किसान क्रेडिट कार्ड योजना : 23 जून को केसीसी बनाने के लिए लगेगा शिविर

किसान क्रेडिट कार्ड योजना : 23 जून को केसीसी बनाने के लिए लगेगा शिविर

Posted On - 22 Jun 2022

 

Buy Used Tractor

जानें, केसीसी बनवाने के लिए किन दस्तावेजों की होगी आवश्यकता

खरीफ फसल की बुवाई शुरू होने के साथ ही किसानों के क्रेडिट कार्ड बनाने का काम शुरू कर दिया गया है। इसके लिए सरकार की ओर से शिविर लगाए जा रहे हैं ताकि किसानों को इस खरीफ सीजन में फसली ऋण आसानी से उपलब्ध कराया जा सके। इसी क्रम में झारखंड के दो जिलों हजारीबाग और गढ़वा में 23 जून 2022 को विशेष शिविर का आयोजन किया जा रहा है। इस शिविर में जाकर किसान, क्रेडिट कार्ड के लिए आवेदन कर सकते हैं। 

हजारीबाग जिले में लक्ष्य पूरा करने के दिए निर्देश

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार हजारीबाग जिले में किसान क्रेडिट कार्ड वितरण के लक्ष्य को पूरा करने के लिए जिला उपायुक्त नैसी सहाय ने जिले के सभी प्रखंडों के प्रखंड विकास पदाधिकारियों की बैठक ली। बैठक में सहाय ने कहा कि राज्य के सरकार के निर्देशानुसार ही जिले के सभी प्रखंड में किसान क्रेडिट कार्ड वितरण के लिए शिविर का आयोजन किया जाएगा। नैसी सहाय ने अधिकारियों से कहा कि तय समय सीमा के अंदर योजनाओं को पूरा करना है। उन्होंने कहा कि पात्र किसानों तक केसीसी का लाभ पहुंचे इसके लिए पूरे प्रयास किए जाने चाहिए। वित्तीय वर्ष 2022-23 में जिले के 66571 केसीसी बनाने का लक्ष्य रखा गया है। 

गढ़वा जिले में होगा शिविर का आयोजन

इसी प्रकार गढ़वा जिले में शिविर का आयोजन किया जाएगा जिसमें किसानों को किसान क्रेडिट कार्ड दिया जाएगा। जिले के उपायुक्त के अनुसार जिले के विभिन्न बैंकों में वर्तमान में 12139 आवेदन स्वीकृति के लिए लंबित हैं। जबकि 11 हजार आवेदन गलत पाए गए हैं। इस कारण विशेष शिविर का आयोजन कर सभी किसानों के केसीसी कार्ड बनाने का प्रयास किया जाएगा। 

क्या रहेगा शिविर का समय

झारखंड में उपरोक्त जिले के प्रत्येक प्रखंड में 23 जून को शिविर का आयोजन किया जाएगा। यह शिविर सूदूर गांव के बैंकों में लगाया जाएगा। शिविर का समय सुबह दस बजे से शाम चार बजे तक रहेगा। इस दौरान किसानों को केसीसी दिया जाएगा। नए आवेदन के लिए जाएंगे और मौके पर ही त्रुटियों का सुधार किया जाएगा। 

15 दिन में पूरी हो लोन देने की कार्रवाई

किसान क्रेडिट कार्ड योजना की गति को बढ़ाते हुए यहां बैंकों को आवेदनों पर 15 दिन के अंदर कार्रवाई को कहा गया है ताकि किसानों को खरीफ सीजन में आसानी से ऋण उपलब्ध हो सके। यह निर्णय बीते शुक्रवार को डीसी संदीप सिंह की अध्यक्षता में हुई जिला स्तरीय सलाहकार समिति की बैठक में निर्णय लिया गया। डीसी ऑफिस के सभागार में हुई बैठक में बैंकों की ओर से पिछले वित्तीय वर्ष में दिए गए लोग के बारे में भी जानकारी ली गई। डीसी ने कहा कि केसीसी कैंप का उद्देश्य पीएम किसान योजना से वंचित किसानों को केसीसी से जोडऩा है। इसके लिए आवेदन लिए जाएं तथा कैंप में प्राप्त आवेदनों में त्रुटि होने पर मौके पर ही सुधार कर लिया जाए। 15 दिनों के अंदर लोन देने की कार्रवाई पूरी कर ली जाए।

किसान क्रेडिट कार्ड के लिए इन दस्तावेजों की होगी आवश्यकता

किसानों को क्रेडिट कार्ड बनवाने के लिए कुछ महत्वपूर्ण दस्तावेजों को अपने साथ लेकर शिविर में जाना होगा ताकि केसीसी बनाने में कोई परेशानी नहीं आये। ये दस्तावेज इस प्रकार से हैं- 

Buy Used Tractor

  • खेत के कागजात इसमें खसरा खतौनी की कॉपी जमा करानी होगी।
  • किसान का निवास प्रमाण पत्र यानि पते का सबूत इसके लिए आधार कार्ड, पैन कार्ड, वोटर आईडी, ड्राइविंग लाइसेंस या कोई अन्य सरकार द्वारा स्वीकृत आईडी इनमें से कोई एक जमा कराया जा सकता है।
  • शपथ पत्र जिसमें किसान को बताना होगा कि उसका पहले किसी और बैंक से कोई ऋण बकाया तो नहीं है। 
  • आवेदन करने वाले का पासपोर्ट आकार का फोटो
  • विधिवत भरे हुए और हस्ताक्षर किया हुआ आवेदन फॉर्म

केसीसी बनवाने से किसानों को होने वाले लाभ

किसानों को क्रेडिट कार्ड बनवाने से किसानों को कई लाभ मिलते हैं। उनमें से कुछ लाभ इस प्रकार से हैं- 

  • किसान क्रेडिट कार्ड के जरिये किसान बैंक से 5 लाख रुपए तक ऋण प्राप्त कर सकते हैं।
  • केसीसी के तहत दिए जाने वाले ऋण पर किसानों को छूट प्रदान की जाती है।
  • किसान क्रेडिट कार्ड के तहत लिए गए ऋण पर 4 प्रतिशत वार्षिक ब्याज लगता है।
  • केसीसी कार्ड के जरिये लिए गए ऋण का भुगतान यदि किसान निर्धारित अवधि से पहले कर देते हैं तो ऐसे किसानों को सरकार की ओर किसान द्वारा ली गई ऋण राशि में 3 प्रतिशत तक की सब्सिडी प्रदान की जाती है।
  • इसके साथ ही किसानों को 7 प्रतिशत ब्याज दर की राशि से केवल 4 प्रतिशत के रूप में ब्याज का भुगतान करना होता है।
  • केसीसी से फसली ऋण के अलावा अन्य कार्यों के लिए भी मिलेगा ऋण प्रदान किया जाता है। 
  • भारतीय रिजर्व बैंक ने 4 जुलाई 2018 में परिपत्र जारी किया है। जिसमें इस योजना का उद्देश्य किसानों व्यक्तिगत/ संयुक्त उधार कर्ताओं जो स्वयं किसान हैं, काश्तकार किसान, मौखिक पट्टेदार और बटाईदार, स्वयं सहायता समूहों या काश्तकार किसानों, बटाईदारों आदि सहित किसानों के संयुक्त देयता को उनकी खेती और अन्य जरूरतों के लिए लचीली और सरल प्रक्रिया के साथ एकल खिडक़ी के तहत बैंकिंग प्रणाली से पर्याप्त समयवद्ध सहायता प्रदान करना है।

किसानों को किन कामों के लिए केसीसी से मिल सकता है ऋण

किसान क्रेडिट कार्ड के माध्यम से किसान अपनी कई आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए ऋण ले सकते हैं। जिन कार्यों के लिए ऋण केसीसी पर उपलब्ध होता है वे इस प्रकार से हैं-

  • फसलों की खेती के लिए अल्पकालिक ऋण आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए
  • फसल कटाई के बाद के लिए खर्च
  • उपज विपणन ऋण
  • किसान परिवार की खपत की आवश्यकताएं
  • कृषि परिसंपत्तियों और कृषि संबंधित गतिविधियों के रख-रखाव के लिए कार्यशील पूंजी
  • इसके अलावा कृषि और संबद्ध गतिविधियों के लिए निवेश ऋण की आवश्यकता। 

मछली पालक और पशुपालक भी ले सकते हैं केसीसी का लाभ

मछली पालक और पशुपालक किसान भी किसान क्रेडिट कार्ड बनवाकर बैंक से सस्ती दर पर ऋण सुविधा का लाभ उठा सकते हैं। इसके लिए 4 फरवरी, 2019 से किसान क्रेडिट कार्ड को पशुपालन और मत्स्य पालन में लगे किसानों को उनकी कार्यशील पूंजी की आवश्यकताओं की पूर्ति के लिए भी ऋण देने की व्यवस्था कर दी गई है। किसान 3 लाख रुपए तक के ऋण के लिए प्रसंस्करण शुल्क, निरीक्षण, बही फोलियो शुल्क, सेवा शुल्क सहित सभी शुक्ल माफ कर दिए गए हैं। केसीसी द्वारा लघु अवधि के कृषि-ऋण के लिए संपार्श्विक मुक्त ऋण सीमा को 1 लाख रुपए से बढ़ाकर 1.60 लाख रुपए कर दिया गया है।  

ट्रैक्टर जंक्शन हमेशा आपको अपडेट रखता है। इसके लिए ट्रैक्टरों के नये मॉडलों और उनके कृषि उपयोग के बारे में एग्रीकल्चर खबरें प्रकाशित की जाती हैं। प्रमुख ट्रैक्टर कंपनियों मैसी फर्ग्यूसन ट्रैक्टर, न्यू हॉलैंड ट्रैक्टर आदि की मासिक सेल्स रिपोर्ट भी हम प्रकाशित करते हैं जिसमें ट्रैक्टरों की थोक व खुदरा बिक्री की विस्तृत जानकारी दी जाती है। अगर आप मासिक सदस्यता प्राप्त करना चाहते हैं तो हमसे संपर्क करें।

अगर आप नए ट्रैक्टरपुराने ट्रैक्टरकृषि उपकरण बेचने या खरीदने के इच्छुक हैं और चाहते हैं कि ज्यादा से ज्यादा खरीददार और विक्रेता आपसे संपर्क करें और आपको अपनी वस्तु का अधिकतम मूल्य मिले तो अपनी बिकाऊ वस्तु को ट्रैक्टर जंक्शन के साथ शेयर करें।

 

हमसे शीघ्र जुड़ें

scroll to top
Close
Call Now Request Call Back