किसानों के लिए बड़ी खबर, पीएम किसान ई-केवाईसी की तिथि एक बार फिर बढ़ाई

प्रकाशित - 12 Aug 2022

किसानों के लिए बड़ी खबर, पीएम किसान ई-केवाईसी की तिथि एक बार फिर बढ़ाई

अब किसान 15 अगस्त तक करा सकेंगे ई-केवाईसी, किस्त मिलने में होगी आसानी  

पीएम किसान योजना से जुड़े किसानों को राहत पहुंचते हुए केंद्र सरकार ने एक बार फिर ई-केवाईसी की तिथि को आगे बढ़ा दिया है। अब पीएम किसान योजना के तहत पीएम किसान सम्मान निधि की राशि प्राप्त करने के लिए ई-केवाईसी की प्रक्रिया 15 अगस्त 2022 तक पूरी कर सकते हैं। सरकार के इस निर्णय से देश के लाखों किसानों को राहत मिली है जिन्होंने अभी तक ई-केवाईसी नहीं कराई थी। 

Buy Used Tractor

बता दें कि पीएम किसान सम्मान निधि योजना (PM Kisan Samman Nidhi Yojana) का निरंतर लाभ प्राप्त करने के लिए ई-केवाईसी करना अनिवार्य कर दिया गया है। जानकारी के लिए बता दें कि पीएम किसान सम्मान निधि योजना के तहत किसानों को हर साल 6 हजार रुपए की राशि किसानों को उनके खाते में सीधे ट्रांसफर की जाती है। इसमें 2-2 हजार रुपए किसानों को हर चार माह के अंतराल में उनके खाते में दिए जाते हैं। यदि आप बिना किसी परेशानी के 12वीं किस्त पाना चाहते हैं तो आपको इसके लिए ई-केवाईसी जरूर करनी चाहिए। सरकार ने शत-प्रतिशत केवाईसी के निर्देश दिए हैं। 

बिहार में 77 प्रतिशत किसानों ने कराई ई-केवाईसी

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार अब तक बिहार में इस योजना से जुड़े करीब 77 प्रतिशत किसानों ने ई-केवाईसी की प्रक्रिया को पूरा कर लिया है। जबकि 19,29,367 लाभार्थी किसानों का ई-केवाईसी किया जाना शेष है। इसके लिए कृषि विभाग की ओर से बताए गए अनुसार ई-केवाईसी नहीं कराने वाले किसान सीएससी सेंटर पर जाकर बायोमेट्रिक ऑथेंटिकेशन के माध्यम से ई-केवाईसी का सत्यापन करा सकते हैं या आधार लिंक मोबाइल पर प्राप्त ओटीपी के माध्यम से इस प्रक्रिया को पूरा कर सकते हैं।

मध्यप्रदेश में 50 प्रतिशत किसानों की ही हुई ई-केवाईसी

मध्यप्रदेश में इस योजना से जुड़े आधे यानि 50 प्रतिशत ने ही ई-केवाईसी कराई है। प्रशासन की ओर से किसानों को ई-केवाईसी की प्रक्रिया पूरी करने को कहा गया है। बता करें इंदौर की तो यहां अभी भी 50 हजार से ज्यादा किसानों ने ई-केवाईसवी नहीं कराई है। यही कारण है कि ऐसे किसान पीएम किसान सम्मान निधि की अगली किस्त लेने से वंचित हो सकते हैं। प्रशासन की ओर से योजना जुड़े कुल लाभार्थियों की संख्या करीब 1.12 लाख ह। इनमें से 54 हजार ऐसे किसानों की पहचान की गई है, जिन्होंने ई-केवाईसी नहीं कराई है। प्रशासन की ओर से इन किसानों को ई-केवाईसी करवाने के लिए कहा गया है। ई-केवाईसी कराना बेहद जरूरी है। 

ई-केवाईसी के लिए उत्तर प्रदेश के गांवों में लगेगा विशेष शिविर

उत्तर प्रदेश में किसानों के लाभार्थ ई-केवाईसी के लिए सरकार निर्देशानुसार विभाग की ओर से दो दिन गांवों में विशेष शिविर लगाकर पीएम किसान योजना के तहत सम्मान निधि का लाभ ले रहे किसानों की ई-केवाईसी की जाएगी। इसके लिए विभाग की ओर से अभियान चलाया जाएगा। आजमगढ़ जिले के गांवों में दिनांक 10 व 11 अगस्त 2022 को शिविर का आयोजन किया जाएगा। बता दें कि जनपद में 737868 किसान सम्मान निधि के लिए पंजीकृत हैं। इसमें से 5,12,618 किसानों ने ई केवाईसी करा ली है। शेष किसान किसी कारण ई केवाईसी नहीं करा पाए थे जिसके कारण इनकी अगली किस्त नहीं आने की संभावना जताई जा रही थी। उप कृषि निदेशक मुकेश कुमार ने बताया कि आजमगढ़ जिले में सवा दो लाख से अधिक ऐसे किसान हैं जिनका ई केवाईसी नहीं हो पाया है। किसानों की शत प्रतिशत ई केवाईसी के लिए सरकार ने फिर समय बढ़ा दिया है। अब किसान आगामी 25 अगस्त तक जनसेवा केंद्रों पर जाकर ई-केवाईसी करा सकते हैं। 

Buy Used Tractor

ई-केवाईसी के लिए ये दस्तावेज है जरूरी

ई-केवाईसी कराने के लिए किसानों को जिन दस्तोवजों की आवश्यकता होगी, वे इस प्रकार से हैं।

  • किसान का आधार कार्ड
  • किसान का वोटर आईडी कार्ड
  • किसान का पैन कार्ड नंबर
  • किसान का ड्राइविंग लाइसेंस
  • परिवार राशन कार्ड
  • खेत या मकान का बिजली का बिल
  • किसान का अभी का पासपोर्ट साइज फोटो

ई-केवाईसी का ये हैं प्रोसेस (PM Kisan eKYC)

किसान भाई जनसेवा केंद्रों से व मोबाइल आधारित ओटीपी के माध्यम से अपना ई-केवाईसी करा सकते हैं। यदि आप स्वयं ई-केवाईसी कर सकते हैं तेा इसकी प्रक्रिया इस प्रकार से है।

  • पीएम किसान योजना (PM Kisan Yojana) के लाभ ले रहे किसानों को अपने पीएम किसान खाते की ई-केवाईसी कराने के लिए सबसे पहले इसकी आधिकारिक वेबसाइट pmkisan.gov.in पर जाना होगा। 
  • इसके बाद किसानों को वेबसाइट में दाहिने साइड में दिख रहे ई-केवाईसी के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद किसानों को दिए गए स्थान पर अपना आधार नंबर दर्ज कराना है। 
  • इसके बाद किसानों को उनके आधार रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर एक मैसेज आएगा। किसानों को मैसेज में आए ओटीपी को यहां दर्ज कराना होगा।
  • इसके बाद आपको सबमिट के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • यदि सब कुछ ठीक रहा तो आपके मोबाइल पर ई-केवाईसी सक्सेसफुल होने का मैजेस आ जाएगा। इस तरह आपके खाते की ई-केवाईसी की प्रक्रिय पूरी हो जाएगी। 


ट्रैक्टर जंक्शन हमेशा आपको अपडेट रखता है। इसके लिए ट्रैक्टरों के नये मॉडलों और उनके कृषि उपयोग के बारे में एग्रीकल्चर खबरें प्रकाशित की जाती हैं। प्रमुख ट्रैक्टर कंपनियों महिंद्रा ट्रैक्टरस्वराज ट्रैक्टर आदि की मासिक सेल्स रिपोर्ट भी हम प्रकाशित करते हैं जिसमें ट्रैक्टरों की थोक व खुदरा बिक्री की विस्तृत जानकारी दी जाती है। अगर आप मासिक सदस्यता प्राप्त करना चाहते हैं तो हमसे संपर्क करें।

अगर आप नए ट्रैक्टरपुराने ट्रैक्टरकृषि उपकरण बेचने या खरीदने के इच्छुक हैं और चाहते हैं कि ज्यादा से ज्यादा खरीददार और विक्रेता आपसे संपर्क करें और आपको अपनी वस्तु का अधिकतम मूल्य मिले तो अपनी बिकाऊ वस्तु को ट्रैक्टर जंक्शन के साथ शेयर करें।

हमसे शीघ्र जुड़ें

scroll to top
Close
Call Now Request Call Back