Normal monsoon, agricultural push to aid VST Tillers Tractors' growth.

Normal monsoon, agricultural push to aid VST Tillers Tractors' growth.

07 November, 2016

VST Tillers Tractors, a Bengaluru-based farm equipment maker, is likely to benefit from the incentive to farm mechanisation offered by various state governments and recovery in the rural economy following normal monsoon this year. 

The company earns 60% revenue by selling power tillers, 37% from tractors and the remaining from rice transplants. It commands more than 50% market share in power tillers segment in India. 

To help farmers counter shortage of farm labour and rising labour costs, several states are subsidising purchase of far m equipment.Under such schemes, farmers avail 30-40% subsidy on the price of power tillers. In addition, some of the states have introduced hiring of farm equipment to make it more viable for small farmers. The central government intends to establish two lakh customer hiring centers (CHC) in India. 

These facilities are expected to benefit VST considering its strong market presence in the tillers segment. The company sold nearly 27,000 units in FY16 with a capacity of 60,000 units. This means there is ample capacity to cater to the rising demand. In the first half of FY17, VST sold 13,707 power tillers. Analysts expect 9-11% volume growth for the next fiscal.

 The company is likely to increase the number of dealers by 3040 in FY17 from 265. It took 59 days to collect outstanding revenue from customers in the June quarter compared with 70 days in FY16. The drop was due to the introduction of cash-and-carry sales to dealers. 

The company is gradually making inroads into the tractor market in the less than 30 horsepower (HP) segment. It also plans to launch models in more than 30 horsepower category in the next few months. Its tractor sales grew by 17% in FY16 from the previous year when total tractor volume for the sector dropped by 10%. 

The combined impact of volume growth and better margin due to higher capacity utilisation is expected to result in more than 15% profit growth in the current and next fiscal year. At Friday's closing price of Rs 1,925, the stock was traded at 17 times the FY18 projected earnings. This appears to be reasonable given high free cash flow, doubledigit return ratio, debt-free balance sheet and an exposure to benefits from farm mechanisation. 
 

Source:- http://economictimes.indiatimes.com/

Top Tractor News

Sonalika Tractors domestic sales grow 55% to 13,691 units in June'20 , exports up 3.4%

Sonalika Tractors domestic sales grow 55% to 13,691 units in June'20 , exports up 3.4%

Crosses all-time highest milestone with overall sales of 15,200 tractors & 15.4% market share Strengthens No.1 position in Exports India’s one of the leading tractor manufacturing brand & No.1 Exporter from the country, Sonalika Tractors outpaces industry by 2.4X times and with a new record of ever highest domestic sales of 13,691, registering 55% growth against the industry growth of 23% and overall sales of 15,200 tractors & 15.4% market share in June’20. Speaking on the performance, Mr. Raman Mittal, Executive Director, Sonalika Group, said, “Beginning of Q1 this year when the first-ever lockdown was announced we as a company had decided to put all our energies with positive effort to try not to de-grow in Q1. Today, the entire team is feeling proud that we have not just achieved our goal but also have registered an overall growth of 5% in Q1 which is highest for the industry. It is a matter of great pride for us that not only in tractor industry but also in the automotive, two-wheeler and CV industry, Sonalika is the only company to register maximum growth in these tough times. We are extremely delighted with the overall robust performance in June’20 with 15200 tractors which is our highest ever.” Overall in Quater 1 of FY21 Sonalika tractor sales registered 5.37% growth in the domestic market. Sonalika Tractor Year 2020 Year 2019 Growth% April 749 5612 -86.65 May 7640 6515 17.26 June 13691 8827 55.10 Quarter 1 22080 20954 5.37% Commenting on the winning strategy he added, “The key to our success rests on 4 areas: First, our investment in the largest vertical integrated manufacturing unit which has helped us to ramp up our production within a very short span. We had already reached 80% utilization in Wk4 May itself and in June we continued to operate at optimum level. Second, being a tech savvy company, our entire supply chain is technologically enabled. We have a complete end to end supply chain management solution in-house. All our 24 depots spread across the states are inter-connected enabling us to keep a track of the tractor delivered on real time basis and we manage our production as per the consumption. This has helped us to maintain optimum level of stocks across our depots and dealerships. Third, our focus to keep innovating, developing and launching new product continued during the time of COVID19. We had a series of new products that were launched during this period, which have helped the farmers immensely to increase their productivity, reflecting in volume gain for our tractors. Fourth, we keep strengthening our coverage. Last year, we widened our existing network of channel partners and are continuing to do so even now. With this we have the largest network of channel partners, as wherever there was a business opportunity our teams were present to capitalize on the same.” Speaking on Sonalika’s future plans, he said, “The tractor demand and farmer’s sentiments have picked up on account of various conducive factors like government initiatives including increase in MSP price, favorable monsoons and bumper sowing of summer crops. The farmers are happy with the money in their hands-on account of a good rabi harvest. This positive sentiments are expected to continue and we are well-positioned to gain from the same. We are the no.1 brand in exports from India, thus making our Nation proud globally. We take pride as Indians and are ready to challenge any situation with Sonalika’s Passion and Unstoppable spirit. All our efforts and actions are set to continue on this growth journey for our great Nation”.

एस्कॉर्ट्स ने जून में 23 प्रतिशत ज्यादा ट्रैक्टर बेचे

एस्कॉर्ट्स ने जून में 23 प्रतिशत ज्यादा ट्रैक्टर बेचे

नई दिल्ली। कोरोना लॉकडाउन का असर अब धीरे-धीरे बाजारों से कम होने लगा है। ट्रैक्टर उद्योग में कई कंपनियों ने अपनी बिक्री में वृद्धि दर्ज की है। एस्कॉर्ट्स ट्रैक्टर ने जून 2020 में पिछले साल के मुकाबले घरेलू बाजार में 23 प्रतिशत ज्यादा ट्रैक्टर बेचे हैं। जून 2020 में एस्कॉर्ट्स की घरेलू बाजार में ट्रैक्टर बिक्री 22.8 प्रतिशत वृद्धि के साथ 10,623 यूनिट दर्ज की गई। जबकि कंपनी के निर्यात में 26.9 प्रतिशत की गिरावट आई है। कंपनी ने 228 यूनिट्स का निर्यात किया है। जून 2020 में कुल ट्रैक्टर की बिक्री में मई 2020 की तुलना में 64.6 प्रतिशत का उछाल आया है। एस्कॉर्ट्स ने मई 2020 में 6,554 इकाइयां बेची थी। कंपनी ने एक विज्ञप्ति जारी कर बताया कि हमने इस महीने में अभूतपूर्व मांग देखी है। उद्योग को उम्मीद है कि लॉकडाउन अवधि के बाद अब मांग में काफी वृद्धि होगी। सामान्य मानसून की भविष्यवाणी के कारण खरीफ बुवाई को लेकर किसानों की धारणा पहले से बेहतर है। फसल उत्पादन और फसल की कीमतों के कारण ग्रामीण इलाकों में बेहतर नकदी प्रवाह बना हुआ है। साथ ही खुदरा वित्त की यथोचित अच्छी उपलब्धता है। एक या दो सेक्टरों को छोडक़र सभी उद्योगों में सकारात्मक वृद्धि के संकेत है। हमारी इन्वेंट्री का स्तर, कंपनी और चैनल दोनों के साथ सबसे कम रहा है। आवश्यक अनुमति के बाद हम अपने कारखानों को 90 प्रतिशत क्षमता के साथ कई शिफ्टों में चलाने के लिए सक्षम हुए। आपूर्ति श्रृंखला की स्थिति, हालांकि पहले से बेहतर है लेकि अस्थिर बनी हुई है। एस्कॉर्ट्स ट्रैक्टर की बिक्री वित्त वर्ष 2021 की पहली तिमाही में पिछले वित्त वर्ष 2020 की तुलना में 12.1 प्रतिशत घट गई है। एस्कॉर्ट सेल्स वर्ष 2020 वर्ष 2019 प्रतिशत में परिवर्तन अप्रैल 613 4986 -87.7 प्रतिशत मई 6454 6488 0.5 प्रतिशत जून 10623 8648 22.8 प्रतिशत पहली तिमाही 17690 20122 -12.1 प्रतिशत पिछले तीन महीनों में एस्कॉर्ट्स के शेयरों ने 76.36 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की है, जबकि निफ्टी ऑटो इंडेक्स में 44.27 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है। एस्कॉर्ट्स की रिपोर्ट के अनुसार मार्च 2019 की चौथी तिमाही की तुलना में मार्च 2020 की चौथी तिमाही में समेकित शुद्ध लाभ 9.71 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 127.73 करोड़ रुपए है। साथ ही 15.97 प्रतिशत की गिरावट के साथ शुद्ध बिक्री 1385.65 करोड़ रुपए है। उल्लेखनीय है कि एस्कॉर्ट्स समूह एक भारतीय इंजीनियरिंग कंपनी है जो कृषि-मशीनरी, निर्माण और सामग्री हैंडलिंग उपकरण और रेलवे उपकरण के क्षेत्रों में काम करती है। अगर आप अपनी कृषि भूमि, अन्य संपत्ति, पुराने ट्रैक्टर, कृषि उपकरण, दुधारू मवेशी व पशुधन बेचने के इच्छुक हैं और चाहते हैं कि ज्यादा से ज्यादा खरीददार आपसे संपर्क करें और आपको अपनी वस्तु का अधिकतम मूल्य मिले तो अपनी बिकाऊ वस्तु की पोस्ट ट्रैक्टर जंक्शन पर नि:शुल्क करें और ट्रैक्टर जंक्शन के खास ऑफर का जमकर फायदा उठाएं।

महिंद्रा ने जून में बेचे 35 हजार 844 ट्रैक्टर, बिक्री में 12 प्रतिशत की वृद्धि

महिंद्रा ने जून में बेचे 35 हजार 844 ट्रैक्टर, बिक्री में 12 प्रतिशत की वृद्धि

नई दिल्ली। महिंद्रा एंड महिंद्रा के फार्म इक्विपमेंट सेक्टर (एफईएस) ने जून 2020 में घरेलू ट्रैक्टर बाजार में 35 हजार 844 यूनिट बेचकर बिक्री में 12 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की है। यह अब तक की दूसरी सबसे बड़ी बिक्री है। कंपनी ने पिछले साल जून में 31,879 यूनिट बेची थी। वहीं कंपनी के निर्यात में गिरावट दर्ज की गई है। जून 2019 की 1215 इकाइयों के मुकाबले जून 2020 में 700 इकाइयों का निर्यात किया गया है। इस हिसाब से निर्यात में 42 फीसदी की गिरावट आई है। जून 2020 में कंपनी की ट्रैक्टरों की कुल बिक्री 36,544 इकाइयां रही है, जो जून 2019 की 33,094 इकाइयों से 10 प्रतिशत अधिक है। प्रबंधन ने अपने बयान में कहा है कि समय पर दक्षिण-पश्चिम मानसून के आगमन की संभावना, रबी फसलों की रिकॉर्ड पैदावार, किसानों के लिए सरकारी नीतियां और खरीफ फसल की अच्छी बुवाई के कारण किसानों में सकारात्मक माहौल बना है। कुल मिलाकर वित्त वर्ष 2021 की पहली तिमाही के दौरान महिंद्रा ट्रैक्टर की बिक्री में 22.2 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गई है। महिंद्रा वर्ष 2020 वर्ष 2019 परिवर्तन (प्रतिशत में) अप्रैल 4616 27495 -83.2 मई 24017 23539 2.0 जून 35844 31879 12.4 पहली तिमाही 2020 64477 82,913 -22.2 ग्रामीण बाजारों में बेहतर नकदी प्रवाह के साथ इन अंतर्निहित कारकों ने जून के दौरान ट्रैक्टर की मांग को बढ़ाने में मदद की है। उम्मीद की जा रही है कि आने वाले महीनों में भी यह मांग बनी रहेगी। कुल मिलाकर, एम एंड एम की कुल बिक्री में पिछले साल की तुलना में 50 प्रतिशत से ज्यादा गिरावट देखी गई है। एम एंड एम ने जून 2019 में यात्री, वाणिज्यिक और उपयोगिता वाहन मिलाकर 42 हजार 547 इकाइयां बेची थी जबकि जून 2020 में 19,358 इकाइयां बेची है। एम एंड एम में ऑटोमोटिव डिवीजन के मुख्य कार्यकारी अधिकारी विजेय नकड़ा के अनुसार ऑटोमोटिव उद्योग ने यात्री और छोटे वाणिज्यिक वाहन खंडों दोनों में सुधार की गुंजाइश को देखना शुरू कर दिया है। देशभर में बढ़ती ग्रामीण मांग और आवश्यक वस्तुओं की आवाजाही से बाजार में भारी सुधार होगा। कंपनी के प्रमुख ब्रांड जैसे बोलेरो, स्कॉर्पियो और पिक-अप आदि सभी में अच्छी मांग की उम्मीद है। अगर आप अपनी कृषि भूमि, अन्य संपत्ति, पुराने ट्रैक्टर, कृषि उपकरण, दुधारू मवेशी व पशुधन बेचने के इच्छुक हैं और चाहते हैं कि ज्यादा से ज्यादा खरीददार आपसे संपर्क करें और आपको अपनी वस्तु का अधिकतम मूल्य मिले तो अपनी बिकाऊ वस्तु की पोस्ट ट्रैक्टर जंक्शन पर नि:शुल्क करें और ट्रैक्टर जंक्शन के खास ऑफर का जमकर फायदा उठाएं।

Mahindra Tractors Records Second Highest June Sales Ever

Mahindra Tractors Records Second Highest June Sales Ever

Mahindra & Mahindra’s farm equipment sector (FES) reported 12 percent year on year (YoY) growth in domestic tractor sales at 35,844 units in June 2020 as against 31,879 units sold in June last year. This is the second highest June sales ever, the company said. Meanwhile, its export shipments declined 42 per cent during the month at 700 units as against 1,215 units in the same month last year. The company’s tractors' total sales for the month were at 36,544 units, up 10 per cent from 33,094 units in June last year. "Timely arrival of the south west monsoon, combined benefits of a record Rabi crop, Government support for Agri initiatives and very good progress in the sowing of the Kharif crop have led to positive sentiments among farmers," the management said in its statement. Overall 22.2% drop in Mahindra Tractor sales during Quater 1 for GY'21. Mahindra Year 2020 Year 2019 %Change April 4616 27495 -83.2 May 24017 23539 2.0 June 35844 31879 12.4 Q1 64477 82913 -22.2 These underlying factors along with better cash flows in rural markets have helped boost tractor demand during June. It is expected that this demand will continue to remain buoyant in the coming months, it said. Overall, M&M's total sales including passenger, commercial and utility vehicles, more-than-halved to 19,358 units compared to 42,547 units sold in June last year. "The automotive industry has started to see recovery both in the passenger and small commercial vehicle segments. This has been led primarily by rising rural demand and movement of essential goods across the country. The company’s key brands such as Bolero, Scorpio and Pik-Ups, are all seeing good traction," said Veejay Nakra, Chief Executive Officer, Automotive Division, at M&M.

close Icon

Find Your Right Tractor and Implements

New Tractors

Used Tractors

Implements

Certified Dealer Buy Used Tractor