अब चार दिन देरी से आएगा मानसून, पांच जून को केरल पहुंचने की संभावना

Published - 15 May 2020

अब चार दिन देरी से आएगा मानसून, पांच जून को केरल पहुंचने की संभावना

पांच जून को केरल पहुंचने की संभावना

इस साल बार-बार बदलते मौसम के मिजाज को देखते हुए मानसून देरी से आने का अनुमान लगया जा रहा है। मौसम विभाग द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार केरल में मानसून पांच जून 2020 तक पहुंचने का अनुमान है। सामान्यतय पहली जून को मानसून केरल पहुंच जाता है लेकिन इस बार इसके चार दिन और देरी से पहुंचने का अनुमान लगाया जा रहा है।  भारतीय मौसम विभाग (आईएमडी) के अनुसार दक्षिण पश्चिम मानसून पांच जून 2020 को केरल पहुंचेगा और उसके बाद अन्य राज्यों में सक्रिय होगा।  गौरतलब है कि मौसम विभाग ने पिछले साल 6 जून को मानसून के केरल में पहुंचने की भविष्यवाणी की थी, जबकि मानसून का आगमन 8 जून 2019 को हुआ था। इससे पहले वर्ष 2018 में मौसम विभाग ने 29 मई को केरल में मानसून पहुंचने की भविष्यवाणी की थी, तथा 29 मई 2018 को ही मानसून ने केरल के तट पर दस्तक दे दी थी। 

 

 

जून से सितंबर तक होगी अच्छी बारिश

अर्थ साइंस मंत्रालय के सचिव माधवन राजीवन ने पहले अनुमान में अप्रैल में कहा था कि लांग टर्म पीरियड एवरेज में मानसून 96 से 104 फीसदी रह सकता है। इस बात की संभावना 48 फीसदी है। जून से सितंबर में पूरे देश अच्छी बारिश होगी तथा इस बात की संभावना बेहद कम है कि बारिश सामान्य से कमजोर हो।

 

सभी कंपनियों के ट्रैक्टरों के मॉडल, पुराने ट्रैक्टरों की री-सेल, ट्रैक्टर खरीदने के लिए लोन, कृषि के आधुनिक उपकरण एवं सरकारी योजनाओं के नवीनतम अपडेट के लिए ट्रैक्टर जंक्शन वेबसाइट से जुड़े और जागरूक किसान बने रहें।

Quick Links

scroll to top
Close
Call Now Request Call Back