महिंद्रा एंड महिंद्रा ने टैक्स चुकाने के बाद भी कमाया 8 गुना मुनाफा

महिंद्रा एंड महिंद्रा ने टैक्स चुकाने के बाद भी कमाया 8 गुना मुनाफा

Posted On - 12 Nov 2021

सितंबर 2021 की तिमाही में बेचे 88,920 ट्रैक्टर

भारत की वाणिज्यिक वाहन निर्माता प्रमुख कंपनी महिंद्रा एंड महिंद्रा की घरेलू ऑटो बिक्री उल्लेखनीय रही है। कंपनी ने सितंबर 2021 की तिमाही के दौरान 99,334 वाहनों की बिक्री की जो पिछले वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में बेचे गए 91,536 वाहनों से 9 प्रतिशत ज्यादा है। वहीं यदि महिंद्रा के ट्रैक्टर की बिक्री की बात करें तो यह दूसरी तिमाही में 5 प्रतिशत घटकर 88,920 रह गई। यहां बता दें कि घरेलू ऑटो मैन्युफैक्चरर महिंद्रा एंड महिंद्रा ने मजबूत बिक्री के दम पर 30 सितंबर को समाप्त हुई दूसरी तिमाही में सभी कर चुकाने के बाद एकल लाभ में 8 गुना से ज्यादा बढ़ोतरी प्राप्त की है। इस दौरान ऑटो कंपनी को सितंबर 2021 तिमाही के दौरान कंपनी का राजस्व 15 प्रतिशत बढ कर 13,305 करोड़ हो गया। यहां जानते हैं महिंद्रा एंड महिंद्रा कंपनी की इस उपलब्धि के कारण और उसकी आगामी रणनीति के बारे में। 

महिंद्रा को 1,432 करोड़ का हुआ लाभ 

महिंद्रा ऑटो कंपनी 1432 करोड़ का मुनाफा हुआ है। कंपनी ने बताया कि उसे वित्त वर्ष 2020-21 की जुलाई-सितंबर तिमाही के दौरान 162 करोड़ रुपये का एकल लाभ हासिल हुआ था। सितंबर 2020 तिमाही के दौरान कंपनी का राजस्व 15 फीसदी बढ़कर 13,305 करोड़ रुपये हो गया। जो एक साल पहले की समान अवधि में 11,590 करोड़ रुपये रहा था। महिंद्रा एंड महिंद्रा ने कहा कि सितंबर 2021 तिमाही के दौरान 99,334 वाहनों की बिक्री हुई जो पिछले वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में बेेचे गए 91,536 वाहनों से 9 प्रतिशत ज्यादा है। 

समेकित लाभ में 214 प्रतिशत की वृद्धि 

महिंद्रा एंड महिंद्रा के समेकित लाभ की बात करें तो इसमें 214 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। वित्त वर्ष 2021-22 की दूसरी तिमाही में 1,929 करोड़ रुपये का समेकित लाभ दर्ज किया। यह पिछले वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में 615 करोड़ रुपये रहा था। दूसरे शब्दों में कहें तो महिंद्रा एंड महिंद्रा के कंसालिटेड प्रोफिट में सितंबर 2021 तिमाही के दौरान सालाना आधार पर 214 फीसदी शानदार उछाल दर्ज किया गया। 

सेमी कंडक्टर की कमी ने बढ़ा दी मुश्किलें 

ऑटो कंपनी महिंद्रा के अनुसार उसकी कमोडिटी प्राइसेस में बढोतरी और सेमी कंडक्टर की कमी ने अब मुश्किले बढा दी हैं। इसके बाद भी उसके ऑपरेटिंग मार्जिंग में 12.5 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई। कंपनी ने कहा है कि सेमी कंडक्टर की उपलब्धता बेहतर होने पर तीसरी तिमाही के दौरान  मैन्युफैक्चरिंग में बढ़ोतरी होगी। इसके साथ ही पिछली दो तिमाहियों के दौरान पैसेंजर व्हीकल्स की मांग में मजबूत इजाफा दर्ज किया गया लेकिन चिप की कमी के कारण दुनियाभर में ऑटो मैन्युफैक्चरर्स को मुश्किल का सामना करना पड़ रहा है। 

यह है एमएंडएम को 6 महीने में उम्मीद 

महिंद्रा एंड महिंद्रा के एमडी और सीईओ अनीश शाह ने कहा कि कच्चे माल की महंगाई और सेमिकंडक्टर चिप की कमी के बावजूद वित्त वर्ष के शेष 6  महीनों में भी पैसेंजर और कृषि क्षेत्र के वाहनों की बिक्री की रफ्तार अच्छी रहेगी। ईवी के अलावा अभी कुछ समय तक कंपनी डीजल और पेट्रोल चलित वाहनों पर ध्यान देगी। बोलेरो, स्कार्पियो, एक्सयूवी और थार मंडल के तहत नए एसयूवी भी लांच होते रहेंगे। कंपनी ने ईवी में पहले 3000 करोड़  रुपये के निवेश की घोषणा की थी। लेकिन अब कंपनी का कहना है कि उसके निवेश की राशि ज्यादा नहीं हो सकती। 

Tractor Junction also Offer a Monthly Subscription of Tractor Sales (Wholesale, Retail, Statewise, Districtwise, HPwise) Report. Please Contact us for the detailed report.

Subscribe our Telegram Channel for Industry Updates- https://t.me/TJUNC
Follow us for Latest Tractor Industry Updates-
LinkedIn - https://bit.ly/TJLinkedIN
FaceBook - https://bit.ly/TJFacebok

Quick Links

scroll to top