चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र बनने से इन राज्यों में बारिश की संभावना, छाएंगी धुंध

चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र बनने से इन राज्यों में बारिश की संभावना, छाएंगी धुंध

Posted On - 06 Feb 2021

जानें, देश के किन इलाकों में होगी बारिश और कहां छाएगी धुंध

इस समय मौसम में आए दिन बदलाव हो रहा है। अभी पिछले दिन देश के कई इलाकों में बारिश और कहीं-कहीं ओले भी गिरे जिससे मौसम एक बार फिर ठंडा हो गया और वायु में नमी होने के साथ सर्दी का अहसास बना रहा। हालांकि कई इलाकों में दिन में तल्ख धूप खिलने से सर्दी से काफी राहत मिली। वैसे भी फरवरी के महीने में मौसम कई बार परिवर्तरित होता है, क्योंकि इस माह से धीरे-धीरे सर्दी की विदाई होना शुरू हो जाती है और मार्च का महीना गर्मी का अहसास करने लगता है। निजी मौसम एजेंसी स्काईमेट के अनुसार उत्तर पर बना चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र इस समय उत्तर-पूर्वी मध्य प्रदेश और इससे सटे छत्तीसगढ़ तथा दक्षिण-पूर्वी उत्तर प्रदेश पर दिखाई दे रहा है। इस सिस्टम से विदर्भ तक एक ट्रफ भी बना हुआ है। वहीं एक अन्य ट्रफ रेखा हिन्द महासागर में भूमध्य रेखा के पास से दक्षिण-पश्चिमी बंगाल की खाड़ी तक बनी है। इससे कई जगहों पर हल्की बारिश के आसार हैं।

 

सबसे पहले सरकार की सभी योजनाओ की जानकारी के लिए डाउनलोड करे, ट्रेक्टर जंक्शन मोबाइल ऍप - http://bit.ly/TJN50K1

 

अगले 24 घंटों में कहां-कहां हो सकती है बारिश

  • अगले 24 घंटों के दौरान उत्तर-पूर्वी मध्य प्रदेश, उत्तरी छत्तीसगढ़ और इससे सटे उत्तर-पूर्वी उत्तर प्रदेश पर बने चक्रवाती हवाओं के क्षेत्र के कारण बंगाल की खाड़ी से आर्द्र हवाएं पूर्वी और इससे सटे मध्य भारत के कुछ भागों में पहुंच रही हैं।
  • इन हवाओं के कारण दक्षिण-पूर्वी उत्तर प्रदेश, उत्तरी छत्तीसगढ़ और बिहार में कुछ स्थानों पर जबकि झारखंड, उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल और सिक्किम में एक-दो स्थानों पर हल्की बारिश होने की संभावना है।
  • असम, मेघालय, अरुणाचल प्रदेश के भी कुछ हिस्सों में हल्की बारिश हो सकती है। अगले दो दिनों के दौरान उत्तरी नागालैंड में भी वर्षा के आसार हैं।
  • उत्तर-पश्चिमी दिशा से चल रही शुष्क और ठंडी हवाओं के कारण उत्तर पश्चिम, मध्य और पूर्वी भारत के राज्यों में न्यूनतम तापमान में 2 से 3 डिग्री की गिरावट हो सकती है।

 

 

उत्तर प्रदेश : तेज हवा व बूंदाबांदी की संभावना

मौसम विभाग के अनुसार उत्तरप्रदेश के उन्नाव, कानपुर, फतेहपुर, कानपुर देहात, फर्रुखाबाद, कन्नौज, लखीमपुर खीरी, मथुरा, सीतापुर, हरदोई समेत अन्य जनपदों में रविवार तक मौसम में हल्की ठंडक बनी रहेगी, जबकि सोमवार की शाम से उत्तर पश्चिमी सर्द भरी हवा आने शुरू हो जाएगी। चंद्रशेखर आजाद कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय के मौसम विज्ञानी डॉ. एसएन सुनील पांडेय ने मीडिया को बताया कि उत्तराखंड के पास सक्रिय हुआ पश्चिमी विक्षोभ चीन की ओर निकल गया है। अब धीरे धीरे उत्तर पश्चिमी हवा आने लगेगी। पहाड़ों पर बर्फ जमा है, वहां से सर्द भरी हवा मैदानी क्षेत्रों की ओर आएंगी। नमी की अधिकता के चलते सुबह और शाम के समय ठंडक बढ़ जाएगी।

 

हिसार : 8 फरवरी तक करना होगा धुंध का सामना

पश्चिमी विक्षोभ के प्रभाव के कारण बारिश और ओलावृष्टि ने यहां दिन और रात्रि के तापमान को काफी कम करने का काम किया है। इसके साथ यह मौसम फसलों से लेकर सब्जियों तक के लिए काफी फायदेमंद है। जिन स्थानों पर बारिश हुए हैं वहां अच्छी पैदावार मिलने की संभावना है। यहां पिछले दिनों हुई बारिश और ओलावृष्टि से एक बार फिर से प्रदेश में गलन शुरू हो गई थी। इससे हिसार में दिन का तापमान 21 डिग्री सेल्सियस से लुढक़कर 19 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया था। इसके साथ ही न्यूतनतम तापमान सामान्य से चार डिग्री घटकर 4.4 डिग्री सेल्सियस तक आ गया था। लेकिन इसके बाद शुक्रवार को सुबह गुनगुनी धूप जरूर निकली मगर कुछ देर बार ही बादलों से आसमान घिर गया जिससे फिर से लोगों को गलन का अहसास हुआ। इधर चौधरी चरण सिंह हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय के कृषि मौसम विज्ञान विभाग के अध्यक्ष डा. मदन खिचड़ ने मीडिया को बताया कि आठ फरवरी तक मौसम परिवर्तनशील रहेगा। इसके साथ ही उत्तर पश्चिमी हवा चलने की वजह से रात्रि तापमान में गिरावट होने की संभावना है। इसके साथ ही आठ फरवरी तक अल सुबह धुंध का सामना करना पड़ेगा।

 

मध्यप्रदेश में ऐसा रहेगा मौसम का हाल

मौसम विभाग के अनुसार संपूर्ण मध्य प्रदेश में मौसम एक बार फिर शुष्क हो जाएगा और भोपाल, इंदौर, उज्जैन, रतलाम, दतिया, होशंगाबाद, समेत लगभग सभी भागों में मौसम साफ एवं शुष्क रहेगा। उत्तर भारत में मौसम साफ होने के बाद ग्वालियर समेत मध्य प्रदेश के उत्तर और पश्चिमी जिलों में उत्तर दिशा से बर्फीली हवाएं चलनी शुरू हो गई हैं जिसके परिणाम स्वरूप न्यूनतम तापमान में 2 से 3 डिग्री की गिरावट हुई है। उत्तर दिशा से ठंडी और शुष्क हवाएं अब अगले कुछ दिनों तक चलती रहेंगी जिसके कारण मध्य प्रदेश के अधिकांश भागों में दिन और रात के तापमान में कुछ और गिरावट दर्ज की जा सकती है। सर्दी के मौसम की विदाई से पहले शीतलहर मध्य प्रदेश के कुछ हिस्सों पर अपना असर दिखा सकती है।

 

 

अगर आप अपनी कृषि भूमि, अन्य संपत्ति, पुराने ट्रैक्टर, कृषि उपकरण, दुधारू मवेशी व पशुधन बेचने के इच्छुक हैं और चाहते हैं कि ज्यादा से ज्यादा खरीददार आपसे संपर्क करें और आपको अपनी वस्तु का अधिकतम मूल्य मिले तो अपनी बिकाऊ वस्तु की पोस्ट ट्रैक्टर जंक्शन पर नि:शुल्क करें और ट्रैक्टर जंक्शन के खास ऑफर का जमकर फायदा उठाएं।

Quick Links

scroll to top
Close
Call Now Request Call Back