सोलर पैनल पर सब्सिडी : 40 प्रतिशत सब्सिडी पर घर की छत पर लगवाएं सौर पैनल 

सोलर पैनल पर सब्सिडी : 40 प्रतिशत सब्सिडी पर घर की छत पर लगवाएं सौर पैनल 

Posted On - 25 Aug 2021

जानें, सौलर पैनल की कीमत, सब्सिडी, लाभ और आवेदन का तरीका

सौर ऊर्जा को बढ़ावा देने के लिए सरकार निरंतर प्रयास कर रही है। इसके तहत किसानों को सब्सिडी पर सोलर पंप उपलब्ध कराए जा रहे हैं जिससे किसानों को बिना बिजली बिल के सिंचाई के लिए बिजली उपलब्ध हो रही है। वहीं सरकार ये चाहती है कि देश में अधिक से अधिक सौर ऊर्जा का प्रसार हो ताकि किसानों के साथ ही आम उपभोक्ताओं को भी इसका लाभ मिल सके। इसके लिए भारत सरकार की ओर से नवीकरणीय ऊर्जा को बढ़ावा देने के लिए इसके अधिक से अधिक उपयोग पर बल दे रही है। सरकार का फोकस सौर ऊर्जा पर है। इसके लिए घरों की छतों पर लगने वाले सौर पेनल भी सरकार की ओर से सब्सिडी पर दिए जा रहे ताकि आम व्यक्ति को भी सौर ऊर्जा का लाभ मिल सके। सौर ऊर्जा का फायदा ये हैं कि इसमें बिजली बिल नहीं आता है। एक बार खर्चा करके सालों तक आप इसका लाभ उठा सकते हैं। इसी क्रम में मध्यप्रदेश राज्य सरकार की ओर से घरेलू सौर पेनल पर सब्सिडी प्रदान की जा रही है। इसके लिए राज्य सरकार की ओर से रूफटॉप योजना चलाई जा रही है। इस योजना का संचालन स्थानीय विद्युत कंपनियों के माध्यम से किया जा रहा है। 

Buy Used Livestocks

 

सबसे पहले सरकार की सभी योजनाओ की जानकारी के लिए डाउनलोड करे, ट्रेक्टर जंक्शन मोबाइल ऍप - http://bit.ly/TJN50K1 


क्या है सोलर रूफ टॉप योजना

सरकार की ओर से ग्रीन एनर्जी यानी नवीकरणीय ऊर्जा के तहत सोलर पेनल के लिए अनुदान दिया जाता है। इसमें सोलर रूफ टॉप योजना के तहत 3 किलोववाट तक 40 प्रतिशत सब्सिडी देने का प्रावधान है। इसके साथ ही 3 किलावाट से 10  किलोवाट के लिए 20 प्रतिशत तक की सब्सिडी दी जा रही है। इस योजना को स्थानीय विद्युत कंपनियों द्वारा संचालित किया जाता है।


क्यों लगवाएं घर की छत पर सोलर पेनल

भारत सरकार द्वारा सोलर रूफ टॉप योजना की शुरुआत की है। इस योजना के जरिए उपभोक्ताओं को बिजली बिल में राहत मिलेगी। उपभोक्ता अपने घर पर सोलर पैनल लगवाकर बिजली बिल कम कर सकते हैं। इससे पैसों की बचत होगी। साथ ही पर्यावरण को भी नुकसान नहीं होगा। बता दें कि पावर हाउस से बिजली बनाना काफी खर्चीला होता है, साथ ही पर्यावरण के लिए काफी नुकसानदायक साबित होता है। इसे देखते हुए सरकार की ओर से सौर ऊर्जा को बढ़ावा दिया जा रहा है। इसके लिए सरकार लोगों को जागरूक भी कर रही है। 

COVID Vaccine Process


सोलर पैनल लगवाने के क्या हैं फायदें  ( subsidy on solar panels )

सोलर रूफटॉप योजना के तहत घरों की छत पर सोलर पैनल लगवाने से आपको कई प्रकार के लाभ प्राप्त होते हैं। कुछ लाभ इस प्रकार से हैं-

  • पर्यावरण हितैषी बिजली का उत्पादन- सौर ऊर्जा जो कि सूूर्य की शक्ति से उत्पन्न की जाती है। इससे सूर्य के प्रकाश से बिजली का उत्पादन होता है। इसलिए ये पूर्व रूप से प्राकृतिक है। इससे उत्पन्न बिजली से पर्यावरण को काई नुकसान नहीं होता है। 
  • मुफ्त में बिजली मिलना- सोलर पैनल लगवाने के बाद आपको हर बार भारी भरकम बिजली का बिल नहीं देना होगा। सौर पेनल की सहायता से आपको मुफ्त में बिजली मिलेगी जिसका कोई बिल नहीं आएगा। हालांकि इसको एक बार लगवाने में जरूर ज्यादा खर्चा आता है पर इसके बाद आप कई सालों तक मुफ्त बिजली प्राप्त कर सकते हैं।
  • बिजली बिल का कम होना- जैसा कि ये सोलर पैनल से जो बिजली मिलेगी वे मुफ्त होगी। इससे बिजली का बिल का पैसा कम आएगा। वहीं आवश्यकता पडऩे पर आप विद्युत निगम की बिजली का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। इससे आपके बिजली बिल का खर्चा कम होगा। 
  • 25 सालों तक कर सकते हैं उपयोग- जो सोलर पैनल आपको सब्सिडी पर उपलब्ध कराएं जाएंगे उसका उपयोग आप 25 सालों तक कर सकेंगे। क्योंकि ये काफी टिकाऊ होते हैं और लंबे समय तक चलते हैं। 
  • 5 साल में लागत पूरी- आपके द्वारा सोलर पैनल लगवाने में जो खर्चा आएगा उसकी पूरी लागत आप 5 साल में ही वसूल कर लेंगे। इसके बाद जो बिजली मिलेगी उस पर आपका एक पैसा भी खर्च नहीं होगा। इस तरह आगे 20 सालों तक आपको मुफ्त बिजली मिलेगी।
  • बिजली उत्पादन करके बेच भी सकेंगे- यदि आप अपने सोलर पैनल की सहायता से उपभोग की बिजली के अलावा और अधिक बिजली उत्पादन करते हैं तो उस अतिरिक्त बिजली को ग्रिड को बेचकर पैसा भी कमा सकते हैं। 


सोलर पैनल लगवाने पर सरकार से कितनी मिलेगी सब्सिडी

  • अगर आप छत पर सोलर पैनल लगवाना चाहते हैं, तो सरकार की ओर से 3 किलोवाट क्षमता के सोलर पैनल लगवाने पर 40 प्रतिशत सब्सिडी दी जाती है।
  • अगर आप इंडस्ट्रियल यूज के उद्देश्य से सोलर पैनल लगवाना चाहते हैं, तो आप 3 किलोवाट से लेकर 10 किलोवाट तक का सोलर पैनल लगवा सकते हैं। इस पर 20 प्रतिशत तक की सब्सिडी देने का प्रावधान है।


कितनी है सोलर पैनल की कीमत

  • 1 किलोवाट से ऊपर 3 किलोवाट तक 37 हजार रुपए प्रति किलोवाट
  • 3 किलोवाट से ऊपर 100 किलोवाट तक 39,800 रुपए प्रति किलोवाट
  • 100 किलोवाट से लेकर 500 किलोवाट तक 34,900 रुपए प्रति किलोवाट
  • ध्यान दें कि अगर आप 3 किलोवाट का सोलर पैनल ले रहे हैं, तो 37000x3= 111000 रुपए कुल कीमत पर 40 प्रतिशत की सब्सिडी मिलेगी। इस पर आपको मात्र 66,600 रुपए का भुगतान करना होगा।


सोलर रूफ टॉप योजना के तहत सोलर पैनल लगवाने के लिए कहां करें आवेदन

  • अगर आप सोलर रूफ टॉप योजना के तहत आवेदन करना चाहते हैं, तो आप अपने नजदीकी बिजली ऑफिस में जाकर ऑफलाइन आवेदन कर सकते हैं। 
  • इसके अलावा आप सोलर रूफ टॉप योजना से जुड़ी अधिक जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं, तो हेल्पलाइन नंबर 1800-180-3333 पर संपर्क कर सकते हैं। 
  • मध्यप्रदेश में इच्छुक व्यक्ति कंपनी द्वारा अधिकृत एजेंसी, तकनीकी विवरण, सब्सिडी एवं भुगतान की जाने वाली राशि की जानकारी हेतु मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के निकटतम कार्यालय, कंपनी की वेबसाईट portal.mpcz.in के मुख्य पृष्ठ पर देखें या टोल फ्री नंबर 1912 पर संपर्क कर सकते हैं।

 

अगर आप अपनी कृषि भूमि, अन्य संपत्ति, पुराने ट्रैक्टर, कृषि उपकरण, दुधारू मवेशी व पशुधन बेचने के इच्छुक हैं और चाहते हैं कि ज्यादा से ज्यादा खरीददार आपसे संपर्क करें और आपको अपनी वस्तु का अधिकतम मूल्य मिले तो अपनी बिकाऊ वस्तु की पोस्ट ट्रैक्टर जंक्शन पर नि:शुल्क करें और ट्रैक्टर जंक्शन के खास ऑफर का जमकर फायदा उठाएं।

Quick Links

scroll to top