मौसम अलर्ट : कड़ाके की सर्दी के बीच इन राज्यों में बारिश की संभावना

प्रकाशित - 12 Jan 2023

मौसम अलर्ट : कड़ाके की सर्दी के बीच इन राज्यों में बारिश की संभावना

जानें, देश के प्रमुख राज्यों के मौसम का पूर्वानुमान

इस समय देश के अधिकांश राज्यों में कड़ाके की सर्दी पड़ रही है। कहीं कोहरा तो कहीं शीतलहर का प्रकोप जारी है। इस बीच मौसम विभाग ने कई राज्यों में बारिश की संभावना जताई है। ऐसे में किसानों को अपनी रबी की फसलों को मौसम से सुरक्षित रखने की ओर ध्यान देना चाहिए। इसके लिए कृषि विशेषज्ञों की ओर से एडवाइजरी भी जारी की गई है। मौसम विभाग के पूर्वानुमान के आधार पर यह अनुमान है कि जम्मू-कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, लद्दाख और अरुणाचल प्रदेश के कई हिस्सों में बारिश और बर्फबारी की संभावना है। इसके अलावा, पंजाब, हरियाणा, बिहार और पश्चिमी उत्तर प्रदेश के कुछ इलाकों में हल्की बारिश के आसार बन रहे है। मौसम के मिजाज को देखते हुए कृषि विशेषज्ञों की ओर से किसानों को खासतौर रबी फसलों की सुरक्षा के लिए कुछ सावधानी बरतने की सलाह दी गई है। ट्रैक्टर जंक्शन की इस पोस्ट में हम आपको मौसम के पूर्वानुमान की जानकारी दे रहे हैं, तो आइए जानतें हैं आपके राज्य में कैसा रहेगा मौसम का हाल।

Buy Kubota MU4501 4WD

राजस्थान: शीतलहर की संभावना

मौसम विज्ञान केंद्र जयपुर के द्वारा जारी के किए गए पूर्वानुमान के आधार पर पश्चिमी विक्षोभ के प्रभाव से 12 जनवरी को उत्तर-पश्चिमी राजस्थान व आसपास के क्षेत्रों में एक प्रेरित परिसंचरण तंत्र बनने की संभावना है। इसके प्रभाव से राज्य के उत्तर-पश्चिमी व उत्तरी भागों में 12-13 जनवरी को बादल छाए रह सकते हैं। हालांकि इस दौरान व्यापक स्तर पर बारिश या मावठ होने के लिए परिस्थितियां अनुकूल नहीं बताई जा रही है।

14 जनवरी से राज्य के अधिकतर हिस्सों में उत्तरी हवाओं के प्रभाव से न्यूनतम तापमान में 3-5 डिग्री सेल्सियस की बड़ी गिरावट हो सकती है। इससे राज्य में एक नया शीतलहर का दौर बीकानेर संभाग से शुरू हो सकता है।

15 जनवरी से शीतलहर का प्रकोप बढ़ने से बीकानेर, जयपुर, अजमेर व भरतपुर संभाग के अधिकतर इलाकों में शीतलहर चलने की संभावना है।

मौसम विभाग की और अधिक जानकारी के लिए यहां क्लिक करें।

बिहार: ठंडी हवाओं का दौर रहेगा जारी

मौसम विभाग का पूर्वानुमान है कि अभी उत्तर बिहार के अधिकतर शहरों में एक-दो दिन भीषण ठंड और कोहरे की स्थिति बनी रहेगी। लेकिन, 14 जनवरी तक दक्षिण बिहार में कड़ाके की सर्दी से कुछ राहत के आसार हैं।

वहीं 15 जनवरी से दक्षिण बिहार में फिर से ठंडी हवाओं का प्रवाह बढ़ेगा। अभी कुछ जिलों को छोड़ दें तो राज्य के अधिकतर शहरों का न्यूनतम तापमान आठ डिग्री के आसपास है। मौसम विभाग के निदेशक विवेक सिन्हा ने कहा कि अभी चल रही हवाएं सर्द होने के बावजूद पहले की अपेक्षा थोड़ी गर्म हैं। इनमें बर्फीला प्रभाव थोड़ा कम है। 15 जनवरी और उसके बाद तापमान में फिर से दो तीन डिग्री तक की गिरावट दर्ज की जा सकती है।

उत्तरप्रदेश: घना कोहरा और बारिश की चेतावनी

उत्तर प्रदेश में सर्दी और शीतलहर का प्रकोप जारी है। भारतीय मौसम विभाग ने 12 और 13 जनवरी को पश्चिमी उत्तरप्रदेश में हल्की बारिश की चेतावनी दी है। मौसम विभाग के मुताबिक यदि राज्य में बारिश होती है तो इससे सर्दी और बढ़ने की संभावना है। विभाग की ओर से यूपी के 24 जिलों के लिए शीतलहर और घने कोहरे की संभावना जताई है। इसे लेकर विभाग की ओर से येलो अलर्ट जारी किया गया है। विभाग ने जिन जिलों के लिए येलो अलर्ट जारी किया है उनमें आजमगढ़, मऊ, बलिया, देवरिया, गोरखपुर, संत कबीर नगर, बस्ती, कुशीनगर, महाराजगंज, सिद्धार्थ नगर, गोंडा, बलरामपुर, श्रावस्ती, बहराइच, लखीमपुर खीरी, सीतापुर, हरदोई, बाराबंकी, अयोध्या, अंबेडकर नगर, रामपुर, बरेली, पीलीभीत, शाहजहांपुर और इसके आसपास के क्षेत्र शामिल हैं। विभाग ने इन जगहों पर घना कोहरा छाया रहने की संभावना जताई है।

दिल्ली: आसमान में बादल छाए रहेंगे, हल्की बारिश की संभावना

मौसम विज्ञान विभाग के मुताबिक दिल्ली में आसमान में बादल छाये रहने और हल्की बारिश होने की संभावना है। इससे कुछ दिन यहां के लोगों को शीतलहर से थोड़ी राहत मिल सकती है। बता दें कि दिल्ली में शीतलहर जारी है और सुबह के समय कोहरा छाया रहा।

हरियाणा/पंजाब : बूंदाबांदी होने की संभावना

कृषि मौसम विज्ञान विभाग, चौधरी चरणसिंह हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय हिसार द्वारा जारी किए गए मौसम पूर्वानुमान के आधार पर हरियाणा में पश्चिमी विक्षोभ के आंशिक प्रभाव से 12 से 13 जनवरी तक मौसम परिवर्तनशील रहेगा। इस दौरान बीच- बीच में आंशिक बादल छाए रहने की संभावना है। वहीं हवा में बदलाव के कारण उत्तर पश्चिमी से पुरवाई होने की संभावना है जिससे वातावरण में नमी की मात्रा बढ़ने की संभावना है। इस दौरान राज्य के उत्तरी तथा उत्तर पश्चिमी जिलों में कहीं कहीं बूंदाबांदी या हल्की बारिश की भी संभावना है। इस दौरान दिन के तापमान में हल्की गिरावट होने और रात्रि के तापमान में हल्की बढ़ोतरी होने की संभावना जताई गई है। वहीं 14 जनवरी से राज्य में मौसम खुश्क रहने और उत्तर पश्चिमी शीत हवाएं चलने की संभावना है। इधर मौसम विभाग के मुताबिक पंजाब में कहीं-कहीं जगहों पर हल्की बारिश होने की संभावना है।

मध्यप्रदेश: मकर संक्राति के बाद पड़ेगी कंड़के की सर्दी

मौसम विज्ञान केंद्र से मिली जानकारी के आधार पर मध्यप्रदेश के सभी जिलों में आमतौर पर मौसम शुष्क रहा। जिला दतिया और ग्वालियर में मध्यम कोहरा छाया रहा। हालांकि यहां न्यूनतम तापमान में अभी कोई विशेष उतार-चढ़ाव नहीं हुआ है। कुल मिलाकर मध्यप्रदेश में कड़के की सर्दी से अभी फिलहाल राहत मिलने लगी है। मौसम विशेषज्ञ के मुताबिक अभी राज्य में दो-तीन दिन तक मौसम का मिजाज इसी तरह बना रहेगा। मकर संक्रांति के बाद से राज्य में एक बार फिर से कड़ाके की सर्दी का दौर फिर शुरू होने की संभावना है।

सर्दी के मौसम में किसान बरते ये सावधानियां

सर्दी के कारण फसलों को कोई नुकसान नहीं पहुंचे इसके लिए किसानों को कुछ सावधानियां बरतनी चाहिए। ये सावधानियां इस प्रकार से हैं–

  • सर्दी का प्रकोप अधिक होने के कारण किसानों को लगातार खेतों की निगरानी की सलाह दी जा रही है। इसके तहत किसान विभिन्न फसलों के लिए जो काम कर सकते हैं, वे इस प्रकार से हैं–
  • सरसों की पछेती फसल की लगातार निगरानी करें और नुकसान की आशंका दिखाई देने पर किसी विशेषज्ञ की सलाह लेकर प्रबंधन का कार्य करें। 
  • गेहूं की फसल में शाम के समय सिंचाई और उर्वरकों का छिड़काव कर सकते हैं। 
  • जिन किसानों ने रबी अगेती मक्का की फसल ली है वे खेत में सिंचाई और उर्वरक प्रबंधन का कार्य कर सकते हैं। 
  • आलू के खेत में शाम के समय हल्की सिंचाई करें और पाले से फसल के बचाव के लिए गंधक का छिड़काव भी किया जा सकता है।
  • सब्जी वाली फसलों को कीटों के प्रकोप से बचाने के लिए कीटनाशक का छिड़काव कर सकते हैं। 
  • पाले से सब्जियों को बचाने के लिए लो टनल में खेती करना फायदेमंद रहता है।

(नोट: किसानों को सलाह दी जाती है कि वे फसलों के संबंध में उपरोक्त बताएं गए काम कृषि विशेषज्ञ की देखरेख में करें।)

ट्रैक्टर जंक्शन हमेशा आपको अपडेट रखता है। इसके लिए ट्रैक्टरों के नये मॉडलों और उनके कृषि उपयोग के बारे में एग्रीकल्चर खबरें प्रकाशित की जाती हैं। प्रमुख ट्रैक्टर कंपनियों एस्कॉर्ट्स ट्रैक्टर, करतार ट्रैक्टर आदि की मासिक सेल्स रिपोर्ट भी हम प्रकाशित करते हैं जिसमें ट्रैक्टरों की थोक व खुदरा बिक्री की विस्तृत जानकारी दी जाती है। अगर आप मासिक सदस्यता प्राप्त करना चाहते हैं तो हमसे संपर्क करें।

अगर आप नए ट्रैक्टर, पुराने ट्रैक्टर, कृषि उपकरण बेचने या खरीदने के इच्छुक हैं और चाहते हैं कि ज्यादा से ज्यादा खरीददार और विक्रेता आपसे संपर्क करें और आपको अपनी वस्तु का अधिकतम मूल्य मिले तो अपनी बिकाऊ वस्तु को ट्रैक्टर जंक्शन के साथ शेयर करें।

हमसे शीघ्र जुड़ें

scroll to top
Close
Call Now Request Call Back