पीएम किसान सम्मान निधि योजना - जानें, किन कारणों से रुक सकती है 10वीं किस्त

पीएम किसान सम्मान निधि योजना - जानें, किन कारणों से रुक सकती है 10वीं किस्त

Posted On - 03 Dec 2021

जानें, किन कारणों से रुक सकती है पीएम किसान सम्मान निधि योजना की किस्त, कैसे करें सुधार

पीएम किसान योजना के तहत किसान सम्मान निधि का लाभ दिया जाता है। इसके तहत किसानों को हर चार माह के अंतराल में 2 हजार रुपए की तीन किस्तें दी जाती है। इस प्रकार पीएम किसान योजना के लाभार्थियों को हर साल कुल 6 हजार रुपए की राशि प्रदान की जाती है। पीएम किसान योजना के तहत पीएम किसान सम्मान निधि का लाभ प्रदान किया जाता है। अब तक सरकार की पीएम किसान सम्मान निधि का लाभ 12 करोड़ किसानों को मिल चुका है।

Buy Used Livestocks

इन कारणों से नहीं मिल पाता पीएम किसान सम्मान निधि का लाभ (PM Kisan Samman Nidhi Yojana)

बता दें कि पीएम किसान योजना से हर साल लाखों की संख्या में नए किसान आवेदन करते हैं। इनमें से कई किसानों के आवेदन पत्र में गलतियों के कारण इनको किस्त नहीं मिल पाती है। वहीं कई किसान ऐसे होते हैं जो इस योजना के पात्र नहीं होते हुए आवेदन करते हैं। ऐसे किसानों को पीएम किसान सम्मान निधि का लाभ नहीं मिल पाता है। इसके अलावा गलत तरीके से फर्जी किसान बन कर भी कई किसान पीएम किसान सम्मान निधि का पैसा ले रहे थे। अब ऐसे किसानों पर सरकार ने लगाम लगा दी है। अब ऐसे किसानों की छंटनी करकेे सिर्फ पात्र किसानों तक इसका लाभ पहुंचाया जाएगा। वहीं यूपी के आजमगढ़ में पराली जलाने वाले किसानों पर प्रशासन सख्त रूख अपना रहा है। इसके तहत ऐसे किसानों की पहचान करके उन्हें पीएम किसान सम्मान निधि का लाभ नहीं देने का निर्णय भी प्रशासन की ओर से लिया गया है। 

फर्जी तरीके से पीएम किसान सम्मान निधि का लाभ लेने वालों सरकार सख्त

फर्जी तरीके से पीएम किसान सम्मान निधि योजना का लाभ ले रहे लोगों के प्रति सरकार ने सख्त रूख कर लिया है। सरकार की ओर से ऐसे फर्जी लोगों की पहचान की जा रही है जो इस योजना के पात्र नहीं होते हुए भी फर्जी तरीके से इसका लाभ उठा रहे हैं। ऐसे लोगों को योजना से बाहर किया जा रहा है। अब ऐसे अपात्र लोग इस योजना का लाभ नहीं उठा पाएंगे। वहीं इन लोगों से जितना पैसा अब तक पीएम किसान सम्मान निधि का उनके खाते में आया है इसकी वसूली की जाएगी। बता दें कि बीते महीनों के दौरान सरकार ने कई राज्यों से काफी संख्या में ऐसे लोगों की पहचान की जो फर्जी तरीके से योजना का लाभ ले रहे थे। सरकार की ओर से ऐसे लोगों से पीएम किसान सम्मान निधि की रकम वापिस लेने का काम किया जा रहा है। 

फील्ड वेरिफिकेशन के माध्यम से होगी अपात्र किसानों की जांच

पीएम किसान सम्मान निधि योजना का लाभ पात्र किसान को मिले। इसके लिए सरकार ने योजना में शामिल हुए अपात्र किसानों की पहचान कर रही है। इसके लिए ऐसे किसानों का फील्ड वेरिफिकेशन किया जाएगा। अब किसान को वह सभी जानकारी जो उसने अपने आवेदन के साथ दी हैं। उसका अब फिजिकल वेरिफिकेशन किया जाएगा। फिजिकल वेरिफिकेशन के दौरान किसान की राजस्व में भूमि रिकॉर्ड, टैक्स पेयर नहीं होने के संबंधित जांच की पुष्टि आदि की जाएगी। इसके बाद यह तय किया जाएगा कि किसान को आगे इस योजना का लाभ दिया जाए या नहीं। यदि जांच के दौरान यह पाया जाता है कि आप किसान सम्मान निधि योजना के पात्र नहीं है तो आपके खाते में सम्मान निधि की अब तक जमा की गई राशि की वसूली की कार्रवाई की जाएगी।

इन लोगों को नहीं मिलेगा पीएम किसान सम्मान निधि का लाभ 

पीएम किसान सम्मान निधि योजना में पारदर्शिता लाने के लिए सरकार की ओर से निरंतर प्रयास किए जा रहे हैं ताकि पात्र किसान को योजना का लाभ मिल सके। सरकार की ओर से जिन लोगों को इन योजना से बाहर रखा गया है। वे इस प्रकार से हैं।

•    ऐसे किसान जो भूतपूर्व या वर्तमान में संवैधानिक पद धारक हैं, वर्तमान या पूर्व मंत्री हैं।
•    मेयर या जिला पंचायत अध्यक्ष, विधायक, एमएलसी, लोकसभा और राज्यसभा सांसद, ये लोग स्कीम से बाहर माने जाएंगे। भले ही वो किसानी भी करते हों।
•    केंद्र या राज्य सरकार के अधिकारी इससे बाहर रहेंगे।
•    पिछले वित्तीय वर्ष में आयकर भुगतान करने वाले किसानों को फायदा नहीं मिलेगा।
•    10 हजार रुपए से अधिक पेंशन पाने वाले किसानों को भी लाभ नहीं दिया जाएगा।
•    पेशेवर, डॉक्टर, इंजीनियर, सीए, वकील और आर्किटेक्ट योजना से बाहर होंगे।

किसान सम्मान निधि योजना से संबंधित कुछ नए दिशा-निर्देश (PM Kisan Samman Nidhi Scheme)

अब तक किसानों को पीएम किसान सम्मान निधि की 9 किस्तें मिल चुकी हैं और 10वीं किस्त भी सरकार दिसंबर माह में किसानों के खाते में ट्रांसफर की जाने वाली है। ऐसे सभी किसान जो इस योजना के पात्र नहीं है उन्हें इस योजना के अंतर्गत प्राप्त हुआ पैसा वापस करना होगा। अपात्र किसान आगे से इस योजना का लाभ न उठा पाएंगे। यदि आप भी इस योजना में आवेदन कर रहे हैं तो इससे पहले सरकार की ओ से जारी कुछ जरूरी दिशा-निर्देशों को अवश्य जान लें। 

म्यूटेशन हुआ अनिवार्य

इस योजना का लाभ उठाने के लिए म्यूटेशन अनिवार्य कर दिया गया है। हालांकि इन नए नियमों का प्रभाव पुराने लाभार्थियों पर नहीं पड़ेगा। अब वहीं किसान सम्मान निधि का लाभ ले सकेंगे जिनके नाम खेत की जमीन होगी। इससे पहले वे सभी किसान जो अपने दादा परदादा की जमीन में एलपीसी के आधार पर किसान सम्मान निधि योजना का लाभ उठा रहे थे। अब उन्हें इस योजना का लाभ नहीं दिया जाएगा।

COVID Vaccine Process

प्लॉट नंबर भी देना भी है जरूरी

किसान सम्मान निधि योजना का लाभ उठाने के लिए अब प्लॉट नंबर देना अनिवार्य कर दिया गया है। बता दें कि हमारे देश में कई सारे किसान ऐसे हैं जिनकी संयुक्त भूमि है और जो खातियानी जमीन के आधार पर इस योजना का लाभ प्राप्त कर रहे हैं। अब इन सभी किसानों को अपने हिस्से की जमीन अपने नाम पर करानी होगी। तभी वह इस योजना का लाभ उठा पाएंगे। वह सभी किसान जो किसान सम्मान निधि योजना के लिए नया रजिस्ट्रेशन करा रहे हैं उन्हें आवेदन फॉर्म में अपना प्लॉट नंबर भी लिखना जरूरी होगा।

इन किसानों की भी रूक सकती है किस्त

जो नए किसान पीएम किसान योजना में जुड़े हैं। उनमें से कई किसानों के आवेदन फॉर्म में हुई छोटी-छोटी गलतियों की वजह से भी उनकी किस्त रूक सकती है। अगर आपने कोई गलत जानकारी दी हो या किसी कागजात में कोई गलती की हो तो आपके खाते में अगली किस्त नहीं आ पाएगी। 

इन गलतियों के कारण भी रूक जाती है पीएम किसान सम्मान निधि की किस्त  

पीएम किसान सम्मान निधि योजना का लाभ उन्हीं किसानों को दिया जाएगा जिनके आवेदन फॉर्म में कोई गलती नहीं होगी। अक्सर किसान आवेदन फॉर्म में कुछ गलतियां कर देते हैं जैसे- अपना नाम अंग्रेजी में लिखते समय स्पेलिग में गलती, अंग्रेजी की जगह हिंदी में नाम लिखना, आधार कार्ड में जानकारी सही नहीं होना, बैंक खाते की जानकारी में गड़बड़ी, अकाउंट नेम में स्पेलिंग की गलती होना, गांव की स्पेलिंग ठीक नहीं होना आदि कई ऐसे कारण हैं जिनके कारण आपकी किस्त अटक सकती है। इसलिए आवेदन फॉर्म को सही-सही भरें। 

गलतियां ठीक करने का ये है तरीका

  • पीएम किसान की वेबसाइट pmkisan.gov.in पर जाएं। 
  • यहां आपको फॉर्मर कार्नर दिखेगा। यहां एडिट आधार फेलियर रिकार्ड्स पर क्लिक करें। 
  • इसमें आपको तीन ऑप्शन आधार कार्ड, मोबाइल नंबर, अकाउंट नंबर आदि दिखाई देगा। जिसमें आपसे गलती हुई है उस पर टिक करके आप उसे ठीक कर सकते हैं।
  • वहीं अगर आपने खाता संख्या गलत लिखी हो तो उसमें सुधार के लिए आपको कृषि विभाग कार्यालय या लेखपाल से संपर्क करना होगा।

हेल्प डेस्क से भी ले सकते हैं मदद

इसके अलावा pmkisan.gov.in पर दिए गए हेल्प डेस्क ऑप्शन की मदद से आप अपना आधार नंबर, खाता संख्या और मोबाइल नंबर दर्ज कर गलतियां ठीक कर सकते हैं। इसकी मदद से आप अपने आधार नंबर, स्पेलिंग आदि की गलतियां ठीक कर सकते हैं। 
ऐसे करें चेक किस्त मिलेंगी या नहीं

यदि आपने भी प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना में आपने रजिस्ट्रेशन कराया है और आप पता करना चाहते हैं कि आपको पीएम किसान सम्मान निधि का लाभ मिलेगा या नहीं। इसका पता आपको लाभार्थियों की लिस्ट में देखकर चल जाएगा। इसके लिए आपकों पता चलेगा, इसके लिए आपको आपना नाम लिस्ट में देखना होगा। इसके लिए सबसे पहले आपको पीएम किसान योजना की आधिकारिक वेबसाइट https://pmkisan.gov.in पर जाना होगा। होमपेज पर दाहिनी तरफ आपको फार्मर्स कॉर्नर का विकल्प पर क्लिक करना होगा, फिर फॉर्मर कॉर्नर के भीतर आपबेनेफिशरी लिस्ट के विकल्प पर क्लिक करना होगा। लिस्ट में अपना राज्य, जिला, ब्लॉक और गांव को सेलेक्ट करना होगा। इसके बाद गेट रिपोर्ट विकल्प को क्लिक करने पर आपके इलाके के सभी किसान लाभार्थियों की लिस्ट आ जाएगी और उसमें आप अपना नाम ढूढ़ कर जान सकेंगे।

किस्त का स्टेटस देखने के लिए ये करें

पीएम किसान योजना की आधिकारिक वेबसाइट https://pmkisan.gov.in पर फार्मर्स कॉर्नर पर जाकर बेनेफिशियरी स्टेटस विकल्प चुनना होगा। क्लिक करते ही नया पेज खुलेगा इस पेज पर आपको अपना आधार नंबर, मोबाइल नंबर डालना होगा और आपके सामने किस्त का स्टेटस होगा। इस तरह आप अपना किस्त का स्टेटस देख सकेंगे।  

अगर आप अपनी कृषि भूमि, अन्य संपत्ति, पुराने ट्रैक्टर, कृषि उपकरण, दुधारू मवेशी व पशुधन बेचने के इच्छुक हैं और चाहते हैं कि ज्यादा से ज्यादा खरीददार आपसे संपर्क करें और आपको अपनी वस्तु का अधिकतम मूल्य मिले तो अपनी बिकाऊ वस्तु की पोस्ट ट्रैक्टर जंक्शन पर नि:शुल्क करें और ट्रैक्टर जंक्शन के खास ऑफर का जमकर फायदा उठाएं।

Mahindra Bolero Maxitruck Plus

Quick Links

scroll to top