कृषि यंत्र : खरीफ फसलों की कटाई को आसान बनाएं ये कृषि यंत्र

कृषि यंत्र : खरीफ फसलों की कटाई को आसान बनाएं ये कृषि यंत्र

Posted On - 11 Oct 2021

जानें, इन फसल कटाई यंत्रों की खासियत और लाभ

खेती-किसानी के काम के लिए किसानों को कृषि यंत्रों की आवश्कता होती है। वर्तमान समय में आधुनिक कृषि यंत्रों का प्रयोग बढ़ता ही जा रहा है। इसका एक प्रमुख कारण यह है कि आधुनिक कृषि यंत्रों के प्रयोग से कम और श्रम में फसलों को तैयार किया जा सकता है। इस समय खरीफ की फसल की कटाई और विक्रय का काम पूरे देश भर में चल रहा है। इसे देखते हुए आज हम किसानों को खरीफ फसल की कटाई में काम आने वाले कृषि यंत्रों की जानकारी ट्रैक्टर जंक्शन के माध्यम से साझा कर रहे हैं। उम्मीद करते हैं कि ये जानकारी हमारे किसान भाइयों के लिए लाभदायक साबित होगी। तो आइए जानतें हैं, खरीफ फसल की कटाई में प्रयुक्त होने वाले यंत्रों की खासियत और लाभ।

Buy New Implements

1. रीपर

कृषि क्षेत्र में फसल पकने के बाद कटाई का कार्य किया जाता है। पॉवर रीपर कृषि मशीनरी है जो पकी होने पर फसलों को काटने में मदद करती है। यह एक बहुउद्देशीय मशीन है जो कई कार्यों को एक छोटे और प्रबंधनीय रूप से करता है। यह कम प्रयास में विभिन्न फसलों को आसानी से काट कर एक तरफ डाल देता है, जिससे कृषक आसानी से फसल को इकट्ठा कर सकता है।

2. रीपर कम बाइंडर

कृषि क्षेत्र में फसल पकने के बाद कटाई का कार्य किया जाता है। पॉवर रीपर कम बाइंडर कृषि मशीनरी है जो पकी होने पर फसलों को काटने तथा बांधने में मदद करती है। यह एक बहुउद्देशीय मशीन है जो कई कार्यों को एक छोटे और प्रबंधनीय रूप से करता है। यह कम प्रयास में गेहूं, धान और अन्य तिलहन और दलहन फसलों की कटाई और बंडल बनाने के लिए उपयुक्त है। किसान इसकी सहायता से आसानी से बंडलों को इकट्ठा कर सकता है। टै्रक्टर चलित रीपर कम बाइंडर भी बाजार में आते हैं। ये स्वयं के इंजन से चलता है। फसल की कटाई एवं बंडल बनाने का कार्य एक साथ हो जाता है। यह गेहूं एवं धान की फसल हेतु बहुत उपयुक्त है। इसकी सहायता से एक घंटे में एक एकड़ की कटाई की जा सकती है। इससे फसल कटाई की लागत में लगभग 50 प्रतिशत की बचत होती है।

3. कम्बाईन हार्वेस्टर

कंबाइन हारवेस्टर एक बहुउद्देशीय मशीन है जिसे सामान्य भाषा में हारवेस्टर कहा जाता है। इसमें कुशलतापूर्वक विभिन्न प्रकार की फसलों को काटने के लिए डिज़ाइन किया गया है। इसमें फसलों की कटाई , गहाई तथा सफाई का काम एक साथ सम्पन किया जाता जाता है इसीलिए इसे कंबाइन हार्वेस्टर कहते है । इससे कृषि कार्यो में तेजी आती आती है साथ ही समय , श्रम तथा लागत की बचत होती है। यह मुख्यत: स्वचालित , ट्रेक्टर माउंटेड तथा ट्रेक्टर से चलने वाले होते है। ये दो प्रकार के होते हैं- पहला कंबाइन हार्वेस्टर जिसमें ट्रेक्टर चलित 10 फीट तक का कटरबार होता है जो ट्रैक्टर के बिना संचाजित होता है। दूसरा कंबाइन हार्वेस्टर- ट्रैक्टर चलित होता है।

3. मल्टीक्रॉप थ्रेशर

थ्रेशर कृषि यंत्रीकरण का सबसे महत्वपूर्ण यंत्र है। जो फसलों की गहाई का कार्य करता है, अर्थात यह डंठल और भूसी से अनाज निकालता है। मल्टी क्रॉप थ्रेशर से विभिन्न फसलों की गहाई की जा सकती है। थ्रेसर दो प्रकार के होते हैं - ट्रैक्टर चलित और बिजली चलित ।

5. कंबाइन-थ्रेसर

फसल को गाहने और काटने की संयुक्त मशीन है। यह खेत में घूमकर फसल काटती, गाहती तथा अनाज को साफ करती है। डंठल खेत में खड़ा छूट जाता है और फसल कटकर सीधे मशीन में चली जाती है। इसके साथ ही मशीन में ही मड़ाई, ओसाई और छनाई होकर साफ अनाज एक तरफ बोरों में भरता चला जाता है तथा भूसा एक तरफ गिरता चला जाता है।    

Buy Used Harvester

6. आलू खुदाई मशीन- पोटैटो डिगर

आलू की खुदाई के लिए पोटैटो डिगर मशीन किसानों के लिए बड़े काम की है। इसकी सहायता से जमीन से आलू आसानी से निकाला जा सकता है वो भी बिना आलू को क्षति पहुंचाएं। साधारण खुदाई से आलू में कट लग जाता है और वे आलू बाजार में नहीं बिक पाता है। इस समस्या का समाधान पोटैटो डिगर मशीन से हो सकता है। इसके इस्तेमाल से आलू आसानी से जमीन से निकाला जा सकता है। इसके उपयोग से कम समय में अधिक से अधिक जमीन में आलू की खुदाई की जा सकती है। ये ब्लेड, चेन कनवेयर बेल्ट, गियर बॉक्स आदि से लैस होता है। ट्रैक्टर के साथ लगाकर इस्तेमाल की जाने वाली इस मशीन से कृषि जमीन पर एक सटीक गहराई सेट की जा सकती है। फिर वही सामान गहराई किसान को पूरे खेत में मिलेगी, जो आलू की खुदाई को बेहद आसान कर देता है। इतना ही नहीं इस मशीन के इस्तेमाल से आलू को बिलकुल भी नुकसान नहीं पहुंचता, वो बिना कटे आलू बाहर निकलते हैं। इसकी गहराई को घटाया और बढ़ाया भी जा सकता है। पोटैटो डिगर जमीन से आलू निकालकर उससे मिट्टी को भी झाड़ देता है, जिससे एकदम उच्च गुणवत्ता वाला आलू बाहर निकलता है। 

7. कपास प्लकर मशीन

कपास प्लगर मशीन, कपास की खेती करने वाले किसानों के लिए बड़े काम की मशीन है। इसकी सहायता से कम समय में किसान कपास निकाल सकते हैं। यह मशीन मैनुअल पीकिंग को कम करती है। इस मशीन से कपास की कटाई में सहूलियत होती है। वहीं इस मशीन से कपास की कटाई में लागत कम आती है ओर कपास की गुणवत्ता में भी सुधार होता है। कपास प्लकर मशीन एक हाथों से नियंत्रित करने वाली मशीन है, जिसका वजन 600 ग्राम है। इस मशीन के अन्दर दो रोलर्स पाए जाते हैं। इसके बाहरी परिधि पर छोटे किनारों वाले दांत होते हैं। फसलों की कटाई करते समय कपास इसके रोलर्स में फंस जाता है,  एवं उसकी कटाई के बाद उससे जुड़ा बैग में एकत्रित हो जाते हैं। 

कहां करें कृषि यंत्रों की खरीद 

ट्रैक्टर जंक्शन किसानों के लिए एक भरोसेमंद ऑनलाइन प्लेटफार्म हैं, जहां किसानों की सुविधा के अनुसार ट्रैक्टर व कृषि उपकरण के खरीदने व बेचने की सुविधा उपलब्ध है। ट्रैक्टर जंक्शन पर आप कई कंपनियों की फसल कटाई से संबंधित मशीनों के बारें जानकारी ले सकते हैं। किसान भाई यहां लॉगिन करके ऑनलाइन इसे प्राप्त कर सकते हैं।

अगर आप अपनी कृषि भूमि, अन्य संपत्ति, पुराने ट्रैक्टर, कृषि उपकरण, दुधारू मवेशी व पशुधन बेचने के इच्छुक हैं और चाहते हैं कि ज्यादा से ज्यादा खरीददार आपसे संपर्क करें और आपको अपनी वस्तु का अधिकतम मूल्य मिले तो अपनी बिकाऊ वस्तु की पोस्ट ट्रैक्टर जंक्शन पर नि:शुल्क करें और ट्रैक्टर जंक्शन के खास ऑफर का जमकर फायदा उठाएं।

Quick Links

scroll to top