दीपावली तोहफा : पान की की खेती पर मिलेगी 35,250 रुपए की सब्सिडी

प्रकाशित - 24 Sep 2022

दीपावली तोहफा : पान की की खेती पर मिलेगी 35,250 रुपए की सब्सिडी

जानें, कहां करना है सब्सिडी के लिए आवेदन और क्या देने होंगे दस्तावेज

दिवाली का त्यौहार आने में अब कुछ दिन ही बाकी है। लोग बेसब्री से इस त्यौहार की इंतजार करते हैं। लोग धूमधाम से इस त्यौहार को मनाते हैं। इस दिन लोग महालक्ष्मी की पूजा करते हैं और उनसे धन-धान्य और समृद्धि की कामना करते हैं। त्यौहारों पर पाठ-पूजन में पान का काफी महत्व होता है। इसके अलावा पान को माऊथ फ्रेशनर और औषधी के रूप में भी उपयोग किया जाता है। 

Buy Used Tractor

त्यौहारों में इसकी मांग काफी बढ़ जाती है जिससे इसके बाजार में काफी बेहतर दाम मिलते हैं। इसे देखते हुए किसानों के लिए पान की खेती लाभ का सौंदा साबित हो रही है। जैसा कि दिवाली का त्यौहार आने में कुछ दिन शेष हैं। ऐसे में दिवाली का त्यौहार आने से पहले ही सरकार ने किसानों को खुश करने की तैयारी शुरू कर दी है। दिवाली के त्यौहार को देखते हुए बिहार सरकार की ओर से मगही पान की खेती पर किसानों को 35,250 रुपए की सब्सिडी दी जा रही है। इसके लिए जिलों का चयन भी कर लिया गया है। आज हम ट्रैक्टर जंक्शन के माध्यम से किसानों को मगही पान की खेती की जानकारी दे रहे हैं।

मगही पान की खेती करने पर कितनी मिलेगी सब्सिडी

बिहार सरकार ने मगही पान की खेती करने वाले किसानों को सब्सिडी देने का फैसला किया है। बिहार कृषि विभाग, बागवानी निदेशालय की ओर से इसके लिए नोटिफिकेशन जारी किया गया है। जारी नोटिफिकेशन के अनुसार मगही पान की खेती करने के लिये अधिकतम 300 वर्गमीटर के लिए 70,500 रुपए की लागत निर्धारित की गई हैं। विशेष उद्यानिकी फसल योजना के तहत निर्धारित की गई लागत पर किसानों को 50 प्रतिशत तक यानी 35,250 रुपए की सब्सिडी प्रदान की जाएगी।

कि न जिलों के किसानों को मिलेगा योजना का लाभ

बिहार सरकार द्वारा मगध क्षेत्र में पान की खेती (paan ki kheti) करने वाले किसानों को इस योजना के तहत सब्सिडी का लाभ प्रदान किया जाएगा। योजना के तहत बिहार के मगध क्षेत्र के जिले नवादा, गया, औरंगाबाद, नालंदा और शेखपुरा जिले के किसानों को प्राथमिकता से इस सब्सिडी योजना का लाभ दिया जाएगा।

पान की खेती पर सब्सिडी के लिए कैसे करें आवेदन

बिहार सरकार की सब्सिडी योजना के तहत वित्त वर्ष 2022-23 के लिए ऑनलाइन आवेदन शुरू हो चुके हैं। किसान योजना के तहत ऑनलाइन आवेदन करके योजना का लाभ उठा सकते हैं। इस योजना का लाभ लेने के लिए आपको बिहार का निवासी होना अनिवार्य हैं। अगर आप बिहार के निवासी है तो आप बिहार कृषि विभाग, बागवानी निदेशालय या बिहार कृषि निवेश प्रोत्साहन नीति की आधिकारिक वेबसाइट  http://horticulture.bihar.gov.in पर जाकर आवेदन कर सकते हैं। इस योजना की अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए आप अपने जनपद के सहायक निदेश उद्यान विभाग से भी संपर्क कर सकते हैं।

पान की खेती पर सब्सिडी के लिए आवेदन हेतु आवश्यक दस्तावेज

पान की खेती पर सब्सिडी का लाभ प्राप्त करने के लिए आपको निम्नलिखित दस्तावेजों की आवश्यकता होगी, जो इस प्रकार से हैं

Buy Used Tractor

  • आवेदन करने वाले किसान का आधार कार्ड
  • आवेदक का निवास प्रमाण-पत्र
  • आवेदक का आय प्रमाण-पत्र
  • बैंक अकाउंट स्टेटमेंट
  • आवेदक की पासपोर्ट साइज फोटो
  • आधारकार्ड से लिंक मोबाइल नंबर
  • खसरा नंबर/बी1/वन पट्टे की प्रति

भारत में पान की खेती करने वाले प्रमुख राज्य (Betel Cultivation)

भारत में पान की खेती करीब 50,000 हैक्टेयर क्षेत्रफल में की जाती है। भारत में पान की खेती करने वाले प्रमुख राज्य हैं जिनमें कर्नाटक, तमिलनाडु, उड़ीसा, केरल, बिहार, पश्चिम बंगाल, असम (पूर्वोत्तर राज्य), आंध्रप्रदेश, महाराष्ट्र, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, गुजरात और राजस्थान हैं।

पान के औषधीय गुण

पान के पत्ते में कई प्रकार के औषधीय गुण पाए जाते हैं। पान के पत्ते का उपयोग बहुत से रोगों में किया जाता है। पान के औषधीय गुण इस प्रकार से हैं

  • पान के पत्ते का सेवन करने से मुंह की दुर्गन्ध दूर होती हैं।
  • पान गले की खराश में ये लाभकारी होता है। 
  • पान के पत्तों का सेवन करने से पाचन शक्ति बढ़ती हैं।
  • पान के पत्तों का सेवन करने से मुंह के छाले ठीक हो जाते हैं।
  • पान के पत्तों का सेवन नमक व अजवायन के साथ सोने से पहले मुंह में रख के चूसने से सूखे कफ से राहत मिलती हैं।


​​​​ट्रैक्टर जंक्शन हमेशा आपको अपडेट रखता है। इसके लिए ट्रैक्टरों के नये मॉडलों और उनके कृषि उपयोग के बारे में एग्रीकल्चर खबरें प्रकाशित की जाती हैं। प्रमुख ट्रैक्टर कंपनियों प्रीत ट्रैक्टरइंडो फार्म ट्रैक्टर आदि की मासिक सेल्स रिपोर्ट भी हम प्रकाशित करते हैं जिसमें ट्रैक्टरों की थोक व खुदरा बिक्री की विस्तृत जानकारी दी जाती है। अगर आप मासिक सदस्यता प्राप्त करना चाहते हैं तो हमसे संपर्क करें।

अगर आप नए ट्रैक्टरपुराने ट्रैक्टरकृषि उपकरण बेचने या खरीदने के इच्छुक हैं और चाहते हैं कि ज्यादा से ज्यादा खरीददार और विक्रेता आपसे संपर्क करें और आपको अपनी वस्तु का अधिकतम मूल्य मिले तो अपनी बिकाऊ वस्तु को ट्रैक्टर जंक्शन के साथ शेयर करें।

हमसे शीघ्र जुड़ें

scroll to top
Close
Call Now Request Call Back