मुख्यमंत्री कृषक कल्याण योजना : अब किसान की मौत पर मिलेंगे 4 लाख रुपए

मुख्यमंत्री कृषक कल्याण योजना : अब किसान की मौत पर मिलेंगे 4 लाख रुपए

Posted On - 26 Apr 2021

जानें, क्या है सीएम कृषक जीवन कल्याण योजना और इसके लाभ

केंद्र और राज्य सरकारों ने किसानों को लाभ प्रदान करने के लिए कई योजनाएं चला रखी है जिससे किसानों को लाभ मिल रहा है। सरकार ने किसानों के खेत से लेकर उनके दुर्घटना में मृत्यु तक आर्थिक सहायता सरकारी योजनाओं के माध्यम से दी जा रही है। इसी क्रम में मध्यप्रदेश में किसानों के लिए मुख्यमंत्री जीवन कल्याण योजना चलाई जा रही है। इस योजना से राज्य के किसान लाभान्वित हो रहे हैं उन्हें संकट की घड़ी में आर्थिक सहायता प्रदान की जा रही है। अभी पिछले दिनों ही इस योजना के तहत अनुविभागीय अधिकारी मल्हा रगढ़ ने जिले के व्यक्ति की कृषि कार्य के दौरान मृत्यु होने से उसके परिजन को कुल 4  लाख रुपए की आर्थिक सहायता मंजूर की। नवीन प्रावधानों के तहत निवासी कचनारा तहसील सीतामऊ के गमेर बागरी की मृत्यु पानी में डूबने से हो जाने से उसके निकटतम वारिस पत्नी गीताबाई को 4 की आर्थिक सहायता स्वीकृत की गई है। आज हम आपको इस योजना के बारें में पूरी जानकारी देंगे ताकि आप भी इस योजना से लाभ प्राप्त कर सकें। 

Buy New Holland 3037 TX

 

सबसे पहले सरकार की सभी योजनाओ की जानकारी के लिए डाउनलोड करे, ट्रेक्टर जंक्शन मोबाइल ऍप - http://bit.ly/TJN50K1


क्या है मुख्यमंत्री कृषक कल्याण योजना

किसानों की कृषि कार्यों के दौरान दुर्घटना में मृत्यु होने पर उनके परिवार को राहत प्रदान करने के लिए मध्यप्रदेश शासन द्वारा मुख्यमंत्री कृषक जीवन कल्याण योजना संचालित की जा रही है। प्रदेश सरकार ने इस योजना के अंतर्गत दी जाने वाली सहायता राशि में संशोधन किया है। अब किसान के दुर्घटना में स्थायी रूप से अपंग होने पर एक लाख रुपए की सहायता राशि दी जाएगी। मुख्यमंत्री कृषक जीवन कल्याण योजना के अंतर्गत किसान की किसी भी प्रकार की दुर्घटना में कृषि कार्यों के दौरान मृत्यु हो जाने पर उसके वारिस को 4 लाख रुपए की सहायता राशि प्रदान की जाती है। पूर्व में इस योजना के अंतर्गत दुर्घटना में मृत्यु होने पर एक लाख रुपए की सहायता दी जाती थी। वहीं किसान के स्थायी रूप से अपंग होने पर उसे 25 हजार रुपए की सहायता राशि प्रदान की जाती थी। इस राशि को भी बढ़ाकर अब एक लाख रुपए कर दिया गया है। इसी प्रकार आंशिक अपंगता पर दी जाने वाली सहायता राशि को बढ़ाकर 50 हजार रुपए कर दिया गया है। दुर्घटना में मृतक किसान के परिवार को अंत्येष्टि के लिए दी जाने वाली सहायता राशि भी 2 हजार रुपए से बढ़ाकर 4 हजार रुपए कर दी गई है। 


किन परिस्थितियों में मिलेगा योजना लाभ

कृषि कार्य में कृषि यंत्रों का उपयोग करते हुए (खेती से संबंधित सिंचाई कार्य),सिंचाई कार्य हेतु कुंआ खोदते, ट्यूबवेल स्थापित एवं ट्यूबवेल संचालित करते समय बिजली के करंट लगने, खेत से गुजरने वाली विद्युत लाइन के क्षतिग्रस्त होने, खेतों में फसलों, फल सब्जियों पर रासायनिक दवाइयों आदि के छिडक़ाव करते समय, मंडी प्रांगण एवं मंडी अधिनियम के अन्तर्गत प्राधिकृत क्रय केन्द्रों पर कृषि उपज की बिक्री करते समय एवं बोरियों की ढेरी लगाते समय, मंडी प्रांगण में ट्रेक्टर ट्राली, बैलगाड़ी इत्यादि के पलटने पर हुई दुर्घटना, कृषि उपज के विक्रय के लिए घर से खेत में आते-जाते समय रास्ते में, कुट्टी मशीन एवं कृषि संयंत्रों में आने तथा कृषि सुरक्षा, पशु चराई, पेड़ों की छंटाई एवं कृषि की रखवाली करते समय हुई दुर्घटना में मृत्यु या अंग-भंग होने पर योजना की कंडिका-2 में उल्लेखित आर्थिक सहायता राशि प्रदान की जाती है।


मुख्यमंत्री कृषक जीवन कल्याण योजना के लिए पात्रता व शर्तें

  • इस योजना का लाभ केवल मध्यप्रदेश के स्थाई नागरिकों को ही प्रदान किया जाएगा।
  • योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए आवेदक को कृषक किसान होना अनिवार्य हैं 7
  • इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए आवेदन कर्ता को आवेदन घटी दुर्घटना होने के 90 दिनों के अंदर करना होगा।
  • इस के साथ ही प्रदेश सरकार द्वारा चलाई जा रही इस प्रकार की अन्य लाभ योजना का लाभ प्राप्त कर रहे व्यक्ति इस योजना का लाभ नहीं प्राप्त कर सकते हैं।
  • इस योजना का लाभ तभी प्रदान किया जाएगा। जब व्यक्ति की मृत्यु अथवा दुर्घटना ऊपर बताई गई कृषि संबंधित कारणों के दौरान हुई हो।
  • इस योजना का लाभ केवल प्रदेश के गरीब परिवारों को ही प्रदान किया जाएगा।


मुख्यमंत्री कृषक जीवन कल्याण योजना के लिए आवश्यक दस्तावेज

आधार कार्ड, राज्य का मूल निवास प्रमाण पत्र, राज्य के किसी राष्ट्रीयकृत बैंक का  खाता, किसान के आय का प्रमाण पत्र, किसान पहचान पत्र के तौर पर वोटर कार्ड / बैंक के पासबुक के प्रथम पृष्ठ की प्रतिलिपि जिसमें नाम, पता, फोटो हो। इसके अलावा किसान का मृत्यु प्रमाण पत्र जरूरी होगा।

Buy New Holland Excel 5510


मुख्यमंत्री कृषक जीवन कल्याण योजना के लिए आवेदन कैसे करें

इस योजना के लिए किसान ऑफलाइन और ऑनलाइन दोनों तरीके से कर सकता है। ऑनलाइन आवेदन करने के लिए आपको सबसे पहले विभाग की ऑफिशियल वेबसाइट http://www.dprmp.org/  पर जाना होगा। वेबसाइट पर पहुंचने के बाद आपको मध्यप्रदेश कृषक जीवन कल्याण योजना लिंक पर क्लिक करना होगा। लिंक पर क्लिक करने के बाद आपके सामने एक आवेदन फार्म ओपन होकर आएगा। जिसमें आपको आवश्यक जानकारी भरने के बाद आवेदन फार्म सबमिट करना होगा। फॉर्म सबमिट करने के बाद आपको इस योजना का लाभ प्रदान किया जाएगा। इसके अलावा मुख्यमंत्री कृषक जीवन कल्याण योजना के लिए ऑफलाइन आवेदन भी किया जा सकता है। इसके लिए सबसे पहले आपको एक आवेदन फार्म लेना होगा। आप चाहें तो विभाग की ऑफिशियल वेबसाइट से इसे डाउनलोड कर सकते हैं। इसके बाद आपको आवेदन फॉर्म में पूछी गई सभी जानकारी सही-सही भरनी होगी। आवश्यक जानकारी भरने के साथ ही आपको और स्व प्रमाणित पासपोर्ट साइज फोटो भी लगानी होगी। इसके साथ ही आवश्यक दस्तावेजों की फोटो कॉपी भी संलग्न करना होगा। पूर्ण रूप से सही सही भरा हुआ फार्म लेकर आपको संबंधित विभाग में जमा करना होगा। जिसके बाद आपको इस योजना का लाभ प्रदान किया जाएगा। 


योजना से संबंधित कोई परेशानी हो तो यहां कर सकते है संपर्क

यदि कोई समस्या आ रही हो तो योजना के तहत जारी हेल्पलाइन नंबर / संपर्क सूत्र- 0755 4096319 व 0755 4096300 पर संपर्क किया जा सकता है। इसके अलावा किसान कॉल सेंटर-1800-180-1551, दूरभाष नं.-07659-222349 पर संपर्क किया जा सकता है।

 

अगर आप अपनी कृषि भूमि, अन्य संपत्ति, पुराने ट्रैक्टर, कृषि उपकरण, दुधारू मवेशी व पशुधन बेचने के इच्छुक हैं और चाहते हैं कि ज्यादा से ज्यादा खरीददार आपसे संपर्क करें और आपको अपनी वस्तु का अधिकतम मूल्य मिले तो अपनी बिकाऊ वस्तु की पोस्ट ट्रैक्टर जंक्शन पर नि:शुल्क करें और ट्रैक्टर जंक्शन के खास ऑफर का जमकर फायदा उठाएं।

Quick Links

scroll to top
Close
Call Now Request Call Back