हर घर तिरंगा अभियान: किसान अपने ट्रैक्टर पर लगाएं तिरंगा, फोटो यहां शेयर करने पर मिलेगा पुरस्कार

प्रकाशित - 13 Aug 2022

हर घर तिरंगा अभियान: किसान अपने ट्रैक्टर पर लगाएं तिरंगा, फोटो यहां शेयर करने पर मिलेगा पुरस्कार

आजादी की 75वीं वर्षगांठ पर ट्रैक्टर जंक्शन दे रहा है आकर्षक पुरस्कार जीतने का मौका

आजादी के 75 साल पूरे होने की खुशी में देश में आजादी का अमृत्तोत्सव मनाया जा रहा है। इसके तहत केंद्र सरकार की ओर से हर घर तिरंगा अभियान चलाया गया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के लोगों से अपने घर पर भी तिरंगा फहराने की अपील की है। ये अभियान 13 अगस्त से 15 अगस्त तक चलेगा। इस दौरान प्रत्येक भारतीय अपने घर की छत पर तिरंगा फहराकर इस अभियान को सफल बनाएगा। 

Buy Used Tractor

बाजार में तिरंगा की बिक्री जोरों पर

पीएम मोदी के अपील के बाद बाजार में भी तिरंगे की बिक्री जोरों पर हो रही है। इसी के साथ डाकघर भी तिरंगे की बिक्री को लेकर अहम रोल निभा रहा है। डाकघर की ओर तिरंगे की बिक्री की जा रही है। आजादी के अमृत उत्सव के तहत डाकघर की ओर से तिरंगे की होम डिलीवरी फ्री सुविधा भी दी जा रही है। इधर इस अभियान का सीधा फायदा झंडे बनाने वाले कारोबारियों को हो रहा है। जिन्हें सरकार के इस कदम के चलते 25 से 30 करोड़ तिरंगे बिकने की उम्मीद है। केंद्र सरकार ने इस बार पॉलिएस्टर व मशीन से बने झंडे भी फहराने की अनुमति दे दी है। इसके सबसे ज्यादा आर्डर गुजरात के कारोबारियों को मिले हैं। व्यापारियों का कहना है कि इस बार हर साल 15 अगस्त को 200 से 250 करोड़ रुपए के तिरंगे बिकते हैं। लेकिन इस साल इनकी बिक्री 500 से 600 करोड़ रुपए तक पहुंच सकती है।

20 करोड़ तिरंगा फहराने का है लक्ष्य

इस स्वतंत्रता दिवस पर हर घर तिरंगा अभियान के तहत पूरे देश भर में 20 करोड़ तिरंगा फहराने का लक्ष्य रखा गया है। अब लोग मशीन बने और पॉलिएस्टर से बनें झंडे भी फहरा सकेंगे। संशोधन के पहले केवल हाथ से बना हुआ या काता हुआ ऊन, कपास या रेशमी खादी से बना झंडा ही फहराया जा सकता था। यही नहीं संशोधित नियमों के अनुसार अब लोग रात में भी तिरंगा झंडा फहरा सकते हैं। जबकि पहले केवल सूर्योदय से सूर्यास्त तक ही झंडा फहराया जा सकता था। 

Buy Kubota MU4501 4WD

तिरंगा फहराते समय इन बातों का रखें ध्यान

सरकार की ओर से तिरंगा फहराने के कुछ नियम बनाए गए हैं। ऐसे में यदि आप अपने घर की छत पर या प्रतिष्ठा पर तिरंगा फहराने जा रहे हैं तो इन नियमों का ध्यान जरूर रखेें। ये नियम इस प्रकार से हैं। 

  • तिरंगा फहराते समय हमेशा यह ध्यान रखें कि केसरिया रंग का हिस्सा ऊपर हो और हरे रंग वाला हिस्सा नीचे हो।
  • तिरंगा झंडा कटा-फटा, गंदा, अव्यवस्थित नहीं होना चाहिए।
  • राष्ट्रीय ध्वज को किसी भी व्यक्ति या वस्तु की सलामी में नहीं झुकाना चाहिए।
  • राष्ट्रीय ध्वज के साथ कोई अन्य ध्वज या ध्वजपट उससे ऊंचा या उसके बराबर नहीं लगाया जाएगा। और न ही ध्वजारोहण के दौरान कोई फूल या माला या प्रतीक सहित कोई वस्तु, जिससे राष्ट्रीय ध्वज फहराया जाता है, ऊपर रखी जाएगी।
  • उत्सव, थाली आदि में या किसी अन्य तरीके से सजावट के लिए तिरंगा का इस्तेमाल नहीं किया जाएगा।
  • राष्ट्रीय ध्वज को जमीन, फर्श, पानी पर नहीं रखा जाएगा और फहराते समय इन चीजों को स्पर्श नहीं करना चाहिए।
  • तिरंगा जिस खंभे, डंडे आदि में फहराया जाएगा, उसमें कोई दूसरा ध्वज नहीं लगा होना चाहिए।
  • राष्ट्रीय ध्वज का उपयोग किसी भी पोशाक या वर्दी या किसी पहनावे के हिस्से में चित्रित नहीं किया जाएगा, जो किसी भी व्यक्ति के कमर के नीचे पहना जाता है और न ही कुशन, रूमाल, नैपकिन, अंडर गारमेंट्स या किसी कपड़े में कढ़ाई या मुद्रित रूप में किया जाएगा।
  • राष्ट्रीय ध्वज का उपयोग वक्त के मेज को ढकने के लिए नहीं किया जाएगा, न ही वक्ता के मंच को इससे लपेटा जाएगा।

आजादी के अमृत उत्सव पर पुरस्कार जीतने का मौका

आजादी की 75वीं वर्षगांठ के उपलक्ष्य में ट्रैक्टर जंक्शन की ओर से किसानों सहित देश के सभी लोगों को पुस्कार जीतने का मौका दिया जा रहा है। इसमें पुरस्कार प्रतियोगिता में भाग लेना बहुत ही आसान है। इस पुरस्कार को पाने के लिए आपको सिर्फ इतना करना है कि आपको ट्रैक्टर या तिरंगे के साथ अपनी सेल्फी को 15 अगस्त की शाम 5 बजे तक ट्रैक्टर जंक्शन पर शेयर करना है। इसके लिए आप हमें फेसबुक, ट्विटर, ईंट्राग्राम पर फोलो और अपलोड कर सकते हैं।

Buy Used Tractor

ट्रैक्टर सहित कृषि उपकरण खरीदने के लिए विश्वनीय स्थान है ट्रैक्टर जंक्शन

ट्रैक्टर जंक्शन कृषि उपकरण खरीदने-बेचने के लिए एक विश्वसनीय स्थान है। यहां किसानों की सुविधा के अनुसार ट्रैक्टर सहित अन्य कृषि उपकरण के खरीदने व बेचने की सुविधा उपलब्ध है। ट्रैक्टर जंक्शन पर आप प्रतिष्ठित कंपनियों के ट्रैक्टरों व अन्य उपकरणों के बारें जानकारी ले सकते हैं। इसी के साथ ही आप हमसे यूज्ड (पुराने) ट्रैक्टर खरीदने के लिए हमारे ट्रैक्टर सेंटर पर विजिट कर सकते हैं। देश में हमारे पांच यूज्ड ट्रैक्टर सेंटर राजस्थान में अलवर, कोटा, जयपुर एवं मध्यप्रदेश मेें उज्जैन और देवास में हैं।

ट्रैक्टर जंक्शन हमेशा आपको अपडेट रखता है। इसके लिए ट्रैक्टरों के नये मॉडलों और उनके कृषि उपयोग के बारे में एग्रीकल्चर खबरें प्रकाशित की जाती हैं। प्रमुख ट्रैक्टर कंपनियों  सॉलिस ट्रैक्टर, करतार ट्रैक्टर आदि की मासिक सेल्स रिपोर्ट भी हम प्रकाशित करते हैं जिसमें ट्रैक्टरों की थोक व खुदरा बिक्री की विस्तृत जानकारी दी जाती है। अगर आप मासिक सदस्यता प्राप्त करना चाहते हैं तो हमसे संपर्क करें।

अगर आप नए ट्रैक्टरपुराने ट्रैक्टरकृषि उपकरण बेचने या खरीदने के इच्छुक हैं और चाहते हैं कि ज्यादा से ज्यादा खरीददार और विक्रेता आपसे संपर्क करें और आपको अपनी वस्तु का अधिकतम मूल्य मिले तो अपनी बिकाऊ वस्तु को ट्रैक्टर जंक्शन के साथ शेयर करें।

हमसे शीघ्र जुड़ें

scroll to top
Close
Call Now Request Call Back