Bosch sees growth potential in Indian agriculture market.

Bosch sees growth potential in Indian agriculture market.

Bosch Rexroth India  expects considerable growth potential in the country's agriculture market as the nation is the biggest tractor market by numbers in the world.

With the export of tractors from India increasing significantly, the company is well equipped to offer locally developed technology that would improve productivity and increase efficiency of farming activities.

Bosch Rexroth India is strategically located to handle all target segments for the agriculture segment,” mentioned Hans Bangert, managing director, Bosch Rexroth India.

Bosch India Rexroth, by collaborating with local farmers in India, developed the electrohydraulic hitch control for the Indian tractor market. This technology will improve productivity, increase efficiency of farming activities, apart from increasing safety while driving on road.

“Bosch Rexroth’s local success in India is an outcome of the local expertise we have been nurturing and developing over the past few years. We intent to intensify our focus in this aspect,” further commented Bangert.

This apart, the company will offer the cost-effective supporting (auxiliary) valve solutions which includes the possibility of being integrated with the electro-hydraulic hitch control.

Top Tractor News

भारत का पहला सीएनजी ट्रैक्टर लॉन्च, महंगे डीजल से मिलेगा छूटकारा

भारत का पहला सीएनजी ट्रैक्टर लॉन्च, महंगे डीजल से मिलेगा छूटकारा

भारत में सीएनजी ट्रैक्टर : जानें, इस ट्रैक्टर की कीमत, खासियत और लाभ भारत में सीएनजी से चलने वाला ट्रैक्टर लांन्च किया गया है। इस नए ट्रैक्टर को केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने शुक्रवार को इसे औपचारिक रूप से लॉन्च किया। यह ट्रैक्टर रॉमैट टेक्नो सॉल्यूशन और टोमासेटो एकाइल इंडिया ने संयुक्त रूप से विकसित किया है। ट्रैक्टर को डीजल से सीएनजी ईंधन वाला बनाया गया है। बताया जा रहा है कि इस ट्रैक्टर से ईंधन की लागत पर सालाना करीब एक लाख रुपए तक की बचत हो सकती है। यह ट्रैक्टर किसानों को उनकी लागत घटाकर आय बढ़ाने में मदद करेगा। मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि इस ट्रैक्टर की मदद से ग्रामीण भारत में रोजगार के अवसर पैदा करने में भी मदद मिलेगी। इस ट्रैक्टर की मदद से किसानों को हर साल उनके ईंधन खर्च में एक लाख रुपए तक की बचत होगी, जिससे उनका जीवन स्तर सुधारने में मदद मिलेगी। बता दें कि पहला ट्रैक्टर जो लॉन्च किया गया वो रेट्रो फिटटेड है यानी पुराने ट्रैक्टर में ये सीएनजी फिट किया गया है। ये ट्रैक्टर खुद केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी का था जो उन्होंने ने 2012 में लिया था। इस नए फिटिंग के बाद शुक्रवार को उन्हें इसका नया सर्टिफिकेट केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने दिया। केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी का दावा है की इसे किसान की आमदनी होगी क्योंकि इसमें ईंधन सीएनजी है। इसे हर साल एक लाख से ज्यादा किसानों के पैसे बचेंगे। इसे किसान की आमदनी भी दोगुना होने की तरफ ये एक और कदम है। सीएनजी से चलने वाले ट्रैक्टर की खासियत विस्फोट का खतरा नहीं, सुरक्षित है- मंत्रालय ने बयान में कहा गया है कि यह अधिक सुरक्षित है, क्योंकि सीएनजी टैंक पर कड़ी सील लगाई गई है। इससे इसमें ईंधन भरने के दौरान या ईंधन फैलने की स्थिति में विस्फोट खतरा कम होता है। इंजन की अधिक लाइफ- इसे नए तकनीक से कन्वर्ट किया गया है। इसलिए सीएनजी इंजन की लाइफ पारंपरिक ट्रैक्टरों से ज्यादा होगी। सीएनजी फिटेड ट्रैक्टर्स में लेड की मात्रा नहीं होती है। इसके चलते इंजन लंबे समय तक काम करेगा। बेहतर माइलेज- डीजल या पेट्रोल से चलने वाले वाहनों की तुलना में सीएनजी वाहनों का माइलेज भी बेहतर होता है। मेंटेनेंस खर्च कम- इसका मेनटेनेंस खर्च भी ईंधन वाले ट्रैक्टर के मुकाबले कम आएगा। इससे पैसों की बचत होगी। डीजल चालित ट्रैक्टर से सस्ता- डीजल की मौजूदा कीमत 77.43 रुपए प्रति लीटर है जबकि सीएनजी की मौजूदा कीमत 42 रुपये प्रति किलोग्राम है। इस तरह से देखा जाए तो किसानों को इस ट्रैक्टर की मदद से 50 प्रतिशत तक की बचत होगी। सीएनजी से चलने वाले ट्रैक्टर से होने वाले लाभ पराली बेचने से होगी इनकम- मंत्रालय के अनुसार कृषि अवशेष या पराली को बायो-सीएनजी बनाने के लिए कच्चे माल के रूप में उपयोग किया जा सकता है, जिससे किसानों को अपनी पराली बेचने पर अतिरिक्त आय प्राप्त होगी। प्रदूषण कम होगा- प्रदूषण कंट्रोल करने में सीएनजी फायदेमंद होती है। सीएनजी ट्रैक्टर से कार्बन उत्सर्जन कम होगा। डीजल इंजन की तुलना में सीएनजी इंजन 70 प्रतिशत कम उत्सर्जन करता है। कम खर्च में अधिक काम- डीजल की तुलना में सीएनजी में कार्बन उत्सर्जन में 70 फीसदी की कमी होती है। इससे किसानों को ईंधन लागत में भी 50 प्रतिशत तक की बचत होगी। इससे किसानों कम खर्च में अधिक काम कर सकेंगे। लागत घटेगी, होगी बचत- अन्य किसी भी ईंधन के मुकाबले सीएनजी सस्ती पड़ती है। इससे ईंधन पर होने वाला खर्च कम होगा और बचत होगी। इससे उनकी आय में इजाफा होगा। इससे किसानों के जीवन स्तर को सुधारने में मदद मिलेगी। भविष्य के लिए बेहतर- मंत्रालय के अनुसार आने वाले समय में सीएनजी ही भविष्य है। वर्तमान में पूरी दुनिया में 1.2 करोड़ वाहन प्राकृतिक गैस से चल रहे हैं और कई कंपनियां और नगर निगम हर दिन सीएनजी वाहनों को अपने बेड़े में शामिल कर रही हैं। भारत में ये ऐसा पहला ट्रैक्टर है, जो सीएनजी युक्त है। सीएनजी ट्रैक्टर भी डीजल इंजन की तुलना में अधिक या बराबर पावर पैदा करता है और खर्च भी कम आता है। ट्रैक्टर में फिट की गई सीएनजी किट की कितनी कीमत? डीजल ट्रैक्टर में सीएनजी किट फिट करने में कुछ पार्ट इम्पोर्ट हुए। इसको बनाने वाली रॉमेट कंपनी ने पार्ट्स मंगाए थे। इसलिए अभी इस किट को लगाने की कीमत नहीं बताई गई पर सरकार को उम्मीद है जल्द ऐसी कंपनी और किट आ जाएंगी जिसे इसमे कम लागत लगेगी। Tractor Junction also Offer Monthly Subscription of Tractor Sales (Wholesale, Retail, Statewise, Districtwise, HPwise) Report. Please Contact us for the detailed report. Subscribe our Telegram Channel for Industry Updates- https://t.me/TJUNC Follow us for Latest Tractor Industry Updates- LinkedIn - https://bit.ly/TJLinkedIN FaceBook - https://bit.ly/TJFacebok

TAFE Launches Revolutionary DYNATRACK Series Best Suited for Agriculture and Haulage

TAFE Launches Revolutionary DYNATRACK Series Best Suited for Agriculture and Haulage

February 12, 2021 | Chennai : World’s third largest tractor major, TAFE - Tractors and Farm Equipment Limited, manufacturers of Massey Ferguson tractors launched its new DYNATRACK Series – an advanced range of tractors that offer dynamic performance, sophisticated technology, unmatched utility and versatility, all engineered into a single powerful tractor. TAFE’s proven engineering expertise of over 60 years, its deep knowledge and understanding of Indian agriculture, has helped create a no-compromise premium range of tractors for both agriculture and haulage. The new DYNATRACK series is designed to deliver greater productivity while ensuring good mileage, durability and comfort. The DYNATRACK’s DynaLIFT® hydraulics system moves the tractor to the top of its segment by offering superior lift capacity, productivity and speed, that lasts a lifetime. The world’s first tractor with VersaTECH™ technology, DYNATRACK provides an extendable wheelbase, which makes it ideally suitable for agricultural, haulage and commercial applications for around-the-year usage. It offers maximum ground clearance, making it best-in-class for all-terrain operations including puddling and easy crossing of bunds. Its longer wheelbase and the stylish heavy-duty front bumper add to the overall look of the tractor and provides more stability, while handling heavy-duty equipment like loaders and dozers with ease. The ‘Biggest All Rounder Tractor’ (Sabse Bada All Rounder) is powered by the proven Simpson engine, a hallmark of excellence for powerful and fuel-efficient engines. With DynaTRANS™ transmission, comes the Dual Diaphragm clutch, 24 Speed ComfiMesh® gearbox with Super Shuttle™ technology that provides better operator comfort, superior ergonomics and the freedom to select the right speed for every application on the go. The superior and extremely popular 4-in-1 Quadra PTO™ of the DYNATRACK series maximizes the versatility of the tractor for use throughout the year for all stationary and dynamic applications, making it more profitable. Launching the DYNATRACK series, Mallika Srinivasan, CMD – TAFE, said, “The DYNATRACK Series from TAFE sets new benchmarks in the tractor industry by offering utility and versatility, comfort and safety, productivity and efficiency, to meet the ever-evolving needs and aspirations of modern-day farmers and rural entrepreneurs, empowering them with superior technology and advantages that enrich their lives and livelihood.” With the introduction of the DYNATRACK series, TAFE redefines the benchmarks in its class and demonstrates the prowess of Indian engineering at its best. About TAFE : tafe.com The world’s third largest tractor manufacturer and second largest in India by volumes with an annual sale of about 150,000 tractors; TAFE is one of the leading exporters of tractors from India with a turnover in excess of INR 93 billion. TAFE manufactures a range of tractors, in both the air-cooled and water-cooled platforms, and markets them under its four iconic brands - Massey Ferguson, TAFE, Eicher, and the recently acquired Serbian tractor and agricultural equipment brand - Industrija Mašinai Traktora (IMT). Acclaimed for its quality and dependability, TAFE’s products and services are present in over 100 countries across the world, including developed countries in Europe and the Americas. Besides tractors and farm machinery, TAFE manufactures diesel engines, silent gensets, agro engines, batteries, hydraulic pumps and cylinders, gears and transmission components, and has business interest in vehicle franchises and plantations. TAFE is committed to the Total Quality Movement (TQM). In the recent past various manufacturing plants of TAFE have garnered numerous ‘TPM Excellence Awards’ from the Japan Institute of Plant Maintenance (JIPM), as well as a number of other regional awards for TPM excellence. TAFE became the first Indian tractor manufacturer to win the Frost & Sullivan Global Manufacturing Leadership Award in 2018, being recognized with the ‘Enterprise Integration and Technology Leadership Award’ and two ‘Supply Chain Leadership Awards’. In recognition of its outstanding contribution to engineering exports, TAFE has been named the ‘Star Performer – Large Enterprise (Agricultural Tractors)’ at the 40th Engineering Exports Promotion Council of India – Southern Region Awards (2015-16), for the 21st time in a row. TAFE has also been conferred the ‘Regional Contributor Award’ for quality supplies from Toyota Motor Company, Japan, and the ‘Manufacturing Supply Chain Operational Excellence - Automobiles Award’ at the second Asia Manufacturing Supply Chain Summit for its supply chain transformation in 2013. TAFE's tractor plants are certified under ISO 9001 for efficient quality management systems and under ISO 14001 for environment friendly operations. We also Offer Monthly Subscription of Tractor Sales (Wholesale, Retail, Statewise, Districtwise, HPwise) Report. Please Contact us for the detailed report. Subscribe our Telegram Channel for Industry Updates- https://t.me/TJUNC Follow us for Latest Tractor Industry Updates- LinkedIn - https://bit.ly/TJLinkedIN FaceBook - https://bit.ly/TJFacebok

अब खेतों में दौड़ेंगे सीएनजी ट्रैक्टर, सालभर में एक लाख रुपए भी बचाएगा

अब खेतों में दौड़ेंगे सीएनजी ट्रैक्टर, सालभर में एक लाख रुपए भी बचाएगा

जानें, किस कंपनी ने लांच किया है सीएनजी ट्रैक्टर और क्या है खासियत भारत में सीएनजी से चलने वाला पहला ट्रैक्टर शुक्रवार शाम को 5 बजे लॉन्च किया जाएगा। इसे केंद्रीय मंत्री नितिन गडक़री औपचारिक रूप से लॉन्च करेंगे। बताया जा रहा है कि इस ट्रैक्टर के उपयोग से करीब एक लाख रुपए सालाना की बचत होगी। मीडिया में प्रकाशित खबरों के हवाले से यह ट्रैक्टर रॉमैट टेक्नो सॉल्यूशन और टोमासेटो एकाइल इंडिया ने संयुक्त रूप से विकसित किया है। यह किसानों को उनकी लागत घटाकर आय बढ़ाने में मदद करेगा। मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि इस ट्रैक्टर की मदद से ग्रामीण भारत में रोजगार के अवसर पैदा करने में भी मदद मिलेगी। इस ट्रैक्टर की मदद से किसानों को हर साल उनके ईंधन खर्च में एक लाख रुपए तक की बचत होगी, जिससे उनका जीवन स्तर सुधारने में मदद मिलेगी। इस मौके पर केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान, नरेंद्र सिंह तोमर, पुरुषोत्तम रूपाला और जनरल (सेवानिवृत्त) वी.के. सिंह भी उद्घाटन समारोह में मौजूद रहेंगे। सीएनजी से चलने वाले ट्रैक्टर की खासियत विस्फोट का खतरा नहीं, सुरक्षित है- मंत्रालय ने बयान में कहा गया है कि यह अधिक सुरक्षित है, क्योंकि सीएनजी टैंक पर कड़ी सील लगाई गई है। इससे इसमें ईंधन भरने के दौरान या ईंधन फैलने की स्थिति में विस्फोट खतरा कम होता है। इंजन की अधिक लाइफ- इसे नए तकनीक से कन्वर्ट किया गया है। इसलिए सीएनजी इंजन की लाइफ पारंपरिक ट्रैक्टरों से ज्यादा होगी। सीएनजी फिटेड ट्रैक्टर्स में लेड की मात्रा नहीं होती है। इसके चलते इंजन लंबे समय तक काम करेगा। बेहतर माइलेज- डीजल या पेट्रोल से चलने वाले वाहनों की तुलना में सीएनजी वाहनों का माइलेज भी बेहतर होता है। मेंटेनेंस खर्च कम- इसका मेनटेनेंस खर्च भी ईंधन वाले ट्रैक्टर के मुकाबले कम आएगा। इससे पैसों की बचत होगी। डीजल चालित ट्रैक्टर से सस्ता- डीजल की मौजूदा कीमत 77.43 रुपए प्रति लीटर है जबकि सीएनजी की मौजूदा कीमत 42 रुपये प्रति किलोग्राम है। इस तरह से देखा जाए तो किसानों को इस ट्रैक्टर की मदद से 50 प्रतिशत तक की बचत होगी। सीएनजी से चलने वाले ट्रैक्टर से होने वाले लाभ पराली बेचने से होगी इनकम मंत्रालय के अनुसार कृषि अवशेष या पराली को बायो-सीएनजी बनाने के लिए कच्चे माल के रूप में उपयोग किया जा सकता है, जिससे किसानों को अपनी पराली बेचने पर अतिरिक्त आय प्राप्त होगी। प्रदूषण कम होगा प्रदूषण कंट्रोल करने में सीएनजी फायदेमंद होती है। सीएनजी ट्रैक्टर से कार्बन उत्सर्जन कम होगा। डीजल इंजन की तुलना में सीएनजी इंजन 70 प्रतिशत कम उत्सर्जन करता है। कम खर्च में अधिक काम डीजल की तुलना में सीएनजी में कार्बन उत्सर्जन में 70 फीसदी की कमी होती है। इससे किसानों को ईंधन लागत में भी 50 प्रतिशत तक की बचत होगी। इससे किसानों कम खर्च में अधिक काम कर सकेंगे। लागत घटेगी, होगी बचत अन्य किसी भी ईंधन के मुकाबले सीएनजी सस्ती पड़ती है। इससे ईंधन पर होने वाला खर्च कम होगा और बचत होगी। इससे उनकी आय में इजाफा होगा। इससे किसानों के जीवन स्तर को सुधारने में मदद मिलेगी। भविष्य के लिए बेहतर मंत्रालय के अनुसार आने वाले समय में सीएनजी ही भविष्य है। वर्तमान में पूरी दुनिया में 1.2 करोड़ वाहन प्राकृतिक गैस से चल रहे हैं और कई कंपनियां और नगर निगम हर दिन सीएनजी वाहनों को अपने बेड़े में शामिल कर रही हैं। भारत में ये ऐसा पहला ट्रैक्टर है, जो सीएनजी युक्त है। सीएनजी ट्रैक्टर भी डीजल इंजन की तुलना में अधिक या बराबर पावर पैदा करता है और खर्च भी कम आता है। Tractor Junction also Offer Monthly Subscription of Tractor Sales (Wholesale, Retail, Statewise, Districtwise, HPwise) Report. Please Contact us for the detailed report. Subscribe our Telegram Channel for Industry Updates- https://t.me/TJUNC Follow us for Latest Tractor Industry Updates- LinkedIn - https://bit.ly/TJLinkedIN FaceBook - https://bit.ly/TJFacebok

VST Tillers Tractors Announces technical partnership with Monarch Tractors

VST Tillers Tractors Announces technical partnership with Monarch Tractors

Bangalore, February 8, 2021: VST Tillers Tractors Limited, pioneers in manufacturing of tillers and compact tractors for over five decades, known for its innovative products & solutions to agricultural sector, has announced a technical supplier partnership with Monarch tractors, the two companies have worked collaboratively for over a year on the technical development of tractor hardware for the first series of Monarch Tractors. Monarch Tractor launched the world’s first fully electric, driver-optional, smart tractor on December 8th, 2020 in United states. Both companies focus on providing solutions for customers in the compact tractor category. CEO of VST Mr. Antony Cherukara Spoke and informed Electric and driver-optional technology is the latest ad-vancement in agriculture mechanisation and specifically tractor technology,” “VST Tillers Tractors Ltd. is excited to be part of this journey along with Monarch Tractor. Farmers today face numerous challenges including labor shortages, effects of climate change, safety concerns, increased customer scrutiny for sustainability demands, government regulations, and more. The award-winning Monarch Tractor addresses these issues by combining electrification, automation, machine learning, and data analysis to enhance farmer’s existing operations, increase labor productivity and safety, and maximize yields to cut overhead costs and emissions. Praveen Penmetsa, co-founder & CEO, Monarch Tractor. “Coupling Monarch’s intelligence with tested hardware from an international brand in the compact tractor segment ensures our robust tractor exceeds global standards.” And this ensures The Monarch Tractor offers incredible innovation in a compact form,” About the companies VST Tillers Tractors Ltd.: VST Tillers Tractors Ltd. was established in the year 1967 by the VST Group of companies, a well-known century old business house in South India. The founder of the group was Sri.V.S.Thiruvengadaswamy Mudaliar who started with humble beginnings under the VST & Sons banner in the year 1911. The company is now the largest manufacturer of Power Tillers in India. For more information, visit www.vsttractors.com. Monarch Tractor: Monarch Tractor is working to utilize 21st-century technology to empower farmers by enabling profitable implementation of sustainable and organic practices. The Monarch tractor platform combines mechanization, automation, and data analysis to enhance farmer’s existing operations, alleviate labor shortages, and maximize yields. For more information, visit www.monarchtractor.com. We also Offer Monthly Subscription of Tractor Sales (Wholesale, Retail, Statewise, Districtwise, HPwise) Report. Please Contact us for the detailed report. Subscribe our Telegram Channel for Industry Updates- https://t.me/TJUNC Follow us for Latest Tractor Industry Updates- LinkedIn - https://bit.ly/TJLinkedIN FaceBook - https://bit.ly/TJFacebok

close Icon

Find Your Right Tractor and Implements

New Tractors

Used Tractors

Implements

Certified Dealer Buy Used Tractor