मौसम अलर्ट : महाराष्ट्र सहित केरल, कर्नाटक और लक्षद्वीप में ‘टाउते’ तूफान मचा सकता है तबाही

मौसम अलर्ट : महाराष्ट्र सहित केरल, कर्नाटक और लक्षद्वीप में ‘टाउते’ तूफान मचा सकता है तबाही

Posted On - 15 May 2021

जानें, क्या है ‘टाउते’ तूफान और इससे निपटने के सरकारी इंतजाम?

मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) की ओर से ‘टाउते’ चक्रवात के तूफान में बदलने की चेतावनी दी गई है। इसे लेकर हाई अलर्ट जारी किया गया है। चेतावनी के अनुसार से तूफान महाराष्ट्र सहित केरल, कर्नाटक और लक्षद्वीप में तबाही मचा सकता है।  ‘टाउते’’ चक्रवाती तूफान को लेकर कहा जा रहा है कि अरब सागर में बना कम दबाव का क्षेत्र के 17 मई को ‘अत्यंत भीषण चक्रवाती तूफान’ में तब्दील हो सकता है और 18 मई को इसके गुजरात तट से टकराने की संभावना जताई जा रही है। मौसम विभाग ने पश्चिमी तटीय राज्य को सतर्क किया है। तूफान की आशंका को देखते हुए केंद्र सरकार ने हालात से निपटने के लिए एनडीआरएफ को तैनात कर दिया है।

Buy Kubota MU4501 4WD

 

सबसे पहले सरकार की सभी योजनाओ की जानकारी के लिए डाउनलोड करे, ट्रेक्टर जंक्शन मोबाइल ऍप - http://bit.ly/TJN50K1


क्या है ‘टाउते’ तूफान और कैसे करेगा प्रभावित

इस साल भारत के तट से टकराने वाला ये पहला तूफान है। तूफान को ‘टाउते’का नाम म्यांमार ने दिया है जिसका मतलब ‘छिपकली’ होता है। अरब सागर में ये तूफान पिछले 6 घंटे के दौरान 9 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से आगे बढ़ रहा है। मौसम विभाग का अनुमान है कि तट से टकराते समय चक्रवात की रफ्तार 140 से 150 किलोमीटर प्रति घंटे तक रह सकती है। गुजरात के तट से ये तूफान इस वक्त 160 किलोमीटर दूर है, जबकि गोवा के पणजी से इसकी दूरी 350 किलोमीटर है।


कब टकराएगा तट से

इस तूफान के शनिवार रात तक अत्यंत भीषण चक्रवाती तूफान में तब्दील होने की संभावना है। 18 मई को दोपहर या फिर शाम को ये तूफान गुजरात के पोरबंदर और नालिया तट को पार करेगा। आईएमडी ने कहा कि 16-19 मई के बीच पूरी संभावना है कि ये 150-160 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार वाली हवाओं के साथ एक ‘अत्यंत भीषण चक्रवाती तूफान’ में तब्दील होगा। हवाओं की रफ्तार बीच-बीच में 175 किलोमीटर प्रति घंटा भी हो सकती है।


कहां-कहां होगी बारिश

इस तूफान के चलते लक्षद्वीप में 15 मई को कहीं-कहीं मूसलाधार बारिश होगी। कर्नाटक (तटीय एवं आसपास के जिलों) में 15 मई को अधिकतर स्थानों पर हल्की से मध्यम तथा कुछ स्थानों पर भारी बारिश होगी। कोंकण और गोवा में 15-16 मई को भारी से अत्यंत भारी बारिश होने की संभावना है. आईएमडी ने कहा कि गुजरात में सौराष्ट्र क्षेत्र के तटीय जिलों में 16 मई से बारिश होने की संभावना है और 17 मई को भारी से अत्यंत भारी बारिश हो सकती है। इधर केरल के कई इलाकों में अभी से से ही तेज बारिश शुरू हो गई है। यहां के कई जिलों में रेड अलर्ट जारी कर दिया गया है।


तूफान को लेकर महाराष्ट्र सरकार ने दिए निर्देश

मौसम विज्ञान की ओर से जारी अलर्ट के बाद महाराष्ट्र सरकार गंभीरता दिखाते हुए अधिकारियों को इससे निपटने के लिए चौकन्ना रहने और साजो-सामान तैयार रखने के निर्देश दिए हैं। मुख्यमंत्री कार्यालय द्वारा शुक्रवार देर रात जारी एक बयान में ठाकरे के हवाले से कहा गया, ‘चौकन्ना रहिए और जहां भी जरूरत पड़े बचाव अभियान चलाएं.’ रिपोर्ट्स में बताया जा रहा है कि तूफान के आगे बढ़ने का प्रभाव कर्नाटक, महाराष्ट्र, लक्षद्वीप, गोवा में भी नजर आएगा। यहां तेज हवाएं चलने का अनुमान है। इधर महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई में चक्रवाती तूफान की चेतावनी के मद्देनजर बृहन्मुंबई महानगरपालिका के अधिकारियों ने कोविड-19 टीकाकरण अभियान को अगले दो दिन के लिए स्थगित करने का फैसला किया है।


महाराष्ट्र के इन जिलों में पड़ सकता है तूफान का असर

मीडिया से मिली जानकारी के अनुसार ठाकरे ने कहा कि इस चक्रवात का असर पालघर, रायगढ़, रत्नागिरी, सिंधुदुर्ग जिलों में पड़ सकता है और इन जिलों के जिलाधीशों को बचाव उपकरण और श्रमबल के लिहाज से सभी आवश्यक एहतियात बरतने के लिए कहा गया है। बयान में कहा गया है कि ठाकरे ने आपदा प्रबंधन प्राधिकरण की बैठक के दौरान यह बात कही। चक्रवात से निपटने की तैयारियों का जायजा लेने के लिए यह बैठक हुई। 


इन राज्यों में राहत कार्यों के लिए तैयार की 53 टीमें

‘टाउते’ को लेकर प्रशासन भी खासा अलर्ट है। एनडीआरएफ के प्रमुख एसएन प्रधान ने मीडिया को यह जानकारी दी है कि 53 टीमों को राहत कार्यों के लिए तैयार किया गया है। इनमें से 24 टीमों को केरल, कर्नाटक, तमिलनाडु, गुजरात और महाराष्ट्र में तैनात किया गया है। वहीं, 29 दलों को तैयार रहने के लिए कहा गया है। मौसम विभाग ने आशंका जताई है कि 16-19 मई तक ‘टाउते’ बड़े तूफान में बदल सकता है। स्काईमेट के अनुसार, केरल, कर्नाटक, दक्षिण महाराष्ट्र तट और लक्षद्वीप क्षेत्र में समुद्र की लहरें काफी ऊंचाई तक जा सकती है।


गुजरात में आपात बैठक में तैयारियों को लेकर की चर्चा

साइक्लोन ‘टाउते’ को लेकर गुजरात के मुख्य सचिव ने आपात बैठक की है. साइक्लोन गुजरात के 14 जिलों को असर कर सकती है। मौसम विभाग के अनुमान के बाद 14 जिलों के डीएम,एसपी के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंस करके कोविड प्रोटोकॉल के साथ क्या तैयारियां होनी चाहिए इसकी समीक्षा की गई।


इन राज्यों के लिए उड़ानें रद्द

तूफान को देखते हुए कई फ्लाइट्स को रद्द कर दिया गया है। विस्तारा एयरलाइंस के कहा है कि चेन्नई, तिरुवनंतपुरम, कोच्चि, बेंगलुरु, मुंबई, पुणे, गोवा और अहमदाबाद के लिए उड़ानें 17 मई, 2021 तक प्रभावित रहेगी। 

 

अगर आप अपनी कृषि भूमि, अन्य संपत्ति, पुराने ट्रैक्टर, कृषि उपकरण, दुधारू मवेशी व पशुधन बेचने के इच्छुक हैं और चाहते हैं कि ज्यादा से ज्यादा खरीददार आपसे संपर्क करें और आपको अपनी वस्तु का अधिकतम मूल्य मिले तो अपनी बिकाऊ वस्तु की पोस्ट ट्रैक्टर जंक्शन पर नि:शुल्क करें और ट्रैक्टर जंक्शन के खास ऑफर का जमकर फायदा उठाएं।

Quick Links

scroll to top
Close
Call Now Request Call Back