बंगाल-उड़ीसा में हाई अलर्ट, आंधी-तूफान के साथ तेज बारिश की संभावना

Published - 18 May 2020

बंगाल-उड़ीसा में हाई अलर्ट, आंधी-तूफान के साथ तेज बारिश की संभावना

बंगाल की खाड़ी में उठा तूफान 'अम्फान' ले रहा है भीषण रूप

भारतीय मौसम विभाग (आईएमडी) ने बंगाल व उड़ीसा के तटवर्ती क्षेत्रों में तूफान के साथ भारी बारिश की संभावना जताई है। इसको लेकर यहां हाई अलर्ट जारी किया हुआ है। मछुआरों को समुद्र की ओर नहीं जाने की सलाह दी गई है। 
भारतीय मौसम विभाग (आईएमडी) के अनुसार बंगाल की खाड़ी में उठे चक्रवाती तूफान 'अम्फान' भीषण चक्रवाती तूफान का रूप ले लिया है तथा अगले कुछ घंटे में अत्यंत भीषण चक्रवाती तूफान का रूप लेने वाला है। जिस कारण बंगाल की खाड़ी और ओडिशा के तटीय इलाकों में आंधी, तूफान के साथ ही तेज बारिश होने की संभावना है। 

 

सबसे पहले सरकार की सभी योजनाओ की जानकारी के लिए डाउनलोड करे, ट्रेक्टर जंक्शन मोबाइल ऍप - http://bit.ly/TJN50K1

 

95 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से आगे बढ़ सकता है तूफान

मौसम विभाग द्वारा जारी किए गए ताजा बुलेटिन के अनुसार यह चक्रवात ओडिशा के पारादीप से लगभग 870 किमी दक्षिण में केंद्रित है। इसे लेकर पश्चिम बंगाल-ओडिशा के तटवर्ती क्षेत्रों में हाई अलर्ट जारी कर दिया गया है। मौसम विज्ञानियों ने संभावना जताई है कि मंगलवार को बंगाल के तटीय जिलों में 60 से 65 किमी प्रति घंटे की तेज रफ्तार से हवाएं चल सकती हैं। तूफान की रफ्तार बुधवार को बढक़र 95 किमी तक हो सकती है, जिससे व्यापक क्षति का अंदेशा है। इसके मद्देनजर प्रशासन ने समुद्री इलाकों में रहने वाले लोगों को हटाकर सुरक्षित जगहों पर ले जाने का काम शुरू कर दिया है। 

 

 

ओडिशा के इन जिलों मे आंधी-तूफान की चेतावनी

ओडिशा सरकार के विशेष राहत संगठन द्वारा झूमपुरा, क्योंझर, पटना, सहोनपाड़ा और चंपुआ ब्लॉक और मयूरभंज जिले के सुकरौली, रारुआन और करजिया ब्लॉक में गरज के साथ-साथ आंधी-तूफान की चेतावनी जारी की गई है। चक्रवात अम्फान के  मद्देनजर राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल (एनडीआरएफ) ने किसी भी परिस्थिति से निपटने के लिए अपनी 10 टीमों को ओडिशा और अपनी सात टीमों को पश्चिम बंगाल भेजा है।

 

मछुआरों को समुद्र में नहीं जाने की सलाह, एनडीआरएफ की टीमें तैनात

एनडीआरएफ द्वारा ओडिशा के तटीय इलाको और आसपास के क्षेत्रों में तूफान की चेतावनी को देखते हुए सरकार ने मछुआरों को चेतावनी दी है कि वह 18 मई से लेकर समुद्र में या ओडिशा के समुद्री तटों पर ना जाएं। पश्चिम बंगाल में एनडीआरएफ की टीमें दक्षिण 24 परगना, उत्तर 24 परगना, पूर्व और पश्चिम मिदनापुर, हावड़ा और हुगली में और ओडिशा के पुरी, जगतसिंहपुर, केंद्रपाड़ा, बालासोर, जाजपुर, भद्रक और मयूरभंज में  तैनात हैं। तूफान के मद्देनजर एनडीआरएफ स्थिति की निगरानी कर रहा है और राज्यों और उनकी आपदा प्रबंधन टीमों और आईएमडी के साथ काम कर रहा है।

 

सभी कंपनियों के ट्रैक्टरों के मॉडल, पुराने ट्रैक्टरों की री-सेल, ट्रैक्टर खरीदने के लिए लोन, कृषि के आधुनिक उपकरण एवं सरकारी योजनाओं के नवीनतम अपडेट के लिए ट्रैक्टर जंक्शन वेबसाइट से जुड़े और जागरूक किसान बने रहें।

Quick Links

scroll to top
Close
Call Now Request Call Back