गाय, भैंस पालन के लिए किसानों को मिलेगी 50% सब्सिडी - जानें पूरी जानकारी

प्रकाशित - 29 Jun 2022

गाय, भैंस पालन के लिए किसानों को मिलेगी 50% सब्सिडी - जानें पूरी जानकारी

जानें, क्या है सरकार की पशुपालन योजना और इससे कैसे मिलेगा लाभ

पशुपालन को बढ़ावा देने के लिए सरकार की ओर से कई प्रकार की योजनाएं चलाई जा रही हैं। इन योजनाओं के माध्यम से सरकार किसानों को खेती के साथ ही पशुपालन के लिए भी उन्हें प्रोत्साहित कर रही है ताकि किसानों की आय में इजाफा हो सकें। इसी क्रम में मध्यप्रदेश और हरियाणा सरकार की ओर से गाय, भैंस पालन पर अलग-अलग योजनाओं में सब्सिडी का लाभ प्रदान किया जा रहा है। इसके तहत किसानों को 50 प्रतिशत तक सब्सिडी दी जा रही है। आज हम आपको मध्यप्रदेश और हरियाणा सरकार की गाय, भैंस पालन पर सब्सिडी योजना की जानकारी दे रहे हैं। 

Buy Used Tractor

गाय पालने पर मिलेंगे हर साल 10,800 रुपए

मध्यप्रदेश सरकार की ओर से गाय पालने के लिए किसानों को 50 प्रतिशत तक सब्सिडी का लाभ प्रदान किया जा रहा है। इसके लिए राज्य सरकार की ओर से किसानों को प्रतिमाह 900 रुपए की सहायता राशि प्रदान की जाएगी। इस तरह पशुपालक किसान को एक साल में कुल 10,800 रुपए की राशि दी जाएगी। इस राशि से किसान अपने पशु के लिए चारा खरीद सकेगा। इससे उसकी चारा खरीदने में खर्च होने वाली राशि की बचत होगी। 

भैंस खरीदने पर मिलेगी 50 प्रतिशत सब्सिडी

मीडिया रिपोर्ट्स के आधार पर मध्यप्रदेश सरकार हरियाणा से मुर्रा भैंसों को मंगवा रही है। यदि पशुपालक किसान इनको खरीदता है तो उसे कुल कीमत का 50 प्रतिशत तक सब्सिडी दी जाएगी। इसमें एसटी, एसटी वर्ग के पशुपालकों को विशेष लाभ दिया जाएगा। इसके तहत उन्हें 75 प्रतिशत का लाभ प्रदान किया जाएगा। बता दें कि एक मुर्रा भैंस की कीमत करीब एक लाख रुपए होती है और ये एक दिन में 12 से 15 लीटर दूध देती है। इस योजना के तहत पशुपालक दो भैंसे खरीद सकता है। इसमें शर्त ये हैं कि पशुपालक को यह भैंस पांच साल तक रखनी जरूरी होगी। 

देसी गाय खरीदने पर मिलेगी 25 हजार रुपए की सहायता

इधर हरियाणा में देसी गाय खरीदने के लिए पशुपालक को 25 हजार रुपए की आर्थिक सहायता दी जाएगी। वहीं पशुपालक देसी गाय के अवशिष्ट से खाद बनाने के लिए ड्रम भी दिए जाएंगे। इसे लेकर राज्य के मुख्यमंत्री ने किसानों को देसी गाय खरीदने पर 25 हजार रुपए तक की सब्सिडी दिए जाने का प्रवाधान किया गया है। इसके अलावा किसानों को प्राकृतिक खेती के लिए जीवामृत का घोल तैयार करने के लिए 4 बड़े ड्रम नि:शुल्क यानि फ्री दिए जाएंगे। इस योजना का लाभ वे किसान ही ले सकते हैं जिनके पास 2 से 5 एकड़ भूमि हो। बता दें कि इस बार राज्य सरकार ने प्रदेश में 50 हजार एकड़ भूमि में प्राकृतिक खेती को बढ़ावा देने का लक्ष्य तय किया गया है।

गाय, भैंस की डेयरी खोलने पर भी मिलेगा सरकार से पैसा

हरियाणा में 3/5/10 दुधारू पशु की मिनी डेयरी यूनिट खोलने के लिए सरकार से सहायता मिलती है। इस योजना के तहत पशुपालक किसान को ऋण राशि पर 25 प्रतिशत सब्सिडी दी जाती है। इसके अलावा देसी गाय पर 50 प्रतिशत का अनुदान राज्य के नियमानुसार दिया जाता है। इसके लिए आवेदन करने वाले पशुपालक की उम्र 18 से 55 वर्ष होनी चाहिए। इसके लिए आवेदन लोकल एरिया पशु चिकित्सा के माध्यम से किया जा सकता है। 

तीन पशुओं की मिनी डेयरी खोलने पर भी मिलेगी सहायता

हरियाणा राज्य सरकार पशुपालकों को मिनी डेयरी खोलने के लिए भी सब्सिडी का लाभ प्रदान करती है। लेकिन इसका लाभ सिर्फ अनुसूचित जाति के पशुपालक ही ले सकते हैं। इस योजना के तहत तीन पशुओं से मिनी डेयरी खोलने पर ऋण राशि पर 50 प्रतिशत तक की सब्सिडी दी जाती है। इस योजना के लिए आवेदक की आयु 18 वर्ष से 55 वर्ष तक होनी चाहिए। इसके भी आवेदन लोकल एरिया पशु चिकित्सा के माध्यम से लिए जाएंगे। 

Buy Used Tractor

50 पशुओं की हाईटेक डेयरी खोलने पर मिलेगा 75 प्रतिशत अनुदान

इसी प्रकार 50 पशुओं की हाईटेक डेयरी यूनिट खोलने पर राज्य सरकार की ओर से 75 प्रतिशत अनुदान दिया जाएगा। इसमें 18 से 55 वर्ष की उम्र का कोई भी बेरोजगार व्यक्ति आवेदन कर सकता है। इसके आवदेन लोक एरिया पशु चिकित्सा के माध्यम से लिए जाएंगे। इस योजना के तहत ऋण राशि का 75 प्रतिशत भाग पर 5 वर्षों के लिए देय ब्याज का भुगतान किया जाएगा।  

आवेदन के लिए आवश्यक दस्तावेज

हरियाणा में गाय-भैंस की डेयरी खोलने के लिए आवेदन करते समय आपको कुछ महत्वपूर्ण दस्तावेजों की आवश्यकता होगी जो इस प्रकार से हैं-

  • प्रार्थना-पत्र
  • एग्रीमेंट डीड
  • शपथ-पत्र
  • आयु प्रमाण-पत्र
  • आधार कार्ड
  • पैन कार्ड
  • दो नवीनतम पासपोर्ट साईज फोटो
  • बैंक पासबुक
  • सरपंच व पटवारी की रिपोर्ट

योजना का लाभ लेने के लिए कहां करें संपर्क

उपरोक्त योजनाओं का लाभ लेने के लिए किसान अपने निकटतम पशुपालन विभाग से संपर्क कर सकते हैं और वहां से इन योजनाओं की विस्तृत जानकारी ले सकते हैं।  

ट्रैक्टर जंक्शन हमेशा आपको अपडेट रखता है। इसके लिए ट्रैक्टरों के नये मॉडलों और उनके कृषि उपयोग के बारे में एग्रीकल्चर खबरें प्रकाशित की जाती हैं। प्रमुख ट्रैक्टर कंपनियों महिंद्रा ट्रैक्टरन्यू हॉलैंड ट्रैक्टर आदि की मासिक सेल्स रिपोर्ट भी हम प्रकाशित करते हैं जिसमें ट्रैक्टरों की थोक व खुदरा बिक्री की विस्तृत जानकारी दी जाती है। अगर आप मासिक सदस्यता प्राप्त करना चाहते हैं तो हमसे संपर्क करें।

अगर आप नए ट्रैक्टरपुराने ट्रैक्टरकृषि उपकरण बेचने या खरीदने के इच्छुक हैं और चाहते हैं कि ज्यादा से ज्यादा खरीददार और विक्रेता आपसे संपर्क करें और आपको अपनी वस्तु का अधिकतम मूल्य मिले तो अपनी बिकाऊ वस्तु को ट्रैक्टर जंक्शन के साथ शेयर करें।

हमसे शीघ्र जुड़ें

scroll to top
Close
Call Now Request Call Back