कोरोना वैक्सीनेशन : अब हर राज्य में अलग-अलग दिन लगेगा टीका

कोरोना वैक्सीनेशन : अब हर राज्य में अलग-अलग दिन लगेगा टीका

Posted On - 20 Jan 2021

जान लें, आपके शहर में किस दिन होगा टीकाकरण?

कोरोना वैक्सीन को लेकर बड़े काम की खबर निकलकर आई है। केंद्र सरकार ने अब हर राज्य के लिए टीकाकरण के दिन तय कर दिए हैं। अब इन्हीं तय किए गए दिनों में आपके राज्य या शहर में कोरोना टीकाकरण किया जाएगा। बता दें कि देश में 16 जनवरी से कोरोना वैक्सीन टीकाकरण का महाअभियान शुरू कर दिया गया। इस टीकाकरण अभियान के पहले चरण में कुल 3 करोड़ लोगों को टीका लगाया जाना है। वहीं दूसरे चरण में यह संख्या 30 करोड़ तक ले जाने का लक्ष्य है।

 

सबसे पहले सरकार की सभी योजनाओ की जानकारी के लिए डाउनलोड करे, ट्रैक्टर जंक्शन मोबाइल ऍप - http://bit.ly/TJN50K1


ऐसा करने के पीछे क्या है कारण?

मोदी सरकार ने यह कदम इसलिए उठाया है जिससे कि दूसरी स्वास्थ्य सेवाओं पर असर न पड़े। इससे पहले राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को हफ्ते में चार दिन टीके लगाने की सलाह दी गई थी। अब उत्तर प्रदेश, हिमाचल प्रदेश और गोवा में सबसे कम दो दिन और आंध्र प्रदेश में सबसे अधिक हफ्ते में छह दिन टीके लगाए जाएंगे। मीडिया में प्रकाशित खबरों के हवाले से स्वास्थ्य मंत्रालय के अपर सचिव मनोहर अगनानी ने कहा कि राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को पहले हफ्ते में चार दिन टीकाकरण अभियान चलाने की सलाह दी गई थी ताकि दूसरी स्वास्थ्य सेवाओं पर इसका प्रतिकूल असर नहीं पड़े, अब इसमें बदलाव किया गया है। आंध्र प्रदेश में हफ्ते में छह दिन तो मिजोरम में हफ्ते में पांच दिन टीके लगाए जाएंगे।

 


किस राज्य में कौनसे दिन लगेगी कोरोना वैक्सीन

उन्होंने कहा कि राज्यों में कोरोना टीका लगाने के लिए दिन निश्चित किया गया है। इसके अनुसार उत्तर प्रदेश में गुरुवार, शुक्रवार तो हिमाचल प्रदेश में सोमवार, मंगलवार को कोरोना का टीका लगेगा। इसी तरह बिहार में सोमवार, मंगलवार, गुरुवार, शनिवार और हरियाणा में सोमवार, मंगलवार, गुरुवार, शुक्रवार को टीकाकरण किया जाएगा। जम्मू-कश्मीर में सोमवार, मंगलवार, गुरुवार, शुक्रवार तो झारखंड में सोमवार, मंगलवार, बुधवार, शुक्रवार को टीका लगेगा। मध्य प्रदेश में कोरोना टीका सोमवार, बुधवार, गुरुवार, शनिवार को और पंजाब में सोमवार, मंगलवार, गुरुवार, शुक्रवार को लगेगा। 

राजस्थान में कोरोना टीकाकरण सोमवार, मंगलवार, शुक्रवार, शनिवार को होगा तो उत्तराखंड में यह सोमवार, मंगलवार, गुरुवार, शुक्रवार को होगा। इसके साथ ही पश्चिम बंगाल में कोरोना टीका सोमवार, मंगलवार, शुक्रवार, शनिवार को लगाया जाएगा। 

मनोहर अगनानी ने कहा कि अंडमान निकोबार द्वीप समूह, नगालैंड और ओडिशा में हफ्ते में तीन दिन टीकाकरण अभियान चलेगा जबकि, अरुणाचल प्रदेश, असम, बिहार, चंडीगढ़, छत्तीसगढ़, दादर एवं नगर हवेली, दमन एवं दीव, दिल्ली, गुजरात, हरियाणा, जम्मू-कश्मीर में हफ्ते में चार दिन टीके लगाए जाएंगे।

 

यह भी पढ़ें : पीएम आवास योजना : मोदी का ग्रामीणों का तोहफा, खातों में 2691 करोड़ रुपए ट्रांसफर


भारत में अब तक की कोरोना टीकाकरण की स्थिति

भारत में कोरोना टीकाकरण की रफ्तार धीमी नजर आ रही है। जितनी तत्परता वैक्सीन मंजूरी में दिखाई गई उतनी तत्परता टीकाकरण में नहीं दिखाई दे रही है। दुनिया के सबसे बड़े कोरोना टीकाकरण अभियान को शुरू हुए चार दिन बीत चुके हैं। पहले चरण के तहत देश में तीन करोड़ स्वास्थ्यकर्मियों, फ्रंटलाइन वर्कर्स को टीका लगाया जाना है। अब तक करीब कुल 6.31 लाख लोगों (स्वास्थ्यकर्मियों) को टीका लगाया जा सका है। टीकाकरण की रफ्तार धीमी होने की कई वजहें हैं, जिनमें कई जगह कोविन एप में तकनीकी खामी तो कहीं लोगों में डर।

हालांकि, ऐसा नहीं है कि सिर्फ भारत में ही शुरुआत में टीकाकरण की रफ्तार देखने को मिल रही है। हालांकि दुनिया के जिन देशों में पहले टीकाकरण अभियान शुरू हुए, वहां भी ऐसी ही स्थिति देखने को मिली। स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, देश में टीकाकरण अभियान की शुरुआत के बाद चौथे दिन यानी मंगलवार शाम तक 11,660 सत्र के जरिए कुल 6.31 लाख स्वास्थ्यकर्मियों को कोविड-19 का टीका लगाया गया। मंगलवार को शाम छह बजे तक 3,800 सत्र के जरिए 1,77,368 लाभार्थियों को टीका लगाया गया मंत्रालय ने मंगलवार को कहा कि टीका लगाने के बाद प्रतिकूल प्रभाव (एईएफआई) के केवल नौ मामलों में अस्पताल में भर्ती कराने की आवश्यकता पड़ी।


अभियान के पहले दिन सबसे ज्यादा लोगों को लगा टीका

अभियान के पहले दिन 2,07,229 लोगों को टीका लगाया गया। उसके बाद दूसरे दिन 17,072, तीसरे दिन 1,48,266 तथा चौथे दिन 1,77,368 लोगों का टीकाकरण किया गया। हालांकि टीकाकरण की धीमी रफ्तार को लेकर भारत को चिंता करने की जरूरत नहीं है। अमेरिका, ब्रिटेन, चीन, फ्रांस समेत कई देशों में पिछले साल दिसंबर में ही टीका लगाने का काम शुरू हो गया था। सबसे पहले टीके को आपात मंजूरी देने के बावजूद कई देशों में लोगों में वैक्सीन को लेकर संशय है। इस कारण इन देशों में टीकाकरण की रफ्तार धीमी है।

 

यह भी पढ़ें : स्मार्ट मंडी : अब मंडियों में खुलेंगे अस्पताल, किसानों का होगा मुफ्त इलाज


कर्मचारियों के लिए वैक्सीन खरीदेंगी ये कंपनियां

देश में बड़े पैमाने पर कोरोना टीकाकरण शुरू होने के बाद अब कई कंपनियां अपने सभी कार्यालयों और संयंत्रों में कर्मचारियों को अपने खर्च से कोरोना वैक्सीन देने की योजना बना रही हैं। मीडिया में प्रकाशित खबरों के अनुसार जेएसडब्ल्यू स्टील और जिंदल स्टील एंड पावर लिमिटेड (जेएसपीएल) जैसी कंपनियों ने कहा है कि वे अपनी जरूरत के अनुसार वैक्सीन का ऑर्डर देने के लिए भारतीय दवा कंपनियों से बातचीत कर रही हैं। 

जेएसपीएल के मुख्य मानव संसाधन अधिकारी पंकज लोचन ने कहा कि हम खुराक की थोक आपूर्ति के लिए वैक्सीन निर्माताओं से संपर्क कर रहे हैं और महामारी का सीधे मुकाबला कर रहे लोगों का टीकाकरण होने के बाद वैक्सीन लेने का प्रयास करेंगे। टाटा स्टील और महिंद्रा ग्रुप जैसी कंपनियां भी अपने स्टाफ के वैक्सीनेशन की कोशिश कर रही हैं।

इसके साथ ही कंज्यूमर गुड्स बनाने वाली देश की दिग्गज कंपनी आईटीसी लिमिटेड ने भारत सरकार के प्रति गु्रप को टीका लगाने के बाद अपने स्टाफ के टीकाकरण के लिए दवा बनाने वाली कंपनियों से बातचीत शुरू कर दी है। आईटीसी ग्रुप के कॉर्पोरेट ह्यूमन रिसोर्सेज के प्रमुख अमिताभ मुखर्जी ने कहा कि आईटीसी अपने सभी स्टाफ को कोरोनावायरस लगवाने की कोशिशों में जुटी है। हमने दवा बनाने वाली कंपनियों से संपर्क किया है और इस बारे में बातचीत कर रहे हैं। टाटा स्टील के एक प्रवक्ता ने कहा कि कंपनी केंद्र और राज्य सरकारों के साथ मिलकर काम कर रही है और जब वैक्सीन उपलब्ध होगी, तब दिशानिर्देशों के अनुसार अपने कर्मचारियों का टीकाकरण करेंगे।

 

 

अगर आप अपनी कृषि भूमि, अन्य संपत्ति, पुराने ट्रैक्टर, कृषि उपकरण, दुधारू मवेशी व पशुधन बेचने के इच्छुक हैं और चाहते हैं कि ज्यादा से ज्यादा खरीददार आपसे संपर्क करें और आपको अपनी वस्तु का अधिकतम मूल्य मिले तो अपनी बिकाऊ वस्तु की पोस्ट ट्रैक्टर जंक्शन पर नि:शुल्क करें और ट्रैक्टर जंक्शन के खास ऑफर का जमकर फायदा उठाएं।

Quick Links

scroll to top
Close
Call Now Request Call Back