गोधन न्याय योजना : वर्मी कम्पोस्ट खाद से किसानों को होगी अतिरिक्त आमदनी

गोधन न्याय योजना : वर्मी कम्पोस्ट खाद से किसानों को होगी अतिरिक्त आमदनी

Posted On - 21 Jul 2020

गोबर खरीद करने वाला देश का पहला राज्य बना छत्तीसगढ़

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने हरेली पर्व पर गोधन न्याय योजना ( Vermicompost ) का शुभारंभ किया। इसी के साथ इस योजना के तहत गौठानों पर पशुपालकों से गोबर की खरीद का कार्य शुरू कर दिया गया है। सरकार ने गोबर का परिवहन व्यय सहित दो रुपए प्रति किलो दाम तय किया है।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में गौ-पालन को आर्थिक रूप से लाभदायी बनाने तथा खुले में चराई की रोकथाम तथा सडक़ों एवं शहरों में जहां-तहां आवारा घुमते पशुओं के प्रबंधन एवं पर्यावरण की रक्षा के लिए छत्तीसगढ़ राज्य में गोधन न्याय योजना शुरू की गई है। उन्होंने छत्तीसगढ़ के लोगों को हरेली पर्व की शुभकामनाएं दी। बता दें कि इस योजना के तहत पशुपालकों से गोबर खरीदी का कार्य शुरू करने वाला छत्तीसगढ़ देश का सबसे पहला राज्य बन गया है।

 

सबसे पहले सरकार की सभी योजनाओ की जानकारी के लिए डाउनलोड करे, ट्रेक्टर जंक्शन मोबाइल ऍप - http://bit.ly/TJN50K1

 

छत्तीसगढ़ में हरेली पर्व का महत्व

छत्तीसगढ़ में त्यौहारों की शुरुआत हरेली पर्व से होती है। इस दिन यहां पर उनके कुलदेवता की पूजा की जाती है। उत्सव के दिन किसान खेती में उपयोग होने वाले सभी औजारों की पहले अच्छे से साफ-सफाई कर उसे घर के आंगन में रखकर पूजा-अर्चना करते हैं। गाय-बैलों की भी पूजा की जाती है और इस पर्व पर गाय-बैलों को बीमारी से बचाने के लिए नमक भी खिलाया जाता है। 

 

 

गौठानों में शुरू हुई गोबर की खरीद

खरसिया के तेंदूमुड़ी के 114 गोठानों में  योजना के तहत गोबर खरीदी हुई। त्योहार पर लोग पूजा और आयोजन में व्यस्त रहे इसलिए गोबर बेचने वालों की संख्या पहले दिन कम रही। बता दें कि छत्तीसगढ़ राज्य देश का पहला राज्य है जो गोबर की खरीद करेगा। इस योजना में किसानों से दो रुपए किलो की दर से गोबर की खरीद की जा रही है। 

 

प्रतियोगिताओं का भी हुआ आयोजन

हरेली के त्यौहार पर राज्य में कई जगह गेड़ी रेस हुई। भौंरा और नारियल फेंक प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। 

 

योजना से किसानों की आय बढ़ेगी, पशुओं का होगा संरक्षण

हरेली त्योहार पर खरसिया के तेंदूमुड़ी के गौठान में उच्च शिक्षा मंत्री उमेश पटेल ने गोधन न्याय योजना के शुभारंभ के अवसर पर कहा कि मुख्यमंत्री ने पिछले साल गांवों के विकास के लिए नरवा, गरवा, घुरवा औ बाड़ी योजना शुरू की थी। अब गोधन न्याय योजना शुरू की गई है। देश में दो रुपए किलो गोबर खरीदने वाला छत्तीसगढ़ पहला राज्य है। इस योजना से किसान और पशुपालकों की आय में वृद्धि होगी। पशुओं के प्रति लोगों में प्रेम बढ़ेगा और किसानों को वर्मी कम्पोस्ट खाद मिलने से जैविक खाद का इस्तेमाल बढ़ेगा। 

 

गोबर से बनेगी वर्मी कम्पोस्ट, जैविक खेती को मिलेगा बढ़ावा

गौठानों में गोबर की खरीद का काम शुरू होने के साथ ही यहां वर्मी कम्पोस्ट बनाने का काम शुरू होगा। इससे किसानों को अतिरिक्त आदमनी होने के साथ ही जैविक खेती को बढ़ावा मिलेगा। सरकार ने इसकी योजना भी तैयार कर रखी है। यह योजना किसानों व पशुपालकों के लिए लाभकारी साबित होगी। वहीं पशुपालन को भी बढ़ावा मिलेगा। इस योजना को शुरू करने का सरकार का मकसद है कि पशुओं को खुले में छोडऩे पर रोक लगे और लोग का रूझान पशु को पालने की ओर जाए।

 

 

अगर आप अपनी  कृषि भूमि, अन्य संपत्ति, पुराने ट्रैक्टर, कृषि उपकरण,  दुधारू मवेशी व पशुधन बेचने के इच्छुक हैं और चाहते हैं कि ज्यादा से ज्यादा खरीददार आपसे संपर्क करें और आपको अपनी वस्तु का अधिकतम मूल्य मिले तो अपनी बिकाऊ वस्तु की पोस्ट ट्रैक्टर जंक्शन पर नि:शुल्क करें और ट्रैक्टर जंक्शन के खास ऑफर का जमकर फायदा उठाएं।  

Quick Links

scroll to top
Close
Call Now Request Call Back