अब किसान अपनी इच्छानुसार निजी कंपनी या बाजार में बेच सकेगा उपज

अब किसान अपनी इच्छानुसार निजी कंपनी या बाजार में बेच सकेगा उपज

Posted On - 15 May 2020

कर्नाटक सरकार ने एपीएमसी संशोधन अध्यादेश को दी मंजूरी

कर्नाटक मंत्रिमंडल ने गुरुवार को एक अध्यादेश को मंजूरी दे दी है जो कृषि उपज मंडी समिति (एपीएमसी) कानून में संशोधन करेगा। हालांकि विपक्षी दलों ने इस पर आपत्ति जताई है लेकिन इन सब विरोध के बीच सरकार ने इसे मंजूरी दे दी है। सरकार का मानना है कि इससे किसानों को उनकी उपज का उचित मूल्य मिल पाएगा। राज्य के कानून मंत्री जेसी माधुस्वामी ने बताया कि कैबिनेट ने एपीएमसी संशोधन अध्यादेश को मंजूरी दे दी है। उन्होंने बताया कि हमने केवल कुछ वर्गों में संशोधन किया है। अब किसान अपनी उपज को निजी कंपनियों या फिर बाजार में अपनी इच्छा के अनुसार बेच सकते हैं। 

 

सबसे पहले सरकार की सभी योजनाओ की जानकारी के लिए डाउनलोड करे, ट्रेक्टर जंक्शन मोबाइल ऍप - http://bit.ly/TJN50K1

 

सरकार का कहना किसानों की आय होगी दोगुनी

राज्य के कानून मंत्री जेसी माधुस्वामी ने कहा कि अब राज्य के किसान अपनी एग्री जिंसों को अपनी मनचाही जगहों पर, जहां उसे ज्यादा दाम मिलेगा बेच सकता है। साथ ही किसान चाहे तो एपीएमसी बाजार में अपना उत्पाद बेचे या फिर बाजार के बाहर अथवा किसी निजी खरीददार को भी बेच सकता है। उन्होंने कहा कि किसानों को अपनी उपज को बेचने की आजादी देने के लिए हमने अध्यादेश को मंजूरी दी है ताकि किसानों की आय दोगुनी की जा सके।

 

 

निजी कंपनियों को होगा फायदा

किसानों से सीधे उपज खरीदने पर निजी कंपनियों को फायदा होगा। इससे यह होगा कि कंपनियां किसानों से पहले से ही उपज का मूल्य तय कर अनुबंध कर सकती है। और उपज होने पर उसी तय की गई दर से (चाहे वह वर्तमान बाजार भाव से कम ही क्यूं न हो) उसे खरीदकर अधिक मुनाफा कमाएंगी। इससे निजी कंपनियों को फायदा होगा, उन्हें कम दाम पर जिंस मिल जाएगी। वहीं बाजार में निजी कंपनियों का एकाधिकार हो जाएगा।  

 

सभी कंपनियों के ट्रैक्टरों के मॉडल, पुराने ट्रैक्टरों की री-सेल, ट्रैक्टर खरीदने के लिए लोन, कृषि के आधुनिक उपकरण एवं सरकारी योजनाओं के नवीनतम अपडेट के लिए ट्रैक्टर जंक्शन वेबसाइट से जुड़े और जागरूक किसान बने रहें।

Quick Links

scroll to top