कोरोना : स्वास्थ्य विशेषज्ञों की चेतावनी, महाराष्ट्र में कोरोना की दूसरी लहर के बाद तीसरी लहर का खतरा

कोरोना : स्वास्थ्य विशेषज्ञों की चेतावनी, महाराष्ट्र में कोरोना की दूसरी लहर के बाद तीसरी लहर का खतरा

Posted On - 30 Apr 2021

जानें, क्या है कोरोना की तीसरी लहर से लडऩे के लिए प्रशासन की तैयारी

इस समय भारत कोरोना की भयावह दूसरी लहर का सामना कर रहा है। कोरोना की दूसरी लहर ने देश में हाहाकार मचा रखा है। रिकार्ड तोड़ लोग इस कोरोना वायरस की चपेट में आ रहे हैं और मौत का सिलसिला जारी है। ऐसी परिस्थितियों में स्वास्थ्य विशेषज्ञों की चेतावनी काफी डराने वाली है। मीडिया से मिली जानकारी के अनुसार स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने बुधवार को यह चेतावनी जारी दी कि महाराष्ट्र में टीकाकरण की धीमी गति से राज्य में संक्रमण की तीसरी लहर आ सकती है। यह चेतावनी तब जारी की गई है जब महाराष्ट्र सरकार ने कहा कि वह पर्याप्त संख्या में टीका उपलब्ध नहीं होने के कारण 18 से 44 वर्ष के लोगों का टीकाकरण एक मई से शुरू नहीं करने जा रही है। इससे पहले राज्य के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने कहा था कि महाराष्ट्र में जुलाई या अगस्त में कोरोना महामारी की तीसरी लहर आ सकती है।

Buy Old Properties

 

सबसे पहले सरकार की सभी योजनाओ की जानकारी के लिए डाउनलोड करे, ट्रेक्टर जंक्शन मोबाइल ऍप - http://bit.ly/TJN50K1


विशेषज्ञों की चेतावनी के बाद राज्य सरकार ने दिए निर्देश

विशेषज्ञों की चेतावनी के बाद महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने जिला अधिकारियों से नए ऑक्सीजन प्लांट और दवाइयों को स्टॉक करके रखने के लिए योजना बनाने को कहा है। एक आधिकारिक विज्ञप्ति के अनुसार मुख्यमंत्री ने जिला आयुक्तों, संभाग आयुक्तों और नगर आयुक्तों से वर्चुअल बैठक में कोरोना महामारी से उपजे हालात का जायजा लिया। उन्होंने कहा  कि तीसरी लहर को रोकने के लिए टीकाकरण में तेजी लानी होगी। हमने 18 से 44 वर्ष की उम्र के लोगों को मुफ्त टीके लगाने का ऐलान किया है लेकिन उसकी आपूर्ति की योजना बनानी होगी। उन्होंने कहा कि ऑक्सीजन संयंत्र स्थापित करने के लिए अनुमति दी जा चुकी है और जिला प्रशासन को सुनिश्चित करना होगा कि भविष्य के लिये ऑक्सीजन का स्टॉक रहे।


टीकाकरण की धीमी गति से बढ़ती है तीसरी लहर की संभावना

विशेषज्ञों अनुसार टीकाकरण धीमा होने से तीसरी लहर का सामना करना पड़ सकता है। महाराष्ट्र महामारी से बुरी तरह प्रभावित राज्य है और वहां वर्तमान लाभार्थियों (45 वर्ष से ऊपर के लोग) के लिए टीके की कमी की खबर है जिससे वहां टीकाकरण की गति धीमी है। कोविड-19 पर सही तरीके से तभी लगाम कसी जा सकता है जब टीकाकरण के योग्य दो-तिहाई आबादी को टीका लगाया जाए। राज्य स्वास्थ्य विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने मीडिया को बताया कि महाराष्ट्र में टीका लगाने योग्य नौ करोड़ लोगों में से महज 1.50 करोड़ लोगों को अभी तक टीका लग सका है, जो बहुत कम है। उन्होंने चेतावनी दी कि यदि हमने टीकाकरण की गति तेज नहीं की तो जब लोग नौकरी या अन्य कामों के लिए बाहर निकलेंगे तो इससे कोविड-19 की तीसरी लहर आ सकती है। उन्होंने कहा, ‘दिसंबर में दी गई छूट से लोग लापरवाह हो गए और इससे फरवरी से कोविड-19 की दूसरी लहर शुरू हो गई. हम अब भी इससे पीडि़त हैं। स्वास्थ्य विभाग ने कहा कि अगर हमने बड़ी आबादी का टीकाकरण नहीं किया तो हम तीसरी लहर को निमंत्रण दे रहे हैं।

COVID safety tips


महाराष्ट्र में कोरोना संक्रमण की वर्तमान स्थिति

कोरोना वायरस का संक्रमण महाराष्ट्र कहर मचा रहा है। महाराष्ट्र में गुरुवार को कोरोना वायरस से संक्रमण के 66,159 नए मामले सामने आए और 771 मरीजों की मौत हो गई। महाराष्ट्र में संक्रमित लोगों की कुल संख्या बढक़र 45,39,553 हो गई, जबकि मरने वालों की कुल संख्या बढक़र 67,985 हो गई। स्वास्थ्य विभाग के एक अधिकारी ने मीडिया को बताया कि महाराष्ट्र में बीते 24 घंटे में 68,537 मरीजों को ठीक होने पर अस्पतालों से छुट्टी दे दी गई। महाराष्ट्र में अभी 6,70,301 मरीजों का इलाज चल रहा है। स्वास्थ्य विभाग के अनुसार महाराष्ट्र में कोविड मरीजों के स्वस्थ होने की दर 83.69 प्रतिशत है जबकि मृत्यु दर 1.5 प्रतिशत है। 


कोरोना संक्रमण के मामले में भारत, अमेरिका के बाद विश्व में दूसरे स्थान पर

कोराना संक्रमण के मामले में अमेरिका के बाद अब भारत दूसरे स्थान पर आ गया है। कोरोना के बढ़ते केस के बीच कोविड-19 से मरने वालों की संख्या भी बढ़ती जा रही है। देश में 31 लाख 70 हजार 228 एक्टिव केस हैं। कोरोना के बढ़ते मामलों के कारण भारत अब दुनिया में दूसरे नंबर पर पहुंच गया है। अमेरिका में सबसे ज्यादा 68 लाख एक्टिव केस हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक, देश में अभी तक कोरोना से 1 करोड़ 87 लाख 62 हजार 976 लोग संक्रमित हो गए हैं। अब तक 1 करोड़ 53 लाख 84 हजार 418 लोग इस वायरस के संक्रमण से ठीक हो गए हैं। इस वायरस से मरने वालों की संख्या 2 लाख 8 हजार 330 हो गई है।  

 

अगर आप अपनी कृषि भूमि, अन्य संपत्ति, पुराने ट्रैक्टर, कृषि उपकरण, दुधारू मवेशी व पशुधन बेचने के इच्छुक हैं और चाहते हैं कि ज्यादा से ज्यादा खरीददार आपसे संपर्क करें और आपको अपनी वस्तु का अधिकतम मूल्य मिले तो अपनी बिकाऊ वस्तु की पोस्ट ट्रैक्टर जंक्शन पर नि:शुल्क करें और ट्रैक्टर जंक्शन के खास ऑफर का जमकर फायदा उठाएं।

Mahindra Bolero Maxitruck Plus

Quick Links

scroll to top