दो दिन देरी से केरल पहुंचा मानसून, इस साल जोरदार बारिश की उम्मीद

दो दिन देरी से केरल पहुंचा मानसून, इस साल जोरदार बारिश की उम्मीद

Posted On - 03 Jun 2021

मानसून 2021 : अच्छी बारिश का अनुमान, खेती-किसानी के लिए सकारात्मक माहौल

आखिर, मानसून 2021 का इंतजार खत्म हुआ। मानसून ने इस बार दो दिन देरी से केरल में दस्तक दी है। मौसम विभाग के अनुसार दक्षिण-पश्चिमी मानसून 3 जून को केरल के दक्षिणी हिस्सों में प्रवेश कर चुका है। वहीं मौसम विभाग ने मानसून सीजन के दौरान जून से सितंबर तक 101 फीसदी बारिश होने की संभावना जताई है। मौसम विभाग का पिछला अनुमान 98 फीसदी बारिश का था। इसके अलावा निजी एजेंसी स्काईमेट इस बार सामान्य से बेहतर 103 फीसदी बारिश का अनुमान जता चुकी है। 

Buy Kubota MU4501 4WD

 

सबसे पहले सरकार की सभी योजनाओ की जानकारी के लिए डाउनलोड करे, ट्रेक्टर जंक्शन मोबाइल ऍप - http://bit.ly/TJN50K1


केरल में पिछले चार दिनों से प्री-मानसून बारिश

आपको बता दें कि मानसून ने 21 मई को अंडमान में दस्तक दी थी और केरल में पिछले 4 दिन से प्री-मानसून बारिश हो रही है। मौसम विज्ञान विभाग का कहना है कि केरल में बारिश ज्यादा है। दक्षिण सागर के निचले स्तरों में पछुआ हवाएं चल रही हैं।


इस साल कमजोर अल-नीनो से अच्छी बारिश का अनुमान

मौसम विभाग ने इस साल कमजोर अल-नीनो की संभावना जताई है, ऐसे में अच्छी बारिश का अनुमान फिर से सटीक साबित हो सकते हैं और देश में खेती के लिए बेहतर माहौल रह सकता है। मौसम विभाग के अनुसार दक्षिण और उत्तर-पश्चिम भारत में सामान्य बारिश का अनुमान है। मध्य भारत में सामान्य से ज्यादा बारिश की संभावना है। वहीं उत्तर-पूर्व भारत में सामान्य से कम बारिश का अनुमान है। निजी एजेंसी स्काईमेट के मुताबिक, इस सीजन 103 फीसदी बारिश की संभावना है। उल्लेखनीय है कि 96 फीसदी से 104 फीसदी के बीच बारिश सामान्य मानसून के दायरे में आती है।


जानें, कैसे की जाती है मानसून की घोषणा

मौसम विभाग के अनुसार, केरल के ऊपर दक्षिण-पश्चिम मानसून की शुरुआत तीन मापदंडों पर निर्भर करती है। अगर 10 मई के बाद, 14 स्टेशनों में से 60 प्रतिशत- मिनिकॉय, अमिनी, तिरुवनंतपुरम, पुनालुर, कोल्लम, अल्लपुझा, कोट्टायम, कोच्चि, त्रिशूर, कोझीकोड, थालास्सेरी, कन्नूर, कुडुलु और मैंगलोर में लगातार दो दिन 2.5 मिलीमीटर या उससे अधिक वर्षा होती है तो दूसरे दिन केरल में मानसून की शुरुआत की घोषणा की जाती है, बशर्ते अन्य दो मानदंड भी साथ में हों। 


केरल में सामान्यत एक जून को पहुंचता है मानसून

केरल में सामान्यत मानसून एक जून को पहुंचता है। आईएमडी ने इससे पहले मानसून के यहां 31 मई या इससे चार दिन अधिक या पहले पहुंचने का अनुमान लगाया था, लेकिन 30 मई को उसने कहा था कि केरल में अभी मानसून आने की स्थिति नहीं बनी है। इसके बाद फिर गुरुवार को मानसून की दस्तक की बात कही गई थी जो सटीक साबित हुई। मौसम विभाग के महानिदेशक ने कहा था कि कर्नाटक तटीय इलाके में चक्रवातीय परिसंचरण से दक्षिण-पश्चिम मानसून का आगे बढ़ना बाधित हुआ है।


अगले 24 घंटों के दौरान ऐसा रहेगा मौसम का हाल

निजी वेदर एजेंसी स्काईमेट के अनुसार अगले 24 घंटों के दौरान दिल्ली और एनसीआर के अलग-अलग हिस्सों में राजस्थान, हरियाणा, पंजाब के कुछ हिस्सों में धूल भरी आंधी, मेघ गर्जना और बारिश हो सकती है। पूर्वोत्तर भारत, मध्य महाराष्ट्र, मराठवाड़ा, कोंकण और गोवा, केरल और तटीय कर्नाटक में हल्की से मध्यम बारिश के साथ एक दो स्थानों पर तेज बारिश हो सकती है। उड़ीसा, दक्षिण छत्तीसगढ़ के कुछ हिस्सों और तेलंगाना के अलग-अलग हिस्सों में एक या दो स्थानों पर हल्की से मध्यम बारिश के साथ एक दो स्थानों पर भारी बारिश हो सकती है। तेलंगाना, आंतरिक कर्नाटक, तमिलनाडु, मध्य प्रदेश, गुजरात क्षेत्र के कुछ हिस्सों, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड में हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है।

 

अगर आप अपनी कृषि भूमि, अन्य संपत्ति, पुराने ट्रैक्टर, कृषि उपकरण, दुधारू मवेशी व पशुधन बेचने के इच्छुक हैं और चाहते हैं कि ज्यादा से ज्यादा खरीददार आपसे संपर्क करें और आपको अपनी वस्तु का अधिकतम मूल्य मिले तो अपनी बिकाऊ वस्तु की पोस्ट ट्रैक्टर जंक्शन पर नि:शुल्क करें और ट्रैक्टर जंक्शन के खास ऑफर का जमकर फायदा उठाएं।

Quick Links

scroll to top
Close
Call Now Request Call Back