भाग्य लक्ष्मी योजना : बेटियों के भविष्य के लिए मिलेंगे लाखों रुपए

भाग्य लक्ष्मी योजना : बेटियों के भविष्य के लिए मिलेंगे लाखों रुपए

Posted On - 02 Sep 2021

जानें, क्या है भाग्य लक्ष्मी योजना और इससे कैसे मिलेगा लाभ

भारतीय समाज में आज भी बेटियों से ज्यादा बेटों को महत्व दिया जाता है। बेटियों को शुरू से घर कामों में व्यस्त रखा जाता है और बेटों को शिक्षा में आगे बढ़ाया जाता है। इस वजह से बेटियां आगे अपनी पढ़ाई नहीं कर पाती है और उनका भविष्य असुरक्षित हो जाता है। जबकि बेटों की तरफ माता-पिता का पूरा ध्यान देते हैं और उनके भविष्य के निर्माण के लिए हर संभव सुविधाएं उसे उपलब्ध कराते हैं। जबकि बेटियों के भविष्य को लेकर उतनी फिक्र माता पिता नहीं करते हैं। इस लिंगभेद के कारण बेटियों को बेहतर शिक्षा नहीं मिल पाती है जिससे अच्छे अवसर उनके हाथ से निकल जाते हैं। इस बात को ध्यान में रखते हुए बेटियों को आत्मनिर्भर बनाने और उन्हें भी बेटों की तरह बेहतर शिक्षा दिलाने के उद्देश्य से उत्तरप्रदेश की योगी सरकार ने राज्य की बेटियों के लिए भाग्य लक्ष्मी योजना शुरू की है। इस योजना के जरिये बेटियों के भविष्य निर्माण की कोशिश की जा रही है। इसका लाभ राज्य की बालिकाओं को मिल रहा है। आप भी यदि यूपी से है और अपनी बेटियों की फिक्र करते हैं तो आपके लिए इस योजना को जानना जरूरी है। आइए जानते हैं क्या है भाग्य लक्ष्मी योजना और इससे कैसे फायदा उठाया जा सकता है। 

Buy Used Livestocks


क्या है उत्तर प्रदेश की भाग्य लक्ष्यी योजना 2021

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार की ओर से गरीब परिवार में जन्मी कन्याओं को आर्थिक सहायता प्रदान करने के उद्देश्य से यूपी भाग्य लक्ष्यी योजना 2021 जिसे लाड़ली लक्ष्मी योजना के नाम से भी जाना जाता है, शुरू किया गया है। इसके तहत गरीब कन्याओं को 50 हजार रुपए की वित्तीय सहायता प्रदान की जाती है। इसके साथ ही राज्य सरकार की ओर से कन्याओं के अलावा गर्भवती महिलाओं को भी बेटी के जन्म के लिए 51 सौ रुपए की वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी। जिसके माध्यम से गर्भवती महिलाएं अपने और अपने बच्चे के लिए एक पोषणयुक्त आहार को उपलब्ध कर सकती है। 


यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना 2021 का उद्देश्य

देश में बढ़ रहे भ्रूण हत्या जैसे अपराधों को कम करने के लिए और बेटियों का बेहतर भविष्य को बनाने के लिए यूपी सरकार की योगी सरकार की ओर से भाग्यलक्ष्मी योजना को शुरू किया गया है। जैसा कि आपको पता होगा कि आए दिन अखबारों में भ्रूणहत्या की खबरे आती है जिनमें माता-पिता के साथ ही डाक्टर्स की भी भूमिका भी रहती हैं। बेटियों को गर्भ में ही मार दिया जाता है। यह हमारी पुरानी सोच का ही परिणाम है। हमें इस सोच को बदलने की जरूरत है ताकि बेटों की तरह ही बेटियों को भी उन्नति के अवसर मिल सके। आज बेटा और बेटी में कोई अंतर नहीं रह गया है। बेटियां भी बेटों की तरह आज हर क्षेत्र में नाम रोशन कर रही हैं। यही नहीं आज सरकारी नौकरियों व अन्य सैक्टरों में भी बेटियां काम कर रही है। बेटियों को पालन पोषण और बेहतर शिक्षा मिले इसके लिए यूपी सरकार ने भाग्य लक्ष्यी याजना 2021 को शुरू किया है। इस योजना का मुख्य उद्देश्य राज्य में कन्या भूू्रण हत्या जैसे घिनौने अपराधों पर अंकुश लगाना है और बेटियों के शिक्षा के स्तर को भी भाग्य लक्ष्मी योजना/लाड़ली लक्ष्मी योजना उत्तर प्रदेश के माध्यम से मजबूत बनाना है।


यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना 2021 योग्यता / पात्रता की शर्तें

यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना 2021 में आवेदन के लिए कुछ योग्यता और शर्तें भी सरकार की ओर से निर्धारित की गई हैं जिसके अनुसार बालिकाओं को इस योजना का लाभ प्रदान किया जाएगा। ये शर्तें इस प्रकार से हैं- 

•    भाग्यलक्ष्मी योजना 2021 में राज्य की स्थाई निवासी बालिकाएं ही आवेदन के लिए पात्र मानी जाएगी।
•    इस योजना के तहत बीपीएल परिवार की 2 बालिकाओं को ही इस योजना का लाभ प्रदान किया जाएगा।
•    इस योजना के लिए वही बालिकाएं पात्र मानी जाएंगी जिनका जन्म 31 मार्च 2006 के बाद हुआ हो।
•    इस योजना के तहत गरीबी रेखा से नीचे (बीपीएल) परिवारों में बालिकाएं ही मात्र होगी। 
•    इस योजना में उन बालिकाओं को ही शामिल किया जाएगा जिनके परिवार की वार्षिक आय 2 लाख रुपए से अधिक नहीं है।
•    उत्तर प्रदेश भाग्य लक्ष्मी योजना के अंतर्गत लाभार्थी कन्या की शादी 18 वर्ष से पहले नहीं होनी चाहिए।
•    बच्चे के जन्म के एक साल तक यूपी भाग्य लक्ष्मी योजना में जन्म नामांकन किया जाना आवश्यक है।
•    इस स्कीम का लाभ प्राप्त करने के लिए लाभार्थी परिवार को स्वास्थ्य विभाग से बच्चे का टीकाकरण करना आवश्यक है।
•    लाभार्थी कन्या के माता-पिता को योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए बेटी का एडमिशन सरकारी स्कूल में ही करवाना होगा।

 

यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना 2021 में किस तरह मिलेगी सहायता राशि

  • यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना 2021 के तहत राज्य की वे सभी बालिकाएं लाभ प्राप्त कर सकती है। इसके लिए बालिकाओं के नाम से बैंक में अकाउंट होना जरूरी है। 

  • योजना के तहत शिक्षा हेतु मिलने वाली सहायता राशि लाभार्थी कन्या के बैंक अकाउंट में डीबीटी के माध्यम से ट्रांसर्फर की जाएगी।
  • इस योजना के तहत कन्या को अलग-अलग शिक्षा के स्तर के अनुसार सहायता राशि प्रदान की जाएगी। 

 

यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना 2021 में दी जाने वाली राशि का विवरण

  • जब बालिका कक्षा 6वी में आएगी तो उसे तीन हजार की राशि इस योजना के तहत प्रदान की जाएगी।
  • बालिका के कक्षा 8वीं में प्रविष्ट होने पर उसे पांच हजार रुपए की वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी। 
  • बालिका जब कक्षा 10वीं में आएगी तो उसकी शिक्षा के लिए सात हजार रुपए की राशि इस योजना के तहत दी जाएगी।
  • जब बालिका कक्षा 12वीं में आएगी तो उसे आठ हजार रुपए की राशि इस योजना के तहत मिलेगी। इस तरह बालिका को शिक्षा के लिए चार स्तरों पर इस योजना के तहत राशि प्रदान की जाएगी। 

 

यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना 2021 के तहत मिलने वाले लाभ ( UP Bhagya Laxmi Yojana 2021 )

  • यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना 2021 के तहत बीपीएल परिवार में जन्मी कन्या को 50 हजार रुपए का बॉन्ड लाभार्थी कन्या के माता-पिता को प्राप्त होगा।
  • साथ ही गर्भवती महिला को पोषणयुक्त आहार के लिए 51 सौ रुपए की वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी।
  • एक परिवार की अधिकतम 2 बालिकाओं को भाग्य लक्ष्मी योजना यूपी का लाभ प्राप्त होगा।
  • बेटियों की 21 वर्ष की अवस्था पूर्ण होने के बाद उत्तर प्रदेश भाग्य लक्ष्मी योजना के माध्यम से लाभार्थी कन्या के माता-पिता को 2 लाख रुपए की वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी।


इन्हें नहीं मिलेगा योजना का फायदा

इस योजना का लाभ केवल आर्थिक दृष्टि से कमजोर बीपीएल परिवार की बेटियों को दिया जाना सुनिश्चित किया गया है। यदि आप सरकारी कर्मचारी हैं, तो इस योजना का लाभ नहीं उठा सकते हैं। 


यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना 2021 में आवेदन के लिए आवश्यक दस्तावेज

यदि आप यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना 2021 के लिए आवेदन करना चाहते हैं तो आपको कुछ जरूरी कागजातों की आवश्यकता होगी। इस योजना के लिए आवेदन के लिए जो दस्तावेज चाहिए वे इस प्रकार से हैं-

  • बालिका का जन्म प्रमाण पत्र
  • माता पिता का आधार कार्ड
  • मूल निवास प्रमाण-पत्र
  • जाति प्रमाण-पत्र 
  • माता पिता का आय प्रमाण पत्र 
  • बालिका का बैंक अकाउंट पासबुक
  • मोबाइल नंबर
  • बालिका का पासपोर्ट साइज फोटो


यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना 2021 में कैसे करें आवेदन ( Bhagya Lakshmi Yojana )

यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना 2021 में रजिस्ट्रेशन के लिए नजदीकी कॉमन सर्विस सेंटर यानी ई-मित्र केंद्र पर जाना होगा। यहां आपको कोई रजिस्ट्रेशन फीस नहीं देनी होगी। इस योजना में आवेदन के लिए की ऑनलाइन प्रक्रिया इस प्रकार से हैं- 

  • आवेदक को यूपी भाग्य लक्ष्मी योजना पंजीकरण करने के लिए इस लिंक http://mahilakalyan.up.nic.in/ पर जाकर आवेदन फॉर्म को डाउनलोड करना होगा।
  • यूपी भाग्य लक्ष्मी योजना पीडीएफ फॉर्म को डाउनलोड करने के बाद इसका प्रिंट आउट लें।
  • अब फॉर्म में पूछी गई सभी जानकारी इस आवेदन पत्र में भरें।
  • फॉर्म में सारी जानकारियां दर्ज करने के बाद आवेदक को फॉर्म के साथ फोटो और आवश्यक दस्तावेजों की स्कैन कॉपी को फॉर्म के साथ अटैच करके फॉर्म को अपने क्षेत्र के नजदीकी आंगनबाड़ी केंद्र या फिर महिला एवं बाल विकास कार्यालय में जमा करना होगा।

 


FAQs –  उत्तर प्रदेश भाग्यलक्ष्मी योजना 2021 से संबंधित सवाल और जवाब

प्रश्न - उत्तरप्रदेश भाग्यलक्ष्मी योजना 2021 क्या है?

COVID Vaccine Process

उत्तर - उत्तर प्रदेश की योगी सरकार की ओर से राज्य में बालिका भू्रण हत्या को रोकने और गरीब परिवार में जन्मी कन्याओं को आर्थिक सहायता प्रदान करने के उद्देश्य इस योजना को शुरू किया गया है। इसके तहत गरीब कन्याओं को 50 हजार रुपए की वित्तीय सहायता प्रदान की जाती है। इसके अलावा लडक़ी के 21 साल का होने पर उसके परिवार को 2 लाख रुपए की सहायता प्रदान की जाती है। 

प्रश्न - उत्तरप्रदेश भाग्यलक्ष्मी योजना 2021 का लाभ किन बालिकाओं को मिलेगा?

उत्तर - उत्तरप्रदेश भाग्यलक्ष्मी योजना 2021 का लाभ बीपीएल परिवार की बालिकाओं को मिलेगा। बेशर्त बालिका उत्तरप्रदेश की मूल निवासी हो।

प्रश्न - क्या यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना 2021 का लाभ अन्य प्रदेश की बालिकाएं भी उठा सकती हैं?

उत्तर - ये योजना केवल उत्तरप्रदेश सरकार की ओर से राज्य की बालिकाओं के लिए शुरू की गई है। इसका लाभ अन्य प्रदेश की बालिकाएं नहीं उठा सकती हैं।

प्रश्न - यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना 2021 के तहत बालिका के जन्म पर कितनी राशि प्रदान की जाती है?

उत्तर - यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना 2021 के तहत बीपीएल परिवार में जन्मी कन्या को 50 हजार रुपए की राशि का बॉन्ड लाभार्थी कन्या के माता-पिता को प्राप्त होगा।

प्रश्न - जब लडक़ी 21 साल की हो जाती है तो परिवार को इस योजना से कितनी सहायता प्रदान की जाती है?

उत्तर - जब लडक़ी 21 साल की हो जाती है तो उसके परिवार को इस योजना के तहत 2 लाख रुपए की सहायता दी जाती है। 

प्रश्न - यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना 2021 के तहत कौन लाभ के पात्र नहीं होंगे?

उत्तर - इस योजना का लाभ केवल आर्थिक दृष्टि से कमजोर बीपीएल परिवार की बेटियों को ही दिया जाएगा। यदि आप सरकारी कर्मचारी हैं, तो इस योजना का लाभ नहीं उठा सकते हैं।

 

अगर आप अपनी कृषि भूमि, अन्य संपत्तिपुराने ट्रैक्टर, कृषि उपकरण, दुधारू मवेशी व पशुधन बेचने के इच्छुक हैं और चाहते हैं कि ज्यादा से ज्यादा खरीददार आपसे संपर्क करें और आपको अपनी वस्तु का अधिकतम मूल्य मिले तो अपनी बिकाऊ वस्तु की पोस्ट ट्रैक्टर जंक्शन पर नि:शुल्क करें और ट्रैक्टर जंक्शन के खास ऑफर का जमकर फायदा उठाएं।

Mahindra Bolero Maxitruck Plus

Quick Links

scroll to top