Tractor, two-wheeler sales in rural India get monsoon, festive season boost

Tractor, two-wheeler sales in rural India get monsoon, festive season boost

12 October, 2017

A good monsoon has set the cash registers ringing at tractor and two-wheeler firms over Navratri and Dussehra, making it the best festive season for some in the past three years.

But consumer packaged goods firms haven’t seen the desired offtake, with a broad-based recovery from the effects of demonetisation and the goods and services tax (GST) continuing to elude their channel partners. 

“An early onset of the festive season has helped,” said Rajesh Jejurikar, president, farm equipment sector, Mahindra and Mahindra Ltd. 

Unlike last year when key Hindu festivals of Navratri, Dussehra and Diwali fell in October, this year the first two were celebrated in September.

This added to positive sentiment, spurred by a good monsoon and a healthy crop yield in rural India.

 

Mahindra’s domestic tractor sales in September grew 52% to a record 44,000 units over the same month a year earlier.

The India Meteorological Department (IMD) on 30 September said the monsoon was 95% of the long-term average compared to its forecast of 98%, Reuters reported last Saturday.

Responsible for delivering about 70% of the annual rainfall, the monsoon season is critical for the farm sector that accounts for about 15% of India’s $2 trillion economy.

A strong sales performance across all the tractor companies helped overall tractor volumes advance a brisk 50% during the month, over the last year, said Benaifer Jehani, director research at Crisil Ltd.

While demand is strong, the impressive sales volumes also reflect the very high levels of dispatches being organized by tractor firms in order to make the most of the festive season, she said.

 

Tractor makers, such as automobile firms, count dispatches to dealers as sales.

“The buildup of stocks at the dealerships is humongous in anticipation of a good festive demand,” she said, adding that she expects some correction in the current month. 

The festive season has been equally impressive for motorcycle and scooter makers.

Honda Motorcycle and Scooter India (HMSI) Pvt. Ltd, the second largest two-wheeler maker, has all its factories running at peak capacities. On the first day of Navratri, HMSI retailed 52,000 scooters and motorcycles. 

Cumulatively, ending with Dussehera, it sold a total of 100,000 units in 10 days, said Y.S. Guleria, HMSI senior vice-president (sales and marketing). This is the best for the company in three years. A lot of it was led by an aggressive network expansion in rural and semi-urban areas where the demand is strong and the company has ability to meet it, he said. HMSI sells four out of every 10 two-wheelers in rural markets.

Hero MotoCorp Ltd, the two-wheeler market leader, is equally bullish.

“With close to two weeks still remaining in the festival season, we have set an all-time record by selling over a million motorcycles and scooters in domestic retail sales in the festive period so far, further consolidating our market leadership,” Ashok Bhasin, head of sales, marketing and customer care at the firm said in an email. Hero draws half of its total sales from rural India.

Crisil expects tractor sales for the festive months from September to November to expand by 12-16% from the year-ago period as the high base effect of the previous fiscal kicks in.

However, the festive season has been dull so far for makers of oils, shampoo, soap, chocolates and other daily consumables.

Some have flagged the lagging effects of demonetisation and the impact of the GST rollout on wholesale channels as obstacles to rural recovery.

“The rural market has been evolving every year. The region buys more of the gifting and premium portfolio of Cadbury’s chocolates,” said Hemant Rupani, sales director, Mondelez India Pvt. Ltd, owners of Cadbury.

He added that although sales have been decent, they are yet to take off in a big way. 

“The wholesale piece (part of the business conducted via wholesale channel) has been upset by the GST,” Rupani said, adding that the rural market performance “could have been better” given that a slew of government schemes to improve rural infrastructure were expected to boost rural demand. 

In an investor presentation in September, India’s largest consumer packaged goods company, Hindustan Unilever Ltd, said that its growth in rural markets lagged in fiscal 2016-17—falling behind urban markets for the first time since 2011-12.

Citing data from market research firm AC Nielsen, it said consumer sentiment has fallen steadily since 2011-12. 

Analysts said a large part of this depressed demand is the patchy monsoon and lower kharif crop sowing that came right after demonetisation in November last year.

Monsoon rains this year were deficient by 5% as of 22 September, said a report by investment bank Morgan Stanley on the same day.

By state, rains were deficient in some of India’s largest consumer markets including Uttar Pradesh, Madhya Pradesh, and Punjab.

Consequently, sowing of rice, pulses and oilseeds declined by 1-9% year-on-year, it added. All these are expected to impact consumer demand.

In a report dated 22 September, equities brokerage firm JM Financial had said that these “channel related issues”, particularly among wholesalers and in the north and the east, will make rural demand recovery a “more gradual affair” even though “the end consumer is quite oblivious to these changes”.

Mahindra’s Jejurikar said rain-deficient states such as Uttar Pradesh have good irrigation cover—as much as 80% and  should make up for the shortfall.

Therefore, it’s unlikely to adversely impact farm output. Mahindra has maintained its growth forecast of 10-12% for the tractor market for the full year.

Source- http://www.livemint.com

Top Tractor News

इस दशहरा पर ट्रैक्टर खरीदने का मन है तो इन 10 ट्रैक्टर मॉडलों को देखें

इस दशहरा पर ट्रैक्टर खरीदने का मन है तो इन 10 ट्रैक्टर मॉडलों को देखें

इस दशहरा ट्रैक्टर खरीदने का मन है तो इन ट्रैक्टर मॉडलों को देख सकते हैं इस बार दशहरा व दिवाली का त्योहारी सीजन किसानों के आंगन में बहुत सारी खुशहाली लेकर आने वाला है। कोरोना संक्रमण काल में देश की अर्थव्यवस्था को कृषि से ही सहारा मिला है। कोरोना के चलते जहां ज्यादातर सेक्टर मंदी से जूझ रहे हैं वहीं कृषि क्षेत्र ने उम्मीदें जगाई हुई है। जीडीपी के आंकड़ों के अनुसार पहली तिमाही में कृषि क्षेत्र को छोड़ अर्थव्यवस्था के अन्य सभी सेगमेंट में गिरावट आई है। इस बार अच्छे मानसून, खरीफ फसलों की रिकॉर्ड तोड़ बुवाई, न्यूनतम समर्थन मूल्य में वृद्धि और नए कृषि विधेयक के बाद फसल बेचने के लिए पूरे देश का बाजार किसानों के लिए खुल जाने से किसानों की समृद्धि बढऩे से इनकार नहीं किया जा सकता है। अच्छे मानसून से ग्रामीण अर्थव्यवस्था को रफ्तार मिली है। इसकी झलक ट्रैक्टरों की बढ़ती बिक्री से भी मिलती है। ट्रैक्टर कंपनियों ने भी किसानों के लिए खास तैयारी की है। अगर इस त्योहारी सीजन आप नया ट्रैक्टर खरीदने की सोच रहे हैं तो ट्रैक्टर जंक्शन आपको दमदार, शानदार, सर्वश्रेष्ठ टॉप-10 ट्रैक्टरों के खास फीचर्स, स्पेसिफिकेशन्स, कीमत और कंपनी के खास ऑफर के बारे में बता रहा है। ये हैं 10 सर्वश्रेष्ठ ट्रैक्टर 1. सोनालिका डीआई-745 III सोनालिका के ट्रैक्टर किसान के बजट के अनुसार बनाए जाते हैं। इसलिए किसानों के बीच सोनालिका ट्रैक्टरों की भारी मांग है। सोनालिका डीआई-745 III ट्रैक्टर किसानों के बीच बहुत लोकप्रिय है। यह ट्रैक्टर 3 सिलेंडर,50 हॉर्सपावर और 2893 सीसी इंजन क्षमता के साथ आता है। यह ट्रैक्टर 2 व्हील ड्राइव, सिंगल क्लच और कांस्टेंट मेष टाइप ट्रांसमिशन के साथ आता है। ट्रैक्टर में 8 गियर आगे के लिए व 2 गियर पीछे के लिए दिए गए हैं। यह ट्रैक्टर मैकेनिकल स्टीयरिंग और ड्राई डिस्क ब्रेक के साथ आता है। लिफ्टिंग क्षमता 1600 किलोग्राम की है। यह ट्रैक्टर 2 हजार घंटे या 2 साल की वारंटी के साथ आता है। सोनालिका डीआई-745 III ट्रैक्टर की कीमत 5.45 से 5.80 लाख* रुपए है। 2. महिंद्रा 475 डीआई ट्रैक्टर इंडस्ट्री में महिंद्रा नंबर वन पोजिशन पर है। महिंद्रा के 35 से ज्यादा मॉडल बाजार में बिकते हैं। इनमें महिंद्रा 475 डीआई ने किसानों के दिलों में खास जगह बनाई है। यह ट्रैक्टर 4 सिलेंडर, 42 हॉर्सपावर, 2730 सीसी क्षमता के शक्तिशाली इंजन के साथ आता है। यह ट्रैक्टर पार्टियल कांस्टेंट मेष ट्रांसमिशन, ड्यूल क्लच के साथ आता है। इसमें 8 गियर आगे के लिए और 2 गियर पीछे के लिए दिए गए हैं। ट्रैक्टर में तेल में डूबे हुए और पावर स्टीयरिंग का विकल्प मिलता है। ट्रैक्टर की लिफ्टिंग क्षमता 1500 किलोग्राम है। यह ट्रैक्टर 2 व्हील ड्राइव में 2 हजार घंटे या दो साल की वारंटी के साथ आता है। महिंद्रा 475 डीआई की कीमत 5.45 लाख से 5.85 लाख* रुपए है। 3. स्वराज 744 एफई यह ट्रैक्टर हमेशा से किसानों के दिलों राज करता आया है। श्रेष्ठ टेक्नोलॉजी के दम पर स्वराज 744 एफई की बिक्री लगातार बढ़ रही है। यह ट्रैक्टर 3 सिलेंडर, 48 हॉर्सपावर 3136 सीसी की इंजन क्षमता के साथ आता है। इस ट्रैक्टर में सिंग्ल ड्राई प्लेट टाइप क्लच आती है। साथ ही ड्यूल कल्च का विकल्प भी मिलता है। इसमें 8 गियर आगे के लिए और 2 गियर पीछे के लिए दिए गए हैं। ट्रैक्टर में वाटर सील्ड डिस्क ब्रेक दिए गए हैं। यह ट्रैक्टर हैवी ड्यूटी सिंग्ल डॉप आर्म स्टीयरिंग के साथ आता है। साथ ही इसमें पायर स्टीयरिंग का विकल्प दिया गया है। स्वराज 744 एफई की लिफ्टिंग कैपिसिटी 1700 किलोग्राम है। यह ट्रैक्टर 2 साल या 2 हजार घंटे की वारंटी के साथ आता है। स्वराज 744 एफई की कीमत 6.25 लाख से 6.60 लाख रुपए है। 4. सोनालिका 42 डीआई सिकंदर सोनालिका कंपनी के ट्रैक्टर कम रखरखाव लागत और किफायती इंजन के कारण किसानों के बीच खास लोकप्रिय है। सोनालिका 42 डीआई सिकंदर ट्रैक्टर 3 सिलेंडर और 42 हॉर्सपावर की इंजन क्षमता के साथ आता है। ट्रैक्टर में कांस्टेंट मेष और स्लाइडिंग मेष टाइप ट्रांसमिशन दिया गया है। इसमें 8 गियर आगे के लिए और 2 गियर पीछे के लिए आते हैं। ट्रैक्टर सिंगल और ड्यूल क्लच के साथ आता है। इस ट्रैक्टर में ड्राई डिस्क और तेल में डूबे हुए ब्रेक का विकल्प मिलता है। साथ ही स्टीयरिंग में भी पावर और मैकेनिकल का विकल्प आता है। इस ट्रैक्टर की लिफ्टिंग क्षमता 1800 किलोग्राम है। यह ट्रैक्टर 2 हजार घंटे या दो साल की वारंटी के साथ आता है। सोनालिका 42 डीआई सिकंदर की कीमत 5.40 लाख रुपए से 5.70 लाख रुपए है। 5. न्यू हॉलैंड 3630 TX स्पेशल एडिशन यह ट्रैक्टर 3 सिलेंडर, 55 हॉर्सपावर और 2931 की सीसी क्षमता के शक्तिशाली इंजन के साथ आता है। इस ट्रैक्टर में इंजन रेटेड आरपीएम 2300 दी गई है। यह ट्रैक्टर फुल कांस्टेंट मेष और पार्शियल कांस्टेंट मेष टाइप ट्रांसमिशन के साथ आता है। ट्रैक्टर में 8 गियर आगे के लिए और 2 गियर पीछे के लिए दिए गए हैं। यह ट्रैक्टर तेल में डूबे हुए ब्रेक और पावर स्टीयरिंग के साथ आता है। इस ट्रैक्टर की लिफ्टिंग क्षमता 1700 से 2000 किलोग्राम है। यह ट्रैक्टर 2 व्हील ड्राइव में 2400 घंटे या 3 साल की वारंटी के साथ आता है। 6. मैसी फर्ग्यूसन 241 डीआई महाशक्ति मैसी फर्ग्यूसन 241 डीआई महाशक्ति ट्रैक्टर अद्भुत विशेषताओं के कारण किसानों के लिए बहुत पंसदीदा बना हुआ है। यह एक 42 हॉर्स पावर का ट्रैक्टर है जो 3 सिलेंडर और 2500 सीसी की इंजन क्षमता के साथ आता है। यह ट्रैक्टर स्लाइडिंग मेष गियरबॉक्स के साथ आता है। साथ ही पॉर्टियल कांस्टेंट मेष का विकल्प मिलता है। ट्रैक्टर में 8 गियर आगे के लिए व 2 गियर पीछे के लिए दिए गए हैं। इसके अलावा 10 गियर आगे के लिए व 2 गियर पीछे के लिए विकल्प भी मिलता है। इस ट्रैक्टर में तेल में डूबे हुए ब्रेक दिए गए हैं। यह ट्रैक्टर मैनुअल पॉवर स्टीयरिंग के साथ आता है। साथ ही इसमें पॉवर स्टीयरिंग का विकल्प भी मिलता है। डीजल टैंक की क्षमता 47 लीटर दी गई है। ट्रैक्टर का कुल वजन 1875 किलोग्राम है। यह ट्रैक्टर 2 व्हील ड्राइव में 2100 घंटे या 2 साल की वारंटी के साथ आता है। इस ट्रैक्टर की कीमत 5.75 लाख से 6.40 लाख रुपए है। 7. जॉन डियर 5050-डी-4डब्ल्यूडी जॉन डियर के ट्रैक्टर अपनी तकनीक के दम पर किसानों के बीच लगातार लोकप्रिय होते जा रहे हैं। जॉन डियर 5050-डी-4डब्ल्यूडी ट्रैक्टर 3 सिलेंडर और 50 हॉर्सपावर के शक्तिशाली इंजन के साथ आता है। इस ट्रैक्टर में कॉलर शिफ्ट टाइप ट्रांसमिशन दिया गया है। ट्रैक्टर सिंगल और ड्यूल क्लच के साथ आता है। ट्रैक्टर में 8 गियर आगे के लिए और 4 गियर पीछे के लिए दिए गए हैं। जॉन डियर 5050-डी-4डब्ल्यूडी ट्रैक्टर तेल में डूबे हुए डिस्क ब्रेक और पावर स्टीयरिंग के साथ आता है। इस ट्रैक्टर की लिफ्टिंग क्षमता 1600 किलोग्राम है। यह ट्रैक्टर 5 साल की वारंटी के साथ आता है। जॉन डियर 5050 डी 4डब्ल्यूडी की कीमत 8.00 लाख से 8.40 लाख* रुपए है। 8. आयशर 380 आयशर ट्रैक्टर उद्योग में सबसे पुराने नामों में से एक है। जो किसान भाई स्वदेशी तकनीक के ट्रैक्टर खरीदना चाहते हैं उनके लिए यह पहली पसंद बना हुआ है। आयशर 380 ट्रैक्टर 3 सिलेंडर, 40 हॉर्स पावर और 2500 सीसी की इंजन क्षमता के साथ आता है। इस ट्रैक्टर में सेंट्रल शिफ्ट टाइप ट्रांसमिशन दिया गया है । इसके अलावा साइड शिफ्ट का विकल्प भी मिलता है। यह ट्रैक्टर सिंगल और ड्यूल क्चल के साथ आता है। इस ट्रैक्टर में 8 गियर आगे के लिए और 2 गियर पीछे के लिए दिए गए हैं। यह ट्रैक्टर अधिकतम 1300 किलोग्राम का वजन उठा सकता है। यह ट्रैक्टर डिस्क ब्रेक और तेल में डूबे हुए ब्रेक के साथ आता है। इसमें मैकेनिकल स्टीयरिंग दी गई है। साथ ही पावर स्टीयरिंग का विकल्प मिलता है। यह ट्रैक्टर 2 व्हील ड्राइव में 2 साल की वारंटी के साथ आता है। आयशर 380 की कीमत 5.30 लाख* रुपए है। 9. फार्मट्रैक 60 भारत में खेती की विविध परिस्थितियों में सफलतापूर्वक काम करने के लिए फार्मट्रैक का नाम जाना जाता है। फार्मट्रैक 60 ट्रैक्टर, 3 सिलेंडर, 50 हॉर्स पावर और 3147 सीसी की इंजन क्षमता के साथ आता है। यह ट्रैक्टर फुल कांस्टेंट मेष, मैकेनिकल टाइप ट्रांसमिशन के साथ आता है। इसमें सिंगल क्लच दी गई है। साथ ही ड्यूल क्लच का ऑप्शन मिलता है। ट्रैक्टर में 8 गियर आगे के लिए और 2 गियर पीछे के दिए गए हैं। यह ट्रैक्टर मल्टी डिस्क तेल में डूबे हुए ब्रेक और मैकेनिकल स्टीयरिंग के साथ आता है। साथ ही पॉवर स्टीयरिंग का विकल्प मिलता है। इस ट्रैक्टर की लिफ्टिंग क्षमता 1400 किलोग्राम है। यह ट्रैक्टर 2 व्हील ड्राइव में 5 हजार घंटे या 5 साल की वारंटी के साथ आता है। फार्मट्रैक 60 की कीमत 6.30 लाख से 6.80 लाख रुपए है। 10. कुबोटा नियोस्टार बी 2441 4डब्ल्यूडी अपनी विश्वप्रसिद्ध तकनीक के कारण कुबोटा बहुत कम समय में किसानों के बीच खास लोकप्रिय हो गया है। कुबोटा नियोस्टार बी 2441 4डब्ल्यूडी यह एक कॉम्पेक्ट ट्रैक्टर है और बागवानी में विशेष उपयोगी है। यह ट्रैक्टर 3 सिलेंडर, 24 हॉर्सपावर और 1123 सीसी क्षमता के इंजन के साथ आता है। यह ट्रैक्टर गियर शिफ्ट टाइप ट्रांसमिशन के साथ आता है। इसमें 9 गियर आगे के लिए और 3 गियर पीछे के लिए दिए गए हैं। ट्रैक्टर में ड्राई सिंगल प्लेट क्चल आता है। इस ट्रैक्टर में पावर स्टीयरिंग और तेल में डूबे हुए ब्रेक दिए गए हैं। ट्रैक्टर की लिफ्टिंग क्षमता 750 किलोग्राम है। यह ट्रैक्टर 5 हजार घंटे या 5 साल की वारंटी के साथ आता है। कुबोटा नियोस्टार बी 2441 4डब्ल्यूडी की कीमत 5.15 लाख* रुपए है। ट्रैक्टर उद्योग अपडेट के लिए हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्सक्राइब करें- https://t.me/TJUNC नवीनतम ट्रैक्टर उद्योग अपडेट के लिए हमें फॉलो करें- LinkedIn - https://bit.ly/TJLinkedIN FaceBook - https://bit.ly/TJFacebok त्योहारी सीजन में ट्रैक्टर कंपनियां खास ऑफर के साथ किसानों का इंतजार कर रही। किसान अपनी जरुरत के हिसाब से अपना पसंदीदा ट्रैक्टर चुन सकते हैं। कोरोना संकट के बावजूद ट्रैक्टरों की बिक्री मे लगातार इजाफा इस बात का संकेत देती है कि कृषि सेक्टर से ही देश मंदी के संकट से उबरेगा।

Tractor Sales Zoom by 12% in First 6 Months of FY’21

Tractor Sales Zoom by 12% in First 6 Months of FY’21

Domestic Tractor sales achieved growth of 12.02% in 1st half-year of FY'21. As we all know, this is a pandemic year, and it comes with difficulties for manufacturers and farmers. At the beginning of the year, tractor sales drastically decreased due to the COVID-19 crises. With this, a locust attack in India damages all the crops. These problems hit the tractor sales badly. But after lockdown, tractor companies recovered, and tractor sales increased. Now we are in the middle of the year, and according to recent data, overall tractor sales boomed. Total sales registered 401672 units in H1’FY21, and in H1’FY20, it was 358565 units. That shows a hike in the gross tractor sales. Still some of the leading manufacturers are facing supply chain issues to manage tractor inventory due to high demand from farmers. Rural market continued to show strong growth due to a good monsoon. Tractor sales was positively impacted with the monsoon progress and spread. Riding high on back of good monsoons, favorable Kharif season and increased disposal income in the rural areas majority OEMs registered high 75% growth in August 2020 sales. Following, we are displaying brand-wise domestic tractor sales report with their market value. Check out below. In FY’21 (Apr-Sep’20) Mahindra Tractors recorded the highest market share fall by -3.8% when compared to last year. As Mahindra Tractors shown growth of 1.91% in sales against Industry growth of 12% in H1’FY21. Mahindra tractor sales recorded 154904 units in H1’FY21, and in H1’FY20, the sales were 152004. India’s 2nd largest tractor manufacturer TAFE Group recorded 79678 units of tractor sales in H1’FY21 against 64450 units in H1’FY20. Which clearly shows a growth of 23.63%. Along with this, TAFE manages to add 1.86% of market share in H1’FY21. India’s youngest & one of the fastest growing Tractor brand Sonalika Tractors has been extremely consistent in the past few months and the sales growth is a testimony of it. It infact posted their highest ever monthly sales in Sep’20 Domestic tractor sales of Sonalika recorded a 33.35% hike in H1’FY21. They sold 54504 units of tractors in H1’FY21, and the Sonalika tractor sales were 40873 units. Furthermore, Sonalika’s market share increased by 2.17% in H1’FY21, which is highest gain of MS among all players by surpassing industry growth. Escorts always supplying tractors according to the demand of the Indian farmers. In H1’FY21, Escort's domestic tractor sales increased by 1935 units (4.34%). As the brand sold 40846 units in H1’FY21, and in H1’FY20, it was 38911 units. But, their market share decreased by 0.68 in H1’FY21. John Deere Tractor noted down remarkable progress in India this year, during 2nd quarter (Jul-Sep’20) John Deere tractors even grab 4th position based on sales volume. John Deere Recorded its domestic tractor sales were at 35176 units in H1’FY21, 4366 units gained in John Deere tractor domestic sales. Additionally, the John Deere tractor also gained 0.16% of gross market share. New Holland Tractor is famous for its comfort and technologically advanced features. Its domestic tractor sales boosted by 20.29% in H1’FY21, and it is a good sign for the company. Along with this, New Holland Tractor also gained 0.28% of market share in H1’FY21. The most popular Japanese Tractor Brand- Kubota Tractors, which also winning Indian farmers' hearts. In H1’FY21, it also registered an impressive growth of 7.71% in Kubota domestic tractor sales. As the tractor sales were 6159 units in H1’FY21 and H1’FY20, it recorded 5718 units. But, it lost 0.06% of market share. In H1’FY21, Vst Tractor sales noted 4320 units, 18.81% higher than the tractor sales recorded in H1’FY21. Vst Tractor also added 0.06% of market share in half-yearly 2020. Captain Tractor records the 2nd highest domestic tractor sales in H1’FY21. Its domestic tractor sales grew by 59.44%. 2119 units were sold by Captain Tractor in H1’FY21, which is 790 units more in comparison to H1’FY20. It also manages to add 0.16% of the market share. Indo Farm Tractor registered a significant increase in H1’FY21. Sales had stood at 1780 units in H1’FY21, and in H1’FY20, it was 1347 units, which shows 32.15% of growth. Along with this, it adds 0.07% of the market share. Preet Tractor played smart in this financial year as they started selling tractors in bulk to Tractor Brokers at a very attractive price in Haryana and Punjab region. Due to this, Preet Tractor was able to sell more than 600 tractors direct to large brokers. Due to this Preet Tractor domestic sales incredibly increased by 144.94% in H1’FY21. Preet sold 1766 units in H1’FY21 against 721 units in H1’FY20. They also gained 0.24% of the market share. Force Tractor also registered 4.90% growth in domestic tractor sales. As it recorded 1585 units sold in H1’FY21 and H1’FY20, the sales were 1511 units. ACE Tractor domestic sales noted 1202 units in H1’FY21, and it registered H1’FY20. They recorded a gain of 10.38%. With this, the ACE tractor maintains its market share in H1’FY21. SDF Tractor sales were 1048 units in H1’FY21, and in H1’FY20 it registered as 2378 units. This shows a steep decline of 55.93% in sales. Along with this, the SDF Tractor also loses market share by 0.40%. Subscribe our Telegram Channel for Industry Updates- https://t.me/TJUNC Follow us for Latest Tractor Industry Updates- LinkedIn - https://bit.ly/TJLinkedIN FaceBook - https://bit.ly/TJFacebok

New Holland Offers 6 Year T - Warranty on all Tractors

New Holland Offers 6 Year T - Warranty on all Tractors

New Holland offers a welfare 6 Year T - Warranty (Transferable warranty) policy for the betterment of Indian Farmers. The 6 year warranty benefits can be simply assigned to subsequent buyers in the event of a resale. With this, New Holland Agriculture looks forward to strengthening the after-sales support to its customers and, in turn, strengthens its trust in the brand and its products. The New Holland tractor in India is the best and popular tractor model among the citizens and farmers. New Holland introduced a new policy of 6 year T - Warranty among their users, which can increase a farmer's experience to another level. All Indian farmers and other users can experience and enjoy this 6 year warranty policy to the fullest. It is one of the most esteemed providers of all the excellent farm industrialization tools and machines. New Holland serves innovative farming products with expansion from different tractor models to reaping & post-harvesting abilities. Tractors of New Holland played a positive role in the farming system of the country with its numerous kinds of tractor models in India for the last 22 years. This welfare 6 year warranty policy of New Holland is applicable only for India. In India, the popular and well known New Holland Constructing plant is located in Greater Noida, Uttar Pradesh. This manufacturing plant is formed across 60 acres of land and is created to produce more enhanced tractor models in one go. New Holland is the principal and first motor vehicle manufacturing brand that holds ISO 9001:2008 certification for perfection. New Holland with New 6 Year warranty Facility The new warranty policy will apply to all New Holland tractors purchased after 2nd October 2020. At the moment, Raunak Varma - Managing Director of New Holland and Country Head (India & SAARC), speaks, "New Holland is the foremost agriculture brand for durability, performance, and technology. All models of New Holland always prove supporting towards the farming community. This admirable scheme of 6 year T - warranty helps increase the user's trust toward the product." On this farmer's welfare policy, Bimal Kumar - Sales Director of New Holland Agriculture, said, "The 6-year T-warranty would establish our technically superior product range as a quality benchmark. The additional advantage of transferring the benefit of warranty to buyers until after the warranty period will also help resale tractor buyers." Terms and conditions of the 6 Year Warranty New Holland is the prominent tractor brand in the agriculture sector. For farmer's betterment, New Holland declared a farmers welfare scheme of 6 year T - warranty (Transferable warranty) on all New Holland tractor models in India. New Holland is the first brand in the tractor industry that furnishes farmers with such an offering facility of 6 years or 6000 hours warranty scheme. In this facility, the warranty benefits can easily be transferred to succeeding buyers in the way of resale. New Holland is always looking forward to supporting financially limited farmers with a warranty policy. The 6 Year warranty policy is applicable only for Indian citizens. This policy applies to tractors purchased after 2 October 2020. This warranty policy indicates that second and subsequent owners of the tractor can avail of the Warranty. 6 Years or 6000 hours Transferable Warranty with comes with9 free services + 12 Paid Services Subscribe our Telegram Channel for Industry Updates- https://t.me/TJUNC Follow us for Latest Tractor Industry Updates- LinkedIn - https://bit.ly/TJLinkedIN FaceBook - https://bit.ly/TJFacebok

Vst Tillers Recorded Remarkable Sales in September 2020

Vst Tillers Recorded Remarkable Sales in September 2020

Vst Tillers and Tractor recorded the company's total auto sales 3250 units in September 2020, and they sold 1961 units in September 2019. This shows crystal clear growth by 65.73%. The company shares jumped up by 3.10% to Rs. 1,711.20. Although the total sales were reduced by 8.06% in September 2020 compared to August 2020, total sales were 3535 units. Vst Shakti Power Tiller sales outstanding boost in 2020 by 73.83% as compared to September 2019, sales were 1292 units. On the other hand, the company’s tractor sales registered 50.07% in September 2020. 669 unit tractor sales recorded in September 2019, and 1004 units noted in September 2020. On 2nd October 2020, markets slammed on account of Gandhi Jayanti. So, the declaration made after working hours on 1st October 2020, Thursday. By the 47.8% elevation in net profit to 17.07 crore, the net sales also elevated by 4.7% to Rs 146.24 crore in Q1 June 2020 against Q1 June 2019. VST Tillers Tractors produces agri-machinery that includes tractors and power tillers. At present, the stock of Vst Tillers is trading 12.21% of 1,949.30 strikes on 21 September 2020. Additionally, the scrip has a streak of 184.72%. Subscribe our Telegram Channel for Industry Updates- https://t.me/TJUNC Follow us for Latest Tractor Industry Updates- LinkedIn - https://bit.ly/TJLinkedIN FaceBook - https://bit.ly/TJFacebok

close Icon

Find Your Right Tractor and Implements

New Tractors

Used Tractors

Implements

Certified Dealer Buy Used Tractor