पीएम किसान योजना : नहीं मिलेगी 21 लाख लोगों को 13वीं किस्त

प्रकाशित - 30 Nov 2022

पीएम किसान योजना : नहीं मिलेगी 21 लाख लोगों को 13वीं किस्त

21 लाख अपात्र किसानों को किया योजना से बाहर, नहीं मिलेगी 13वीं किस्त

पीएम किसान योजना एक ऐसी योजना है जो किसानों के बीच सबसे ज्यादा लोकप्रिय योजना है। इस योजना के तहत किसानों को सरकार की ओर से सीधा लाभ प्रदान किया जाता है। इसके तहत किसानों को हर साल किसानों को 6,000 रुपए दिए जाते हैं। ये रकम 2,000-2,000 रुपए की तीन समान किस्तों में हर चार माह के अंतराल में दी जाती हैं। अब तक किसानों को इस योजना की 12 किस्तें दी जा चुकी हैं। अब किसानों को इसकी 13वीं किस्त का बेसब्री से इंतजार है। लेकिन इससे पहले इस योजना से जुड़ी एक बहुत ही बड़ी खबर निकल कर सामने आ रही है। इस योजना से 21 लाख लोगों को बाहर कर दिया गया है। इन्हें अब पीएम किसान सम्मान निधि का लाभ नहीं मिलेगा। यानि अब इन्हें 13वीं किस्त नहीं मिल पाएगी। वहीं कई किसानों ने अब तक ई-केवाईसी नहीं करवाई है, वे भी 13वीं किस्त से वंचित रह सकते हैं। इस हिसाब से देखा जाए तो इस योजना की 13वीं किस्त से कई किसान वंचित रह सकते हैं। आज हम ट्रैक्टर जंक्शन के माध्यम से आपको पीएम किसान योजना के तहत आने वाली 13वीं किस्त से संबंध में अपडेट जानकारी साझा कर रहे हैं। तो आइए जानते हैं आखिर क्यों इन किसानों को नहीं मिल सकेगी 13वीं किस्त।

Buy Used Tractor

21 लाख किसान हुए योजना से बाहर

पीएम किसान सम्मान निधि योजना विशेषकर आर्थिक रूप से कमजोर किसानों को सीधे आर्थिक सहायता प्रदान करने के उद्‌देश्य से शुरू की गई थी। ये एक ऐसी योजना है जिसमें किसानों को सीधा पैसा उनके खातों में मिलता है। ऐसे में कई लोग जो किसान न होते हुए इस योजना में शामिल हो गए और पीएम किसान सम्मान निधि का लाभ प्राप्त करने लगे। जब सरकार को इस बात की खबर हुई तो उसने ऐसे लोगों की पहचान का काम शुरू किया तो चौंकाने वाले आंकड़े सामने आये। पता चला कि इस योजना में काफी संख्या में शामिल अपात्र लोग इसका गलत फायदा उठा रहे हैं। ये वे लोग हैं जो किसान न होते हुए भी इस योजना का लाभ उठा रहे हैं तो कई लोग ऐसे हैं जो योजना के लिए निर्धारित की गई पात्रता और शर्तों को पूरा नहीं करते हैं। ऐसे में सरकार ने इन लोगों को योजना से बाहर कर दिया है। अब इन लोगों से वसूली की जाएगी। जो पैसा इन लोगों ने पीएम किसान योजना के तहत अब तक किस्तों के रूप में प्राप्त किया है। उसकी एक-एक पाई की वसूली की जाएगी। ऐसे अपात्र लोगों की संख्या यूपी में सबसे ज्यादा मिली है जो गलत तरीके से इस योजना का लाभ ले रहे थे। 

ई-केवाईसी नहीं कराई तो भी नहीं मिलेगी 13वीं किस्त

सरकार की ओर से ई-केवाईसी की तिथि दो बार बढ़ाई जाने के बावजूद अभी भी कई किसान ऐसे हैं जिन्होंने अब तक ई-केवाईसी की प्रक्रिया पूरी नहीं की है। तो बता दें कि आप जितनी जल्दी हो सके ई-केवाईसी की प्रक्रिया पूरी करें ताकि आपको 13वीं किस्त प्राप्त करने में कोई परेशानी नहीं हो। इस बात का ध्यान रखें कि सरकार ने पीएम किसान सम्मान निधि से जुड़े सभी किसानों के लिए ई-केवाईसी करना अनिवार्य किया हुआ है। इसलिए बिना रूकावट पीएम सम्मान निधि का लाभ लेने के लए ई-केवाईसी अवश्य करवाएं।

कब जारी हो सकती है 13वीं किस्त

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार सरकार पीएम किसान योजना की 13वीं किस्त जनवरी 2023 से फरवरी 2023 के बीच जारी कर सकती हैं। प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना में पहली किस्त समान्यत: 1 अप्रैल से 31 जुलाई के बीच में ट्रांसफर की जाती है। जबकि दूसरी किस्त 1 अगस्त से 30 नवंबर के बीच में ट्रांसफर की जाती है। वहीं, इस योजना की तीसरी किस्त 1 दिसंबर से 31 मार्च के बीच सीधे किसानों के बैंक अकाउंट में डीबीटी के माध्यम से ट्रांसफर की जाती है।

ये किसान नहीं ले सकते हैं पीएम किसान सम्मान निधि का लाभ

पीएम किसान योजना के तहत सम्मान निधि का लाभ प्राप्त करने के लिए किसानों को योजना के तहत निर्धारित किए गए नियमों और शर्तों का पालन करना होगा। योजना के नियमों के तहत जो लोग योजना का लाभ नहीं उठा सकते हैं, वे इस प्रकार से हैं-

पति व पत्नी एक साथ नहीं ले सकते योजना का लाभ

पति-पत्नी एक साथ इस योजना का लाभ नहीं उठा सकते हैं। यानि परिवार में एक को ही पीएम किसान सम्मान निधि का लाभ दिया जाएगा। यदि ऐसा प्रकरण पाया जाता है कि पति व पत्नी एक साथ पीएम किसान योजना का लाभ ले रहे हैं तो उन्हें अपात्र घोषित कर दिया जाएगा। साथ ही उनसे पैसे की वसूली भी की जाएगी।

इनकम टैक्स भरने वाले नहीं ले सकते योजना का लाभ

यदि किसान परिवार में कोई टैक्स देता है तो इस योजना का लाभ नहीं मिलेगा। यानी पति- पत्नी में से कोई अगर इनकम टैक्स भरता है तो वे इस योजना का लाभ नहीं उठा पाएंगे। साथ ही जो किसान जमीन किराए पर लेकर खेती करते हैं, वे भी पीएम किसान सम्मान निधि का फायदा नहीं उठा सकते हैं। क्योंकि इस योजना का लाभ लेने के लिए किसान के पास अपनी स्वयं की खेती योग्य जमीन होना जरूरी है।  

इन लोगों को भी नहीं मिलेगा योजना का लाभ

उपरोक्त के अलावा और कौन इस योजना का लाभ नहीं ले सकता है। इस बारें में भी योजना के नियमों व शर्तों में स्पष्ट किया गया है, जो इस प्रकार से है

  • डॉक्टर्स, इंजीनियर्स, वकील, सरकारी नौकरी करने वाले, प्रोफेसर और प्रोफेशनल जॉब करने वाले भी लोग भी इस योजना का लाभ नहीं उठा सकते हैं।

  • 10 हजार रुपए से अधिक मासिक पेंशन पाने वाले सेवानिवृत कर्मचारियों इस योजना का लाभ नहीं ले सकते हैं।

  • वे किसान जिनके पास सरकारी खेत, किसी ट्रस्ट के खेत व सहकारी खेत आदि हों, वे भी इस योजना का लाभ नहीं ले सकते हैं।

  • ऐसे किसान परिवार जिनके परिवार में पहले या वर्तमान में किसी व्यक्ति के पास संवैधानिक पद रहा हो, वे इस योजना का लाभ नहीं उठा सकते हैं।

  • केंद्र या राज्य सरकारों, कार्यालयों और विभागों के वर्तमान या सेवानिवृत्त अधिकारी और कर्मचारी इस योजना का लाभ नहीं ले सकते हैं।

    Buy Used Tractor

  • केंद्र या राज्य के सार्वजनिक उपक्रमों और संबद्ध कार्यालयों या केंद्र के तहत स्वायत्त संस्थानों के वर्तमान या पूर्व अधिकारी इस योजना में शामिल नहीं हो सकते हैं। 

  • वे व्यक्ति जिन्होंने पिछले आकलन वर्षों में आयकर का भुगतान किया है, वे भी इस योजना का लाभ नहीं ले सकते हैं। 

यदि आप भी अपात्र की लिस्ट में है तो ऐसे लौटा सकते हैं पैसा

यदि आपका नाम पीएम किसान योजना की अपात्र किसानों की सूची में शामिल है तो आपको अब तक ली गई योजना की सभी किस्तों को लौटाना होगा। यदि ऐसा नहीं करेंगे तो आपके विरूद्ध कार्रवाई की जा सकती है। ऐसे में सरकार ने ऐसे अपात्र लाभार्थियों को स्वैच्छा से पैसा वापिस करने के लिए पोर्टल पर सुविधा दी है। अपात्र किसान चाहें तो भारत सरकार के पोर्टल http://bharatkosh.gov.in/ पर जाकर कम समय में पैसा लौटा सकते हैं। यदि खुद पैसा वापस नहीं कर पा रहे हैं तो बैंक अधिकारियों की भी सहायता ले सकते हैं।

किसान कैसे करें ई-केवाईसी की प्रक्रिया पूरी
जिन किसानों ने ई-केवाईसी की प्रक्रिया पूरी नहीं की है वे सीएससी जाकर इस प्रक्रिया को पूरी कर सकते हैं। इसके लिए उन्हें शुल्क देना होगा। वहीं ये प्रक्रिया किसान भाई अपने मोबाइल से ऑनलाइन भी पूरी कर सकते हैं। इसके लिए उन्हें पीएम किसान योजना की आधिकारिक वेबसाइट https://fw.pmkisan.gov.in/ पर जाना होगा। जिसका प्रोसेस इस तरह से है

  • सबसे पहले आपको पीएम किसान के आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं।

  • यहां होम पेज के दाईं तरफ दिख रहे eKYC पर क्लिक करें।

  • अब आपको अपना आधार नंबर और कैप्चा कोड डालकर सर्च पर क्लिक करना होगा।

  • अब अपना मोबाइल नंबर डालें, जो आधार कार्ड के साथ लिंक हो।

  • अब Get OTP पर क्लिक करें और ओटीपी आने के बाद उसे भरकर सब्मिट कर दें।

  • इस तरह ऑनलाइन आपकी ई-केवाईसी की प्रक्रिया पूरी हो जाएगी।

ट्रैक्टर जंक्शन हमेशा आपको अपडेट रखता है। इसके लिए ट्रैक्टरों के नये मॉडलों और उनके कृषि उपयोग के बारे में एग्रीकल्चर खबरें प्रकाशित की जाती हैं। प्रमुख ट्रैक्टर कंपनियों आयशर ट्रैक्टर, डिजिट्रैक ट्रैक्टर आदि की मासिक सेल्स रिपोर्ट भी हम प्रकाशित करते हैं जिसमें ट्रैक्टरों की थोक व खुदरा बिक्री की विस्तृत जानकारी दी जाती है। अगर आप मासिक सदस्यता प्राप्त करना चाहते हैं तो हमसे संपर्क करें।

अगर आप नए ट्रैक्टर, पुराने ट्रैक्टर, कृषि उपकरण बेचने या खरीदने के इच्छुक हैं और चाहते हैं कि ज्यादा से ज्यादा खरीददार और विक्रेता आपसे संपर्क करें और आपको अपनी वस्तु का अधिकतम मूल्य मिले तो अपनी बिकाऊ वस्तु को ट्रैक्टर जंक्शन के साथ शेयर करें।

हमसे शीघ्र जुड़ें

scroll to top
Close
Call Now Request Call Back