मौसम अपडेट : कई राज्यों में भीषण लू का प्रकोप, मौसम विभाग ने जारी किया रेड अलर्ट

मौसम अपडेट : कई राज्यों में भीषण लू का प्रकोप, मौसम विभाग ने जारी किया रेड अलर्ट

Posted On - 08 Apr 2022

तेज गर्मी से खेत में खड़ी फसलों को नुकसान, कई जगह बारिश की चेतावनी

अप्रैल महीने की शुरुआत से ही देश में गर्मी अपने चरम पर है। कई राज्यों में भीषण लू का प्रकोप बना हुआ है जिससे आम जनता परेशान है। वहीं अप्रैल माह में लगातार चढ़ते पारे की वजह से किसान अपनी फसलों को लेकर चिंतित है। आपकों बता दें कि देश के कई राज्यों में अभी रबी फसलों की कटाई चल रही है। तेज गर्मी से फसलों को नुकसान पहुंच रहा है। इस बीच मध्यप्रदेश सहित कई राज्यों में मौसम विभाग ने भीषण गर्मी को देखते हुए रेड अलर्ट जारी कर दिया है। साथ ही कई राज्यों में बारिश की संभावना बनी हुई है। ट्रैक्टर जंक्शन की इस पोस्ट में जानते हैं क्या रहेगा मौसम का हाल।

कई राज्यों में हीट वेव व लू चलने की संभावना

दिल्ली एनसीआर सहित राजस्थान, मध्यप्रदेश, उत्तरप्रदेश, पंजाब व हरियाणा में गर्मी ने कई पिछले रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं। लोगों का कहना है कि नवरात्र के दौरान इतनी भीषण गर्मी कभी नहीं पड़ी है। निजी मौसम एजेंसी स्काईमेट के अनुसार पश्चिमी राजस्थान और पूर्वी राजस्थान, दक्षिण हरियाणा और दिल्ली में कुछ स्थानों पर भीषण लू की स्थिति के साथ कई स्थानों पर हीट वेव की स्थिति होने की संभावना है। इसी प्रकार मध्य प्रदेश, सौराष्ट्र और कच्छ, हिमाचल प्रदेश के कुछ हिस्सों, पंजाब, उत्तर प्रदेश, झारखंड और बिहार के अलग-अलग हिस्सों में लू की स्थिति बन सकती है।

अगले 24 घंटे के दौरान राज्यों में बारिश की संभावना

स्काईमेट के अनुसार अगले 24 घंटों के दौरान सिक्किम, असम, अरुणाचल प्रदेश, केरल के कुछ हिस्सों और कर्नाटक के दक्षिणी तट पर कुछ स्थानों पर हल्की से मध्यम बारिश के साथ एक दो स्थानों पर भारी बारिश हो सकती है। नागालैंड, मेघालय, उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह और तमिलनाडु में हल्की से मध्यम बारिश संभव है। कर्नाटक और लक्षद्वीप के शेष हिस्सों में छिटपुट हल्की बारिश हो सकती है।

सीजन में पहली बार पारा 45 डिग्री पहुंचा

इस बार अप्रैल के पहले पखवाड़े मेंं ही पारा 45 डिग्री पार पहुंच गया है। गुजरात का कांडला पहला शहर जहां पारा 45 डिग्री पार पहुंचा है। स्काईमेट के अनुसार कांडला, भारत के प्रमुख बंदरगाहों में से एक है, जो कच्छ की खाड़ी पर स्थित है, यह मानसून पूर्व के मौसम में 45 डिग्री सेल्सियस के निशान को पार करने वाला पहला शहर है। यह पारा स्तर औसत से 10 डिग्री सेल्सियस ऊपर है और अत्यधिक गर्मी की लहर की स्थिति है। पिछले कुछ दिनों से कच्छ, उत्तरी गुजरात और पश्चिमी राजस्थान में तापमान तेजी से बढ़ रहा है। राजस्थान के पश्चिमी हिस्से भी 44 डिग्री सेल्सियस से अधिक तापमान के साथ अत्यधिक गर्मी की चपेट में हैं। राजस्थान और गुजरात में इस मौसम के दौरान अब तक मौसम पूरी तरह से शुष्क रहा है। राजस्थान और गुजरात के सीमावर्ती हिस्सों में गर्म हवाएं चल रही हैं। पाकिस्तान के सूखे इलाकों से भीषण गर्मी सीमावर्ती राज्यों पर पहुंच रही है। हीट वेव की स्थिति, कुछ इलाकों में गंभीर होती जा रही है, बिना किसी बड़ी राहत के अगले सप्ताह भी बढऩे की संभावना है।

देशभर में ऐसा बना हुआ है मौसमी सिस्टम

दक्षिण पूर्व मध्य प्रदेश और क्षेत्र में सर्कुलेशन बना हुआ है। एक ट्रफ रेखा दक्षिण पूर्व मध्य प्रदेश के ऊपर बने हुए चक्रवाती हवाओं के क्षेत्र से तमिलनाडु तक विदर्भ मराठवाड़ा और आंतरिक कर्नाटका होते हुए फैली हुई है। एक चक्रवाती परिसंचरण दक्षिण-पूर्वी बंगाल की खाड़ी के ऊपर बना हुआ है और यह मध्य क्षोभमंडल स्तर तक फैल रहा है। एक और चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र श्रीलंका और आसपास के इलाकों पर बना हुआ है।

पिछले 24 घंटों के दौरान देशभर में मौसमी हलचल

स्काईमेट के अनुसार पिछले 24 घंटों के दौरान, सिक्किम में हल्की से मध्यम बारिश के साथ कुछ स्थानों पर भारी बारिश हुई और असम, अरुणाचल प्रदेश, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह के हिस्से और दक्षिण तमिलनाडु में हल्की से मध्यम बारिश हुई। केरल, कर्नाटक के उत्तरी तट, उत्तरी आंतरिक कर्नाटक में कुछ स्थानों पर तथा, गोवा, मराठवाड़ा, विदर्भ और ओडिशा के एक या दो हिस्सों में हल्की बारिश हुई। पश्चिमी राजस्थान में एक या दो स्थानों पर भीषण लू की स्थिति के साथ अधिकांश स्थानों पर लू की स्थिति देखी गई। हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कुछ हिस्सों में भीषण लू के साथ हीट वेव की स्थिति रही। जम्मू संभाग, हरियाणा, पूर्वी राजस्थान के कुछ हिस्सों और उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश और गुजरात के अलग-अलग हिस्सों में लू की स्थिति बनी।

अगर आप नए ट्रैक्टर, पुराने ट्रैक्टर, कृषि उपकरण बेचने के इच्छुक हैं और चाहते हैं कि ज्यादा से ज्यादा खरीददार आपसे संपर्क करें और आपको अपनी वस्तु का अधिकतम मूल्य मिले तो अपनी बिकाऊ वस्तु को ट्रैक्टर जंक्शन के साथ शेयर करें।

Quick Links

scroll to top
Close
Call Now Request Call Back