खरीफ की बुवाई की जरूरतों को पूरा करने के लिए बैंकों ने किसानों को 62,870 करोड़ रुपए के ऋण को दी मंजूरी

खरीफ की बुवाई की जरूरतों को पूरा करने के लिए बैंकों ने किसानों को 62,870 करोड़ रुपए के ऋण को दी मंजूरी

Posted On - 03 Jul 2020

70 लाख किसान कार्डधारकों को मिलेगा इसका लाभ

केंद्र सरकार द्वारा बैंकों को दिए गए निर्देशों की पालना करते हुए बैंकों ने 70 लाख किसान कार्डधारकों को 62, 870 करोड़ रुपए के ऋण को मंजूरी दे दी है। इससे किसानों को खरीफ सीजन में फसलों की बुवाई की जरूरतों को पूरा करने में सहायता मिलेगी। इसके लिए बैंकों ने 62,870 करोड़ रुपए की ऋण सीमा के साथ 70.32 लाख किसान के्रडिट कार्ड जारी किए हैं।

इस संबंध में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने ट्विटर पर लिखा कि 30 जून, 2020 की स्थिति के अनुसार आत्मनिर्भर पैकेज के तहत कुल 2 लाख करोड़ रुपए के सस्ते कर्ज के तहत 62,870 करोड़ रुपए की ऋण सीमा के साथ 70.32 लाख किसान क्रेडिट कार्ड जारी किए गए हैं। इसके अलावा सरकार द्वारा मई में मछुआरों और पशुपालन उद्योग से जुड़े किसानों समेत 2.5 करोड़ किसानों को किसान क्रेडिट कार्ड के जरिये 2 लाख करोड़ रुपए का रियायती कर्ज देने की भी घोषणा की गई। इससे किसानों को फायदा होगा।

वहीं वित्तीय  जरूरतों  को पूरा करने के लिए सरकार ने राष्ट्रीय कृषि और ग्रामीण विकास बैंक (नाबार्ड) द्वारा विशेष तरलता सुविधा के तहत सहकारी बैंकों, क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों (आरआरबी) और माइक्रोफाइनेंस संस्थानों को 24,586.87 करोड़ रुपये का वितरण भी किया है।

 

इसके आलावा 30.06.2020 तक, 24,586.87 करोड़ रुपये पहले ही नाबार्ड द्वारा 30,000 करोड़ रुपए की विशेष तरलता सुविधा के तहत सहकारी बैंकों, आरआरबी और एमएफआई को वितरित किए जा चुके हैं। इससे 3 करोड़ छोटे और सीमांत किसानों को उनकी फसल के बाद और खरीफ बुवाई की जरूरतों को पूरा करने में मदद मिलेगी। 

 

अगर आप अपनी  कृषि भूमि, अन्य संपत्ति, पुराने ट्रैक्टर, कृषि उपकरण,  दुधारू मवेशी व पशुधन बेचने के इच्छुक हैं और चाहते हैं कि ज्यादा से ज्यादा खरीददार आपसे संपर्क करें और आपको अपनी वस्तु का अधिकतम मूल्य मिले तो अपनी बिकाऊ वस्तु की पोस्ट ट्रैक्टर जंक्शन पर नि:शुल्क करें और ट्रैक्टर जंक्शन के खास ऑफर का जमकर फायदा उठाएं।  

Quick Links

scroll to top
Close
Call Now Request Call Back