किसानों को 25 प्रतिशत मुआवजे के साथ मिलेगी 25,000 रुपए की सहायता

किसानों को 25 प्रतिशत मुआवजे के साथ मिलेगी 25,000 रुपए की सहायता

Posted On - 13 Jan 2022

फसल नुकसान की भरपाई के लिए राज्य सरकार का बड़ा कदम

पिछले दिनों हुई बेमौसमी बारिश और ओलावृष्टि से कई राज्यों में किसानों की फसलों को नुकसान हुआ है। कई जगहों पर किसान की पूरी की पूरी फसल तक को क्षति पहुंची है। इसे देखते हुए राज्य सरकारें अपने स्तर पर किसानों को मुआवजा दे रही है। इसी क्रम में मध्यप्रदेश सरकार भी बेमौसमी बारिश और ओलावृष्टि से प्रभावित किसानों की मदद कर रही है। किसानों को मुआवजा राशि दिलाने के लिए सर्वे का कार्य किया जा रहा है। फसल नुकसान का आकलन कर किसानों को मुआवजा राशि दी जाएगी। 

Buy Used Livestocks

सीएम ने किया किसानों के लिए ये ऐलान

मीडिया में जारी समाचारों के अनुसार मध्यप्रदेश में मौसम से हुए फसल की नुकसान की भरपाई के संबंध में राज्य के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि हाल ही में हुई ओलावृष्टि में 50 प्रतिशत फसल बर्बाद करने वाले किसानों को उनकी बेटियों की शादी के लिए राज्य सरकार 25 हजार रुपए की आर्थिक सहायता देगी। साथ ही सरकार अगले साल किसानों को ऋण प्राप्त करने की सुविधा भी देगी।

किसानों को तत्काल दी जाएगी 25 प्रतिशत मुआवजा राशि

मध्य प्रदेश के कृषि मंत्री कमल पटेल ने 10 जनवरी 2022 को कहा कि राज्य सरकार ने अधिकारियों को बारिश और ओलावृष्टि से प्रभावित गांवों का सर्वेक्षण करने के लिए कहा है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि सरकार किसानों को उनके फसलों के नुकसान के लिए तत्काल 25 प्रतिशत मुआवजा राशि प्रदान करेगी।

किसानों को मिलेगा एक रुपए में खाद्यान्न

इसके अलावा किसानों की मदद के लिए भी एक और ऐलान किया गया है। इसमें जिन किसानों को 100 प्रतिशत फसल का नुकसान हुआ है, उन्हें एक रुपए प्रति किलोग्राम की दर से खाद्यान्न दिया जाएगा।

किन किसानों को मिलेगी तत्काल 25 प्रतिशत मुआवजा राशि

बता दें कि जिन किसानों के पास फसल बीमा कवर है, उन्हें प्रारंभिक मूल्यांकन के बाद 25 प्रतिशत राशि प्रदान की जाएगी और पूरी राशि बाद में दी जाएगी। दूसरी तरफ, जिन किसानों ने बीमा कवर नहीं लिया है, उनके लिए फसलों के नुकसान की भरपाई राज्य सरकार द्वारा की जाएगी।

COVID Vaccine Process

राज्य में किन जगहों पर हुआ फसल को नुकसान

पिछले दिनों राज्य में बारिश के साथ ओले भी मुसीबत बन कर बरसे। इससे किसानों की लहसुन और प्याज के साथ चना के फसल को नुकसान पहुंचा है। गौरतलब है कि पृथ्वीपुर, मडिया सहित अशोकनगर क्षेत्र के मुंगावली ब्लॉक के दो दर्जन गांवों में जमकर ओले गिरे थे। पठारी, सहराई, देवरछी, चिरौली, गुंडा, बमोरी, बम्मन खिरिया, अमनचार, जनकपुर, कारातला, बजाबन, कनेरा, ढिमचौली, घाटबमुरिया, बाबरौद, बल्कचक्क, टांडा, टांडा चक्क, नरखेड़ा, मल्हारगढ़ के अलावा कई गांवों में ओले गिरे थे। किसानों को नुकसान न सिर्फ शिवपुरी में बल्कि उज्जैन, मंदसौर, नीमच, आगर, शाजापुर, देवास सहित कई जिलों में हुआ है।

सरकार के निर्देश के बाद कलेक्टर ने लिया फसल क्षति का जायजा

राजगढ़ कलेक्टर हर्ष दीक्षित द्वारा ओलावृष्टि से प्रभावित खिलचीपुर जनपद के ग्राम खाजला-खाजली, कोटरा आदि ग्रामों का भ्रमण कर किसानों की फसलों को हुई क्षति का मौके पर जायजा लिया गया। खाजली गांव में उन्होंने सर्वे कार्य में लगे दल को सारा एप में गिरदावरी के साथ ही ओला प्रभावित फसल की फोटो अपलोड कर आवश्यक जानकारियां भी सारा एप पर ही इंद्राज करने के निर्देश दल के सदस्य पटवारियों को दिए। उन्होंने ओलावृष्टि से प्रभावित किसान लालसिंह के सरसों के खेत की मौके पर ही गिरदावरी कराकर फसल क्षति की जानकारी एप पर प्रविष्ठियां कराई। 

सर्वे कार्य शीघ्र पूरा करने के दिए निर्देश

इस अवसर पर कलेक्टर ने अनुविभागीय अधिकारी राजस्व खिलचीपुर पल्लवी वैद्य एवं तहसीलदार श्री अशोक सेन को सर्वे दल में उद्यानिकी तथा कृषि विभाग के अमले को भी लगाने, सर्वे कार्य शीघ्र पूरा करने, प्रतिदिन शाम को सर्वे की रिपोर्टिग करने के निर्देष भी दिए। भ्रमण के दौरान उन्होंने खाजली ग्राम में ओलावृष्टि से प्रभावित श्री लालसिंह एवं अन्य कृषकों के खेतों का अवलोकन किया तथा ग्राम कोटरा में किसान प्रभुलाल, कालूलाल, देवकरण एवं रमेष ओलावृष्टि से फसलों को हुई क्षति की जानकारियां ली।  


अगर आप अपनी कृषि भूमि, अन्य संपत्ति, पुराने ट्रैक्टर, कृषि उपकरण, दुधारू मवेशी व पशुधन बेचने के इच्छुक हैं और चाहते हैं कि ज्यादा से ज्यादा खरीददार आपसे संपर्क करें और आपको अपनी वस्तु का अधिकतम मूल्य मिले तो अपनी बिकाऊ वस्तु की पोस्ट ट्रैक्टर जंक्शन पर नि:शुल्क करें और ट्रैक्टर जंक्शन के खास ऑफर का जमकर फायदा उठाएं।

Mahindra Bolero Maxitruck Plus

Quick Links

scroll to top