एस्कॉर्ट्स को वित्त वर्ष 2022 में ट्रैक्टर की बिक्री में दोगुना वृद्धि की उम्मीद

Published - 13 Sep 2021

एस्कॉर्ट्स को वित्त वर्ष 2022 में ट्रैक्टर की बिक्री में दोगुना वृद्धि की उम्मीद

एस्कॉर्ट्स ट्रैक्टर कंपनी ने जून 2021 को तिमाही में की थी 42.9 प्रतिशत की वृद्धि

भारत की प्रसिद्ध कंपनियों में शुमार एस्कॉर्ट्स ट्रैक्टर कंपनी को वित्तीय वर्ष 2022 में ट्रैक्टर की बिक्री में बढ़ोतरी की उम्मीद है। इसको लेकर एस्कॉर्ट्स कंपनी अपनी तरफ से बेहतर प्रदर्शन के लिए तैयार है। मीडिया से मिली जानकारी के अनुसार कंपनी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि कृषि मशीनरी और निर्माण उपकरण प्रमुख एस्कॉर्ट्स लिमिटेड को 2021-22 में ट्रैक्टर की बिक्री में दो अंकों की वृद्धि दर्ज करने का भरोसा है, पहली तिमाही में अच्छी मात्रा दर्ज की गई है। देश के उत्तर और पूर्वी हिस्सों के अपने मजबूत बाजारों में मानसून के असमान प्रसार के बावजूद, कंपनी को विश्वास है कि वह अपनी विकास गति को जारी रखने में सक्षम होगी। हालांकि, कमोडिटी की कीमतों में वृद्धि के परिणामस्वरूप ट्रैक्टरों की उच्च लागत के परिणामस्वरूप कुछ मंदी की उम्मीद है।

 

इस साल की पहली तिमाही में अच्छी वृद्धि दर्ज

एस्कॉर्ट्स समूह के मुख्य वित्तीय अधिकारी और कॉर्पोरेट प्रमुख भरत मदान ने कहा कि हमने पहली तिमाही में अच्छी वृद्धि दर्ज की थी। वर्ष का शेष निश्चित रूप से, किसी प्रकार की सुस्ती आ सकती है। बहुत कुछ इस बात पर निर्भर करेगा कि मानसून का कैसा है। एस्कॉर्ट्स ने जून 2021 को समाप्त तिमाही में ट्रैक्टर की बिक्री में 42.9 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की, जो पिछले वित्त वर्ष की इसी अवधि में 18,150 इकाइयों के मुकाबले 25,935 इकाई थी। इसे देखते हुए कंपनी को दो अंकों की वृद्धि दर्ज करने का भरोसा है। आगे विस्तार से बताते हुए उन्होंने कहा कि अभी तक हमने देखा है कि दक्षिणी और पश्चिमी बाजारों में अच्छी वृद्धि हो रही है, बारिश काफी अच्छी रही है लेकिन हमारे मजबूत बाजार (उत्तर और पूर्व) में मानसून थोड़ा धीमा है।


अच्छी मानूसनी बारिश से फिर बढ़ेगी ट्रैक्टर की मांग

मदान ने कहा कि यदि आप उत्तरी और पूर्वी बेल्ट में सितंबर तक एक अच्छा मानसून फिर से सक्रिय होता है तो बाजार में सुधार होगा और ट्रैक्टर की बिक्री में भी अच्छी संख्या देखने को मिल सकती है। उन्होंने कहा कि इस बारे में अधिक स्पष्टता होगी कि कौन से क्षेत्र बेहतर प्रदर्शन करने जा रहे हैं, जहां अच्छी बारिश हुई है और अगले सीजन में बेहतर होगा या वे कैसे प्रभावित होंगे।


ट्रैक्टर की बढ़ती कीमतों का मांग पर असर

उन्होंने कहा कि ट्रैक्टर उद्योग के लिए एक बड़ी चिंता यह है कि कमोडिटी की बढ़ती कीमतें ट्रैक्टर निर्माताओं को कीमतों में बढ़ोतरी के लिए मजबूर कर रही हैं, जिसका मांग पर असर पड़ सकता है। उन्होंने कहा कि यह हर तिमाही में बढ़ रहा है। यह अब हमें चिंता दे रहा है। हम पिछले पांच महीनों में पहले ही तीन मूल्य वृद्धि ले चुके हैं। उन्होंने कहा कि किसानों के दृष्टिकोण से ये भारी वृद्धि हैं, जिनकी उन्होंने उम्मीद नहीं की थी।


कोविड-19 से ट्रैक्टर उद्योग भी हुआ प्रभावित

मदान के अनुसार भारत में कोविड-19, महामारी के कारण सभी उद्योग धंधे प्रभावित हुए और इससे ट्रैक्टर उद्योग भी अछूता नहीं रहा। हांलाकि अब इसका प्रभाव ज्यादा नहीं होने से आगे बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद कंपनी को है। हमारी डीलरशिप भी काम कर रही है। आगे उन्होंने कहा कि आगे फिर से एक फिर महामारी की तलवार लटकती है तो हम नहीं जानते कि विकसित देशों को देखते हुए क्या होगा, जहां फिलहाल कोविड-19 की तीसरी और चौथी लहरें चल रही हैं। 


एस्कार्ट्स के बारे में  

भारत की प्रसिद्ध ट्रैक्टर कंपनियों में एस्कार्ट्स ट्रैक्टर कंपनी भी अपने उत्कृष्ट ट्रैक्टर निर्माण के लिए लोकप्रिय है। एस्कॉर्ट ट्रैक्टर जिसकी स्थापना 1944 लाहौर पाकिस्तान में हुई थी। जब 1947 को भारत और पाकिस्तान का बंटवारा हो गया और जब भारत आजाद राष्ट्र बना तब एस्कॉर्ट कंपनी का मुख्यालय लाहौर से दिल्ली स्थानांतरित हो गया। साल 1959 में एस्कॉर्ट में एस्कॉर्ट एग्री मशीनरी बनाई और उसके बाद उसने ट्रैक्टर निर्माण क्षेत्र में कदम रखा। इसी के साथ एस्कॉर्ट ट्रैक्टर का कंपनी का मूल स्वरूप 1961 में शुरू हुआ और जहां इसने स्वतंत्र रूप से ट्रैक्टर और इसके इंजन बनाएं। कंपनी ने 1974 में पहली बार अपना ट्रैक्टर निर्यात किया। एस्कॉर्ट ट्रैक्टर ने अपना पहला स्वतंत्र ट्रैक्टर ने 1980 में अपना एस्कॉर्ट ट्रैक्टर 335 लॉन्च किया था जो हल्के पूर्व 2 सिलेंडर ट्रैक्टर था जो छोटे किसानों के लिए काफी फायदेमंद रहा। इसके बाद कंपनी ने पीछे मुडक़र नहीं देखा और इसका आज एस्कॉर्ट्स एग्री मशीनरी, एक ऐसा नाम जो भारत की पूरी खेती की आबादी का प्रतिनिधित्व करता है, अब 7 दशकों से किसानों की 7 मिलियन आबादी के लिए मशीनों का उत्पादन और सेवा कर रहा है। भारत में फार्म मशीनीकरण के पायनियर के रूप में जानी जाने वाली इस कंपनी ने न केवल खेती के लिए ट्रैक्टर बनाए हैं, बल्कि सभी रूपों में कृषि का समर्थन करने के लिए उत्कृष्ट मशीनें भी हैं। हर प्रसाद नंदा और युडी नंदा एस्कॉर्ट्स ग्रुप के संस्थापक हैं। निखिल नंदा की देखरेख में, एस्कॉर्ट्स समूह को ट्रैक्टरों के लिए उबेर के साथ मिलकर अद्वितीय कृषि-समाधान मिलते हैं।  

 

Tractor Junction also Offer a Monthly Subscription of Tractor Sales (Wholesale, Retail, Statewise, Districtwise, HPwise) Report. Please Contact us for the detailed report.

Subscribe our Telegram Channel for Industry Updates-
 https://t.me/TJUNC
Follow us for Latest Tractor Industry Updates-
LinkedIn - https://bit.ly/TJLinkedIN
FaceBook - https://bit.ly/TJFacebok

Quick Links

scroll to top
Close
Call Now Request Call Back