राष्ट्रीय पशु रोग नियंत्रण कार्यक्रम : पशुओं के लिए चिकित्सा शिविर 28 तक, किसान यहां करें संपर्क

राष्ट्रीय पशु रोग नियंत्रण कार्यक्रम : पशुओं के लिए चिकित्सा शिविर 28 तक, किसान यहां करें संपर्क

Posted On - 23 Feb 2021

पशुधन सेवा अभियान : जानें, पशु चिकित्सा शिविर में मिलने वाली सुविधाएं और लाभ?

सरकार की ओर से समय-समय पर पशुओं के बेहतर स्वास्थ्य के लिए पशु चिकित्सालय में शिविर का आयोजन किया जाता है। इसमें पशुपालक किसानों को उनके पालतू पशुओं को निशुल्क सुविधाएं प्रदान की जाती है। इसके अंतर्गत पशुओं का निशुल्क इलाज व सलाह दी जाती है। हाल ही में केंद्र सरकार की ओर से पशुओं के स्वास्थ्य को लेकर राष्ट्रीय पशु रोग नियंत्रण कार्यक्रम एवं राष्ट्रीय कृत्रिम गर्भाधान मिशन की शुरुआत पूरे देश में की गई है, जिसमें पशुओं का निशुल्क टीकाकरण भी किया जाता है। इन योजनाओं का लाभ पशुपालकों तक पहुंचाने के लिए राजस्थान सरकार द्वारा एक फरवरी से 28 फरवरी तक पशुधन सेवा अभियान का आयोजन किया जा रहा है। पशुधन सेवा अभियान के तहत विभिन्न प्रकार की गतिविधियों का संचालन कर पशुपालकों को लाभान्वित किया जा रहा है। राजस्थान पशुपालन विभाग द्वारा पशुधन सेवा अभियान के तहत अब तक 2 हजार 231 शिविरों का आयोजन कर डेढ़ लाख से अधिक पशुओं का उपचार एवं एक लाख अस्सी हजार पशुओं में टीकाकरण किया गया।

 

सबसे पहले सरकार की सभी योजनाओ की जानकारी के लिए डाउनलोड करे, ट्रेक्टर जंक्शन मोबाइल ऍप - http://bit.ly/TJN50K1

 

शिविर में हुआ 33 हजार पशुओं का कृत्रिम गर्भाधान

राजस्थान के पशुपालन विभाग के मंत्री लालचन्द कटारिया ने बताया कि राष्ट्रीय कृत्रिम गर्भाधान कार्यक्रम के प्रथम चरण के दौरान कृत्रिम गर्भाधान किए गए 27 हजार पशुओं का गर्भ परीक्षण भी किया गया। उन्होंने बताया कि पशुधन सेवा अभियान के तहत आयोजित इन शिविरो में 33 हजार पशुओं में कृत्रिम गर्भाधान भी किया गया है। इसके अलावा बांझपन से ग्रसित 16 हजार पशुओं का उपचार किया गया है। अन्त: परजीवियों रोगों की रोकथाम के लिए एक लाख 87 हजार पशुओं को कृमिनाशक दवा पिलायी गई है, साथ ही बाह्य परजीवियों रोगो की रोकथाम के लिए एक लाख 8 हजार पशुओं में कृमिनाशक दवा का छिडक़ाव किया गया है।

 

 

पशुधन सेवा अभियान के तहत लगे शिविर में दी जा रही है ये सुविधाएं

विभिन्न स्तरों पर आयोजित किए जाने वाले इन शिविरों में पशुपालकों को कई सुविधाएं दी जा रही है जिसमें पशुओं का टीकाकरण, कृत्रिम गर्भाधान, रोगी पशुओं का उपचार, अन्त: एवं बाह्य परजीवियों रोगो की रोकथाम के लिए कृमिनाशक दवा पिलाना, दवा का छिड़ाव, बांझपन का उपचार आदि।

 

किसान शिविर का लाभ लेने के लिए यहां करें संपर्क

अभी तक राज्य में 2 हजार 722 पशुपालक गोष्ठियां आयोजित कर 35 हजार पशुपालकों को भी लाभान्वित किया गया है। जो भी पशुपालक इन शिविरों का लाभ लेना चाहते हैं वह अपने यहां के पशु चिकित्सालय में संपर्क कर आयोजित होने वाले शिविरों की जानकारी ले सकते हैं एवं सरकार द्वारा दी जाने वाली सुविधाओं का लाभ ले सकते हैं।

 

 

अगर आप अपनी कृषि भूमि, अन्य संपत्ति, पुराने ट्रैक्टर, कृषि उपकरण, दुधारू मवेशी व पशुधन बेचने के इच्छुक हैं और चाहते हैं कि ज्यादा से ज्यादा खरीददार आपसे संपर्क करें और आपको अपनी वस्तु का अधिकतम मूल्य मिले तो अपनी बिकाऊ वस्तु की पोस्ट ट्रैक्टर जंक्शन पर नि:शुल्क करें और ट्रैक्टर जंक्शन के खास ऑफर का जमकर फायदा उठाएं।

Mahindra Bolero Maxitruck Plus

Quick Links

scroll to top