गन्ना भुगतान : किसानों को जल्द होगा गन्ना खरीद की बकाया राशि का भुगतान

गन्ना भुगतान : किसानों को जल्द होगा गन्ना खरीद की बकाया राशि का भुगतान

Posted On - 15 Sep 2021

जानें, क्या दिए गए हैं निर्देश और चीनी मिलों पर किसानों का कितना है बकाया

गन्ना किसानों के लिए खुशखबर आई है। अब जल्द ही गन्ना किसानों की बकाया राशि का भुगतान किया जाएगा। इस संबंध में उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी ने समीक्षा बैठक में निर्देश दिए हैं। बता दें कि चीनी मीलों के द्वारा पिछले सीजन में की गई गन्ना खरीदी की बकाया राशि का भुगतान अभी तक नहीं किया गया है। इस तरह अलग-अलग राज्यों में गन्ना खरीदी का अभी तक भुगतान रुका हुआ है। इससे किसानों को परेशानी हो रही है। इसको लेकर कुछ दिन पूर्व उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री गन्ना खरीदी भुगतान की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने बताया है कि इस सरकार में अब तक का सबसे ज्यादा किसानों को गन्ने का भुगतान किया गया है।  इसके बावजूद भी किसानों को पिछले सत्र की गन्ना खरीदी का भुगतान रुका हुआ है। इसको लेकर मुख्यमंत्री ने चीनी मीलों को गन्ना किसानों को जल्द से जल्द भुगतान करने को कहा है।

Buy Used Tractor

 

सबसे पहले सरकार की सभी योजनाओ की जानकारी के लिए डाउनलोड करे, ट्रैक्टर जंक्शन मोबाइल ऍप - http://bit.ly/TJN50K1  


यूपी में 45 लाख किसानों को किया गन्ना खरीदी का भुगतान

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बकाये गन्ना मूल्य का भुगतान अविलंब कराए जाने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा है कि डिफॉल्टर चीनी मिलों से गन्ना किसानों के बकाया मूल्य का तत्काल भुगतान कराया जाए। गन्ना किसानों के हितों की अनदेखी करने वाली चीनी मिलों के प्रबंधन के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाए। उनके तरफ से बताया गया है कि पिछले वर्षों में सरकार के द्वारा 45 लाख किसानों को 1 लाख 42 हजार 650 करोड़ रुपए का भुगतान किया गया है।


चीनी मीलों पर किसानों का कितना रुपया है बकाया

उत्तर प्रदेश में वर्ष 2020-21 के गन्ना पेराई सत्र में 120 चीनी मीलों ने किसानों से गन्ना खरीदा था। इस सीजन में 120 चीनी मीलों के द्वारा कुल 1,028 लाख टन गन्ना की खरीदी की गई है। जिसका कुल मूल्य 33,025 करोड़ रुपए है। इसमें से 27,750 करोड़ रुपए का भुगतान कर दिया गया है। शेष 5,275 करोड़ रुपए चीनी मीलों को गन्ना किसानों को भुगतान करना होगा। राज्य के 120 चीनी मिलों में से 53 चीनी मीलों के पास किसी भी प्रकार का बकाया नहीं है। शेष 67 चीनी मीलों पर 5,750 करोड़ रुपए का भुगतान करना शेष है। बता देें कि पूरे राज्य करीब 148 चीनी मिलें हैं जो विभिन्न जिलों में स्थापित हैं।


यूपी में क्या है गन्ना का मूल्य

पिछले माह के 28 तारीख को केंद्र सरकार ने गन्ने के उचित एवं लाभकारी मूल्य एफआरपी में 5 रुपए प्रति क्विंटल की बढ़ोतरी की गई है। इसके बाद गन्ना का मूल्य 285 रूपए प्रति क्विंटल से बढक़र 290 रुपए प्रति क्विंटल हो गया है। इसके साथ ही अलग-अलग राज्य सरकारें गन्ना का अपना मूल्य तय करती है। उत्तर प्रदेश में गन्ने का मूल्य 315 रुपए प्रति क्विंटल है। 

Buy New Tractor


यूपी के किसानों को गन्ना का रेट बढऩे की उम्मीद

पंजाब और हरियाणा सरकार की ओर से गन्ना का रेट बढ़ाए जाने के बाद यूपी के किसानों को भी राज्य सरकार से उम्मीद है कि वे इस पेराई सत्र से गन्ने एसपी मूल्य में बढ़ोतरी कर सकती है। ऐसा अनुमान लगाया जा रहा है कि चुनावी साल में योगी सरकार गन्ना किसानों को जल्द खुशखबरी दे सकती है और यहां के किसानों के गन्ना का मूल्य बढ़ाया जा सकता है। यदि ऐसा होता है राज्य के लाखों गन्ना किसानों को फायदा होगा। वर्तमान में राज्य के 28 लाख हेक्टेयर क्षेत्रफल में गन्ना की खेती होती है। बता दें कि अभी वर्तमान में यहां के किसानों को गन्ने की कीमत वैराइटी के हिसाब से 310 रुपए, 315 रुपए और 325 रुपए प्रति क्विंटल मिल रही है। योगी सरकार आने के तुरंत बाद गन्ने के रेट 10 रुपए प्रति क्विंटल बढ़ाए गए थे। इसके बाद से गन्ना के रेट में बढ़ोतरी नहीं हुई है। ऐसी उम्मीद की जा रही है कि पेराई सत्र शुरू होने से यूपी सरकार की ओर से पहले गन्ने के मूल्य में वृद्धि की जा सकती है।


इन राज्यों में यूपी से ज्यादा है गन्ना का मूल्य

गन्ने के मूल्य में केंद्र सरकार ने 5 रुपए की वृद्धि कर के देश भर के किसानों के लिए 290 रुपए प्रति क्विंटल कर दिया है। जबकि अन्य राज्य ने एसपी के मूल्य में वृद्धि की है जो इस प्रकार है, इन राज्यों की तुलना करें तो उत्तर प्रदेश में गन्ना का एसपी मूल्य अभी फिलहाल अन्य गन्ना उत्पादक राज्यों से बहुत कम है। 

  • उत्तर प्रदेश   - 315 रुपए प्रति क्विंटल (फिलहाल अभी तक कोई वृद्धि नहीं)
  • हरियाणा      - 362 रुपए प्रति क्विंटल (यूपी से 47 रुपए ज्यादा है)
  • पंजाब         - 360 रुपए प्रति क्विंटल (यूपी से 45 रुपए ज्यादा है)  


अगर आप अपनी कृषि भूमि, अन्य संपत्ति, पुराने ट्रैक्टर, कृषि उपकरण, दुधारू मवेशी व पशुधन बेचने के इच्छुक हैं और चाहते हैं कि ज्यादा से ज्यादा खरीददार आपसे संपर्क करें और आपको अपनी वस्तु का अधिकतम मूल्य मिले तो अपनी बिकाऊ वस्तु की पोस्ट ट्रैक्टर जंक्शन पर नि:शुल्क करें और ट्रैक्टर जंक्शन के खास ऑफर का जमकर फायदा उठाएं।

త్వరిత లింకులు

scroll to top