• Home
  • News
  • Social News
  • कोविड-19 रोधी दवा 2-डीजी की बाजार कीमत तय, सरकारी अस्पतालों में रियायती दर पर मिलेगी

कोविड-19 रोधी दवा 2-डीजी की बाजार कीमत तय, सरकारी अस्पतालों में रियायती दर पर मिलेगी

कोविड-19 रोधी दवा 2-डीजी की बाजार कीमत तय, सरकारी अस्पतालों में रियायती दर पर मिलेगी

कोरोना संक्रमण :  जानें, क्या है इस दवा की खासियत और इसे लेने का तरीका

इस समय दुनिया के सभी देश कोरोना की लड़ाई लड़ रहे हैं। लेकिन इन सभी देशों की अपेक्षा भारत में कोरोना ने ज्यादा तबाही मचाई हैं। यहां कोरोना से सबसे अधिक जानें गई और कोरोना संक्रमण के मामले मिले। हालांकि राहत भरी खबर यह रही कि कोरोना से ठीक होने वालों का आंकड़ा अब बढऩे लगा है और संक्रमण की दर भी धीमी हुई है। इन सबके बीच एक बड़ी जानकारी सामने आई है जो कोरोना मरीजों के लिए काफी उपयोगी साबित होगी। मीडिया से मिली जानकारी के मुताबिक रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन की ओर से विकसित की गई कोविड-19 रोधी दवा 2-डीजी जो कोरोना मरीजों के ऑक्सीजन में सुधार करने में का आने वाली दवा है। अब वह बाजार में प्रति पाउच कीमत 990 रुपए की दर से उपलब्ध हो सकेगी। हाल ही मेें इसकी यह बाजार कीमत तय की गई है। वहीं सरकारी अस्पतालों, केंद्र और राज्य सरकारों को ये दवा रियायती कीमत पर उपलब्ध कराई जाएगी। बता दें कि डीआरडीओ ने कोरोना की दूसरी लहर में तेजी से संक्रमित हुए कोरोना मरीजों में कम होते ऑक्सीजन लेवल को बेहतर करने के लिए कोविड-19 रोधी दवा 2-डीजी को लांच किया था। यह दवा कोरोना से पीडि़त लोगों के लिए काफी कारगर रही थी। इसके अच्छे परिणाम मिले थे। डीआरडीओ की ओर से तैयार की गई एंटी कोविड-19 दवा की पहली खेप कुछ दिन पहले ही जारी कर दी गई थी। इस दवा की लॉचिंग के समय केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन भी शामिल थे।

Buy Old Properties

 

सबसे पहले सरकार की सभी योजनाओ की जानकारी के लिए डाउनलोड करे, ट्रेक्टर जंक्शन मोबाइल ऍप - http://bit.ly/TJN50K1 


भारत ने दी थी इस दवा को इमरजेंसी इस्तेमाल की मंजूरी

डीआरडीओ की ओर से विकसित की गई 2-डीजी दवा को भारत के औषधि महानियंत्रक (डीसीजीआई) ने 8 मई को इमरजेंसी इस्तेमाल के लिए मंजूरी दी थी। डीआरडीओ की लैब इंस्टीट्यूट ऑफ न्यूक्लियर मेडिसिन एंड एलाइड साइंसेज ने 2-डीऑक्सी-डी-ग्लूकोज को हैदराबाद स्थित डॉक्टर रेड्डी लैब के साथ मिलकर तैयार किया गया है।


कोरोना नियंत्रण करने वाली इस दवा की क्या है खायिसत

विशेषज्ञों के अनुसार ये दवा एक तरह का सूडो ग्लूकोज मोलेकल है, जो कोरोना वायरस को बढऩे से रोकता है। ये दवा दुनिया की उन चंद दवाओं में शुमार हो गई है, जो खास तौर पर कोविड को रोकने के लिए बनाई गई हैं। मुंह के जरिये ली जाने वाली इस दवा को कोरोना वायरस के मध्यम से गंभीर लक्षण मरीजों के इलाज में इस्तेमाल करने की अनुमति सहायक पद्धति के रूप में दी गई है। 


कैसे करें इस दवा का इस्तेमाल

2-डीजी दवा पाउडर के रूप में पैकेट में आती है, इसे पानी में घोल कर पीना होता है। दवा के असर की बात की जाए तो जिन लक्षण वाले मरीजों का 2डीजी से इलाज किया गया वे मानक इलाज प्रक्रिया (एसओसी) से पहले ठीक हुए। इस दवा को कोरोना वायरस के ग्रोथ को नियंत्रित करने में प्रभावी पाया गया है। डीजीसीआई के मुताबिक इस दवा के प्रयोग से वायरस के ग्रोथ पर प्रभावी नियंत्रण से अस्पताल में भर्ती कोरोना मरीजों के स्वास्थ्य में तेजी से रिकवरी हुई। इसके अलावा यह मेडिकल ऑक्सीजन की जरूरत को कम करता है। 

 

COVID safety tips

अप्रैल 2020 से मार्च 2021 के बीच तीन बार हुआ था दवा का क्लीनिकल ट्रॉयल

पिछले साल के शुरुआत में महामारी शुरू होने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा तैयारियां करने का आह्वान किया गया जिसके बाद डीआरडीओ ने इस परियोजना पर काम शुरू किया। अप्रैल 2020 से मार्च 2021 के बीच इस दवा का तीन बार क्लीनिकल ट्रॉयल किया जा चुका है जो इस प्रकार से है-

  • दवा के पहले फेज का ट्रॉयल अप्रैल-मई 2020 में पूरी हुआ था। इसमें लैब में दवा पर एक्सपेरिमेंट किए गए।
  • मई 2020 से अक्टूबर 2020 के बीच दूसरे चरण के क्लीनिकल ट्रॉयल के लिए डीसीजीआई ने मंजूरी दी। दूसरे चरण के क्लीनिकल ट्रॉयल में देश के 11 अस्पतालों में भर्ती 110 मरीजों को शामिल किया गया। ट्रॉयल में शामिल मरीज अन्य मरीजों की तुलना में 2.5 दिन पहले ही ठीक हो गए।
  • डीआरडीओ ने नवंबर 2020 में दवा के तीसरे चरण के क्लीनिकल ट्रॉयल के लिए आवेदन किया। इसके लिए दिसंबर 2020 से मार्च 2021 के बीच ट्रॉयल को मंजूरी मिली। इस चरण में दिल्ली, उत्तर प्रदेश, पश्चिम बंगाल, गुजरात, राजस्थान, महाराष्ट्र, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, कर्नाटक और तमिलनाडु में स्थित 27 अस्पतालों में 220 मरीजों पर इस दवा का परीक्षण किया गया। इसके बेहतर परिणाम देखने को मिले और इसी के साथ इस दवा को कोरोना नियंत्रण में इस्तेमाल करने के लिए उपयुक्त पाया गया।


दवा ही काफी नहीं, वैक्सीन लगवाना भी है जरूरी

इस दवा को देश में इमरजेंसी इस्तेमाल की अनुमति दी गई। इसलिए सिर्फ दवा लेना ही काफी नहीं है हमें वैक्सीन भी लगवानी होगी तब ही हम कोरोना से सुरक्षित हो पाएंगे। केंद्र सरकार देश में वैक्सीनाइजेशन पर जोर दे रही है। अब तक 20,89,02,445 लोगों को वैक्सीन दी जा चुकी है। बता दें कि इन दिनों भले ही कोरोना की दूसरी लहर कमजोर पड़ रही है और हर रोज नए दर्ज मामलों में कमी भी देखी जा रही है लेकिन एतियात बरतना अब भी जरूरी है। साथ ही वैक्सीन लगवाना भी। जब तक भारत की अंतिम इकाई तक ये वैक्सीन नहीं लग जाती तब तक हम अपने को कोरोना से सुरक्षित मान सकते हैं। 


देश में कोरोना संक्रमण की ताजा स्थिति

29 मई 2021 को जारी किए गए आंकड़ों के मुताबिक पिछले 24 घंटों में 1.73 लाख नए मामले आए वहीं 3600 से ज्यादा लोगों की मौत हुई है। शनिवार की सुबह हेल्थ मिनिस्ट्री की जानिब से जारी किए आंकड़ों के मुताबिक पिछले 24 घंटों में 1,73,790 नए कोरोना मरीज सामने आए। जिसके बाद कुल मरीजों की तादाद 2,77,29,247 पहुंच गई। वहीं 3,617 लोगों की मौत के बाद कुल मरने वालों की तादाद 3,22,512 पहुंच गई है। पिछले 24 घंटों में 2,84,601 मरीजों ने कोरोना को शिकस्त दी है। जिसके बाद कुल ठीक होने वाले मरीजों की तादाद 2,51,78,011 पहुंच गई है। एक्टिव केसों की बात करें तो अभी भी देशभर में 22,28,724 केस एक्टिव है जिनका इलाज चल रहा है।

 

अगर आप अपनी कृषि भूमि, अन्य संपत्ति, पुराने ट्रैक्टर, कृषि उपकरण, दुधारू मवेशी व पशुधन बेचने के इच्छुक हैं और चाहते हैं कि ज्यादा से ज्यादा खरीददार आपसे संपर्क करें और आपको अपनी वस्तु का अधिकतम मूल्य मिले तो अपनी बिकाऊ वस्तु की पोस्ट ट्रैक्टर जंक्शन पर नि:शुल्क करें और ट्रैक्टर जंक्शन के खास ऑफर का जमकर फायदा उठाएं।

Top Social News

कोरोना : देश के 7 राज्यों में फिर बढ़े कोरोना संक्रमण के नए मामले

कोरोना : देश के 7 राज्यों में फिर बढ़े कोरोना संक्रमण के नए मामले

कोरोना : देश के 7 राज्यों में फिर बढ़े कोरोना संक्रमण के नए मामले (corona infection), स्वास्थ्य मंत्रालय की चिंता बढ़ी, कहा- वैक्सीनेशन से पूरी गारंटी नहीं

कोरोना वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट : आप खुद सही कर सकते हैं सर्टिफिकेट की गलतियां

कोरोना वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट : आप खुद सही कर सकते हैं सर्टिफिकेट की गलतियां

कोरोना वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट : आप खुद सही कर सकते हैं सर्टिफिकेट की गलतियां ( Corona Vaccination Certificate ), जानें, वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट में गलतियों को सुधारने का आसान तरीका

सांप के काटने से मौत पर पीडि़त परिवारों को मिलेगी मुआवजा की राशि

सांप के काटने से मौत पर पीडि़त परिवारों को मिलेगी मुआवजा की राशि

सांप के काटने से मौत पर पीडि़त परिवारों को मिलेगी मुआवजा की राशि (compensation on death due to snake bite), जानें, कैसे मिलेगी सरकार से आर्थिक सहायता और क्या है नियम

आकाशीय बिजली गिरने से पहले के संकेत, बचाव के उपाय और सावधानियां

आकाशीय बिजली गिरने से पहले के संकेत, बचाव के उपाय और सावधानियां

आकाशीय बिजली गिरने से पहले के संकेत, बचाव के उपाय और सावधानियां ( lightning strike), आकाशीय बिजली से सावधान किसान भाई रखें इन बातों का ध्यान.

close Icon

Find Your Right Tractor and Implements

New Tractors

Used Tractors

Implements

Certified Dealer Buy Used Tractor