2021 में ट्रैक्टर की कीमत : इस साल एक बार फिर महंगे होंगे ट्रैक्टर!

2021 में ट्रैक्टर की कीमत : इस साल एक बार फिर महंगे होंगे ट्रैक्टर!

Posted On - 31 May 2021

ट्रैक्टर खरीदने का मन है तो, न करें देर, स्टील के दामों में ऐतिहासिक वृद्धि से बनी संभावना

कोविड-19 महामारी के प्रभाव के बावजूद भारत के किसानों ने वित्तीय वर्ष 2020-21 में करीब 9 लाख ट्रैक्टर खरीदे थे। अब वित्तीय वर्ष 2021-22 शुरू हो चुका है और ट्रैक्टर कंपनियों को इस साल भी अच्छी बिक्री की उम्मीद है, लेकिन इस बीच ट्रैक्टरों के दाम एक बार फिर बढ़ने की संभावना सामने आई है। साल 2021 की शुरुआती दिनों में कुछ कंपनियों ने ट्रैक्टरों के दाम बढ़ाने की घोषणा की थी और घोषणा के अनुरूप ही ट्रैक्टरों के दाम बढ़ाए गए। ट्रैक्टरों की कीमत बढ़ाने के पीछे स्टील की कीमतों में ऐतिहासिक वृद्धि माना जा रहा है। अब ट्रैक्टर कंपनियों का कहना है कि अगर स्टील की कीमतें इसी प्रकार बढ़ती रही तो आगामी दिनों में उन्हें ट्रैक्टरों के दामों में एक बार फिर वृद्धि करनी होगी। यह वृद्धि 20 हजार से लेकर 60 हजार रुपए तक की हो सकती है। ऐसे में ट्रैक्टर इंडस्ट्री के विशेषज्ञों का कहना है कि अगर किसान ट्रैक्टर खरीदना चाहता है तो यह सही समय है। साथ ही कई कंपनियां कोविड-19 जुड़ी स्कीम का लाभ भी उपभोक्ताओं को दे रही है। टै्रक्टर जंक्शन की इस पोस्ट में भविष्य में ट्रैक्टरों की संभावित कीमतों का विश्लेषण करेंगे।


स्टील के दामों में वृद्धि से ट्रैक्टर होंगे महंगे

पिछले कुछ महीनों से स्टील की कीमतों में अभूतपूर्व तेजी देखी जा रही है। घरेलू बाजार में स्टील अब तक की सबसे ऊंची कीमतों पर बिक रही है। मई 2021 में जारी आंकड़ों के अनुसार हॉट रोल्ड कॉइल की कीमत 4 हजार रुपए की वृद्धि के साथ सर्वाधिक ६७ हजार रुपए प्रति टन है और कोल्ड रोल्ड कॉइल की कीमत 4 हजार 500 रुपए की वृद्धि के साथ 80 हजार रुपए प्रति टन है। पिछले 10 महीनों के दौरान स्टील की कीमतों में 60 फीसदी से अधिक की वृद्धि देखी गई है और आगामी दिनों में 4 हजार रुपए प्रति टन की उम्मीद जताई जा रही है। 


स्टील की बढ़ती कीमतों से ट्रैक्टर इंडस्ट्री पर दबाव

स्टील की बढ़ती कीमतों के कारण ट्रैक्टर इंडस्ट्री सहित कई अन्य उद्योगों पर दबाव देखा जा रहा है। पिछले साल से ही स्टील की कीमतों में लगातार तेजी देखी जा रही है। भविष्य में भी तेजी की उम्मीद है। ट्रैक्टर इंडस्ट्री के कई विशेषज्ञ आशंका जता चुके हैं कि यदि स्टील की कीमतों में तेजी का यही हाल रहा तो ट्रैक्टर कंपनियों को ट्रैक्टरों के दाम बढ़ाने पड़ेंगे। ऐसी स्थिति में समझा जा सकता है कि ट्रैक्टरों की कीमतों में जल्द ही वृद्धि हो सकती है। अब यह वृद्धि कितनी होगी यह स्टील की कीमतों पर निर्भर रहेगा।


2021 में महिंद्रा और एस्कॉर्ट्स सहित कई कंपनियां बढ़ा चुकी है कीमत

ट्रैक्टरों के निर्माण सबसे महत्वपूर्ण कच्चा माल स्टील है। यदि स्टील की कीमतें बढ़ती है तो इसका सीधा दबाव ट्रैक्टर कंपनियों पर पड़ता है। कंपनियां अपना दबाव कम करने के लिए ट्रैक्टरों की कीमत में इजाफा कर देती है। स्टील की बढ़ती कीमतों के कारण ही इस साल की शुरुआत में देश की सबसे प्रमुख ट्रैक्टर निर्माता कंपनी महिंद्रा एंड महिंद्रा ट्रैक्टरों के दाम बढ़ा चुकी है। इसके बाद कंपनी ने एक बार फिर अप्रैल में ट्रैक्टर सीरीज की कीमतों में इजाफा किया था। इसके अलावा एस्कॉर्ट्स ने भी अप्रैल माह में अपने फार्मट्रैक, पॉवर ट्रैक और डिजिट्रैक ट्रैक्टरों की कीमत में इजाफा किया है। इसी तरह कई प्रमुख कंपनियां ट्रैक्टरों की कीमतों में इजाफा कर चुकी है। अब स्टील की कीमतों में और तेजी आ गई है और भविष्य में भी तेजी की उम्मीद है। ऐसे में अब कई कंपनियां अपने ट्रैक्टरों का दाम बढ़ाने का मन बना चुकी है। 


स्टील की बढ़ती कीमतों से ट्रैक्टर उद्योग चिंतित, अभी और दाम बढ़ेंगे

स्टील के बढ़ते दामों के कारण ट्रैक्टर कंपनियां चिंतित है और प्रयासरत हैं कि किसानों को उचित दाम पर ट्रैक्टर मिले।  महिंद्रा कंपनी के फार्म इक्विपमेंट सेक्टर के अध्यक्ष हेमंत सिक्का भी इस पर चिंता जता चुके हैं। मीडिया में दिए बयान में उन्होंने बताया कि कच्चे माल की कीमतों में अभूतपूर्व वृद्धि देखी गई है जो मैंने पिछले तीन दशकों में कभी नहीं देखी है। हम पिछले 5-6 महीनों से कच्चे माल की कीमतों में भारी वृद्धि को लेकर बहुत चिंतित हैं। नतीजतन, हमने 2 बार ट्रैक्टरों की कीमतों में बढ़ोतरी की है। इस साल पहले 1 जनवरी और फिर 1 अप्रैल को ट्रैक्टरों के कुछ मॉडलों के दाम बढ़ा चुके हैं। अब आगे की तिमाहियों में भी कीमतों में और बढ़ोतरी की संभावना है। अभी तक ट्रैक्टर की कीमत में 4 से 5 फीसदी का इज़ाफ़ा हुआ है और भविष्य में कीमतें और बढ़ेंगी। इसी तरह की बात एस्कॉर्ट्स कंपनी के गु्रप सीएफओ भरत मदन ने मीडिया में दिए गए इंटरव्यू में बताया कि स्टील कीमतों में 7-8 फीसदी की भारी उछाल देखा गया है। लेकिन कंपनी ने अपने ट्रैक्टरों की क़ीमत में दो बार में 4 से 5 फीसदी का ही इजाफा किया है। वित्त वर्ष 2022 की इस अगली तिमाही में और दबाव बढ़ेगा।  हालांकि उन्होने यह भी कहा कि कंपनी 1 जुलाई को एक और मूल्य वृद्धि कर सकती है। उन्होंने कहा कि हाल के दिनों में कच्चे माल की कीमतों में तेज वृद्धि के कारण उद्योग के अनुरूप दो बार कीमतों में बढ़ोतरी की है।  वित्त वर्ष 2021 की तीसरी तिमाही में दीवाली के बाद नवंबर में एक बढ़ोतरी की गई थी, जबकि दूसरी बढ़ोतरी 1 अप्रैल को की गई थी।


क्या अब ट्रैक्टर खरीदना होगा सही सौदा

कच्चे माल की कीमतों में ऐतिहासिक वृद्धि, कोविड-19 की दूसरी लहर का प्रभाव, मानसून की संभावना और सरकारी नीतियों के बीच किसान भविष्य में ट्रैक्टर की कीमत को लेकर आशंकित है। लेकिन स्टील की कीमतों में भारी तेजी के बीच ट्रैक्टरों की कीमतों में वृद्धि को तय माना जा रहा है। ट्रैक्टर इंडस्ट्री के विशेषज्ञों के बयानों के आधार पर ट्रैक्टरों की कीमतें जल्दी बढऩे के आसार है। ऐसे में किसानों का कीमत बढऩे से पहले ट्रैक्टर खरीदना एक अच्छा सौदा माना जाएगा। जितने रफ्तार से स्टील की क़ीमत में वृद्धि हो रही है उस हिसाब से कई विशेषज्ञों का दावा है कि ट्रैक्टर की क़ीमत में भी 30 हज़ार से 50 हज़ार रुपए तक की वृद्धि हो सकती है। यह भी संभावना है कि किसी ट्रैक्टर की क़ीमत में यह आंकड़ा कम रह जाएं और कीमत में 20-25 हज़ार रुपए की वृद्धि हो सकती है। साथ ही यह भी हो सकता है कि कीमत में 60 हज़ार रुपए तक की वृद्धि भी देखने को मिल जाए।

 

Tractor Junction also Offer a Monthly Subscription of Tractor Sales (Wholesale, Retail, Statewise, Districtwise, HPwise) Report. Please Contact us for the detailed report.

Subscribe our Telegram Channel for Industry Updates- https://t.me/TJUNC

Follow us for Latest Tractor Industry Updates-

LinkedIn - https://bit.ly/TJLinkedIN
FaceBook - https://bit.ly/TJFacebok

Mahindra Bolero Maxitruck Plus

Quick Links

scroll to top