मौसम रिपोर्ट : इन 3 राज्यों में भारी बारिश की चेतावनी, किसान बरते ये सावधानी

प्रकाशित - 19 Jul 2022

मौसम रिपोर्ट : इन 3 राज्यों में भारी बारिश की चेतावनी, किसान बरते ये सावधानी

जानें, कहां-कहां होगी बारिश और आगे कैसा रहेगा मौसम का हाल

देश के कई भागों में बारिश नहीं होने से किसान परेशान हैं। जैसा कि खरीफ सीजन की शुरुआत हो गई है और किसान खेत में फसलों की बुवाई कर रहे हैं। ऐसे में बारिश नहीं होने से किसान मायूस हैं। इधर मौसम विभाग की ओर से अगले दो-तीन दिन के दौरान उत्तराखंड सहित झारखंड और पंजाब के कई स्थानों पर तेज और गरज के साथ बारिश होने की संभावना जताई जा रही है। हालांकि देश के अधिकांश राज्यों में अभी बारिश उतनी नहीं हुई है जितनी होनी चाहिए। ऐसे में उत्तरप्रदेश सहित कई राज्यों को सूखे जैसी स्थिति का सामना करना पड़ रहा है। इसका खरीफ की बुवाई पर असर दिखाई दे रहा है। मानूसन की बेरूखी से इस बार खरीफ की बुवाई कमजोर पड़ रही है। यदि बारिश में ओर देरी हुई या बारिश सामान्य से कम हुई तो खरीफ फसलों के उत्पादन पर प्रभाव हो सकता है। 

Buy Kubota MU4501 4WD

उत्तराखंड के इन जिलों में हो सकती है भारी बारिश

मौसम विभाग की मानें तो उत्तराखंड के नैनीताल, चंपावत, बागेश्वर और पिथौरागढ़ जिलों में कुछ स्थानों पर भारी बारिश होने की संभावना जताई जा रही है। उत्तराखंड के कुमाऊं क्षेत्र के जिलों और आसपास के जिलों में अलग-अलग स्थानों पर तेज बारिश के साथ कुछ स्थानों पर भारी बारिश होने की संभावना बनी हुई है और उत्तराखंड के शेष जिलों में कुछ स्थानों पर भारी बारिश होने की संभावना है। ऐसे में मौसम विभाग की ओर से उत्तराखंड राज्य के अधिकांश जिलों में बारिश की संभावना जताई जा रही है। 

पंजाब में अगले तीन दिन तक बारिश के आसार

पंजाब में अगले 3 दिन तक भारी वर्षा के आसार बने हुए हैं। इसको लेकर मौसम विभाग की ओर से आरेंज अलर्ट जारी किया गया है। बता दें कि राज्य में पिछले दो दिन से तेज धूप और उमस से लोग परेशान हैं। हालांकि अब मानसून के पूरी तरह से सक्रिय होने के कारण पंजाब में तीन दिन तक भारी बारिश की चेतावनी दी गई है। इसे लेकर मौसम विभाग चंडीगढ़ ने आरेंज अलर्ट भी जारी किया है। पूर्वानुमान के अनुसार इस दौरान कुछ जिलों में भारी बारिश हो सकती है। बुधवार और गुरुवार को पूरे राज्य में भारी बारिश की संभावना बनी हुई है। 

झारखंड में बारिश की संभावना

झारखंड में अगले दो से तीन दिन बारिश की प्रबल संभावना जताई जा रही है। मौसम विभाग की मानें तो 20 और 21 जुलाई को राज्य के कई स्थानों पर हल्के से मध्यम दर्ज की बारिश की संभावना है। वहीं 22 व 23 जुलाई को राज्य के अधिकांश स्थानों पर हल्के से मध्यम दर्जे की बारिश हो सकती है। 

उत्तराखंड के किसान करें ये काम, नहीं होगा नुकसान

विभाग और कृषि जानकारों द्वारा खरीफ फसलों के लिए सलाह दी है कि खड़े पौधों में बारिश का पानी जमा न होने दें। 

  • चावल की फसल के लिए बांधों को मजबूत रखें, रोपाई के 2 से 3 सप्ताह बाद हाथ से निराई करें।
  • अदरक के सड़े हुए मल्च निकालें तथा फसल के खेत में बारिश का पानी जमा न होने दें।
  • फूलगोभी की शुरुआती किस्म की रोपाई की गई हो तो आने वाले दिनों में बारिश के पूर्वानुमान को ध्यान में रखते हुए, उस खेत में उचित जल निकासी की व्यवस्था की जानी चाहिए। 
  • मौसम के पूर्वानुमान को ध्यान में रखते हुए मक्के की फसल की बुवाई मेढ़ों पर पूरी कर लेनी चाहिए। वहीं जून महीने में बोई गई मक्का की निराई-गुड़ाई करें। खेत में जल निकासी की उचित व्यवस्था करें। जब फसल करीब 2 फीट की ऊंचाई पर पहुंच जाए तो नाइट्रोजन की टॉप ड्रेसिंग दी जानी चाहिए।
  • पहाड़ी क्षेत्रों, टमाटर, बैंगन और शिमला मिर्च की फसल में, मानसून में खेत में उचित जल निकासी बनाए रखनी चाहिए और फलों की तुड़ाई समय पर करनी चाहिए।
  • जिन किसानों ने अभी तक भिंडी की फसल नहीं बोई है, उन्हें सलाह दी जाती है कि वे जल्द से जल्द बुवाई करें। वहीं यदि पिछले महीने भिंडी की फसल बोई है तो उसमें निराई, गुड़ाई और जल निकासी व्यवस्था करें। 

पंजाब के किसान के लिए कृषि विशेषज्ञों की सलाह

  • मौसम को देखते हुए कृषि विशेषज्ञों द्वारा दी गई सलाह के अनुसार यदि भारी वर्षा होती है तो सब्जी व नरमे वाले खेतों में पानी जमा न होने दें। इससे फसल को नुकसान पहुंच सकता है। 
  • 22 जुलाई तक फसलों पर किसी भी तरह के कीटनाशक व अन्य दवाओं का छिड़काव न करें। 


ट्रैक्टर जंक्शन हमेशा आपको अपडेट रखता है। इसके लिए ट्रैक्टरों के नये मॉडलों और उनके कृषि उपयोग के बारे में एग्रीकल्चर खबरें प्रकाशित की जाती हैं। प्रमुख ट्रैक्टर कंपनियों महिंद्रा ट्रैक्टरन्यू हॉलैंड ट्रैक्टर आदि की मासिक सेल्स रिपोर्ट भी हम प्रकाशित करते हैं जिसमें ट्रैक्टरों की थोक व खुदरा बिक्री की विस्तृत जानकारी दी जाती है। अगर आप मासिक सदस्यता प्राप्त करना चाहते हैं तो हमसे संपर्क करें।

अगर आप नए ट्रैक्टरपुराने ट्रैक्टरकृषि उपकरण बेचने या खरीदने के इच्छुक हैं और चाहते हैं कि ज्यादा से ज्यादा खरीददार और विक्रेता आपसे संपर्क करें और आपको अपनी वस्तु का अधिकतम मूल्य मिले तो अपनी बिकाऊ वस्तु को ट्रैक्टर जंक्शन के साथ शेयर करें।

हमसे शीघ्र जुड़ें

scroll to top
Close
Call Now Request Call Back