मौसम अलर्ट : इस सप्ताह कई राज्यों में होगी जमकर बारिश

प्रकाशित - 16 Aug 2022

मौसम अलर्ट : इस सप्ताह कई राज्यों में होगी जमकर बारिश

जानें, बारिश को लेकर मौसम विभाग का पूर्वानुमान और चेतावनी

मौसम विभाग की ओर से अगस्त में बारिश की होने की संभावना जताई गई है। मौसम विभाग के अनुसार मध्यप्रदेश, हरियाणा, उत्तरप्रदेश, छत्तीसगढ़ में मध्यम से लेकर तेज बारिश का दौर चलेगा। इसके अलावा अन्य राज्यों में छुटपुट बारिश हो सकती है। बता दें कि मध्यप्रदेश के कई जिलों में जोरदार बारिश हो रही है। मौसम विभाग ने आगे कुछ दिन यहां तेज बारिश का दौर जारी रहने की बात कही है। मौसम विभाग की ओर से इसके लिए अलर्ट भी जारी किया गया है। बताया जा रहा है मौसम विभाग की चेतावनी के बाद यहां स्कूलों में अवकाश की घोषणा कर दी गई है। आज हम ट्रैक्टर जंक्शन के माध्यम से आपको राज्य और शहर के मौसम की जानकारी दे रहे हैं।

Buy Kubota MU4501 4WD

बिहार में अच्छी बारिश के आसार

मौसम विभाग के अनुसार अगले 5 दिनों में पश्चिम बिहार के जिलों में मौसम सामान्य रहेगा। लेकिन मध्य, उत्तर, दक्षिण एवं पूर्वी बिहार में वज्रपात और हल्की बारिश हो सकती है। मौसम विभाग के अनुसार 17 से 18 अगस्त तक छिटपुट बारिश हो सकती है। 19 अगस्त से अच्छी बारिश होने के आसार हैं। यदि मौसम विभाग का ये पूर्वानुमान सही साबित होता है तो किसानों को खासकर काफी राहत मिल सकती है। मानसून की बेरुखी से समय पर धान की रोपनी नहीं हो पाई है। सुखाड़ की स्थिति बन गई। पिछले साल के मुकाबले इस वर्ष काफी कम वर्षा हुई है। पश्चिमी और दक्षिणी बिहार में स्थिति काफी विषम है। वहां सुखाड़ हो गया है। वहीं उत्तर बिहार में 17 अगस्त तक मौसम बदला-बदला रहेगा। बारिश को लेकर मौसम विभाग की से जारी पूर्वानुमान के मुताबिक उत्तर बिहार के कुछ जिलों में बुधवार तक हल्की बारिश की संभावना जताई गई है।

हरियाणा में बारिश से मौसम हुआ सुहावना

मानसून टर्फ की अक्षय रेखा अब सामान्य स्थिति से दक्षिण की ओर जाने से हरियाणा राज्य में 19 अगस्त तक मौसम आमतौर पर परिवर्तनशील रहने की संभावना है। वहीं बीच-बीच में बादलवाई तथा हवाएं चलने की संभावना है। कहीं-कहीं हल्की वर्षा की संभावना भी जताई जा रही है। इससे पहले हरियाणा में स्वतंत्रता दिवस से एक दिन पहले से मौसम परिवर्तन बना हुआ। 14 अगस्त को तो देर सायं काफी वर्षा भी हुई। इसके बाद भी कुछ स्थानों पर हल्की वर्षा भी सुबह के समय देखने को मिली है। मौसम सुहाना होने से लोगों को गर्मी से खासी राहत मिली है। यहां रविवार को वर्षा 89 मिलीमीटर हुई। जिससे कई क्षेत्रों में जलभराव की स्थिति पैदा हो गई। इससे पहले भी हिसार में अत्यधिक वर्षा के कारण कई क्षेत्रों में जलभराव हो गया था। इसके बाद से प्रशासन लगातार पानी की निकासी के प्रबंधन कर रहा था।

छत्तीसगढ़ के 20 जिलों में भारी बारिश का चेतावनी

मौसम विभाग ने छत्तीसगढ़ राज्य के 20 जिलों में गरज चमक के साथ भारी बारिश की चेतावनी दी है। इसको लेकर शासन-प्रशासन अलर्ट मोड़ पर हैं। बताया जा रहा है कि ओडिशा और उत्तरी छत्तीसगढ़ के आसपास के हिस्सों और आसपास के क्षेत्रों पर बना हुआ डिप्रेशन पश्चिम उत्तर-पश्चिम की ओर बढ़ गया है और अब यह उत्तरी छत्तीसगढ़ और आसपास के क्षेत्रों पर है। यहां अगले 24 घंटे के दौरान रायपुर, दर्ग संभागों सहित 20 जिलों में गरज-चमक के साथ भारी बारिश की संभावना है। वर्षा का क्षेत्र मुख्यत: मध्य छत्तीसगढ़ रहने वाला है और प्रदेशभर में 19 अगस्त तक भारी बारिश के आसार है। मौसम विभाग ने रायपुर और दुर्ग संभाग के लगभग सभी जिलों में आगामी 48 घंटों तक भारी बारिश  का अलर्ट जारी किया गया है।

एमपी दो से तीन दिन भारी बारिश का अलर्ट

एमपी मौसम विभाग के अनुसार, आने वाले 2 से 3 दिन भारी बारिश के संकेत हैं और 7 से 8 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं भी चलेंगी। 17 अगस्त को तेज वर्षा के साथ 18 अगस्त के बाद एक ओर वेदर सिस्टम एक्टिव होगा। बंगाल की खाड़ी में हवाओं का चक्रवात 18 व 19 अगस्त में फिर बनेगा, नमी बढ़ाने से 22 अगस्त तक बारिश कराएगा। 17 अगस्त तक मानसून ट्रफ के सक्रिय होने और अपनी सामान्य स्थिति के दक्षिण में बने रहने की संभावना है। प्रदेश में 18 अगस्त तक लगातार वर्षा का दौर जारी रहेगा।

स्काईमेट वेदर के अनुसार इस समय ये मौसमी सिस्टम हैं सक्रिय

  • स्काईमेट मौसम के अनुसार डिप्रेशन अब पश्चिमी मध्य प्रदेश में 24.8 उत्तर अक्षांश और 77.3 देशांतर के पास गुना के करीब है। यह पश्चिम उत्तर-पश्चिम दिशा में आगे बढऩा जारी रखेगा। 
  • पूर्वोत्तर अरब सागर और उससे सटे दक्षिण पाकिस्तान के ऊपर कम दबाव का क्षेत्र बना हुआ है, जिससे संबंधित चक्रवाती परिसंचरण मध्य क्षोभमंडल स्तर तक फैला हुआ है।
  • मॉनसून की ट्रफ अब जैसलमेर, कोटा, पश्चिमी मध्य प्रदेश पर बने हुए डिप्रेशन के केंद्र, पेंड्रा रोड, झारसुगुडा, चांदबली और फिर पूर्व दक्षिण-पूर्व की ओर बंगाल की खाड़ी के उत्तर-पूर्व की ओर जा रही है।
  • दक्षिण गुजरात से महाराष्ट्र तट तक समुद्र के औसत स्तर पर अपतटीय ट्रफ बनी हुई है।
  • एक उत्तर-दक्षिण ट्रफ पुत्री आंतरिक कर्नाटका से दक्षिणी आंतरिक कर्नाटका और तमिलनाडु होते हुए कोमोरिन क्षेत्र तक जा रही है।

अगले 24 घंटों के दौरान होने वाली मौसम की संभावित गतिविधियां

  • स्काईमेट वेदर के पूर्वानुमान के मुताबिक अगले 24 घंटों के दौरान, दक्षिण राजस्थान गुजरात और अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में हल्की से मध्यम बारिश के साथ कुछ स्थानों पर भारी बारिश हो सकती है।
  • कोंकण और गोवा और मध्य महाराष्ट्र में हल्की से मध्यम बारिश के साथ एक या दो स्थानों पर भारी बारिश हो सकती है।
  • राजस्थान के शेष हिस्सों, पश्चिम मध्य प्रदेश, कोंकण और गोवा, विदर्भ, छत्तीसगढ़ के कुछ हिस्सों, ओडिशा, गंगीय पश्चिम बंगाल, झारखंड, दक्षिण आंतरिक कर्नाटक और तमिलनाडु और केरल में हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है। .
  • पश्चिमी हिमालय, पूर्वोत्तर भारत, उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल, सिक्किम के छत्तीसगढ़ के शेष हिस्सों, पूर्वी मध्य प्रदेश, तटीय कर्नाटक और तेलंगाना में हल्की बारिश संभव है।
  • बिहार, उत्तर प्रदेश, हरियाणा और पंजाब में एक या दो स्थानों पर हल्की बारिश संभव है।

पिछले 24 घंटों के दौरान कहां-कहां हुई बारिश

पिछले 24 घंटों के दौरान, मध्य प्रदेश में मध्यम से भारी बारिश हुई। वहीं उत्तरी कोंकण और गोवा, मध्य महाराष्ट्र, गुजरात के कुछ हिस्सों और दक्षिण-पूर्व और दक्षिण राजस्थान में हल्की से मध्यम बारिश के साथ कुछ स्थानों पर भारी बारिश हुई। वहीं पंजाब, हरियाणा, दिल्ली और एनसीआर, उत्तरी राजस्थान, उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड, तेलंगाना, मराठवाड़ा और रायलसीमा में हल्की बारिश हुई। इधर आंध्र प्रदेश, हिमाचल प्रदेश और अरुणाचल प्रदेश के दक्षिणी तट पर हल्की से मध्यम बारिश के साथ एक या दो स्थानों पर भारी बारिश हुई। उधर जम्मू कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, लद्दाख, गंगीय पश्चिम बंगाल, आंतरिक ओडिशा, तटीय आंध्र प्रदेश, उत्तरी तटीय कर्नाटक, विदर्भ और अंडमान और निकोबार द्वीप समूह के कुछ हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश हुई है। इसके अलावा पूर्वोत्तर भारत और कर्नाटक के उत्तरी तट पर एक या दो स्थानों पर हल्की बारिश हुई।

 

ट्रैक्टर जंक्शन हमेशा आपको अपडेट रखता है। इसके लिए ट्रैक्टरों के नये मॉडलों और उनके कृषि उपयोग के बारे में एग्रीकल्चर खबरें प्रकाशित की जाती हैं। प्रमुख ट्रैक्टर कंपनियों सोनालिका ट्रैक्टरकुबोटा ट्रैक्टर आदि की मासिक सेल्स रिपोर्ट भी हम प्रकाशित करते हैं जिसमें ट्रैक्टरों की थोक व खुदरा बिक्री की विस्तृत जानकारी दी जाती है। अगर आप मासिक सदस्यता प्राप्त करना चाहते हैं तो हमसे संपर्क करें।

अगर आप नए ट्रैक्टरपुराने ट्रैक्टरकृषि उपकरण बेचने या खरीदने के इच्छुक हैं और चाहते हैं कि ज्यादा से ज्यादा खरीददार और विक्रेता आपसे संपर्क करें और आपको अपनी वस्तु का अधिकतम मूल्य मिले तो अपनी बिकाऊ वस्तु को ट्रैक्टर जंक्शन के साथ शेयर करें।

हमसे शीघ्र जुड़ें

scroll to top
Close
Call Now Request Call Back