मेवाड़ ऋतु ऐप : अब किसानों को मोबाइल पर मिलेंगी कृषि व मौसम संबंधी जानकारी

मेवाड़ ऋतु ऐप : अब किसानों को मोबाइल पर मिलेंगी कृषि व मौसम संबंधी जानकारी

Posted On - 25 Jan 2021

जानें, क्या है मेवाड़ ऋतु ऐप और इससे किसानों को क्या होगा फायदा?

अब किसानों को घर बैठे मोबाइल पर कृषि व मौसम संबंधी जानकारियां उपलब्ध होगी। इस दिशा में उदयपुर कृषि विश्वविद्यालय के वैज्ञानिकों ने मेवाड़ ऋतु ऐप तैयार किया है जो किसानों को मौसम की पूर्व सूचना सहित कृषि संबंधी जानकारियों से अवगत कराएंगा। इससे किसानों को यह फायदा होगा। इससे उन्हें फसल बुवाई से लेकर कटाई तक के लिए मार्गदर्शन मिल सकेगा। बता दें कि मौसम की प्रतिकूलता के चलते कई बार किसानों को हानि उठानी पड़ती है। कभी ओलावृष्टि तो कभी बारिश आदि आपदाओं से किसान की फसल को नुकसान पहुंचाता है। यदि किसान को मौसम आधारित फसल उत्पादन की जानकारी हो और प्रतिकूल मौसम का पूर्वानुमान पता हो तो वे अपनी फसल को नुकसान से बचा सकता है। इसे ध्यान में रखते हुए उदयपुर के कृषि वैज्ञानिकों ने यहां के किसानों के लिए मेवाड़ ऋतु ऐप तैयार किया है ताकि पैदावार बढऩे के साथ ही किसानों को लाभ मिल सके।

 

सबसे पहले सरकार की सभी योजनाओ की जानकारी के लिए डाउनलोड करे, ट्रेक्टर जंक्शन मोबाइल ऍप - http://bit.ly/TJN50K1


क्या है मेवाड़ ऋतु ऐप

उदयपुर के महाराणा प्रताप कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय के वैज्ञानिकों ने एक मोबाइल ऐप तैयार किया है जिसे मेवाड़ ऋतु ऐप नाम दिया गया है। यह ऐप किसानों को खेती और पशुपालन के लिए कई महत्वपूर्ण जानकारियां उपलब्ध कराएगा। इसके साथ ही यह पैदावर को बढ़ाने में भी कारगर साबित होगा।

 


मेवाड़ ऋतु ऐप से किसानों को मिलेगी ये जानकारियां

यह ऐप खेती से कैसे अधिक उपज प्राप्त कर सके इसके लिए उन्हें मार्गदर्शन देगा। मेवाड़ ऋतु ऐप से विश्वविद्यालय से जुड़े उदयपुर, चित्तौडगढ़, राजसमन्द, बांसवाड़ा, डूंगरपुर, प्रतापगढ़ और भीलवाड़ा जिलों के किसानों को कई महत्वपूर्ण जानकारी मिल सकेंगी। ऐप के माध्यम से किसानों को कब फसल की बुवाई करनी है। कब कीटनाशक का छिडक़ाव करना है और कब सिंचाई करनी है ये तमाम जानकारियां विशेषज्ञ वैज्ञानिकों की ओर दी प्रदान की जाएंगी। इसके साथ ही बदलते मौसम के बीच वे अपनी फसल को कैसे सुरक्षित रखें इसके बारे में जानकारी उपलब्ध कराई जाएगी।


हर पांच दिन बाद अपडेट होगा मेवाड़ ऋतु ऐप

एमपीयूएटी के अनुसंधान निदेशक डॉ, एसके शर्मा के मुताबिक मेवाड़ ऋतु ऐप के माध्यम से किसान को समय पर सही जानकारी उपलब्ध हो सके इसके लिए कृषि और मौसम वैज्ञानिकों की सात अलग अलग टीमें बनाई गई हैं। ये हर पांच दिन बाद इस मोबाइट ऐप को अपडेट करेंगी। इसमें मुख्य रूप से मौसम जानकारी के बाद खेती कार्य को लेकर वैज्ञानिक सलाह भी दी जाएगी। यही नहीं वैज्ञानिक पशुपालन को लेकर भी किसान से महत्वपूर्ण जारी साझा करेंगे। विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. एनएस राठौड़ मानें तो इस ऐप से मिलने वाली सलाह को मानते हुए अगर किसान अपनी खेती का कार्य करेंगे तो उन्हें 10 से 30 प्रतिशत तक अधिक पैदावार मिल पाएगी।

 

यह भी पढ़ें : फसल अवशेष : किसानों से पराली खरीदेगी सरकार, रेट तय


ये ऐप भी किसानों के लिए है उपयोगी

मेवाड़ ऋतु ऐप के अलावा किसानों के लिए खेतीबाड़ी व मौसम की जानकारी देने वाले कई अन्य ऐप भी लॉन्च किए गए हैं जिन्हें गुगल प्ले स्टोर से डाउनलोड किया जा सकता है।


किसान सुविधा ऐप

कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय ने इस ऐप को लॉन्च किया है। इसका मुख्य उद्देश्य किसानों की मदद करना है। इसमें खेती-बाड़ी और खेती-किसानी से संबंधित सारी जानकारी मिलती है। इस ऐप के ज़रिए किसान खेती से संबधित किसी भी जानकारी के लिए सीधे कृषि वैज्ञानिकों से बात कर सकते हैं। इसमें मौसम, विक्रेता, मंडी मूल्य, पौध संरक्षण, कृषि सलाह और केसीसी से संपर्क करें जैसी सुविधाएं मिल सकती हैं।


कृषि किसान ऐप

इस ऐप को भी खेती-किसानी आसान बनाने के लिए बनाया गया है। इसके पीछे लक्ष्य किसानों की आमदनी को बढ़ाना है। इसमें किसान घर बैठे ऐसी जानकारियां मिल जाएंगी, जिसके लिए उन्हें कृषि अधिकारियों के चक्कर काटने पड़ते थे। साथ ही स्कीम की भी जानकारी उन्हें मिल सकेगी। इस ऐप के ज़रिए किसानों को अपने क्षेत्र में वैज्ञानिक खेती का डेमोस्ट्रेशन मिल जाएगा। इसके साथ ही सीड हब की जानकारी भी मिलती रहेगी। पहले किसानों को ये नहीं जानकारी होती थी कि सरकार उन्हें कम दरों पर अच्छा बीज और खाद उपलब्ध करा रही है। लेकिन, अब इस ऐप से उसकी जानकारी भी उन्हें तुरंत मिल जाएगी।

 

क्रोपिन ऐप

इस ऐप का लगभग 5 लाख किसान फायदा उठा रहे हैं। इसमें कृषि कारोबार से जुड़ी सारी जानकारी दी जाती है। किसान इस ऐप को एकदम फ्री में डाउनलोड कर सकते हैं।

 

यह भी पढ़ें :  डिस्क हैरो : 40 प्रतिशत मजदूरी बचाए, पैदावार को ज्यादा बढ़ाए

 

एम कृषि ऐप

अगर किसान को खेती से जुड़ी कोई भी जानकारी लेनी है, तो वह इस ऐप के ज़रिए ले सकता है. किसान एसएमएस से भी जानकारी ले सकते हैं। इस ऐप में कॉल सेंटर के नंबर भी दिए होते हैं जिन पर फोन करके जानकारी ले सकते हैं। बता दें कि इस ऐप से लगभग 50 हजार किसान जुड़ चुके हैं। इसके ज़रिए देशभर में लगने वाले किसान मेलों की जानकारी भी दी जाती है। खास बात है कि किसानों के लिए यह ऐप एकदम फ्री है।

 

 

अगर आप अपनी कृषि भूमि, अन्य संपत्ति, पुराने ट्रैक्टर, कृषि उपकरण, दुधारू मवेशी व पशुधन बेचने के इच्छुक हैं और चाहते हैं कि ज्यादा से ज्यादा खरीददार आपसे संपर्क करें और आपको अपनी वस्तु का अधिकतम मूल्य मिले तो अपनी बिकाऊ वस्तु की पोस्ट ट्रैक्टर जंक्शन पर नि:शुल्क करें और ट्रैक्टर जंक्शन के खास ऑफर का जमकर फायदा उठाएं।

Quick Links

scroll to top
Close
Call Now Request Call Back