भारत में ट्रैक्टर सब्सिडी

लोकप्रिय सब्सिडी समाचार

भारत में ट्रैक्टर सब्सिडी के बारे में

भारत में केंद्र और राज्य सरकारों की ओर से दी जाने वाले ट्रैक्टर सब्सिडी पर अपडेट जानकारी अब ट्रैक्टर जंक्शन पर उपलब्ध है। वर्तमान में हमारे विशेषज्ञ लेखक भी आप सभी को ट्रैक्टर सब्सिडी के बारे में अपडेट कर रहे हैं। सभी जानकारी सुलभ और समझने योग्य भाषा में केवल ट्रैक्टर जंक्शन पर प्राप्त करें।

प्रौद्योगिकी के विकास के साथ-साथ कृषि क्षेत्र का भी विकास हुआ है और आधुनिक खेती के लिए कई प्रकार के तकनीकी उपकरण उपलब्ध हैं। लेकिन सभी किसान अधिक कीमतों के कारण इन्हें खरीद नहीं पाते हैं। इसलिए, सरकार किसानों को नया ट्रैक्टर सब्सिडी पर देकर उन्हें खरीदने में मदद करती है। यह किसानों को उपयुक्त ट्रैक्टर खरीदने की अनुमति देता है। किसान ट्रैक्टर योजना की मदद से आसानी से न्यूनतम इनपुट के साथ अधिक उपज प्राप्त कर सकते हैं। ट्रैक्टर सब्सिडी योजना केंद्र सरकार या राज्य सरकार द्वारा शुरू की जाती है।

ट्रैक्टरों के लिए सब्सिडी एक सरकारी भुगतान है, जो किसानों को प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से दिया जा सकता है। यह टैक्स में छूट या नकदी का एक रूप हो सकता है। साथ ही, ट्रैक्टर के लिए कृषि सब्सिडी सरकार द्वारा तीसरे पक्ष को नकदी का हस्तांतरण है। ट्रैक्टरों पर सब्सिडी के परिणाम स्वरूप कृषि उपकरणों की कीमत कम होती है। ट्रैक्टर सरकारी सब्सिडी के हस्तांतरण को आसान और सरल बनाने के लिए सरकार ने 2013 में डीबीटी कृषि योजना की स्थापना की।

डीबीटी कृषि योजना में गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाले किसानों को नकदी का सीधे हस्तांतरण किया जाता है। एनपीसीआई के आधार पेमेंट ब्रिज की मदद से ट्रांसफर की प्रक्रिया पूरी की जाती है। और सीपीएसएमएस वेबसाइट पर डीबीटी रणनीति और योजना के बारे में सभी जानकारी है।

भारत में किसानों के लिए सब्सिडी

भारत कृषि प्रधान देश है। देश की लगभग 60 प्रतिशत जनसंख्या कृषि कार्यों से जुड़ी हुुई है। भारतीय किसानों को समय-समय पर केंद्र और राज्य सरकार द्वारा सब्सिडी दी जाती है। किसानों को ट्रैक्टर, बीज सब्सिडी, उर्वरक सब्सिडी, कृषि उपकरण सब्सिडी, सौर ऊर्जा सब्सिडी, सिंचाई उपकरण सब्सिडी, नकद सब्सिडी, बिजली सब्सिडी, चीनी खरीद सब्सिडी, गन्ना भुगतान सब्सिडी आदि प्रदान की जाती है। सब्सिडी देने के पीछे सरकार का उद्देश्य किसानों की आर्थिक स्थिति को मजबूत करना है। किसानों को एग्रीकल्चर ट्रैक्टर सब्सिडी की सबसे ज्यादा जरूरत थी। ट्रैक्टर खेतों पर सबसे ज्यादा जरूरी मशीन है। सरकार विभिन्न योजनाओं के माध्यम से किसानों को 20 प्रतिशत से लेकर 90 प्रतिशत तक की सब्सिडी प्रदान करती है।

किसान ट्रैक्टर सब्सिडी के लाभ

भारत में ट्रैक्टर सब्सिडी

देश में मोदी सरकार और विभिन्न राज्य सरकारें किसानों की मदद के लिए ट्रैक्टर सब्सिडी सूची प्रदान करती हैं। नीचे हम देश की प्रमुख ट्रैक्टर सब्सिडी योजना 2022 दिखा रहे हैं।

1. राष्ट्रीय कृषि विकास योजना (आरकेवीवाई)
एग्रीकल्चर ट्रैक्टर सब्सिडी राष्ट्रीय कृषि विकास कार्यक्रम का हिस्सा है। यह योजना लगभग 100 प्रतिशत सब्सिडी प्रदान करती है।

2. कृषि मशीनीकरण पर उप-मिशन (एसएमएएम)
देश के सीमांत किसानों की मदद के लिए यह ट्रैक्टर सब्सिडी प्रदान की जाती है। 

3. राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा मिशन (एनएफएसएम)
इस ट्रैक्टर सब्सिडी योजना का प्रमुख लक्ष्य उत्पादकता को बढ़ावा देना है। इसलिए, यह नई मशीन खरीदने के बजाय मौजूदा मशीनों पर ध्यान केंद्रित करता है।

4. भारत में नाबार्ड लोन
यह एग्रीकल्चर ट्रैक्टर सब्सिडी खरीद के लिए 30 प्रतिशत सब्सिडी प्रदान करती है। इसलिए किसान अपने खेतों की उत्पादकता बढ़ाने के लिए ट्रैक्टर सब्सिडी के लिए आवेदन कर सकते हैं।

5. कृषि उपकरण अनुदान योजना
ट्रैक्टरों के लिए यह सब्सिडी किसानों को कम कीमत पर अपने पसंदीदा ट्रैक्टर मॉडल प्राप्त करने में मदद करती है।

6. कृषि उपकरणों पर सब्सिडी योजना
इस कृषि सब्सिडी का उपयोग महंगे कृषि उपकरणों की कीमतों को कम करने के लिए किया जाता है। केंद्र और राज्य सरकार उपरोक्त सभी ट्रैक्टर सब्सिडी योजनाओं को चलाती है, जिसका लाभ किसान उठा रहे हैं।

ट्रैक्टर सब्सिडी ऑनलाइन फॉर्म के लिए किसान की पात्रता

केंद्र और राज्य सरकारें अपनी योजनाओं के माध्यम से किसानों को सब्सिडी देती हैं, जिसमें विशिष्ट पात्रता निर्धारित की जाती है। ट्रैक्टर सब्सिडी 2022 के लिए पात्रता विभिन्न योजनाओं में अलग-अलग होती है। ट्रैक्टर ऋण सब्सिडी के दस्तावेजों में आधार कार्ड, वोटर आईडी, बैंक पासबुक, बैंक खाता विवरण, पैन कार्ड आदि शामिल हैं।

ट्रैक्टर सब्सिडी योजना के प्रकार

सरकारें किसानों को प्रत्यक्ष नकद सब्सिडी और अप्रत्यक्ष सब्सिडी प्रदान करती हैं। सीधे नकद सब्सिडी में सरकार किसानों को वित्तीय सहायता प्रदान करती है और पीएम किसान सम्मान निधि योजना इसका सबसे प्रमुख उदाहरण है। केंद्र सरकार इस योजना के माध्यम से किसानों के खाते में हर साल छह हजार रुपये ट्रांसफर करती है। अप्रत्यक्ष सब्सिडी में सरकार किसानों को कम कीमत पर ट्रैक्टर, कृषि उपकरण, हार्वेस्टर सब्सिडी, सोलर पंप आदि पर सब्सिडी देती है। ट्रैक्टर के लिए सब्सिडी का उद्देश्य कृषक समुदाय का कल्याण करना है।

ट्रैक्टर सब्सिडी की दैनिक जानकारी के लिए ट्रैक्टर जंक्शन के साथ बने रहें। यहां आप ऑनलाइन ट्रैक्टर सब्सिडी आवेदन और कृषि सब्सिडी ऑनलाइन फॉर्म के बारे में भी अपडेट प्राप्त कर सकते हैं।

हमसे शीघ्र जुड़ें

scroll to top
Close
Call Now Request Call Back