प्रधानमंत्री कुसुम योजना 2020 : सोलर पंप से फ्री में अतिरिक्त आमदनी पाएं

प्रधानमंत्री कुसुम योजना 2020 : सोलर पंप से फ्री में अतिरिक्त आमदनी पाएं

Posted On - 16 Jun 2020

करना होगा कुसुम योजना 2020 में ऑनलाइन आवेदन ( kusum yojana 2020 ) 

किसान भाइयों का ट्रैक्टर जंक्शन में स्वागत है। आज हम बात करेंगे सरकारी की कुसुम योजना के बारें में कि किस तरह किसान कुसुम योजना का फायदा उठा सकते है। जैसा कि हम जानते हैं कि भारत एक कृषि प्रधान देश है। यहां अधिकतर गांव के लोग खेती का कार्य करते हैं। किसानों को अच्छे उत्पादन के लिए फसलों की सिंचाई करने की आवश्यकता होती है। लेकिन सिंचाई कार्य के लिए पर्याप्त मात्रा में बिजली नहीं मिलने से पानी की कमी के कारण किसान की फसल सूख जाती है।

 इससे किसानों की फसल को नुकसान पहुंचता है और उत्पादन में कमी आती है। इस बात को ध्यान में रखते हुए केंद्र सरकार ने किसानों के लिए कुसुम योजना चलाई है। इस योजना के तहत किसानों को सौलर पंप दिए जाएंगे जो सौर ऊर्जा से चलेंगे। इससे किसान को बिजली की कमी से नहीं जुझना पड़ेगा और किसान को सिंचाई के लिए 24 घंटे बिजली मिल सकेगी। इसके अलवा किसान अतिरिक्त बिजली का उत्पादन कर उसे ग्रिड को बेचकर कमाई कर सकेगा। इस योजना के तहत सरकार 90 प्रतिशत तक सब्सिडी देती है। हर राज्यों में सब्सिडी के अलग-अलग नियम हैं। आइए जानते है किस तरह किसान इस योजना का लाभ उठा कर उत्पादन में बढ़ोतरी करने के साथ ही अतिरिक्त कमाई कर सकते हैं। 

 

सबसे पहले सरकार की सभी योजनाओ की जानकारी के लिए डाउनलोड करे, ट्रेक्टर जंक्शन मोबाइल ऍप - http://bit.ly/TJN50K1

 

क्या है प्रधानमंत्री कुसुम योजना ( pm kusum yojana ) 

किसान उर्जा सुरक्षा और उत्थान महाअभियान ( PM कुसुम योजना ) योजना केंद्र सरकार और राज्य सरकार दोनों के द्वारा आपस में मिलकर चलाई जाने वाली योजना है जिसके तहत किसानों को सब्सिडी पर सोलर पंप दिए जाएंगे। इन पंप का इस्तेमाल कर किसान अपने खेत में सिंचाई कर सकता है और बिजली भी उत्पन्न कर सकता है। इस योजना के प्रथम चरण 17.5 लाख डीज़ल / बिजली से चलने वाले पंपों को सौर ऊर्जा से चलाया जाएगा। वहीं अगले 10 सालों में 3 करोड़ खेती उपयोगी पंपों को सोलर पंप में बदलने का लक्ष्य रखा गया है। इस योजना के तहत बजट 2020 -21 में 20 लाख किसानों को  सोलर पंप लगाने में मदद की जाएगी।

बता दें कुसुम योजना का एलान पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली द्वारा केंद्र सरकार के आम बजट 2018-19 में किया गया था। इस योजना के तहत 2022 तक लक्षित 3 करोड़ सौर ऊर्जा संयंत्रों की स्थापना की कुल लागत 1.4 लाख करोड़ रुपए होगी। जिसमें से 48 हजार करोड़ रुपए का योगदान केंद्र सरकार करेगी और जबकि इतनी ही राशि राज्य सरकार देगी। इस कुसुम योजना 2020 ( kusum yojana 2020 ) के तहत देश के किसानों को केवल कुल लगत का 10 फीसदी ही देना होगा जबकि 48 हजार करोड़ का इंतजाम बैंक लोन से किया जाएगा। सब्सिडी की रकम सरकार किसान के खातें में देगी।

 

 

कुसुम योजना के उद्देश्य

  • कुसुम योजना पहले चरण में सरकार डीजल से चल रहे 17.5 लाख सिंचाई पंपों को सौर ऊर्जा से चलाएगी।
  • इस कुसुम योजना से किसानों को दोगुना लाभ दिया जाएगा। इस योजना के अंतर्गत किसान बिजली का उपयोग सिंचाई में करने के बाद बची हुई बिजली को ग्रीड को बेचकर उससे भी कमाई कर सकेगा। 
  • कुसुम योजना से 28000 मेगावाट अतिरिक्त बिजली का उत्पादन किया जाएगा।

 

किसानों को कुसुम योजना से लाभ / सौर ऊर्जा सब्सिडी / कुसुम योजना की पात्रता

  • इस योजना का लाभ देश के सभी किसान उठा सकते हैं।
  • किसानों को रियायती मूल्य पर सौर सिंचाई पंप उपलब्ध हो सकेगा। 
  • 10 लाख ग्रिड से जुड़े कृषि पंपों का सोलराइजेशन किया जाएगा।
  • कुसुम योजना 2020 के तहत पहले चरण में डीजल से चल रहे 17.5 लाख सिंचाई पंपों को सौर ऊर्जा से चलाया जाएगा। जिससे डीजल खपत कम होगी।
  • अब खेतों को सिंचाई करने वाले पंप सौर ऊर्जा से चलाए जाएंगे इससे किसानों को खेती करने में सुविधा होगी।
  • इस योजना से 28000 मेगावाट अतिरिक्त बिजली का उत्पादन होगा।   
  • इस योजना के  अंतर्गत सोलर पेनल लगाने के लिए सरकार की तरफ से किसानों को 60 प्रतिशत केंद्र सरकार की तरफ से वित्तीय सहायता  दी जायेगी व बैंक 30 प्रतिशत ऋण सहायता उपलब्ध कराई जाएगी और शेष 10 फीसदी रकम किसान को भुगतान करनी होगी।
  • कुसुम योजना उन किसानों के लिए फायदेमंद होगी जो राज्य सूखाग्रस्त है और जहां बिजली की समस्या रहती है।
  • सोलर प्लांट लगाने से 24 घंटे बिजली मिल सकेगी जिससे किसान अपने खेतों में कभी भी सिंचाई कार्य कर सकेंगे। 
  • सोलर पेनल से जो अतिरिक्त बिजली बनेगी किसान उस बिजली को सरकारी या गैर सरकारी बिजली विभागों में बेचकर अतिरिक्त कमाई कर सकेगा। यहां से किसान को प्रति माह 6 हजार रुपए तक की मदद मिल जाएगी। 
  • कुसुम योजना के तहत सोलर पेनल किसान की बंजर भूमि पर लगाए जाएंगे। इससे एक फायदा तो यह होगा कि खाली पड़ी बंजर भूमि का उपयोग हो सकेगा। वहीं इस बंजर भूमि पर लगे सौर पेनल से किसान को अतिरिक्त बिजली उत्पादन करने पर आय प्राप्त होगी।

 

कुसुम योजना में आवेदन के लिए आवश्यक दस्तावेज

इस योजना में आवेदन करने के लिए किसान को निम्नलिखित दस्तावेज अपने पास रखने होंगे जो इस प्रकार हैं- 

  • आवेदक का आधार कार्ड
  • आवेदक के बैंक अकाउंट की पासबुक की कापी
  • आवेदक का आय प्रमाण पत्र
  • आवेदक का मोबाइल नंबर
  • आवेदक का पते का प्रमाण
  • आवेदक की पासपोर्ट साइज फोटो

 

कुसुम योजना 2020 के लिए ऐसे करें आवेदन

कुसुम सोलर पंप वितरण योजना के तहत सब्सिडी पर सोलर पैनल और मोटर लेने के लिए आवेदक ऑनलाइन व ऑफलाइन दोनों तरीके से कर सकता है। ऑनलाइन आवेदन के लिए इसकी अधिकारिक बेवासाइट में जाकर करना होगा। जबकि ऑफ लाइन आवेदन अपने कृषि विभाग के कार्यालय जाकर वहां से फॉर्म भरकर कर सकते हैं। 

 

 

कुसुम योजना में ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया

  • आवेदक को सर्वप्रथम आवेदन के लिए ऑफिशल वेबसाइट https://kusum.online/ पर जाना होगा।
  • उसके बाद होम पेज पर आवेदन करने के लिए क्लिक करना होगा।
  • अब आपको Kusum Scheme का फॉर्म दिखाई देगा।
  • आवेदनकर्ता को इस फॉर्म में अपनी सही जानकारी भरनी होगी, जैसे कि अपने निजी जानकारी:– मोबाइल नंबर, ईमेल आईडी भरकर सबमिट बटन पर क्लिक करना होगा।
  • ऑनलाइन आवेदन पूरा होने पर आपको Kusum Yojana की ऑफिशियल वेबसाइट पर लॉग इन करना होगा।
  • अब कुसुम सोलर योजना के अंतर्गत भरे फॉर्म को सबमिट कर दीजिए।
  • इस तरह आपका कुसुम योजना के लिए आवेदन पूर्ण हो जाएगा।

 

कुसुम योजना मे आवेदन की सूची ऐसे देखें

  • कुसुम योजना के अंतर्गत सौर ऊर्जा संयंत्र लगाने हेतु चयनित आवेदकों के नाम देखने के लिए सर्वप्रथम आपको सोलर योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • इसके बाद "कुसुम के लिए पंजीकृत आवेदनों की सूची" वाले विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • जैसे ही आप इस विकल्प पर क्लिक करेंगे आपके सामने चयनित आवेदकों की सूची खुल जाएगी और अब आप इस सूची में किसी भी व्यक्ति के नाम को आसानी से ढूंढ सकते हैं।

 

 

कुसुम योजना के बारे में अधिक जानकारी के लिए आप https://mnre.gov.in/ पर जाकर जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

 

सभी कंपनियों के ट्रैक्टरों के मॉडल, पुराने ट्रैक्टरों की री-सेल, ट्रैक्टर खरीदने के लिए लोन, कृषि के आधुनिक उपकरण एवं सरकारी योजनाओं के नवीनतम अपडेट के लिए ट्रैक्टर जंक्शन वेबसाइट से जुड़े और जागरूक किसान बने रहें।

Quick Links

scroll to top
Close
Call Now Request Call Back