अच्छी फसल प्राप्त कर सकता है।

 

 

अगर आप अपनी कृषि भूमि, अन्य संपत्ति, पुराने ट्रैक्टर, कृषि उपकरण, दुधारू मवेशी व पशुधन बेचने के इच्छुक हैं और चाहते हैं कि ज्यादा से ज्यादा खरीददार आपसे संपर्क करें और आपको अपनी वस्तु का अधिकतम मूल्य मिले तो अपनी बिकाऊ वस्तु की पोस्ट ट्रैक्टर जंक्शन पर नि:शुल्क करें और ट्रैक्टर जंक्शन के खास ऑफर का जमकर फायदा उठाएं।

Quick Links

scroll to top
Close
Call Now Request Call Back