ऋण माफी योजना : तीन लाख किसानों का कर्ज माफ, 20 अगस्त को जारी होंगे चेक

ऋण माफी योजना : तीन लाख किसानों का कर्ज माफ, 20 अगस्त को जारी होंगे चेक

Posted On - 15 Jul 2021

ऋण माफी योजना : पंजाब में योजना के पात्र प्रत्येक किसान को मिलेगी 20 हजार रुपए की राहत

देश में किसानों को आगे बढ़ाने, उनकी आय को दोगुनी करने और उन्हें आर्थिक रूप से सशक्त बनाने के लिए केंद्र सरकार व राज्य सरकार निरंतर प्रयत्नशील हैं। इसी क्रम में देश के करीब 3 लाख किसानों के लिए खुशखबरी है, उनका 20 हजार रुपए तक का कर्ज माफ कर दिया गया है। पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने मजदूरों और भूमिहीन कृषक समुदाय के लिए कृषि ऋण माफी योजना ( loan waiver scheme) के तहत 590 करोड़ रुपए के लोन माफ करने की घोषणा की है। अब 20 अगस्त को राज्य स्तरीय समारोह में ऋण माफी संबंधी चेक जारी किए जाएंगे। आपको बता दें कि पंजाब कांग्रेस ने विधानसभा चुनाव 2017 के दौरान किसानों का लोन माफ करने का वादा किया था।

Buy Used Livestocks

 

सबसे पहले सरकार की सभी योजनाओ की जानकारी के लिए डाउनलोड करे, ट्रेक्टर जंक्शन मोबाइल ऍप - http://bit.ly/TJN50K1 


प्राथमिक कृषि सहकारी समितियों के 2.85 लाख सदस्यों को मिलेगा लाभ

पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह की ओर से जारी आधिकारिक बयान में करीब 2.85 लाख किसानों का ऋण माफ करने की जानकारी दी गई है। मुख्यमंत्री के हवाले से बयान में कहा गया है कि पंजाब सरकार प्राथमिक कृषि सहकारी समितियों (Primary Agricultural Cooperative Societies - PACS)  के 2 लाख 85 हजार 325 सदस्यों के 590 करोड़ रुपए के ऋण का भुगतान करेगी। इस ऋण माफी योजना से प्रति सदस्य को 20 हजार रुपए की राहत मिलेगी। इसके साथ मुख्यमंत्री ने वित्त एवं सहकारिता विभागों को निर्णय के प्रभावी क्रियान्वयन की प्रक्रिया को धरातल पर शुरू करने का निर्देश दिया है। 20 अगस्त को एक राज्य स्तरीय समारोह में इस योजना के तहत चेक वितरित किए जाएंगे।


पंजाब सरकार में ऋण राहत योजना और पैक्स की भूमिका (Kisan Karj Mafi Yojana Online)

पंजाब सरकार ने पंजाब कृषि सहकारी सभाएं-2019 के अंतर्गत खेत कामगारों और भूमि रहित काश्तकार सदस्यों के लिए कर्ज राहत स्कीम बनाई थी, जो प्राथमिक कृषि सहकारी समितियों (PACS) के माध्यम से पंजाब के जिला केंद्रीय सहकारी बैंकों द्वारा सदस्यों को दिए गए केवल उपभोग ऋण को कवर करेगी। यहां आपको बता दें कि पैक्स (PACS) जमीनी स्तर की सहकारी ऋण संस्थाएं हैं जो कि किसानों को विभिन्न कृषि गतिविधियों के लिए अल्पकालीन व मध्यम अवधि के लिए लोन प्रदान करती है। यह एक बहुक्रियाशील संगठन हैं जो बैंकिंग, आउट सप्लाई, मार्केटिंग उत्पाद और उपभोक्ता वस्तुओं के व्यापार जैसी गतिविधियों की मेजबानी करता है।

 

COVID Vaccine Process

कृषि ऋण माफी योजना : 5.64 लाख किसानों का 4,624 करोड़ रुपए का कर्ज माफ

पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने यह घोषणा ‘ऋण माफी योजना’ के बाद की है। इस योजना के तहत अब तक 5.64 लाख किसानों का 4,624 करोड़ रुपये का कर्ज माफ किया जा चुका है, जिसकी घोषणा पंजाब कांग्रेस द्वारा 2017 के चुनावी वादों के तहत की गई थी। इसके अलावा, अनुसूचित जाति और पिछड़ा वर्ग श्रेणियों में से प्रत्येक के लिए 50 हजार रुपए तक का ऋण माफ कर दिया गया है, जिसमें अनुसूचित जाति निगम द्वारा 6,405 लाभार्थियों के 58.39 करोड़ रुपये तक की छूट और पिछड़ा वर्ग निगम द्वारा 1,225 लाभार्थियों के 20.71 करोड़ रुपये की छूट शामिल है।

 

पंजाब में विधानसभा चुनाव अगले साल, किसानों को साधने में जुटे दल

पंजाब में विधानसभा चुनाव अगले साल प्रस्तावित हैं। सभी राजनीतिक दल किसानों को साधने में जुटे हुए हैं। कोई भी दल किसानों की नाराजगी मोल नहीं लेना चाहता है। किसानों की कर्ज माफी के मुद्दे पर राज्य की मुख्य विपक्षी पार्टी शिरोमणि अकाली दल ने मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह को घेरा था। सुखबीर सिंह बादल ने सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह के एक पुराने वीडियो को शेयर करते हुए लिखा कि कहीं ऐसा न हो की आप भूल जाएं। इस वीडियो में कैप्टन अमरिंदर सिंह कर्ज माफ करने की बात जोरशोर से कह रहे हैं। इसका जवाब देते हुए कैप्टन अमरिंदर सिंह ने सुखबीर सिंह बादल, प्रकाश सिंह बादल और हरसिमरत कौर बादल का एक वीडियो शेयर किया था, जिसमें तीनों नेता कृषि कानूनों को समर्थन में खड़े दिखाई दिए थे। विपक्षी दल द्वारा कर्जमाफी के मुद्दे को उठाने के बाद कैप्टन अमरिंदर सिंह ने किसानों का लोन माफ करने का ऐलान कर दिया। आपको बता दें कि पंजाब में 2022 में विधानसभा चुनाव के चलते राजनीति तेज हो गई है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता नवजोत सिंह सिद्धू के सीएम अमरिंदर सिंह से राजनीतिक मदभेद खुलकर सामने आ गए हैं। सिद्धू कथित तौर पर कांग्रेस पार्टी छोडऩे के संकेत दे चुके हैं। कुल मिलाकर विधानसभा चुनाव से पहले सरकार की नीतियों से किसानों को फायदा पहुंचना तय है।

 

अगर आप अपनी कृषि भूमि, अन्य संपत्ति, पुराने ट्रैक्टर, कृषि उपकरण, दुधारू मवेशी व पशुधन बेचने के इच्छुक हैं और चाहते हैं कि ज्यादा से ज्यादा खरीददार आपसे संपर्क करें और आपको अपनी वस्तु का अधिकतम मूल्य मिले तो अपनी बिकाऊ वस्तु की पोस्ट ट्रैक्टर जंक्शन पर नि:शुल्क करें और ट्रैक्टर जंक्शन के खास ऑफर का जमकर फायदा उठाएं।

Quick Links

scroll to top