एसबीआई योनो कृषि ऐप : किसान घर बैठे मोबाइल से कर सकेंगे अपने बैंक संबंधी काम

एसबीआई योनो कृषि ऐप : किसान घर बैठे मोबाइल से कर सकेंगे अपने बैंक संबंधी काम

Posted On - 19 Aug 2020

क्या है एसबीआई का योनो कृषि ऐप और इससे किसान किस तरह बढ़ा सकेंगे क्रेडिट कार्ड की लिमिट जाने पूरी जानकारी

गांव में बैंक की शाखाएं काफी दूर होती है जिससे किसानों को अपने बैंक संबंधी काम के लिए जाना पड़ता है। इससे उनका समय व पैसा खर्च होता है। वहीं इन दिनों कोरोना वायरस को लेकर बरती जा रही सतर्कता के कारण बैंकों में अधिकांश भीड़ एकत्रित करने की मनाई है। इन सब बातों को ध्यान में रखते हुए किसानों की सुविधा के लिए एसबीआई ने किसानों के लिए योनो कृषि ऐप शुरू किया है। इससे किसानों को अब घर बैठे मोबाइल के माध्यम से बैंक संबंधी अपने काम पूरे करने आसानी होगी।

 

सबसे पहले सरकार की सभी योजनाओ की जानकारी के लिए डाउनलोड करे, ट्रेक्टर जंक्शन मोबाइल ऍप - http://bit.ly/TJN50K1

 

यही नहीं, किसान इस सुविधा के द्वारा घर बैठे मोबाइल से अपने केसीसी की लिमिट भी बढ़ा सकेंगे। इसके अलावा इस ऐप में अन्य कई सुविधाएं भी दी गई हैं जो किसानों के लिए बहुत उपयोगी है। इस ऐप में दी गई सुविधाओं का लाभ उठाने के लिए किसान के पास स्मार्टफोन होना जरूरी है। हालांकि, जिन किसानों के पास स्मार्टफोन नहीं है या जिन्हें स्मार्टफोन चलाना नहीं आता, उनके लिए बैंक शाखाओं में केसीसी की समुचित व्यवस्था की गई है। 

 

 

क्या है एसबीआई का योनो कृषि ऐप 

यह एक ऐसा उपयोगी कृषि ऐप है जिसमें किसानों की आवश्यकताओं के अनुरूप सभी फीचर व उपयोगी सुविधाएं प्रदान की गई हैं। इसमें एसबीआई अपने किसान ग्राहकों को योनो खाता, योनो बचत, योनो मित्र और योनो मंडी जैसी सेवाएं दी गई है। इसके अलावा योनों कृषि ऐप पर केसीसी रिव्यू विकल्प किसानों को बिना किसी कागजी कार्रवाई के घर बैठे-बैठे मोबाइल की सहायता से क्रडिट कार्ड की सीमा में संशोधन के लिए आवेदन कर सकेंगे। 

 

मात्र चार क्लिक से बढ़ाए केसीसी की लिमिट

भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) ने योनो कृषि प्लेटफॉर्म में एक और नया फीचर जोड़ा है। एसबीआई के अनुसार इस फीचर का नाम किसान क्रेडिट कार्ड रिव्यू रखा है। इस नये फीचर के बाद अब किसानों को बैंक ब्रांच जाकर अपने क्रेडिट कार्ड लिमिट को रिवाइज नहीं करना होगा। एसबीआई के अनुसार केसीसी रिव्यू विकल्प के लिए किसानों को मात्र 4 क्लिक में अप्लाई कर सकते हैं। उन्हें बिना किसी पेपर वर्क के घर बैठे अपने किसान क्रेडिट कार्ड की लिमिट को रिवाइज करने की सुविधा मिल सकेगी। इससे करीब एसबीआई खाता धारक 75 लाख किसानों को होगा। 

 

योनो कृषि ऐप की अन्य उपयोगी सुविधाएं

•    इस योनो कृषि ऐप में किसान क्रेडिट कार्ड ( केसीसी ) रिव्यू के अलावा अन्य और सुविधाएं दी गई हैं जो इस प्रकार हैं-  
•    योनो कृषि ऐप से किसान बैंक अकाउंट खुलवा सकते हैं।
•    यह किसानों की निवेश और बीमा जरूरतों के लिए वित्तीय सुपर स्टोर की तरह काम करेगा।
•    कृषि सलाहकार सेवाएं भी देगा जिससे किसानों को वैज्ञानिक खेती के संबंध में जानकारी जुटाने में मदद मिलेगी।
•    इसके अलावा योनो मंडी कृषि से जुड़े सामानों मसलन खाद और बीज जैसी वस्तुओं खरीद और बिक्री के लिए ऑनलाइन बाजार जैसी सेवाएं उपलब्ध कराएगा।

 

योनो कृषि एप की विदेशों तक बढ़ी लोकप्रियता ( SBI ने YONO कृषि ऐप )

बहुभाषी योनो कृषि प्लेटफार्म, अपने किसान ग्राहकों को योनो खाता, योनो बचत, योनो मित्र और योनो मंडी जैसी सेवाएं प्रदान कर रहा है। ये अनूठे ऑफर किसानों को कृषि ऋण उत्पादों, कृषि आदानों और उपकरणों को खरीदने और किराए पर लेने, अनुकूलित कृषि सलाहकार, निवेश, और फसल बीमा उत्पाद, तत्काल कृषि गोल्ड ऋण, वैज्ञानिक खेती के तरीकों को उन्नत करने सहित बहुत कुछ सुविधा प्रदान करते हैं। योनो कृषि के साथ, एसबीआई ने किसानों के लिए डिजिटल कृषि के द्वार खोले हैं।

अपने लॉन्च के केवल एक वर्ष में, योनो कृषि ने 14 लाख से अधिक एग्री गोल्ड ऋणों का वितरण किया है और योनो मंडी और योनो मित्र पर 15 लाख से अधिक क्लिक पाए हैं। भारत के अलावा विदेशों में भी योनो की लोकप्रियता दिखाई दे रही है। बैंक का प्रमुख बैंकिंग और लाइफस्टाइल प्लेटफार्म योनो, अंतरराष्ट्रीय बाजारों जैसे यूके और मॉरीशस में भी सफलता का परचम लहरा रहा है।

 

 

एसबीआई से जारी किसान को क्रेडिट कार्ड के संबंध में जानने योज्य जरूरी बातें

•    केसीसी खाते में क्रेडिट बेलेन्स पर बचत बैंक की दर पर ब्याज दिया जाता है।
•    समस्त केसीसी उधारकर्ताओं के लिए मुफ्त एटीएम सह डेबिट कार्ड (स्टेट बैंक किसान कार्ड) दिए जाते हैं।
•    रु. 3 लाख रुपए तक के ऋण राशि के लिए 2 प्रतिशत प्रति वर्ष की दर से ब्याज छूट उपलब्ध है।
•    शीघ्र चुकौती के लिए 3 प्रतिश प्रति वर्ष की दर से अतिरिक्त ब्याज छूट मिलती है।
•    समस्त केसीसी ऋणों के लिए अधिसूचित फसल / अधिसूचित क्षेत्र, फसल बीमा के अंतर्गत कवर किए जाते हैं।
•    प्रथम वर्ष के लिए ऋण की मात्रा कृषि लागत, फसल के बाद खर्च और कृषि भूमि अनुरक्षण लागत के आधार पर निर्धारित किया जाएगा।
•    बाद के 5 वर्षों के दौरान वित्त की मात्रा में वृद्धि के आधार पर ऋण स्वीकृत किया जाएगा।
•    1.60 लाख रुपए तक की केसीसी सीमा के लिए संपाश्विक प्रतिभूति की आवश्यकता नहीं है।
•    संपाश्विक प्रतिभूति अपेक्षाओं के निर्धारण स्वीकृत केसीसी सीमा के आधार पर किया जाएगा।
•    एक वर्ष अथवा चुकौती की देय तिथि तक, इनमें से जो भी पहले हो, 7 प्रतिशत प्रति वर्ष की दर से साधारण ब्याज लगाया जाएगा।
•    देय तिथियों के अंदर चुकौती न होने के मामले में कार्ड दर पर ब्याज देना पड़ेगा।
•    देय तिथि के बाद अर्धवार्षिक रूप से चक्रवृद्धि ब्याज लगेगा।
•    कटौती अवधि का निर्धारण फसल जिसके लिए ऋण प्रदान किया गया है के अनुमानित कटाई और विपणन अवधि के अनुसार किया जाएगा।


अगर आप अपनी कृषि भूमि, अन्य संपत्ति, पुराने ट्रैक्टर, कृषि उपकरण, दुधारू मवेशी व पशुधन बेचने के इच्छुक हैं और चाहते हैं कि ज्यादा से ज्यादा खरीददार आपसे संपर्क करें और आपको अपनी वस्तु का अधिकतम मूल्य मिले तो अपनी बिकाऊ वस्तु की पोस्ट ट्रैक्टर जंक्शन पर नि:शुल्क करें और ट्रैक्टर जंक्शन के खास ऑफर का जमकर फायदा उठाएं।

Quick Links

scroll to top
Close
Call Now Request Call Back