दूध निकालने की मशीन : मिल्किंग मशीन से निकाले पशुओं का दूध, जानें, खासियत

प्रकाशित - 13 Dec 2022

दूध निकालने की मशीन : मिल्किंग मशीन से निकाले पशुओं का दूध, जानें, खासियत

मिल्किंग मशीन से निकाले पशुओं का दूध, जानें विशेषताएं और लाभ

गांवों में गाय, भैंस जैसे दुधारू पशुओं का पालन किया जाता है। कृषि के अलावा पशुपालन भी किसानों के लिए इनकम का एक अच्छा सोर्स है। इसके माध्यम से किसान भाई अपनी आय बढ़ा सकते हैं। दूध के लिए गाय, भैंसों का पालन छोटे स्तर से लेकर एक बड़े बिजनेस स्केल पर किया जा सकता है। देश में दूध की बढ़ती मांग के कारण आज के समय में डेयरी का व्यवसाय काफी लाभकारी बिजनेस के रूप में उभर रहा है। इस बिजनेस से किसान भाई काफी मोटा मुनाफा कमा सकते हैं।

Buy New Implements

डयेरी के बिजनेस में अधिक लाभ प्राप्त करने के लिए आपको दूध निकालने के पुराने परंपरागत तरीके को छोड़कर आधुनिक तरीके से पशुओं का दूध निकालने के तरीके को अपनाना होगा। ये काम आप मिल्किंग मशीन की सहायता से आसानी से कर सकते हैं। इस मशीन के इस्तेमाल से समय बचेगा और मुनाफा बढ़ेगा। ये मशीन खास तौर से गाय, भैंस जैसे दुधारू पशुओं का दूध निकलने के लिए ही बनाई गई है। तो आइए आज हम ट्रैक्टर जंक्शन की इस पोस्ट में क्या है यह मिल्किंग मशीन, इससे कैसे पशुओं का दूध निकालते हैं, इस मशीन की क्या विशेषताएं है और इससे क्या लाभ होते हैं। इसकी बाजार में क्या कीमत है आदि सभी महत्वपूर्ण बातों की जानकारी आपको इस पोस्ट में दे रहे हैं, तो बने रहिए हमारे साथ।

क्या है मिल्किंग मशीन (Milking Machine)

गाय, भैंस जैसे दुधारू पशुओं का दूध निकालने के लिए आधुनिक मशीन बनाई गई है। इस मशीन की सहायता से गाय व भैंस का दूध कुछ ही मिनटों में निकाला जा सकता है। इस मशीन से गाय-भैंस के अलावा अन्य जानवरों का दूध भी आसानी से निकाला जाता है। इस मशीन के इस्तेमाल से आप अपना समय, श्रम बचा कर अधिक कमाई कर सकते हैं।

कितने प्रकार की होती है ये मिल्किंग मशीन

बाजार में दो प्रकार की मिल्किंग मशीन दो प्रकार आती हैं। इसमें एक छोटी मशीन होती है और दूसरी बड़़ी। पशुपालक अपनी आवश्यकता के अनुसार इसे खरीद सकता है। ये मशीनें इस प्रकार से हैं-

1.  सिंगल बकेट मिल्किंग मशीन
2.  डबल बकेट मिल्किंग मशीन

सिंगल बकेट मिल्किंग मशीन

यह दूध निकालने की एक छोटी मशीन होती है। इस मशीन की सहायता से दो से पांच पशुओं तक का दूध आसानी से निकाला जा सकता है। इस सिंगल बकेट मिल्किंग मशीन में दो पाइप और एक बाल्टी आती है। इस मशीन में दूध दुहने के लिए दो पाइप लगे होते है। इससे एक बार में दो बालियों (अयनों) में ही लगाया जा सकता है। ये मशीन छोटे पशुपालकों के लिए उपयोगी है।

भारत में पुराने एश्योर्ड ट्रैक्टर की जानकारी के लिए यहां क्लिक करें

डबल बकेट मिल्किंग मशीन

इस मशीन में दूध इक्ट्‌ठा करने के लिए दो बकेट आती हैं। इसमें चार पाइप होते हैँ। इससे पशु के चारों बालियों (अयन) से दूध निकाला जा सकता है। इसे एक बार में चार बालियों में लगाया जा सकता है। इस मशीन से चारों बालियों से दूध निकाला जा सकता है। इस मशीन से सिंगल बकेट की तुलना में ज्यादा दूध संग्रहित किया जा सकता है। ये मशीन बड़ी डेयरी बिजनेस के लिए काफी उपयोगी मशीन है। इस मशीन की सहायता से 10 से लेकर 20 पशुओें तक का दूध निकाला जा सकता है।

Buy Used Harvester

मिल्किंग मशीन की खासियत/विशेषताएं

  • मिल्किंग मशीन, दूध निकालने की प्रक्रिया को जल्दी पूरा करने के साथ ही दूध की गुणवत्ता व स्वच्छता में भी वृद्धि करती है।
  • इस मशीन की सहायता से डेयरी किसान समान संसाधनों में ज्यादा गायों को एक साथ संभाल सकता है।
  • जिन डेयरी फार्म में मिल्किंग मशीन का प्रयोग नहीं किया जाता वे पूर्ण रूप से श्रमशक्ति पर ही निर्भर रहते है जिसका परिणाम श्रम पर अधिक खर्च के रूप में सामने आता है।
  • जबकि वे किसान जो इस मशीन का इस्तेमाल करते हैं उनके श्रम की बचत बचत होती है ओर बेहतर दूध उत्पादन प्राप्त होता है।
  • इस मशीन को इस्तेमाल करना बहुत ही आसान है इसे कोई अकुशल कर्मचारी भी आराम इस्तेमाल कर सकता है।
  • जब हम प्रतिदिन पशुओं का दूध मशीन के द्वारा निकालते है तो यह प्रक्रिया पशुओं में होने वाले तनाव को कम करती है। जिससे पशुओं के स्वास्थ्य में सुधार होता है और दूध उत्पादन में भी वृद्धि होती है।

मिल्किंग मशीन से दूध निकालने से होने वाले लाभ

  • मल्किंग मशीन से दूध निकालने का सबसे बड़ा लाभ ये होता है कि इससे इस मशीन से दूध निकालने से समय और श्रम की बचत होती है।
  • इस मशीन से एक समान रफ्तार से दूध निकलता है, जिससे पशु को परेशानी नहीं होती है।
  • इस मशीन के इस्तेमाल से पशुओं के अयन की मालिश होती है।
  • इस मशीन के इस्तेमाल से दूध की लागत में कमी आती है जिससे मुनाफा बढ़ता है।
  • इस मशीन से निकाला गया दूध स्वच्छ और गुणवत्तापूर्ण होता है।
  • इस मशीन के इस्तेमाल से पशु के थनों को कोई नुकसान नहीं पहुंचाता है।
  • इस मशीन के इस्तेमाल से करीब 10 से 20 प्रतिशत दूध के उत्पादन में बढ़ोतरी होती है।

मिल्किंग मशीन से कैसे निकाला जाता है गाय व भैंस का दूध

मिल्किंग मशीन कृत्रिम तरीके से गाय, भैंसों दूध निकालने की एक मशीन है। जब किसी दुधारू पशु का दूध निकाला जाता है तब इस मशीन को उस पशु की बालियों यानि अयन में लगा दिया जाता है। इससे जानवर को बिना दर्द पहुंचाएं आसानी से दूध निकाला जा सकता है। इस मशीन की सहायता से कुछ ही मिनटों में पशु का दूध निकाला जा सकता है।

क्या है मिल्किंग मशीन से दूध निकालने का सही तरीका

  • मिल्किंग मशीन में दूध इकट्ठा करने के लिए बकेट होती हैं और पाइप होते हैं।
  • इस मशीन में लगे पाइपों का एक सिरा मशीन की ओर से और दूसरा सिरा बकेट यानि बाल्टी की ओर होता है।
  • इसमें सबसे पहले दूध निकालने वाली मशीन को दुधारू पशु की बालियों (अयन) में लगाया जाता है।
  • यहां इस बात का ध्यान रखें की मशीन को बालियों में लगाने से पहले गाय के बालियों या अयन को अच्छी तरह से स्वच्छ पानी से धो लेना चाहिए ताकि कोई संक्रमण नहीं हो।
  • इस मशीन से एक रफ्तार से दूध निकलता है जिससे पशु को कोई दिक्कत नहीं होती है और दूध आसानी से पाइप के जरिये दूसरे सिरे पर लगी बकेट यानि बाल्टी में इक्ट्‌ठा होता रहता है।
  • पशु का दूध निकालने के बाद पशु के अयन पर लाल दवा लगा देनी चाहिए ताकि मशीन से उसके कोई एलर्जी न हो। इसके लिए दूध दुहने के पश्चात् थन की यथोचित सफाई लिए लाल पोटाश या सेवलोन का प्रयोग किया जा सकता है।
  • पशु का दूध निकालने के बाद मिल्किंग मशीन को भी अच्छी तरह साफ कर लेना चाहिए जिससे उसे दुबारा उपयोग में लेते समय कोई परेशानी न हो।

मिल्किंग मशीन के इस्तेमाल में ध्यान रखने वाली खास बातें

  • दुधारू पशु के ब्याने के बाद से ही इस मिल्किंग मशीन का उपयोग करना शुरू कर देना चाहिए ताकि पशु को मशीन की आदत पड़ जाए।  
  • दूध दुहते समय पशुओं को पुचकारते रहना चाहिए जिससे वे अपनापन महसूस करें और आराम से खड़ी रहे जिससे दूध निकालते समय कोई परेशानी न आए।
  • दूध दुहने के बाद मिल्किंग मशीन की अच्छी तरह सफाई कर लेना चाहिए ताकि उसे दुबारा इस्तेमाल करते समय कोई दिक्कत न आए।
  • मिल्किंग मशीन को पशु के आसपास ही रखना चाहिए ताकि वे इस मशीन को देखने का आदि हो जाए जिससे वे इसके इस्तेमाल के समय बिदके नहीं।
  • गौशाला को हमेशा साफ सुथरा रखना चाहिए। विशेषकर दूध दुहते समय विशेष सफाई का ध्यान रखा जाना चाहिए।

भारत में मिनी ट्रैक्टर की जानकारी के लिए यहां क्लिक करें

मिल्किंग मशीन की कीमत 2022 (Milking Machine Price)

बाजार में कई तरह की मिल्किंग मशीनें आती है। इसकी क्वालिटी के अनुसार उनकी कीमत निर्धारित होती है। इसके अलावा इसकी कीमत मशीन की दूध संग्रहित करने की क्षमता पर निर्भर करती है। आम तौर पर मिल्किंग मशीन की कीमत 25 हजार से शुरू होकर 90 हजार रुपए तक होती है। वहीं कई बड़ी कंपनियों की मिल्किंग मशीन है भी है जिनकी 35,000 से लेकर पांच लाख तक है। बाजार में 100 लीटर दूध की क्षमता वाली मशीन की कीमत करीब 80 हजार के आस-पास है। ये मशीन 150 लीटर, 200 लीटर, 300 लीटर की क्षमता में भी मिलती हैं

मिल्किंग मशीन पर कितनी मिलती है सब्सिडी

मिल्किंग मशीन खरीदने के लिए सरकार पशुपालकों और किसानों को सब्सिडी का लाभ प्रदान करती है। सरकार ने पशुपालन के लिए कई प्रकार की योजनाएं चला रखी हैँ जिसके तहत किसानों को इस मशीन की खरीद पर 30 से लेकर 50 प्रतिशत तक सब्सिडी दी जाती है। वहीं पशुपालन के लिए सरकारी योजनाओं के तहत लोन भी मिलता है। इसके अलावा कई बैंक पशु खरीदने के लिए भी लोन देते हैं। इस संबंध में अधिक जानकारी के किसान अपने जिले के पशुपालन विभाग से संपर्क कर सकते हैं। 
 

ट्रैक्टर जंक्शन हमेशा आपको अपडेट रखता है। इसके लिए ट्रैक्टरों के नये मॉडलों और उनके कृषि उपयोग के बारे में एग्रीकल्चर खबरें प्रकाशित की जाती हैं। प्रमुख ट्रैक्टर कंपनियों जॉन डियर ट्रैक्टर, न्यू हॉलैंड ट्रैक्टर आदि की मासिक सेल्स रिपोर्ट भी हम प्रकाशित करते हैं जिसमें ट्रैक्टरों की थोक व खुदरा बिक्री की विस्तृत जानकारी दी जाती है। अगर आप मासिक सदस्यता प्राप्त करना चाहते हैं तो हमसे संपर्क करें।

अगर आप ट्रैक्टर टायर्स, पुराने ट्रैक्टर, कृषि उपकरण बेचने या खरीदने के इच्छुक हैं और चाहते हैं कि ज्यादा से ज्यादा खरीददार और विक्रेता आपसे संपर्क करें और आपको अपनी वस्तु का अधिकतम मूल्य मिले तो अपनी बिकाऊ वस्तु को ट्रैक्टर जंक्शन के साथ शेयर करें।

हमसे शीघ्र जुड़ें

scroll to top
Close
Call Now Request Call Back