देश के कई राज्यों में भारी बारिश का अलर्ट, किसान हो जाएं सावधान

Published - 15 Jul 2021

देश के कई राज्यों में भारी बारिश का अलर्ट, किसान हो जाएं सावधान

मौसम अपडेट जानें, अगले 24 घंटे में आपके राज्य में कैसा रहेगा मौसम

इस बार मानसून ने पांच दिन देरी से दिल्ली में दस्तक दी है। उत्तर भारत के राज्यों में मानसून की एंट्री के बाद कई राज्यों में भारी बारिश को लेकर अलर्ट जारी किया गया है। मौसम विभाग के अनुसार देश की राजधानी दिल्ली में में 15 से 21 जुलाई तक कभी तेज तो कभी हल्की बारिश होने का अनुमान है। मौसम विभाग के अनुसार आगामी कुछ दिनों में कई राज्यों में भारी बारिश की संभावना है। इन दिनों पहाड़ी इलाकों में बारिश ने कहर बरपाया हुआ है। भारी बारिश के कारण भूस्खलन से तबाही के नजारे सामने आए हैं। बिहार में बारिश से बाढ़ जैसे हालात पैदा हो गए हैं।

Buy Kubota MU4501 4WD

 

सबसे पहले सरकार की सभी योजनाओ की जानकारी के लिए डाउनलोड करे, ट्रेक्टर जंक्शन मोबाइल ऍप - http://bit.ly/TJN50K1 


इस बार मानसून ने 5 दिन देरी से कवर किया देश

मौसम विभाग के अनुसार मानसून ने पूरे देश को 13 जुलाई को कवर कर लिया था, जबकि, आमतौर पर ऐसा 8 जुलाई तक हो जाता है। पूरे देश में उपस्थिति दर्ज करा चुके दक्षिण पश्चिम मानसून की रफ्तार कर्नाटक में और तेज हो गई है। राज्य के कई हिस्सों में रेड, ऑरेज और येलो अलर्ट जारी किया गया है। मौसम विभाग के अनुसार अगले तीन दिनों में कोंकण और गोवा में भारी से भारी बारिश के आसार हैं। मौसम विभाग द्वारा जारी की गई जानकारी के अनुसार, दिल्ली में अगले 4 से 5 दिनों में हल्की बारिश देखने को मिलेगी और उसके बाद भारी बारिश का सिलसिला शुरू होगा। वहीं, हिमाचल और उत्तराखंड में 18 जुलाई तक भारी बारिश को लेकर अलर्ट जारी किया गया हैञ दक्षिण उत्तर प्रदेश, पंजाब, उत्तरी राजस्थान, हरियाणा और उत्तरी मध्य प्रदेश में 17 से 19 जुलाई के बीच भारी बारिश के आसार हैं। आपको बता दें कि पिछले साल 25 जून को मानसून दिल्ली पहुंचा था और 29 जून तक पूरे देश में छा गया था। इस बार मानसून दिल्ली में सबसे अंत में आया है।


अगले 24 घंटों के दौरान यह रहेगा मौसम का हाल

  • स्काईमेट वेबसाइट के अनुसार अगले 24 घंटों के दौरान, कोंकण और गोवा, तटीय कर्नाटक और केरल के कुछ हिस्सों में मध्यम से भारी बारिश की संभावना है।
  • दक्षिण गुजरात, मध्य महाराष्ट्र, मराठवाड़ा के कुछ हिस्सों, तेलंगाना और विदर्भ के अलग-अलग हिस्सों, सिक्किम, उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल, असम, मेघालय, अरुणाचल प्रदेश, नागालैंड और अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में हल्की से मध्यम बारिश के साथ कुछ स्थानों पर भारी बारिश हो सकती है।
  • पश्चिमी हिमालय, पंजाब के कुछ हिस्सों, हरियाणा, उत्तर-पश्चिम उत्तर प्रदेश, छत्तीसगढ़, आंतरिक कर्नाटक, आंध्र प्रदेश के उत्तरी तट और रायलसीमा में हल्की से मध्यम बारिश के साथ एक दो स्थानों पर कुछ देर के लिए तेज बारिश हो सकती है।
  • दिल्ली, राजस्थान के कुछ हिस्सों, गुजरात के बाकी हिस्सों, बिहार के कुछ हिस्सों, झारखंड, ओडिशा, पश्चिम बंगाल, बाकी पूर्वोत्तर भारत और लक्ष्यदीप में हल्की बारिश संभव है। 


देश भर में मौसमी सिस्टम का हाल

स्काईमेट के अनुसार कम दबाव का क्षेत्र कच्छ और आसपास के क्षेत्र पर बना हुआ है। संबद्ध चक्रवाती परिसंचरण औसत समुद्र तल से 3.1 किमी तक फैला हुआ है, यह ऊंचाई के साथ दक्षिण की ओर झुका हुआ है। मॉनसून की अक्षीय रेखा अब कच्छ पर बने हुए निम्न दबाव के क्षेत्र से अहमदाबाद, अकोला, जगदलपुर, विशाखापत्तनम होते हुए पूर्वी मध्य बंगाल की खाड़ी की ओर जा रही है। कच्छ पर बने चक्रवाती हवाओं के क्षेत्र से एक निम्न दबाव की रेखा उत्तर पश्चिमी राजस्थान तक जा रही है। एक चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र उत्तरी तेलंगाना और आसपास के क्षेत्र पर बना हुआ है। एक ट्रफ रेखा दक्षिण कोंकण और गोवा से केरल तट तक फैली हुई है। एक और चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र असम के ऊपर बना हुआ है।

 

अगर आप अपनी कृषि भूमि, अन्य संपत्ति, पुराने ट्रैक्टर, कृषि उपकरण, दुधारू मवेशी व पशुधन बेचने के इच्छुक हैं और चाहते हैं कि ज्यादा से ज्यादा खरीददार आपसे संपर्क करें और आपको अपनी वस्तु का अधिकतम मूल्य मिले तो अपनी बिकाऊ वस्तु की पोस्ट ट्रैक्टर जंक्शन पर नि:शुल्क करें और ट्रैक्टर जंक्शन के खास ऑफर का जमकर फायदा उठाएं।

Quick Links

scroll to top
Close
Call Now Request Call Back