किसान रेल : देश के किसानों को बड़ी मंडियों से जोड़ें, आधा किराया देती है सरकार

किसान रेल : देश के किसानों को बड़ी मंडियों से जोड़ें, आधा किराया देती है सरकार

Posted On - 10 Apr 2021

जानें, किसान रेल का रूट, किराया और सब्सिडी

किसान रेल ने सफलतापूर्वक अपने 455 फेरे पूरे कर लिए हैं और इस रेल से करीब दो लाख टन उपज का परिवहन अभी तक किया गया है। इससे किसानों को काफी लाभ पहुंच रहा है। बीते दिनों कृषि एवं किसान कल्याण, खाद्य प्रसंस्करण मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने किसान रेल संचालन की समीक्षा की। इसमें बताया गया कि किसान रेल से किसानों की उस उपज का दूरदराज क्षेत्रों तक परिवहन किया जा रहा है, जो शीघ्र खराब होने वाली किस्म की होती है। रेलवे द्वारा किसानों को उनकी उपज के भाड़े में छूट प्रदान की जा रही है, वहीं खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्रालय भी प्रधानमंत्री कृषि संपदा योजना के तहत भाड़े में 50 प्रतिशत सब्सिडी किसानों को प्रदान कर रहा है। अभी तक 455 ट्रिप किसान रेल द्वारा लगभग पौने दो लाख टन उपज का परिवहन किया जा चुका है।

Buy Used Tractor

 

सबसे पहले सरकार की सभी योजनाओ की जानकारी के लिए डाउनलोड करे, ट्रेक्टर जंक्शन मोबाइल ऍप - http://bit.ly/TJN50K1


क्या है किसान रेल

7 अगस्त 2020 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा किसान रेल योजना की शुरुआत की गई थी। इस ट्रेन के माध्यम से किसानों की फसलों को दूसरे राज्य की मंडी तक पहुंचाने की सुविधा प्रदान की जा रही है। 28 दिसंबर 2020 को इस योजना के अंतर्गत 100वीं रेल पश्चिम बंगाल के शालीमार के लिए महाराष्ट्र के संगोला से रवाना हुई थी जिसे पीएम नरेंद्र मोदी ने हरी झंडी दिखाकर रवाना किया था। यह रेल खेती के लिए पूरी तरह से समर्पित है। इस रेल के माध्यम से पश्चिम बंगाल के किसानों, पशुपालकों, मछुआरों की पहुंच मुंबई, पुणे, नागपुर जैसे बड़े बड़े बाजारों तक हो पाई है। किसान रेल एक कोल्ड स्टोरेज का भी काम करती है। इस रेल में कोई भी जल्दी खराब होने वाली चीज एकदम सुरक्षित रहती हैं।


क्या है किसान रेल का रूट

किसान रेल नासिक से देवलाली से बिहार के दानापुर तक चलती है। यह ट्रेन विभिन्न स्टेशनों पर माल लेने और उतारने के लिए रूकती है। यह विशेष किसान ट्रेन नासिक रोड, मनमाड, जलगांव, भुसावल, बुरहानपुर, खांडवा, इटारसी, जबलपुर, सतना, मणिकपुर, प्रयागराज चियोकी, पंडित दीनदयाल उपाध्याय जंक्शन और बक्सर स्टेशन पर ठहराव करती है। इस ट्रेन से महाराट्र, मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश और बिहार के किसानों को फायदा हो रहा है।

Buy New Tractor


किसान रेल से किन-किन वस्तुओं का होता है परिवहन

किसान रेल से फल, फूल, सब्जियां, मांस, दूध, पनीर, अंडा आदि जल्द खराब होने वाली वस्तुओं का परिवहन किया जाता है। इस रेल से माल का परिवहन करने पर किसानों को किराये में 50 प्रतिशत सब्सिडी दी जाती है।


क्या है किसान रेल का किराया

  • नासिक रोड/देवलाली से दानापुर 4001 रुपए प्रति टन
  • मनमाड से दानापुर 3849 रुपए प्रति टन
  • जलगांव से दानापुर 3513 रुपए प्रति टन
  • भुसावल से दानापुर 3459 रुपए प्रति टन
  • बुरहानपुर से दानापुर 3323 रुपए प्रति टन
  • खंडवा से दानापुर 3148 रुपए प्रति टन


किसान रेल से हो रहा फायदा, किसानों की आय बढ़ी

मीडिया में प्रकाशित खबरों के हवाले से किसान रेल से किसानों का जल्द खराब होने वाला सामान समय पर अन्य राज्यों के मार्केट तक पहुंच रहा है जिससे उन्हें मुनाफा हो रहा है। मध्य रेलवे की ओर से देशभर में और देश के बाहर तक चलाई किसान रेल से लातूर और उस्मानाबाद के किसानों को फायदा हुआ है। इस ट्रेन की खासियत होती है कि एक निश्चित समय में पॉइंट टू पॉइंट डिलीवरी कर दी जाती है। जहां फसल उगती है, वहां बिना स्टोरेज किए सीधे माल ट्रेन में लादकर मंडियों में भेज दिया जाता है। इससे महाराष्ट्र में कई छोटे किसानों को फायदा हुआ है और उनकी आय भी सुधरी है। बीते महीने मार्च में महाराष्ट्र के लातूर और उस्मानाबाद क्षेत्र के छोटे किसानों ने पहली बार कुर्दुवाडी स्टेशन से आदर्श नगर, दिल्ली तक किसान रेल में फूलों का लदान किया गया, जिससे ये फूल नए बाजारों में पहुंचे, नतीजतन उनकी आय में वृद्धि हुई है।

 

अगर आप अपनी कृषि भूमि, अन्य संपत्ति, पुराने ट्रैक्टर, कृषि उपकरण, दुधारू मवेशी व पशुधन बेचने के इच्छुक हैं और चाहते हैं कि ज्यादा से ज्यादा खरीददार आपसे संपर्क करें और आपको अपनी वस्तु का अधिकतम मूल्य मिले तो अपनी बिकाऊ वस्तु की पोस्ट ट्रैक्टर जंक्शन पर नि:शुल्क करें और ट्रैक्टर जंक्शन के खास ऑफर का जमकर फायदा उठाएं।

Quick Links

scroll to top
Close
Call Now Request Call Back